मुलताई में थाने के पास मिठाई की दुकान में चल रहा था अफीम का धंधा, केडबरी डेरी मिल के रैपर सहित पकड़ा


मुलतापी समचार

मिठाई की आड़ में अफीम बेचने वाले को पुलिस ने दबोचा,केडबरी चाकलेट के रैपर में चला रहा था नशे का कारोबार,30 हजार में बिकती है एक केडबरी चॉकलेट


बैतूल ।मुलताई में राजस्थान के फेमस ब्रांड बीकानेर मिस्ठान भण्डार की आड़ में नशे का कारोबार करने वाले एक कारोबारी को अफीम की  चाकलेट के साथ पकड़ा है ।केडबरी चाकलेट के रैपर में पैक कर बेचने का काम किया करता था जिसे मुखबिर की सूचना पर अफीम के साथ पकड़ा है ।
पुलिस कंट्रोल रूम में पत्रकारों से रूबरू होते हुए एसपी सिमाला प्रसाद ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर मुलताई निवासी मगसिंह  राजपुरोहित सफेद रंग की इनोवा कार MP48/BC /3001 मुलताई से परसोडी रोड बैतूल बाजार की तरफ निकला है एडिशनल एसपी श्रद्धा जोशी, एसडीओपी नीतेश पटेल मार्गदर्शन में  एक टीम बनाकर चैकिंग लगाई इस गाड़ी को रोक कर चैक किया गया तो उसमें सीट के नीचे एक कार्टून रखा हुआ था जिसमे बहुत अधिक मात्रा में केडबरी चाकलेट के रैपर के अंदर मादक पदार्थ अफीम रखा हुआ था ।
कार ड्राइवर सुरेश पवार ओर मगसिंह राजपुरोहित से पूछ ताछ पर दुकान ओर मिठाई कारखाने से भी पुलिस ने बड़ी मात्रा में अफीम बरामद की है ।अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में अफीम कीमत 2 करोड़ रुपये आंकी गई है ।
 
ऐसे होती थी पैकिंग ।
एसपी सिमाला प्रसाद ने बताया कि पूछताछ में बताया कि केडबरी चाकलेट से बिना रैपर फाड़े पिन की मदद से रैपर खोलते थे और फिर उस मे अफीम भरकर दोबारा पैक कर के बेचा करते थे ।
30 हजार की एक चाकलेट
पुलिस को पूछताछ में मगसिंह राजपुरोहित ने बताया कि 10 से 13 ग्राम की इस चॉकलेट को दुकान से तीस हजार ओर जगह पर पहुंचा कर देने पर रिसक फेक्टर के हिसाब से कीमत वसूली जाती थी ।
मुखबिर तंत्र हुआ मजबूत ।
बैतूल पुलिस अधीक्षक ने माना कि लगातार हो रही कार्यवाही के पीछे मुखबिर तंत्र का मजबूत होना है ।पहले सूचनाएं नही मिलती थी अब छोटी छोटी सूचनाएं हमे प्राप्त हो रही है जिससे जिले में बड़ी बड़ी कार्यवाहियां हो रही है ।

पुलिस टीम होगी पुरुस्कृत 
एसपी सिमाला प्रसाद में अफीम पकड़ने वाली टीम को रिवार्ड दिलाये जाने पर कहा कि निश्चित ही टीम में शामिल टीआई आदित्य सेन,टीआई संतोष पन्द्रे, टीआई अनुराग प्रकाश,टीआई सुरेश सोलंकी,टीआई एस एन मुकाती,एसआई राहुल रघुवंशी,एसआई बीएस तोमर,एसआई बीएल उइके ,आरक्षक अंकित,आरक्षक मयूर तावरे, आरक्षक नीलेश सोनी,आरक्षक नितिन, आरक्षक जितेंद्र ,आरक्षक आशुतोष, आरक्षक सुरेंद्र, आरक्षक मनोज,आरक्षक योगेश, समेत हर्षवर्धन को आईजी नर्मदा पुरम से रिवार्ड दिलवाया जाएगा ।

