अनुभाग में 51लापता में 49 लड़कियां हुए बरामद, गुड्डी अभियान में पुलिस को मिली बड़ी सफलता


मंगलवार को थाना सारणी स्टाफ ने खोज निकाली दो गुड्डियों को सकुशल पहुंचाया अपने घर

सारनी। मुख्यमंत्री के नारी का सम्मान” एवं गुड्डी अभियान में सारनी पुलिस ने को भारी सफलता मिली है। अनुभाग सारनी में लापता 51लापता लड़कियों में 49 लड़कियों को बरामद करने में सफलता मिली है। जिला पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद के निर्देशन में गुड्डी अभियान के तहत वर्ष 2019 एवं 2020 में अपह्रत बालिकाओं की खोजबीन कर 51 में 49 लड़कियों को बरामद किया है। अनुभाग में सबसे ज्यादा बरामद कर प्रदेश में पहला स्थान पाप्त किया है। मंगलवार को 2 लड़कियों को बरामद कर परिवारजनों को सोपा गया है। एसडीओपी अभयराम चौधरी एवं टीआई महेंद्र सिह चौहान ने घोड़ाडोंगरी चौकी पंहुचकर बरामद हुए लड़कियों से चर्चा कर दोनी लड़कियों को 164 के बयानों के लिए न्यायलय में पेश किया है। एसडीओपी श्री चौधरी ने बताया की पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमति श्रध्दा जौशी के मार्गदर्शन एवं एसडीओपी अभयराम चौधरी के नेतृत्व मे सारणी अनुभाग अंतर्गत विशेष टीम का गठन किया गया था। उक्त टीम के द्वारा काफी मेहनत से थाना सारणी की चौकी घोडाडोंगरी के अपराध क्रमांक 86/19 धारा 363 भादवि एवं चौकी पाथाखेड़ा के अपराध क्रमांक 87/20 धारा 363 भादवि मे अपह्रत नाबालिग बालिकाओं को क्रमशः जिला भिवानी हरयाणा एवं संगम नगर नई दिल्ली से सकुशल 02/03/2021 को दस्तयाब कर लाया गया हैं। जिन्हे दस्तयाबी के पश्चात अपह्रताओं के परिजनों के सुपुर्द किया गया हैं। उक्त प्रकरणो मे अपह्रताओं की तलाश पतारसी के संबंध मे श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय बैतूल के द्वारा इमान की घोषणा की गई थी।
अनुभागीय अधीकारी पुलिस सारणी द्वारा बताया गया कि दिनांक 08/08/2019 से आज दिनांक तक पुलिस अनुभाग सारणी मे 51 बालिकाएं अपह्रत हुई थी जिनमें से 49 नाबालिग बालिकाओं को प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर से दस्तयाब की गई हैं।
उपरोक्त विशेष टीम मे थाना प्रभारी सारणी महेन्द्र सिंह चौहान, चौकी प्रभारी घोडाडोंगरी उनि रवि शाक्य, चौकी प्रभारी पाथाखेड़ा उनि राकेश सरेयाम, उनि अलका राय, उनि रवि ठाकूर, आरक्षक विनोद पाथाखेड़ा आरक्षक रमेश पाथाखेड़ा, महिला आरक्षक संदिपा थाना सारणी एवं साइबर सेल बैतूल का विशेष सराहनीय योगदान रहा।

सलबड़ली सहित भोपाली मेला स्थगित, पेट्रोल पम्पों ओर बाजारों में बिना मास्क आने पर हो सकता है जुर्माना


क्राइसिस कमिटी की बैठक कलेक्टर बेतूल जनप्रतिनिधि भी शामिल हुए

जिले में कोरोना के संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए-

भोपाली मेला स्थगित

पेट्रोल पम्पों पर बिना मास्क आने पर हो सकता है जुर्माना

स्कूलों में भी संक्रमण से बचाव के इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश

