जब तक संस्कृति है तब तक आदिवासी समाज जिंदा है


मुलतापी समाचार

-गोंडवाना तिथि पत्रक 2020 का हुआ विमोचन, एनआरसी और सीएए पर रखे विचार

बैतूल। मुलतापी समाचार

-गोंडवाना तिथि पत्रक 2020 का हुआ विमोचन, एनआरसी और सीएए पर रखे विचार बैतूल। नवदुनिया प्रतिनिधि समस्त आदिवासी संगठन के तत्वावधान में पडापेनठाना रैन बसेरा में गोंडवाना तिथि पत्रक का विमोचन किया गया। इस अवसर पर मुख्य रूप से प्रेम शाह भलावी, जगदीश धुर्वे, छिंदवाड़ा, दुर्गा बाई उइके, मनीराम आहाके, राजेश आहाके, कल्लू सिंह उइके उपस्थित रहे।

समस्त आदिवासी संगठन के तत्वावधान में पडापेनठाना रैन बसेरा में गोंडवाना तिथि पत्रक का विमोचन किया गया। इस अवसर पर मुख्य रूप से प्रेम शाह भलावी, जगदीश धुर्वे, छिंदवाड़ा, दुर्गा बाई उइके, मनीराम आहाके, राजेश आहाके, कल्लू सिंह उइके उपस्थित रहे। अपने उद्बोधन में जामवंत कुमरे ने कहा कि ये बैतूल के इतिहास का स्वर्णिम दिन है। आदिवासी की बोली भाषा लिपि आदि का प्रकाशन बैतूल जिले से किया जा रहा है। जनपद अध्यक्ष आठनेर रामचरण इड़पाचे ने कहा कि निरंतर जिले के तमाम संगठन सक्रियता दिखा रहे हैं। उद्योग एवं स्वरोजगार में समाज अग्रणीय है। युवा आदिवासी विकास संगठन जिला अध्यक्ष राजेश कुमार धुर्वे ने कहा कि वर्तमान में केंद्रीय सरकार एनआरसी-सीएए को लेकर भारत के सभी नागरिकों को भृमित कर रही है। मंदी के दौर में एनपीआर को लागू करके भारत के टैक्स का गलत उपयोग किया जा रहा है। साथ ही युवाओं को रोजगार शिक्षा से दूर किया जा रहा है। अगर एनआरसी लागू होता है तो सबसे ज्यादा प्रभावित आदिवासी समाज होगा। इस कानून से आदिवासियों की मूल संस्कृति को क्षति पहुंचेगी। शंकर आहके ने कहा कि आदिवासी भारत देश का मालिक है, केंद्र सरकार वर्तमान कानून के साथ छेड़खानी कर देश के मालिक को नागरिक बना रही है, जिससे आदिवासी समाज बहुत ज्यादा आक्रोशित है। सरवन मरकाम ने कहा कि गोंडवाना तिथि पत्रक बहुत ही सराहनीय है,जिनमें आदिवासी संस्कृति रीति रिवाज की जानकारी दी गई है। जिसे सूक्ष्मता से अध्ययन कर आदिवासी संस्कृति को जीवन में लाएं और अपनी पहचान को बचाएं। जब तक संस्कृति जिंदा है तब तक आदिवासी समाज जिंदा है। कार्यक्रम में रामचरण इड़पाचे, प्रदीप उइके, दिलीप धुर्वे, सुभाष उइके, सुंदरलाल उइके, दिलीप धुर्वे, डॉ. प्रीतम कुमरे, जामवंत कुमरे, सरवन मरकाम, डॉ. रमेश काकोड़िया, डॉ. रूपेश पदमाकर, डॉ. सत्येंद्र उइके, सोनू धुर्वे, जयचंद सरियाम, राजेश कुमार धुर्वे, संदीप धुर्वे, महेश उइके, दिनेश धुर्वे, गोपाल धुर्वे, दशरथ इडपाचे, डोमासिंग कुमरे, रामनाथ इडपाचे, ईश्वर धुर्वे, रामचरण चिल्हाटे, सुरेश सलामे, दिनेश धुर्वे, मुन्नाालाल वाड़ीवा मौजूद थे। मंच संचालन दिलीप धुर्वे एवं सुभाष उइके ने किया।

मनमोहन पंवार 9753903839

Manmohan Pawar (Sampadak) Khabr News send kare WhatsApp no.- 9753903839

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s