विकलांग सहायता शिविर में पहले दिन हुए 90 पंजीयन, पोलियो ग्रस्त 20 दिव्यांगों को कैलिपर और 60 दिव्यांगों को मिलेंगे कृत्रिम पैर


जरूरतमंद दिव्यांगों को बैसाखी प्रदान की गई

मुलतापी समाचार

मुलताई। लायंस क्लब के तत्वाधान में भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति इंदौर के सहयोग से आयोजित हो रहे तीन दिवसीय दिव्यांग सहायता शिविर में गुरुवार को प्रथम दिन 90 दिव्यांगों का पंजीयन हुआ। पारेगांव रोड पर ताप्ती मैरिज लान में गुरुवार सुबह शिविर का शुभारंभ एनएचएआई नागपुर के जीएम अभिजीत पी जिचकर और लायंस क्लब के पदाधिकारियों की उपस्थिति में मां ताप्ती के समक्ष दीप प्रज्वलन कर हुआ।  शिविर में कृत्रिम उपकरण बनवाने के लिए नगर के साथ ग्रामीण अंचल से दिव्यांग पहुंचे। वही आठनेर,मांडवी,सारणी, शाहपुर,आमला के साथ छिंदवाड़ा जिले के चौरई से भी दिव्यांग पहुंचे।

लायंस क्लब के दीपेश बोथरा ने बताया प्रथम दिन 90 दिव्यांगों का पंजीयन किया गया। जिसमें पोलियोग्रस्त 20  दिव्यांगों को  कैलीपर बना कर दिए जा रहे हैं। 60 ऐसे दिव्यांग जिनके पैर दुर्घटना या किसी कारण से में कट गए हैं। उन्हें पैर बना कर दिए जा रहे हैं। साथ ही जरूरतमंद दिव्यांगों को बैसाखी प्रदान की गई।  शुक्रवार को जिला अस्पताल के मेडिकल बोर्ड के डॉक्टर शिविर स्थल पर उपस्थित रह कर दिव्यांगों की जांच कर दिव्यांग प्रमाण पत्र जारी करने के लिए प्रक्रिया  संपादित करेंगे पात्र दिव्यांगों को 20 दिन बाद प्रमाण पत्र प्रदान किए जाएंगे।

बैतूल जिले के 200 वी वर्षगांठ की पूर्व बेला पर बैतूल में जन्मी बेटी तो नाम रखा बैतूल