बाजारों में बिना मास्क घूमने पर होगा जुर्माना

जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मामलों को देखते हुए क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप ने शिवरात्रि के अवसर पर आयोजित होने वाला भोपाली मेला स्थगित करने का निर्णय लिया है। बैठक में बताया गया कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण बगैर ट्रेवल हिस्ट्री के स्थानीय स्तर पर भी फैल रहा है। चूंकि भोपाली मेले में स्थानीय लोग बड़ी संख्या में शामिल होते हैं, अत: कोरोना संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत ग्रुप द्वारा यह निर्णय लिया गया है।

कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस की अध्यक्षता में आयोजित क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में इस बात पर भी गंभीरता से विचार किया गया कि पेट्रोल-डीजल पम्पों पर आने वाले लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए उन्हें अनिवार्य रूप से मास्क का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया जाए। जो लोग बिना मास्क के पेट्रोल अथवा डीजल लेने पहुंच रहे हैं, उन पर जुर्माना भी किया जा सकेगा।

स्कूलों में कोरोना संक्रमण से बचाव के तमाम इंतजाम सुनिश्चित करने के लिए बैठक में निर्देश दिए गए। स्कूल संचालकों से कहा गया है कि वे स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से ध्यान रखें। शिक्षक एवं बच्चे मास्क लगाकर आएं। स्कूलों में सेनेटाइजेशन के भी अच्छे प्रबंध हों। ऐसा नहीं करने पर स्कूल संचालकों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। इसी तरह बाजारों एवं दुकानों में ग्राहकों व दुकानदारों को भी मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करना होगा, अन्यथा उनके विरूद्ध जुर्माना किया जाएगा। सभी दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा, साथ ही सेनेटाइजर के इंतजाम भी रखना होंगे।

बैठक में समाजसेवी संगठन के प्रतिनिधि के रूप में श्री मोहन नागर, उद्योग संघ के अध्यक्ष श्री ब्रजआशीष पाण्डे, जिला रेडक्रॉस समिति के सचिव डॉ. अरूण जयसिंग, पाढर अस्पताल के प्रशासनिक अधिकारी श्री विकास सोनवने, अपर कलेक्टर श्री जेपी सचान सहित अन्य संबंधित उपस्थित थे।

अवेध महुआ शराब 45 लीटर घर से बेचते हुए पकडाई


मुलताई- पुलिस ने शराब माफिया के खिलाफ कार्रवाई करते हुए हाथ भट्टी की कच्ची महुआ शराब 45 लीटर कीमती 4500 रुपए की जप्त की गयी है

