मप्र CM – बैतूल और नीमच के कलेक्टर पर गिरी गाज, गुना-निवाड़ी के एसपी भी हटाए गये


Breaking news

Multapi samachar

सीएम की आज हुई वीसी के बाद दो कलेक्टर और दो एसपी पर गिरी गाज, अभी हो रहे हैं हटाने के आदेश खबर सूत्रों के हवाले से प्राप्त

जिले के लोव पर्दशन के कारण बैतूल कलेक्टर हटाये गए,

कार्य मे लापरवाही बरतने के कारण, 11 माह के कार्यकाल में ही हटा दिए गए ,

बीजेपी जनप्रतिनिधियों की नाराजगी भी बन है शक्ति प्रमुख वहज

सीएम की कलेक्टर, कमिश्नर कॉन्फ्रेंस के बाद बैतूल कलेक्टर राकेश सिंह और नीमच कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे पर गाज गिरी है और इनके हटाने के आदेश जारी हो रहे हैं। इसी प्रकार
निवाड़ी एसपी वाहिनी सिंह और गुना एसपी राजेश सिंह भी हटाए जा रहे है। गुना सीएसपी टीएस बघेल भी हटाए जा रहे है। बताया गया है कि कार्य में लापरवाही के चलते सीएम ने सख़्त एक्शन लिया है।

कमजोर प्रदर्शन करने वाले अधिकारियों पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की नाराजगी भारी पड़ गई। कलेक्टर-कमिश्नर, आइजी और पुलिस अधीक्षक के साथ वीडियो कांफ्रेंस खत्म होने पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को बैतूल कलेक्टर राकेश सिंह और नीमच कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे को हटाने के निर्देश दे दिए। वहीं, बोहरा धर्म गुरू सैयदना साहब का नाम एफआइआर में शामिल करने पर गुना पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह और नगर पुलिस अधीक्षक नेहा पच्‍चीस‍िया को हटाने का आदेश दिया। निवाड़ी की पुलिस अधीक्षक वाहिनी सिंह को भी हटाने के लिए कहा। इनके तबादला आदेश जारी कर द‍िए गए हैं । राजेश सिंह और वाहिनी सिंह को पुल‍िस मुख्‍यालय में सहायक पुलि‍स महान‍िरीक्षक बनाया गया है जबकि‍ नेहा को भी पुल‍िस मुख्‍यालय में उप पुल‍िस अधीक्षक बनाया गया है।

उत्तराखंड में सुनामी 2, ग्लेशियर पघलने से टूटकर नदी में गिरने से आईं बाढ़, नदी प्रवाह कई गुना बढ़ गया


उत्तराखंड में ‘जल तांडव’: ग्लेशियर टूटने के बाद ‘पूरी तरह साफ’ हो गया तपोवन बांध, शुरुआती सर्वे में सामने आई तबाही के बाद की तस्वीर

ग्लेशियर टूटने के बाद आई तबाही के दौरान पानी का गुबार इतना भीषण था कि तपोवन का बांध पूरी तरह साफ हो गया। इस डैम की लोकेशन से जो शुरुआती तस्वीर सामने आई है, उसमें कुछ ऐसा ही नजर आ रहा है।

उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार को नंदा देवी ग्लेशियर का एक हिस्सा टूट जाने के कारण ऋषिगंगा घाटी में अचानक विकराल बाढ़ आ गई। ग्लेशियर टूटने के बाद आई तबाही के दौरान पानी का गुबार इतना भीषण था कि तपोवन का बांध पूरी तरह साफ हो गया। इस डैम की लोकेशन से जो शुरुआती तस्वीर सामने आई है, उसमें कुछ ऐसा ही नजर आ रहा है।