बैतूल। अजब – गजब बेतूल में हाल ही में एक ऐसी घटना ने सबको चौंका दिया। दर असल हुआ यूं कि जिले के राजा भोज नर्सिंग कालेज में नर्सींग की परीक्षा देने आई महिला श्रीमति कुसमा मनोज बघेलको प्रसव पीड़ा होने पर उसे कालेज की प्राचार्य एवं पूरे स्टाफ ने जिला चिकित्सालय भर्ती करवाया जहां पर उसे नार्मल डिलीवरी में एक बेटी हुई। प्रसव उपरांत महिला ने बकायदा दुसरे दिन राजा भोज नर्सींग कालेज में जाकर परीक्षा दी। उसके बाद स्वस्थ महिला अपनी स्वस्थ बेटी को बैतूल का नाम देकर 26 फरवरी 2021 की मध्यरात्री 1 बजे अपने गृह जिला रवाना हो गई।
लड़की का नाम बैतूल
इतिहास के पन्नो में दर्ज लोककथाओं एवं जानकारी के अनुसार बैतूल (क्चड्डह्लह्वद्य) का अर्थ तपस्वी कुंवारी युवती के लिए है जिसका धर्म इस्लाम है। बैतूल नाम से मिलते – जुलते नामो में बालाजी, बीबी, बिनू, बाबी, बावन्या, बव्येश बोडिल, बिदेलिया, बेदेलिया बोडिला, बाटौल, बेथली, बोडिले, बैतूल है। मून रूप से बेतूल अफ्रीकी नाम है। बेतूल नाम महिला का है। अंक ज्योतिषी में बैतूल का अंक 11 है।
जन्मांक 9 नामांक 11
बैतूल जिला चिकित्सालय में दिनांक गुरूवार 18 फरवरी 2021 को दोपहर 2.55 को एक बेटी को जन्म दिया। प्री टर्म डिलीवरी होने के कारण महिला को एसएनसीयू वार्ड में भर्ती करवाया गया। महिला ने जिस बेटी को जन्म दिया उसका वजन कम होने के कारण उसे डाक्टरो ने अपनी निगरानी में रखा। जहां एक ओर 18 तारीख को जन्म होने के कारण इस बिटिया का जन्मांक 9 निकलता है। वही दुसरी ओर उसकी माँ ने उसका नाम जब बैतूल रखा तब उसका नामांक 11 निकलता है।
बसंत पंचमी को बैतूल आई कुसमा
उतर प्रदेश के आगरा जिले के लखनपुर से मंगलवार 16 फरवरी 2021 को बैतूल पहुंची श्रीमति कुसमा गर्भवति थी। उसे डाक्टरो ने डिलीवरी की तारीख गुरूवार 4 मार्च 2021 दी थी लेकिन दिनांक महिला ने 16 दिन पूर्व ही बेटी को जन्म दे दिया। अपनी डिलेवरी में 16 दिन बाकी है यह जानकर श्रीमति कुसमा बैतूल नर्सींग परीक्षा देने अपनी बड़ी बहन श्रीमति कविता मुनेशचन्द्र बघेल के संग आगरा से बैतूल आ थी। श्रीमति कुसमा मनोज बघेल ने बुधवार 17 फरवरी 2021 को अपना पहला पेपर भी दिया लेकिन 18 फरवरी गुरूवार को उसे जब अचानक प्रसव पीड़ा हुई तो उसे कालेज की प्राचार्य ने अपने स्टाफ के साथ जिला चिकित्सालय में भर्ती करवाया। प्री टर्म डिलीवरी वाली महिला श्रीमति कुसमा मनोज बघेल की हिम्मत की दाद देनी चाहिए उसने स्वस्थ बेटी को जन्म देने के बाद दुसरे दिन 19 फरवरी को दुसरा पेपर दिया। 20 फरवरी को तीसरा पेपर दिया और 24 फरवरी को श्रीमति कुसमा मनोज बघेल ने पेक्टीकल भी दिया।

