पुरुष प्रधान संस्कृति को पीछे छोड़ते हुए छह बेटियों और एक बेटे ने दिया पिता की अर्थी को कंधा


बैतूल – पुरुष प्रधान संस्कृति को पीछे छोड़ते हुए छह बेटियों एवं एक बेटे ने अपने पिता की अर्थी को कंधा दिया। कहते हैं कि बेटी कभी पिता पर बोझ नहीं होती इसी का जीता जागता उदाहरण आज हमें ग्राम सांडिया में देखने को मिला जहां ग्राम सांडिया के सेवानिवृत्त प्राचार्य श्री निंबाजी नागले जी का 76 वर्ष की उम्र में अस्थमा के अटैक से 18 अप्रैल को देहांत हो गया था, कोरोना काल की आपदा को ध्यान में रखते हुए हैं परिवारवालों ने ना ही परिजनों को बुलाया और ना ही गांव वासियों को बुलाया। ऐसी परिस्थिति में 19 अप्रैल को अन्त्येष्टि छ: बेटियों निरुपमा, करुणा, ममता, हेमलता, बबली, बाली और बेटे बुद्धिशंकर नागले ने अपने पिता को कंधा देकर गांव के मोक्ष धाम में अंतिम क्रिया कर्म के सभी संस्कार पूरे किए। सभी छह बहनों एवं एक भाई ने एक साथ मृत पिता को मुखाग्नि भी दी।

इतनी सारी उलझन है और पप्पा तुम भी पास नहीं
ये बिटिया तो टूट चुकी है, अब तो कोई आस नहीं, पर पप्पा ! तुम घबराना मत, मैं फिर भी जीत के आउंगी
मेरे पास जो आपकी सीख है, मैं उससे ही तर जाऊंगी

GRS ग्राम रोजगार सहायक द्वारा कपिल धारा योजना के कूप की 1 लाख रुपये से अधिक की राशि गमन किया, किसान हो रहा परेशान


घोड़ाडोंगरी। जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत आमडोह में ग्राम रोजगार सहायक तपनदास मण्डल ने हितग्राही को बिना बताए मजदूरी की राशि फर्जी तरीके से आहरण कर ली है। ग्रामीणों द्वारा बनाये गये पंचनामे में उल्लेख है कि भाग्यधर मंडल के कपिल धारा कूप में एक लाख तेरह हजार पचास रुपये की राशि का गमन की , फर्जी मस्टरोल भरकर किया गया है जबकि मोके पर ग्राम पंचायत ने कुँए का काम प्रारंभ नही किया था।

मनरेगा योजना में ग्राम रोजगार सहायक द्वारा फर्जी तरीके से राशि आहरण करने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है जहां मप्र शासन के आदेशानुसार हर पात्र हितग्राही को लाभ पहुंचाने के लिए तरह तरह के उपाय एवं नए-नए सॉफ्टवेयर बनाए जा रहे हैं। जिससे ग्राम पंचायत में कोई फर्जीवाड़ा न हो सके, लेकिन दबंग रोजगार सहायक तपन दास द्वारा मनरेगा अंतर्गत कपिल धारा कूप निर्माण में अपने चहेतों के खाते में राशि का आहरण नहीं रूक रहा है ।

ऐसा ही एक मामला जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत आम डोह के ग्राम नारायणपुर का देखने को मिला। जहां पर भाग्यधर पिता अधीर मंडल का मनरेगा योजना से कपिल धारा कूप निर्माण स्वीकृत वर्ष 2018 किया गया था।

जो कि नियमानुसार एक वर्ष की अवधि में निर्माण कार्य को पूरा होना था, लेकिन 2 साल बीत जाने के बाद कपिल धारा का कूप निर्माण पंचायत द्वारा शुरू नही किया गया जिसके चलते पात्र हितग्राही द्वारा खुद जैसे तैसे रुपये जुगाड़ कर कच्चा कूप खुदवाया गया हितग्राही भाग्यधर मण्डल को बाद में पता चला की उसके कपिलधारा कूप निर्माण के नाम पर एक लाख तेरह हजार पचास रुपये निकल चुके हैं।

हितग्राही द्वारा जिसकी आरोप ग्राम पंचायत आमडोह के सह सचिव तपन दास पर लगाया, एवं हितग्राही ने बताया कि मजूदरों के नाम का फर्जी मस्टररोल से फर्जी तरीके से मेरे खेत के कपिल धारा कूप निर्माण कार्य का रकम निकल लिया गया है जिसका मास्टरमाइंड सह सचिव तपनदास मंडल है। जिम्मेदार अधिकारीयो द्वारा निष्पक्ष जांच की जाये कपिल धाराकूप निर्माण राशि मे गमन का मामला उजागर होगा।

GRS ग्राम रोजगार सहायक द्वारा कपिल धारा योजना के कूप की 1 लाख रुपये से अधिक की राशि गमन किया, किसान हो रहा परेशान


घोड़ाडोंगरी। जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत आमडोह में ग्राम रोजगार सहायक तपनदास मण्डल ने हितग्राही को बिना बताए मजदूरी की राशि फर्जी तरीके से आहरण कर ली है। ग्रामीणों द्वारा बनाये गये पंचनामे में उल्लेख है कि भाग्यधर मंडल के कपिल धारा कूप में एक लाख तेरह हजार पचास रुपये की राशि का गमन की , फर्जी मस्टरोल भरकर किया गया है जबकि मोके पर ग्राम पंचायत ने कुँए का काम प्रारंभ नही किया था।

मनरेगा योजना में ग्राम रोजगार सहायक द्वारा फर्जी तरीके से राशि आहरण करने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है जहां मप्र शासन के आदेशानुसार हर पात्र हितग्राही को लाभ पहुंचाने के लिए तरह तरह के उपाय एवं नए-नए सॉफ्टवेयर बनाए जा रहे हैं। जिससे ग्राम पंचायत में कोई फर्जीवाड़ा न हो सके, लेकिन दबंग रोजगार सहायक तपन दास द्वारा मनरेगा अंतर्गत कपिल धारा कूप निर्माण में अपने चहेतों के खाते में राशि का आहरण नहीं रूक रहा है ।

ऐसा ही एक मामला जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत आम डोह के ग्राम नारायणपुर का देखने को मिला। जहां पर भाग्यधर पिता अधीर मंडल का मनरेगा योजना से कपिल धारा कूप निर्माण स्वीकृत वर्ष 2018 किया गया था।

जो कि नियमानुसार एक वर्ष की अवधि में निर्माण कार्य को पूरा होना था, लेकिन 2 साल बीत जाने के बाद कपिल धारा का कूप निर्माण पंचायत द्वारा शुरू नही किया गया जिसके चलते पात्र हितग्राही द्वारा खुद जैसे तैसे रुपये जुगाड़ कर कच्चा कूप खुदवाया गया हितग्राही भाग्यधर मण्डल को बाद में पता चला की उसके कपिलधारा कूप निर्माण के नाम पर एक लाख तेरह हजार पचास रुपये निकल चुके हैं।

हितग्राही द्वारा जिसकी आरोप ग्राम पंचायत आमडोह के सह सचिव तपन दास पर लगाया, एवं हितग्राही ने बताया कि मजूदरों के नाम का फर्जी मस्टररोल से फर्जी तरीके से मेरे खेत के कपिल धारा कूप निर्माण कार्य का रकम निकल लिया गया है जिसका मास्टरमाइंड सह सचिव तपनदास मंडल है। जिम्मेदार अधिकारीयो द्वारा निष्पक्ष जांच की जाये कपिल धाराकूप निर्माण राशि मे गमन का मामला उजागर होगा।