मास्क ना लगाने वालों वाहन चालकों के बनाए चालान, कोरोना की गाइड लाइन का करे पालन


कोरोना कोविंद की दूसरी लहर

मुलताईं। जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से कोरोना की गाइड लाइन का पालन कराने के निर्णय लिए गए है। महाराष्ट्र की सीमा से लगे होने के कारण बैतुल जिले में कोरोना की दूसरी लहर आ सकती है। कोरोना का संक्रमण महाराष्ट्र से जिले में ना आए वही जिले में बढ़ते मरीजो की संख्या की देखते हुए जिले में कोरोना की गाइड लाइन का पालन कराते हुए मास्क पहनना अनिवार्य है। शुक्रवार को नगर के नागपुर नाके पर तहसीलदार सुधीर जैन,नगरपालिका के सहायक यंत्री आर सी गव्हाड़े सहित नगरपालिका एवं राजस्व विभाग की टीम द्वारा बिना मास्क लगाए घूम रहे 124 लोगो पर चालानी कार्रवाई कर 9 हजार 3सौ 80 रुपए की राशि वसूल की गई।

पाबल में हुए अंधे कत्‍ल का खुलासा


आरोपी ने साक्ष्य छुपाने की नियत से मृतक का शव साइकिल पर रखकर घटना स्थल से कुछ 1 कि.मी. स्थित डोडा के जंगल में ले जाकर शव खाई में फेक कर फरार हो गया था

मुलतापी समाचार

मुलताई थाना क्षेत्र के प्रभातपटटन ब्‍लाक ग्राम पाबल निवासी लापता ग्रामीण का शव जंगल की गहरी खाई में  मिलने की घटना मे ग्रामीण की हत्या ग्राम पाबल के ही निवासी मृतक   के  पड़ोसी किसान द्वारा किए जाने का खुलासा पुलिस ने किया है  शुक्रवार को एसडीओपी नम्रता सोंधिया थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी ने पत्रकार वार्ता में बताया कि
 ग्राम पाबल निवासी चंद्रु पिता सुकलू सलामें 50 साल बीते 28 फरवरी से लापता था। परिजन चंद्रु की खोजबीन कर रहे थे।

खोजबीन के दौरान परिजन जंगल में पहुंचे तो ग्राम पाबल के पास स्थित डोडा के जंगल में 200 फीट गहरी खाई में चंद्रु का शव पडा दिखा। परिजनों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक के शव को गहरी खाई से बाहर निकाला।

थाना प्रभारी श्रीसोलंकी ने बताया मृतक के सिर पर चोट के निशान थे घटना की सूचना पर  मर्ग कायम किया और मर्ग की जांच में हत्या का मामला सामने आने पर  3 मार्च को अज्ञात आरोपी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर जांच प्रारंभ की थी विवेचना के दौरान यह खुलासा हुआ कि  ग्राम पाबल निवासी  संदेही वासुदेव पिता दामू मरकाम 46 साल का चंद्रू सलामें से पुराना विवाद चल रहा था  वासुदेव को यह संदेह था कि चंद्रु के द्वारा जादू टोना करने से उसकी पत्नी की मौत हो गई थी इस बात को लेकर  28 फरवरी को रात 10 बजे के दरमियान खेत में चंद्रु और वासुदेव के बीच विवाद  हुआ   विवाद के दौरान वासुदेव ने कुल्हाड़ी से  चंद्रु के सिर और छाती पर वार कर दिए  जिससे चंद्रु की मौत हो गई वासुदेव ने साक्ष्य छुपाने की नियत से चंद्रु की साइकिल पर ही  चंद्रु का शव  रखकर घटना स्थल से कुछ दूर स्थित डोडा के जंगल में ले जाकर शव खाई में फेक दिया 

एसडीओपी सुश्री सोंधिया ने बताया कि प्रकरण कायम होने के 24 घंटे के भीतर ही मामले की विवेचना कर आरोपी वासुदेव मरकाम को गिरफ्तार किया गया है प्रकरण की विवेचना में थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी के नेतृत्व में उप निरीक्षक अनिल राहोरिया प्रधान आरक्षक अशोक आठोले रविंद्र नागले आरक्षक सुरेंद्र नितेश तिलक और बलवंत की महत्वपूर्ण भूमिका रही है