200 वी वर्षगांठ की पूर्व बेला पर


उल्लेखनीय है कि श्रीमति कुसमा मनोज बघेल ने बैतूल की यादों को अपनी बेटी को बैतून नाम दिया। दर असल में श्रीमति कुसमा मनोज बघेल ने जिस बेतूल जिले में अपनी बेटी को जन्म दिया उस बेतूल का जन्म 200 साल पूर्व 15 मई 1822 को हुआ था। बदनूर से बेतूल बने इस जिले की आने वाले वर्ष की 15 मई 2022 को 200 वी वर्षगांव है। वर्षगांठ के पूर्व वर्ष में 200 साल में पहली बार बैतूल किसी लड़की का नाम इस जिले के चिकित्सालय में पंजीकृत हुआ है। पूरे देश – दुनिया में अभी तक किसी भी लड़की का नाम बैतूल या बेतूल पढऩे या सुनने में नहीं आया है।
श्रीमति कुसमा मनोज बघेल के मुताबिक उसने बेटी का नाम इसलिए बैतूल रखा है कि जब वह बड़ी हो जाए तो वह उसे बता सके कि किन हालातों में उसका जन्म हुआ है। कुसमा की बहन कविता के मुताबिक वह बेहद गर्व महसूस कर रही है कि बालिका का जन्म बैतूल में हुआ है । यही नहीं प्रसूति के बावजूद उसकी बहन ने जिस तरह से हौसला दिखाते हुए पूरी परीक्षा दी वह हिम्मत वाला काम है। जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ अशोक बारंगा ने बताया कि जितने समय कुसमा परीक्षा देने गई उसकी बालिका की जिला अस्पताल के एसएनसीयू में अच्छी तरह से देखरेख की गई। यही वजह रही कि कुसमा को बैतूल बहुत पसंद आ गया और उसने स्मृति स्वरूप अपनी बच्ची का नाम बैतूल रख दिया। यह बैतूल वासियों के लिए भी गर्व की बात है।
200 वर्षगांठ पर मेहमान होगी बेटी
बैतूल जिले की 200 वर्षगांठ की तैयारी में जूटे पत्रकार लेखक रामकिशोर पंवार ने बताया कि बेतूल पर उनकी एक पुस्तक आ रही है जिसमें बेतूल का इतिहास वर्तमान और भविष्य को सचित्र प्रकाशित किया जा रहा है। श्री पंवार के अनुसार जब बैतूल जिला अपनी 200 वी वर्षगांठ मनायेगा उस समय यह बेतूल में जन्मी बेटी हमारी मेहमान होगी। श्री पंवार के अनुसार जिले इस वर्ष 15 मई 2021 से बेतूल जिले की 200 वी वर्षगांठ मनाए जाने की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी। 15 मई 2021 से 15 मई 2023 तक दो वर्षो तक जिले की चार उप अखण्डो, 10 तहसीलो, 10 विकासखण्डो, 10 जनपदो, 556 ग्राम पंचायतो के 1334 गांवो में दो वर्षिय जन्मोत्सव कार्यक्रम होगा। 365 दिनो के कार्यक्रम में जिले की आस पडौस की दो ग्राम पंचायतो को मिला कर हर रोज एक जन्मोत्सव कार्यक्रम होगा। देश दुनिया का बेतूल पहला जिला होगा जो अपनी 200 वी वर्षगांव को यूं इस तरह मनाएगा। 15 मई 2021 से 14 मई 2021 तक पूरे एक साल कार्यक्रम को लेकर गांव – गांव में जागरूकता लाई जाएगी। जन्मशताब्दी वर्ष के मुख्य कार्यक्रम 15 मई 2022 को श्रीगणेश होगा तथा समापन 15 मई 2023 को होगा।

दीपयज्ञ से श्रीमद् भागवत कथा का समापन


धर्म की पताका को समाज मे बढाने हेतू प्रेरित किया

मुलतापी समाचार

मुलताई तहसील के ग्राम खेडीकोर्ट मे चल रही सप्त दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा का समापन किया गया। कथावाचक संजय गुरूजी ने कथा के माध्यम से लोगो को पुज्य गुरदेव के विचारो को और धर्म की पताका को समाज मे बढाने हेतू प्रेरित किया। और कथा मे सप्त ऋषियो की कथा का विस्तार से वर्णन किया । इसके साथ ही रविवार शाम को बाल संस्कार शाला वायगाव से आये बच्चो ने भव्य और विशाल दीप महायज्ञ का संगीतमय कार्यक्रम किया। दुर्गेश भोयरे ने बताया कि क्षेत्र के विभिन्न गावो मे बडे जोरो शोरो से धार्मिक एकता और अखंडता को मजबूत बनाने के लिए भगवान की कथाओ का क्रियान्वयन हो रहा है ।

गायत्री परिवार द्वारा के बालको मे दीप यज्ञ का संचालन प्रज्ञापुत्र प्रशांत ,विशाल एवं तनुश्री ,निकिता,पल्लवी ने किया और लोगो को नशा नही करने का संकल्प दिलाते हुए कहा अगर बडे ही नशा करेगे तो आज की भावी पीढ़ी भी नशा करेगी इसलिए हमे नशा नही करना होगा ।

कार्यक्रम मे कथा समापन पर कुशल कथावाचक अविनाश खण्डाग्रे ,श्रावण धोटे, दुर्गेश भोयरे, राजेन्द्र पंडाग्रे , सोनी जी ,चिन्धया गावडे, विभिन्न गावो से आये सभी परिजनो की गरिमामय उपस्थिति मे सम्पन्न हुआ ।