ग्लेशियर टूटने के चलते धौली गंगा और ऋषि गंगा के संगम पर तपोवन हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर प्रोजेक्ट पूरी तरह से बर्बाद हो चुका है। इस प्रोजेक्ट को ऋषि गंगा परियोजना भी कहा जाता है। तपोवन के पास मलारी घाटी के प्रवेश द्वार पर दो पुलों को भी ग्लेशियर टूटने से भारी नुकसान हुआ है। घाटी में नदी के किनारे जो निर्माण कार्य चल रहा था वो और वहां मौजूद झोपड़ियां पूरी तरह से तबाह हो गई हैं। वायु सेना द्वारा शेयर की गई तसवीरों में देखा जा सकता है कि नंदा देवी ग्लेशियर के प्रवेश द्वार से लेकर पिपलकोटी और चमोली के साथ-साथ धौलीगंगा और अलकनंदा तक भारी नुकसान हुआ है।

जोशीमठ में टनल में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए राहत और बचाव कार्य चल रहा है। ITBP देहरादून के सेक्टर हेडक्वार्टर डीआईजी अपर्णा कुमार ने बताया “बड़ी टनल को 70-80 मीटर खोला गया है, जेसीबी से मलबा निकाल रहे हैं। यहां कल से 30-40 कर्मी फंसे हुए हैं। आईटीबीपी, उत्तराखंड पुलिस, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और सेना यहां संयुक्त ऑपरेशन कर रही है। क़रीब 153 लोग लापता हैं।”

गाडरा बुजुर्ग माँ की हत्या का खुलासा हुआ , पुलिस की ग्रिफ्त में आरोपी


शादी नही करने के कारण हुआ माँ बेटे में विवाद

दो दिन में किया हत्या का खुलासा

मुलताई – बेटे ने  शराब के नशे में अपनी 70 वर्षीय वृद्ध माता का  गला काटकर इसलिए हत्या कर दी  क्योंकि माता  उसका विवाह  नहीं कर रही थी  यह सनसनीखेज मामला   ग्राम गाडरा का है

जिसका खुलासा एसडीओ पुलिस नम्रता सोंधिया ने थाना मुलताई में पत्रकारों के समक्ष किया। उल्लेखनीय है कि 48 घंटे पूर्व एक आदिवासी महिला का शव अपने खेत के मकान की खाट पर संदिग्ध अवस्था में मिला था। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ,पुलिस अधीक्षक बैतूल सुश्री सिमाला प्रसाद,  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बैतूल , श्रध्दा जोशी एवं एसडीओपी  मुलताई सुश्री नम्रता सोधिया के मार्ग दर्शन में थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी के निर्देशन में हत्या के प्रकरण के आरोपी को अपराध कायमी के 48 घण्टे के भीतर गिरफ्तार किया गया है। 

पीएम रिपोर्ट हुआ खुलासा धारदार हथियार से हुई थी हत्या

02.02.21 को मृतिका रुनिया पति सुरेलाल तड़ामे जाति गोंड उम्र 70 वर्ष नि. गाडरा का शव मृत अवस्था मे उसके खेत मे बनी झोपड़ी ग्राम गाडरा मे पड़ा मिला था। जिसके गले मे धारदार हथियार से चोट लगकर खून निकला था। जिसकी सूचना प्राप्त होने पर थाना मुलताई मे मर्ग कायम कर जांच की गई। मर्ग मे मृतिका के शरीर मे लगे चोटो को देखकर पृथम दृष्टया हत्या की शंका हो रही थी। जिसकी बारीकी से जांच की गई। जांच के दौरान साक्षीगणो के कथन लिये गये। व मृतिका रुनिया बाई का पीएम कराकर डाक्टर से मृत्यू के संबंध मे शार्ट पीएम रिपोर्ट प्राप्त की गई जो पीएम रिपोर्ट मे डाक्टर द्वारा किसी धारदार हथियार से चोट आना एवं होमीसाईडल इंजरी होना लेख किया।

विवाह को लेकर पुत्र नशे में करता था विवाद विवाद

प्रकरण मे हत्या का अपराध घटित होना पाया जाने से दिनांक 05.02.21 को अज्ञात आरोपी के विरुध्द हत्या प्रकरण पंजीबध्द किया गया। विवेचना के दौरान आये तथ्यों के आधार पर पाया गया कि संदेही सुनील तड़ामे जो कि मृतिका का पुत्र है। स्वयं के विवाह की बात लेकर अपनी मां मृतिका रुनिया बाई से अक्सर लड़ते रहता था कहता था कि तुमने छोटे लड़के की शादी कर दी मेरी नही कर रहे हो तथा शराब भी पीता था इसी बात को लेकर उसकी मां मृतिका उसे समझाती थी।

