मुलताई को मुलतापी जिला बनाने धार्मिक-सामाजिक संगठन करेंगे आंदोलन


मुलताई| तहसील को जिला बनाने की मांग लंबे समय से उठ रही है। इसके बाद भी अभी तक मुलताई को मुलतापी जिला बनाने को लेकर कोई कार्रवाई…

मुलताई| नगर को जिला बनाने की मांग लंबे समय से उठ रही है। इसके बाद भी अभी तक मुलताई को जिला बनाने को लेकर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इससे नगर के धार्मिक और सामाजिक संगठनों के सदस्यों में आक्रोश है। रविवार रात को जिला बनाओ मुलतापी संघर्ष समिति के तत्वाधान में दत्त मंदिर में सभी संगठनों की बैठक हुई। बैठक में मुलताई को जिला बनाने के लिए 18 सितंबर से चरणबद्ध आंदोलन करने का निर्णय लिया। बैठक में गणेश साहू, राजेश कडुकर, सौरभ जोशी, अनीष नायर, विशाल सोनी, शैलेंद्र वानखेड़े, कृष्णा साहू, डीके कालभोर, राजू चौबे आदि ने मुलताई को जिला बनाने के लिए एकजुट होकर संघर्ष करने का संकल्प लिया। गणेश साहू ने बताया नगर के साथ ग्रामीण क्षेत्र में जिला बनाने को लेकर अभियान चलाया जाएगा।

मनमोहन पंवार

संपादक, मुलतापी समाचार multapisamachar@gmail.com

अस्पताल में बनेगा हर्बल गार्डन, 1200 पौधे लगाएंगे


Betul News – जिला अस्पताल में जल्द की हर्बल गार्डन विकसित होगा। हर्बल गार्डन में सभी बीमारियों के इलाज के लिए औषधीय पौधे लगाए..

Betul News – mp news herbal garden to be built in hospital to plant 1200 saplings

जिला अस्पताल में जल्द की हर्बल गार्डन विकसित होगा। हर्बल गार्डन में सभी बीमारियों के इलाज के लिए औषधीय पौधे लगाए जाएंगे। इस हर्बल गार्डन की शुरुआत बुधवार को 50 औषधीय पौधे लगाकर की।

हर्बल गार्डन में लगने वाले औषधीय पौधे बीमारियों की रोकथाम करने में मददगार साबित होंगे। पुराने जिला अस्पताल के सामने हर्बल गार्डन विकसित किया जाएगा। इसका जिम्मा सोसाइटी फार इम्प्लीमेंट विलेज एरिया सेवा प्रोजेक्ट को दिया है। प्रोजेक्ट के माध्यम से हर्बल गार्डन में औषधीय पौधे लगाकर उसकी देखभाल की जाएगी। अस्पताल परिसर में काया कल्प प्रभारी डॉ. सुनील डागा, सीएमएचओ डॉ. जीसी चौरसिया, डॉ. सोनल डागा ने 50 औषधीय पौधे लगाकर हर्बल गार्डन को विकसित करने की शुरुआत की। डॉ. डागा ने बताया इनका सेवन करने वालों को कभी किसी प्रकार की बीमारी नहीं होती है। ये औषधीय पौधे अमृत के समान हैं। औषधीय पाैधाें का लाभ लेकर बड़े निजी अस्पतालों के महंगे इलाज खर्च से बच सकते हैं।

यह औषधीय पौधे रोपेंगे : हर्बल गार्डन में अश्वगंधा, आगरू, ब्राह्मी, शुगर प्लांट, गिलोव, कचनार, पीपली, सहजन शतावर, शीशम, पारिजात, लेमन ग्रास, सर्पगंधा, सिताप सहित 15 से अधिक किस्मों के पौधे लगाए जाएंगे। अस्पताल परिसर में इसके अलावा फल और फूलों का बगीचा भी लगाया जा रहा है।

बैतूल। अस्पताल परिसर में हर्बल गार्डन में पौधे रोपते हुए डॉक्टर व अन्य।

2600 वर्गफीट में लगेंगे 1200 पौधे

सेवा सोसाइटी के नरेश टंडन ने बताया अस्पताल परिसर में 2600 वर्गफीट में हर्बल गार्डन को विकसित किया जा रहा है। इस क्षेत्र में 1200 पौधे लगाएं जाएंगे। औषधीय महत्व वाले पौधा किस बीमारी के काम आता है। इसके लिए बाकायदा तख्ती लगाई जाएंगी ताकि मरीज भी बीमारी के बचाव के लिए इसका उपयोग कर सकें।

मनमोहन पंवार

संपादक मुलतापी समाचार वहाटसप करेें खबरें भेजन हेतु संंपर्क करेें 09753903839