पुलिस अधीक्षक सुश्री सिमाला प्रसाद  के व्दारा अवैध शराब के विरुद्ध धरपकड़ हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत श्रीमान अति . पुलिस अधीक्षक  श्रध्दा जोशी एवं  एसडीओपी   सुश्री नम्रता सोधिया  के मार्गदर्शन मे थाना प्रभारी  सुरेश सोलंकी के निर्देशन  16,00 बजे हमराह बल के ग्राम भ्रमण के दौरान सूचना मिली की ग्राम घाटअमरावती थाना मुलताई में एक व्यक्ति अपने घर के पीछे शराब बेच रहा है कि सूचना पर हमराह बल मय गवाहों के घेराबंदी कर एक व्यक्ति को मय शराब के पकड़ा गया नाम पता पूछने पर अपना नाम रामराव पिता लक्ष्मण भोंडे 42 साल निवासी घाट अमरावती के पास से एक प्लास्टिक की  कुप्पी में भरी 20 लीटर हाथ भट्टी की कच्ची महुआ शराब कीमती ₹2000 रुपए की मुताबिक जब्ती पत्रक में आरोपी के कब्जे से जप्त कर कब्जा पुलिस लिया आरोपी का कृत्य धारा 34(1) आबकारी एक्ट अपराध दण्डनीय पाया गया मौके से हमराह थाना लेकर आया अपराध पंजीबद्ध किया गयाI  शाम 16.30 बजे हमराह बल के ग्राम भ्रमण के दौरान सूचना मिली की ग्राम करासपानी थाना मुलताई में एक व्यक्ति घर के पीछे शराब बेच रहा है कि सूचना पर हमराह बल मय गवाहों के घेराबंदी कर एक व्यक्ति को मय शराब के पकड़ा गया नाम पता पूछने पर अपना नाम दिवाकर पिता श्रवण भलावी 22 साल निवासी ग्राम करास पानी थाना मुलताई का होना बताया आरोपी के पास से दो प्लास्टिक की कुप्पी में भरी 25 लीटर हाथ भट्टी की कच्ची महुआ शराब कीमती ₹2500 रुपए की मुताबिक जब्ती पत्रक में आरोपी के कब्जे से जप्त कर कब्जा पुलिस लिया आरोपी का कृत्य धारा 34(1) आबकारी एक्ट अपराध दण्डनीय पाया गया मौके से हमराह थाना लेकर आया अपराध पंजीबद्ध किया गया I 
                  इसी प्रकार दोनों कार्यवाही में हाथ भट्टी की कच्ची महुआ शराब 45 लीटर कीमती 4500 रुपए की जप्त की गयी है I 
           उपरोक्त कार्यवाही निरीक्षक सुरेश सोलंकी, आरक्षक नीलेश , आरक्षक रोहित , महिला आरक्षक पुष्पा ,  पप्पी बड़खाने की सराहनीय भूमिका रही।

प्राचीन राम मंदिर जीर्णोद्धार, 33 वर्ष बाद हो रहा मंदिर नव निर्माण दुनावा में 60 लाख की लागत से होगा


मुलताई- दुनावा में स्थित प्राचीन राम मंदिर का 60 लाख रुपए की लागत से जीर्णोद्धार किया जाना है। यह  ग्राम के मध्य स्थित राम मंदिर का  पुनर्निर्माण ग्रामीणों के सहयोग से होगा।

राम मंदिर नव निर्माण समिति से जुड़े लोगों ने बताया कि राम मंदिर निर्माण को लेकर संपूर्ण ग्रामीणों में भारी उत्साह है और सभी के सहयोग से यह निर्माण किया जाना है ।अब शीघ्र ही प्राचीन प्रसिद्ध राम मंदिर के स्थान पर एक भव्य मंदिर आकार ले सकेगा। ग्रामीण बताते हैं कि

दुनावा का वर्षों पुराना राम मंदिर का निर्माण पूर्व में सन् 1987 में किया गया था, उस समय यह मंदिर  क्षेत्र के सबसे बड़े मंदिर के रूप में जाना जाता था। किंतु वर्तमान में इस मंदिर की छत और दीवार कमजोर हो चुकी है। इसीलिए मंदिर  पुनर्निर्माण करवाना आवश्यक हो चुका है ।

हर घर से मिल रहा है राम काज में सहयोग

राम काज में बड़ी संख्या में लोग  जुड़े हुए हैं इससे पूर्व भी समिति बनाकर ही मंदिर का निर्माण किया गया था। लगभग 33 वर्ष पहले   धनराज  कड़वे की अध्यक्षता में बनाए गए  इस राम मंदिर   में

