Weather Update : एमपी में सदी का सबसे सर्द दिन, न्यूनतम पारा 2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा


मुलतापी समाचार- मौसम विज्ञानी बोले- दिन का इससे कम तापमान हमारे रिकार्ड में ही नहीं। शुक्र है गुजर गया सोमवार।

ग्वालियर।  Gwalior Weather Update हाड़ कंपाने वाली, गलन देने वाली, शूल सी चुभने वाली, मौसम की खबर लिखते वक्त यह विश्लेषण अभी तक हम अत्यधिक सर्दी के लिए प्रयोग करते आए हैं। लेकिन सोमवार को कुछ ऐसा हुआ कि सारे शब्द बौने से लगने लगे। न्यूनतम यानी रात का तापमान, जब सोमवार सुबह देखा गया तो महज 2.2 डिग्री निकला।

बस तभी तय हो गया कि आज ठंड नए कीर्तिमान दर्ज करने पर आमदा है, हुआ भी यही। दोपहर ढाई बजे पारे ने जो अंक बताया ऐसा मौसम विज्ञानियों ने पहले इससे पहले कभी नहीं देखा था। अधिकमतम तापमान महज 8.3 पर ही अटक गया। 30 दिसंबर का दिन ग्वालियर के इतिहास में अभी तक का सबसे ठंडा दिन रहा।

मप्र ही नहीं आसपास के राज्यों के शहरों से कहीं अधिक ठंडा। विशेषज्ञों के अनुसार फिलहाल गलन से राहत नहीं मिलेगी। जम्मू कश्मीर के ऊपर से लगातार पश्चिमी विक्षोभ गुजर रहे हैं। इस वजह से पहाड़ों पर भारी बर्फबारी हो रही है।

बैतुल मौसम न्यूनतम तापमान सामान्य से 10डिसे दर्ज हुआ।दिन सर्द हवा का प्रवाह रहा। तीव्र शीत लहर, कोहरा, पाले की वजह से ठंड ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

ग्वालियर में खुदाई में निकली द्वारिकाधीश की मूर्ति विराजमान है मथुरा में

ग्वालियर में खुदाई में निकली द्वारिकाधीश की मूर्ति विराजमान है मथुरा मेंयह भी पढ़ें

मैदानी इलाकों में बारिश हो रही है। दिसंबर में अब तक तीन बार पानी बरस चुका है। इससे हवा में नमी की मात्रा बढ़ गई है। हवा में नमी बढ़ने की वजह से घना कोहरा छा रहा है। इससे सूरज की किरणें ज्यादा समय तक धरती नहीं पहुंच रही हैं। इसकी वजह से अधिकतम तापमान, न्यूनतम तापमान के आंकड़े पर पहुंच गया है और न्यूनतम काफी नीचे चला गया। तीव्र शीत लहर, कोहरा, पाले की वजह से ठंड ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

30 दिसंबर का दिन अधिकतम तापमान में गिरावट के लिए दर्ज हो गया। वह सामान्य से 14.5 डिसे कम रिकॉर्ड हुआ। न्यूनतम तापमान सामान्य से 4.3 डिसे दर्ज हुआ। ज्ञात हो कि 1996 में न्यूनतम तापमान 2.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ था। अधिकतम तापमान 1997, 2003 में 12.3 तक आया है।

मौसम वैज्ञानिक उमाशंकर चौकसे के अनुसार पहली बार ही अधिकतम तापमान 8.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ है। पिछले 30 साल के रिकार्ड में अधिकतम तापमान 12.3 डिसे तक ही आया है। 8.3 डिग्री सेल्सियस तापमान रात का रहता है, लेकिन इस बार दिन में आ गया है।

कोहरा

6 घंटे: दृश्यता-0

सुबह 3 से 8 बजे तक लगातार 6 घंटे घने से घना कोहरा छाया रहा है। इससे दृश्यता शून्य रही। पास में खड़ा व्यक्ति भी नजर नहीं आ रहा था।

सूरज के दर्शन नहीं

सुरज सुबह 7:34 बजे उग आया था। सूरज के निकलने के बाद दृश्यता बढ़ी, लेकिन कोहरे के आगे सूरज भी फीका पड़ा। दिन में दर्शन तक नहीं हुए।

ये पड़ा असर

– सूरज नहीं निकलने से अधिकतम तापमान गत दिवस की तुलना में 5 डिग्री गिरा। 8.3 डिसे रिकॉर्ड होने से दिन में गलन भरी ठंड का अहसास हुआ। 8.3 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान दर्ज होता है, लेकिन इस बार अधिकम तापमान आ गया।

– पूरा दिन अति शीतल व तीव्र शीत लहर की चपेट में रहा। इससे शहर की व्यस्तम सड़कों पर लोगों की कम ही भीड़ नजर आई।

– सरकारी ऑफिसों में हीटर पर अधिकारी व कर्मचारी तापते रहे। बाजारों में दुकान के बाहर आग जलाई।

– टंकी से फ्रीज से भी ज्यादा ठंडा पानी निकल रहा है। आपस में लोग ठंड से सिर में दर्द की चर्चा करते रहे।

अधिकतम तापमान-8.3 डिसे

न्यूनतम तापमान-2.2 डिसे

पारे की चाल

समय तापमान

05:30 3

08:30 4

11:30 5.8

14:30 7

17:30 7.4

( यह तापमान सुबह 5:30 बजे से शाम 5:30 बजे के बीच का है। हर तीन घंटे का तापमान है)

आगे क्या

31 दिसंबर की रात से बादल छाने के साथ-साथ बारिश की संभावना है। शीत लहर के साथ कोहरा भी छाएगा। ठंड से राहत की उम्मीद नहीं है।

इनका कहना है

मेरे पास अभी आंकड़े नहीं हैं, लेकिन पहली बार अधिकतम तापमान इतना कम दर्ज हुआ है। ग्वालियर सहित उत्तर भारत के अधिकतर शहरों में अधिकतम तापमान नीचे आया है। फिलहाल अभी राहत की उम्मीद नहीं है।

मृत्युंजय महापात्रा, डायरेक्टर जनरल मौसम विभाग दिल्ली

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s