संतृप्त एवं खुशहाल जीवन हेतु अभियान चलाया


दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम आरम्भ किया प्रजापिता ब्रह्माकुमारी

मुलतापी समाचार

बेतुल जिला के ग्राम डहर गांव में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी विश्वविद्यालय द्वारा संतृप्त एवं खुशहाल जीवन अभियान के अंतर्गत समाज मे व्याप्त व्यसन ,तनाव,भय ,चिंता और अनेक प्रकार की मानसिक बुराइयों को दूर कर एक सशक्त मानव बनने ,शास्वत शांति और प्रेम के संसार को पाने हेतु आध्यात्म की ओर जाने का संदेश ब्रह्मकुमारी सुनीता दीदी,पूनम दीदी ,पूर्णिमा दीदी,श्रद्धा दीदी एवं नंदकिशोर भाई जी द्वारा दिया गया।

इस कार्यक्रम में जनपद अध्यक्ष पूर्णिमा पाठा, सरपंच प्रताप यादव,कंचना मालवी, मंडल अध्यक्ष जुबेर पटेल, कॉपरेटिव उपाध्यक्ष सुदामा पाटणकर,अजय नावँगे ,नितिन नावँगे, सुदामा कारे, संदीप कारे एवं ग्रामीण जन उपस्थित थे।

राजा भोज जयंती के अवसर पर भव्य शोभायात्रा निकाली


राजा भोज की शोभा यात्रा के दौरान पवार भवन में पहुँचने राजा भोज ओर उनकी सेना साथ कुच करते हुए

मुलताई । राजा भोज जयन्ती के अवसर पर पवित्र नगरी मुलतापी में विशाल शोभायात्र निकाली गयी साथ ही वसंत पंचमी के अवसर पर माँ वागदेवी ,गढ़कालिका जी की पूजन वन्दन कर पवारी आरती की गयीं, राजाभोज जयंती समारोह में उपस्थित सभी अतिथियों का स्वागत सत्कार किया गया। राहुल पवार द्वारा राजा भोज की जीवन पर प्रकाश डाला गया उन्होने बताया की वह पवार, परमार के ही नही समस्त मानवजाति के लिये परम प्रतापी राजा बने,

राजा भोज ने समूर्ण समाज को साथ लेकर महान साम्राज्य स्थापित किया था, उन्होंने धारा नगरी, भोज नगरी, भोजपुर मंदिर, निर्माण किये और भोजपाल में कई तालों को मिला कर एक बड़े ताल का निर्माण करवाया जिससे क्षेत्र में पानी की बड़ी समस्या से निजात मिला और आजतक सभी को पीने का भर पुर मिलरहा है।

राजा भोज जयन्ती अयोजन समिति मुलताई द्वारा शोभायात्रा ओर मगलभवन में आये सभी अतिथियों का स्वागत कर सम्मान किया, हर वर्ष इस कार्यक्रम को संचलित करने का ओर बड़कर करने वादा किया, जिसे समाज में एक जुटता, एकता सन्देस स्थापित हो, आज के कार्यक्रम में महिलाओं की बडी संख्या दर्ज की गई , जिससे महिलाओं को भी विशेष ध्यानवाद अर्पित किया, आयोजन समिति द्वारा अतिथियों ओर सामाजिक जनों हेतु भोजन का भी विशेष प्रबंध किया । जिसमें सामाजिक जनों भरपूर आनंद लिया।अतिथियों ने आभार व्यक्त किया।

बसंत पंचमी के अवसर पर क्षत्रिय पवार समाज संगठन के द्वारा राजाभोज जयंती की शोभायात्रा निकली, सम्मान कार्यक्रम किया