स्वर्गीय टीकाराम पटेल,  स्वर्गीय, झुम्मुक लाल  विश्वकर्मा, स्वर्गीय ढीमर साहू, स्वर्गीय कुंदन लाल  शिवहरे, स्वर्गीय शंकरलाल  कड़वे, स्वर्गीय बिहारी लाल  विश्वकर्मा, स्वर्गीय शंकरलाल जी शिवहरे, स्वर्गीय नारायण पवार, स्वर्गीय प्रकाश सेठ,  स्वर्गीय लखन साहू, स्वर्गीय हेमराज सोमगड़े,स्वर्गीय रतन लाल  कड़वे ,स्वर्गीय घुड़िया सेठ ,स्वर्गीय गोंड साहू, स्वर्गीय ओझा महाजन, स्वर्गीय प्यारेलाल  पटवारी,  स्वर्गीय  ओझा लालजी गिराहरे, स्वर्गीय  लखन कड़वे, स्व. धनराज सोमगड़े, स्वर्गीय फकिरिया पवार, स्वर्गीय राम किशन  शिवहरे, स्वर्गीय कैली महाजन, एवं  हरि साहू, सीताराम सोमगड़े(नागपुर) सरजेराव ब्वाड़े,बाबूलाल पटेल, द्वारका कड़वे, कीरत शिवहरे,  श्याम नंदन मालवीय ,दिलीप साखरे, चिरौंजी साहू ,मंसाराम दियावार, रूपलाल शिवहरे,सुखराम पवार, राधेलाल गोहिए, देवा जी कौशिक, शांताराम विश्वकर्मा, मधु सेठ( बैतूल), केशोराव पवार,  आदि सदस्यों  के श्रम एवं धन के सहयोग से मंदिर का निर्माण किया गया था

वर्तमान में नई मंदिर  पुनर्निर्माण समिति का गठन किया गया है इसमें बाबूलाल पटेल, नारायण  सरोदे, विजय गावंडे,प्रकाश सूर्यवंशी, आशीष सोनी, अनुपम कड़वे, ललित रघुवंशी, नितिन शिवहरे ,रमेश सूर्यवंशी, महेश ब्वाड़े, अरुण शिवहरे ,नरेश फरकाड़े ,बबलू शिवहरे, अरविंद साहू ,बलवंत कड़वे ,विजय पवार, संतोष पवार, पलाश कड़वे, प्रताप कड़वे ,देवेंद्र विश्वकर्मा ,रंजीत टिटारे, केवल कौशिक, अमित ढोले जीतू खरखुसे, मुकेश कौशिक, धीरज साहू, नितिन सूर्यवंशी आदि  सदस्य प्रतिदिन सुबह शाम ग्रामीणों के घर जाकर मंदिर के पुनर्निर्माण के लिए दान एकत्र कर रहे हैं, मंदिर  समिति  द्वारा  जिस प्रकार अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए दान दिया जा रहा है उसी प्रकार दुनावा में भी  राम मंदिर पुनर्निर्माण के लिए ग्रामीणों और श्रद्धालुओं से अनुदान के लिए आग्रह किया  जाता है।

समिति से जुड़े लोग बताते हैं कि  ग्राम दुनावा  के मूल निवासी जो बाहर जाकर बस गए हैं वह भी मंदिर निर्माण के माध्यम से ग्राम की माटी से जुड़ रहे हैं

और हर संभव सहयोग प्रदान कर रहे हैं। पिछले राम मंदिर निर्माण समिति के जितने भी सदस्य अब हमारे बीच नहीं रहे ,उनके घर के सदस्य अभी भी स्वेच्छा से मंदिर पुनर्निर्माण के लिए अच्छी खासी राशि दान दे रहे हैं ।स्वर्गीय हेमराज  सोमगड़े के सुपुत्र रमेश सोमगड़े ने ₹181000 की राशि दान दी है एवं स्वर्गीय शंकरलाल  कड़वे की धर्मपत्नी  विमला बाई कड़वे ने 51 हजार रू़ की राशि दान दी है । दुनावा के कुछ लोग जो वर्तमान में दूसरे शहर जाकर रह रहे हैं वो भी दुनावा में मंदिर पुनर्निर्माण के लिए  दान दे रहे हैं।
दुनावा की राम मंदिर पुनर्निर्माण समिति के सभी सदस्य ग्रामीण और श्रद्धालुओं से मंदिर निर्माण के लिए दान देने  के लिए विनम्र निवेदन करते हैं।