घटना दिनांक को भी इसी बात पर से आरोपी सुनील तड़ामे का विवाद उसकी मां रुनिया बाई से हुआ और उसी दौरान उसने शराब के नशे मे होकर हसिये से रुनिया बाई के गले मे मार दिया था। और उसे खटिया पर लिटा कर चला गया था। जिसकी मृत्यू हो चुकी थी।

प्रकरण कायमी के 48 घण्टे के भीतर ही अज्ञात आरोपी की पतारसी कर सुनील पिता सुरेलाल तड़ामे उम्र 27 वर्ष नि. ग्राम गाडरा थाना मुलताई को गिरफ्तार किया गया है । उक्त हत्या के प्रकरण के आरोपी को गिरफ्तार करने मे थाना प्रभारी निरी. श्री सुरेश सोलंकी, उनि. अनिल राहोरिया, प्रआर. 186 अशोक आठोले, प्रआर. चालक 282 रवीन्द्र नागले, आर. 470 सुरेन्द्र, 586 नितेश, 719 तिलक, 575 प्रकाश, 368 बलवंत, 239 मेजरसिंह, मआर. 304 सुनीता की विशेष भूमिका रही 

500 रुपये कम देने के कारण रेत कारोबारी युक की हत्या की मजदूरों ने


पत्थर से कुचलकर युवक की हत्या रेत का कारोबारी था

बैतूल मप्र- रेत भरवाई की मजदूरी को लेकर हुए विवाद में एक युवक की पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी गई हत्या की सूचना पर गंज पुलिस मौके पर पँहुची और मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल लाया जा रहा है|

घटना गंज थाना क्षेत्र में आने वाले गांव किला खंडारा की है बीती रात करीब साढ़े आठ बजे की है मोहन राजपूत निवासी केलापुर जो कि रेत बेचने का काम करता था मोहन के के पास तीन मजदूर रेत भरने का कार्य करते थे जिनका नाम  श्याम, शंभु और विष्णु   इन तीनो को मोहन ने राज दा ढाबा पर रात को बुलाया था और उन्हें 15 सौ रुपये मजदूरी के दिये थे लेकिन श्याम नामक मजदूर और 5 सौ रुपये की मांग को लेकर अड़ गया फिर मोहन से तीनो युवको का झगड़ा चालू हो गया था इन्हें लड़ता देख ढाबा संचालक ने इन्हें वँहा से भगा दिया था और सोमवार की सुबह मोहन का शव एक खेत मे पड़ा मिला|

मृतक मोहन के साथी प्रेमसिंह ने बताया कि रात को वह भी मोहन के साथ था इनका विवाद होने लगा और तीनो युवको ने मोहन को गन्ने से पीटना शुरू कर दिया था उसके  के बाद वह घर चला गया था जब मोहन रात सर घर नही लौटा तो उसे फोन लगाया लेकिन उसने फोन नही उठाया सुबह जब मोहन को ढूंढते हुए ढाबे पर आए तो वन्ही पास के खेत मे काम कर रहे लोगों ने बताया कि खेत मे एक युवक पड़ा हुआ है जब उसे देखा तो उसके सिर को पत्थर से कुचला हुआ था और मोहन मर चुका था| एसडीओपी नितेश पटेल व गंज थाना प्रभारी जयंत मर्सकोले मौके पर पँहुचे थे | एस डी ओ पी नितेश पटेेे ने बताया कि मौके पर ढाबा संचालक से पूछताछ की साथ ही खेत मालिक हरीओम राठौर से और वँहा  काम कर रहे लोगो से भी पूछताछ की पुलिस ने अज्ञात आरोपियों पर मामला दर्ज किया गया मृतक का शव पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल लाया जा रहा है।