सामाजिक बंधुओं का भी सम्मान किया

लक्ष्मीतरू का पौधा भेटकर सम्मानित किया

मुलतापी समाचार

बैतूल। आज बसंत पंचमी के अवसर पर क्षत्रिय पवार समाज संगठन के द्वारा राजाभोज जयंती की शोभायात्रा का आयोजन किया गया जो की राजाभोज चौक से लल्ली चौक से होते हुये शिवाजी आडियोटोरियम पर शोभायात्रा का समापन किया गया तत्पश्चात मंचिय कार्यक्रम किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में धरम सिंह परमार पधारे एवं जिले के ग्रामीण अंचल से सामाजिक बंधुओं का आगमन हुआ तत्पश्चात समाज के स्वास्थ्य विभाग मे पदस्थ समान्नीयजनो का सम्मान किया एवं साथ ही पुलिस विभाग में पदस्थ सामाजिक बंधुओं का भी सम्मान किया सम्मान मे लक्ष्मीतरू का पौधा देकर सम्मानित किया एवं लक्ष्मीतरू के फायदे बताये गये कार्यक्रम अध्यक्ष श्री बाबूलाल कालभोर की अध्यक्षता मे सम्पन्न हुआ,

जिसमे जिले के मुलताई, बगडोना, सारणी, रोंढा, भडूस, बानूर, एनस, टेमझिरा, सरा-हेटी, जोलखेड़ा, डहुआ, परस्थानी, घोड़ाडोंगरी आदि गांव तहसील से भी महिलाएं एवम पुरुष हजारों की संख्या में सामाजिक बन्धु गन उपस्थित हुए

राजाभोज आयोजन समिति के सदस्य राहुल पवार, जीवन बुवाड़े पवार, आशिष कोड़ले, चन्द्रकिशोर देशमुख, राम पवार, श्याम पवार, महेंद्र (शेरू) पवार अंकुर ओमकार चेतन पवार शिवा पवार, दिलीप पवार, मनोज बड़नगरे, राजेश हजारे एवं मात्र शक्ति ज्योती देशमुख, निलम कौशिक, बबिना कौशिक एवं अन्य सामाजिक बंधुओं के सहयोग से कार्यक्रम सम्पन्न हुआ एवं अध्यक्ष के द्वारा आभार व्यक्त किया एवं मंचसंचालन जगदीश पी. एल पवार के द्वारा किया गया

MP Sidhi Bus Accident बस नहर में गिरी, हादसे में 34 शव निकाले गए, CM ने 5 लाख के मुआवजे की घोषणा


MP सीधी, Sidhi Bus Accident। मध्य प्रदेश के सीधी में रामपुर नैकिन थाना इलाके में मंगलवार सुबह 7:30 बजे एक बस 30 फीट गहरी नहर में जा गिरी। बस को क्रेन से बाहर निकाला जा रहा है, इसमें से 34 शव निकालकर संजय गांधी अस्पताल भेजे गए हैं। आइजी उमेश जोगा ने यह जानकारी दी है। इसके पहले हादसे के तुरंत बाद तैरकर बाहर आ रहे 7 लोगों को ग्रामीणों ने बचा लिया था। सरकार ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है। नहर इतनी गहरी है कि बस पूरी तरह उसमें डूब गई है, गोताखोरों और पुलिस प्रशासन ने बड़ी मशक्कत के बाद उसे पानी में खोज निकाला, क्रेन के जरिए बस को बाहर निकाला। बाणसागर डैम से निकलने वाले पानी को बंद करा दिया गया, जिससे बस को तेज बहाव से रोका जा सके। बताया गया है कि बस में बघवार, चोरगढ़ी समेत आसपास के भी यात्री सवार थे। बस हादसे को लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सीधी कलेक्टर से बात की है। सीएम ने आज भोपाल में होने वाली प्रधानमंत्री आवास योजना के गृहप्रवेशम कार्यक्रम को स्थगित कर दिया है। दो मंत्री तुलसीराम पटेल और रामखेलावन पटेल घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं।

