मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री का किया पुतला दहन, कोरोना वारियर्स पर लाठीचार्ज के विरोध में यूथ कांग्रेस द्वारा



बैतूल। मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस ने शनिवार को कोरोना वारियर्स पर हुए लाठी चार्ज के विरोध में कोठी बाजार लल्ली चौक पर मुख्यमंत्री शिवराज चौहान का पुतला फूंक कर विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के कार्यकारी जिलाध्यक्ष सरफराज खान के नेतृत्व में महामहिम राष्ट्रपति के नाम जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि भोपाल के नीलम पार्क में अपनी जायज मांगो को लेकर प्रदर्शन कर रहे कोरोना वारियर्स पर लाठीचार्ज किया गया, कोरोना वारियर्स पर इस तरह का दबाव उचित नहीं है। पहले इन पर फूल से वर्षा की गई और आज लाठी की वर्षा की जा रही है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए एवं दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जानी चाहिए। ऐसा न होने पर विरोध स्वरूप युवा कांग्रेस जगह-जगह सरकार के खिलाफ उग्र प्रदर्शन करने को मजबूर होगी। पुतला दहन एवं ज्ञापन सौंपने के दौरान जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनील शर्मा, अनिल मगरकार, रजनीश सोनी, राजू गावंडे, ऋषि दीक्षित, नितिन देशमुख, अतुल शर्मा, प्रतीक देशमुख, आबिद खान, मोहसिन पटेल, सिद्धार्थ चौरसिया, मन पांडे, मनोज देशमुख, आशीष देशमुख, राजू शाह, सुशील बारस्कर, राजू शाह, नावेद खान, इनायत खान आदि युवा कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे।

मध्य प्रदेश: युवती ने पेश की ईमानदारी की मिसाल


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

बैतूल: मध्यप्रदेश के बैतूल से ईमानदारी का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिससे हर किसी को प्रेरणा लेने की जरूरत है। बैतूल में एक युवती को एक लाख बीस हजार रुपयों से भरा एक बैग मिला, जिसे युवती अपनी ईमानदारी के चलते पुलिस को सौंप दिया। इसके बाद पुलिस ने जानकारी जुटाने के बाद बैग को उसके मालिक तक पहुंचा दिया। बैतूल की रीता की ईमानदारी देशवासियों के लिए बेमिसाल उदाहरण बन गई। इससे पहले भी कई बार ऐसा हुआ है कि रीता को पैसों से भरा बैग मिला है लेकिन उसने हर बार पुलिस को लौटा दिया।

बीरूल बाजार निवासी किसान राजा रमेश साहू अपनी गोभी की फसल को भोपाल में बेचकर लौट रहा था। लौटते समय किसान का बैग वैष्णवी बस में छूट गया। बस में सवार कर रही पोहार निवासी रीता को यह बैग मिल गया। रीता ने देखा तो इस बैग में एक लाख बीस हजार रुपए थे। जिसके बाद उसने इस बैग को पुलिस तक पहुंचाना सही समझा।

रीता ने इस बैग को साईं खेड़ा थाना पुलिस को सौंप दिया। बस वालों की मदद से पुलिस ने इस बैग को राजा साहू तक पहुंचा दिया। थाना प्रभारी ने इस मामले की जानकारी अपने वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को दी और रीता पवार को सम्मानित किया गया।

मुलतापी समाचार