जानकारी के मुताबिक बस सीधी से सतना जा रही थी, साइड लेने के दौरान वह सीधे सड़क किनारे नहर में जा गिरी। घटना के बाद पास के ग्रामीण और अन्य लोग बस में फंसे लोगों को बाहर निकालने में जुटे। मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण इकट्ठे हो गए हैं। घटना की जानकारी लगते ही बस में सवार लोगों के स्वजन भी मौके पर पहुंच रहे हैं, मौके पर कोहराम मचा हुआ है। बताया जा रहा है कि बस छूहियाघाटी में दो दिन से लगे जाम की वजह से अपने तय रूट से ना जाकर इस मार्ग से जा रही थी। यह भी बताया जा रहा है कि सुबह के समय बस आमतौर पर खाली रहती है, लेकिन आज परीक्षा होने की वजह से विद्यार्थी इसी बस में सवार होकर सीधी से सतना जा रह थे।

रिंकू शर्मा की निर्मम हत्या करने वाले हत्यारों के विरूद्ध मसाल जुलूस निकाला


मुलतापी समाचार

राष्ट्रीय हिंदू सेना के विभाग मिडिया प्रमुख सुरज खड़िया ने बताया कि
दिल्ली में राम मंदिर सहभागिता अभियान चला रहे रिंकू शर्मा की निर्मम हत्या करने वाले हत्यारों के विरूद्ध में राष्ट्रीय हिन्दू सेना बैतूल के द्वारा मसाल जुलूस निकाल कर नगर की मुख्य मुख्य गलियों में विरोध प्रदर्शन किया गया

दीपक मालवीय प्रदेशाध्यक्ष मध्यप्रदेश ने बताया कि संगठन के माध्यम से शासन से कपिल की हत्यारों को शासन प्रशासन व्दारा फांसी की सज़ा सुनाई जाएं
मध्य भारत प्रांत अध्यक्ष पवन जी मालवीय ने कहा की आएं दिन इन जिहादियों द्वारा हिन्दु परिवार एवं हिन्दू संगठनों के माध्यम से जुड़कर हिन्दू समाज की रक्षा करने वाले साधु-संतों की आएं दिन हत्या हो रही है इस पर शासन ने रोक लगानी चाहिए
उपस्थित पदाधिकारी विभाग प्रवक्ता अखलेश वाघमारे जिला उपाध्यक्ष दीपक जी कोसे, जिला उपाध्यक्ष मनिष मालवीय, तहसील संयोजक अरविंद मालवीय, नगर मिडिया प्रमुख कृष्णा विश्वकर्मा, प्रखंड गौरक्षा प्रमुख गौरिशकर गजामे, सागर जी शर्मा, संगम देशमुख, अमन पटेल, शनि जी साहू, प्रविण पंवार, प्रविण वाघमारे, जयदिप यादव जय्यू यादव, प्रविण साहू, दीपक मालवीय प्रदेश अध्यक्ष राष्ट्रीय हिंदू सेना शामिल हुए

शोभायात्रा निकाल कर राम कथा का शुभारंभ


मानस मर्मज्ञ कुमारी साक्षी देवी रामायणी ने राम नाम के महत्व को बताते हुए

मुलतापी समाचार

प्रभात पटटन के ग्राम हिवरखेड़ मे राम चरित्र मानस कथा प्रारंभ हुई । छत्रपति शिवाजी युवा मोर्चा हिवरखेड़ ने राम चरित्र मानस कथा कि कथा वाचिका कुमारी साक्षी देवी रामायणी के मुखारबिन्द से आज कथा प्रारम्भ हुई तत्पश्चात छत्रपति शिवाजी की शोभायात्रा व राम चरित्र मानस कथा का शुभारंभ हुआ ।

दुर्गेश भोयरे ने बताया कि शोभायात्रा मे भगवान श्रीराम लक्ष्मण सीता जी व छत्रपति शिवाजी की अद्भुत झांकी बनायी गई तथा ग्राम के युवा बच्चे माता बहनें सभी ने बढ चढ कर भाग लिया कार्यक्रम मे सभी का उत्साह देखते बन रहा था।। प्रथम दिन मानस मर्मज्ञ कुमारी साक्षी देवी रामायणी ने राम नाम के महत्व को बताते हुए राम जन्म की कथा सुनाई गई ।