किसी की जिंदगी बचाने सहायता हेतू एक छोटा सा प्रयास- मदद करे


अमित पिता मनोहर पवार उम्र 28 वर्ष निवासी ग्राम सेमरा तहसील सौंसर जिला छिंदवाडा ये कोरोना से संक्रमित है एंव 3 मई से हॉस्पिटल में एडमिट है इनके फेफड़े 95 प्रतिशत तक संक्रमित है एंव यह वेंटीलेटर पर है इस दौरान इन्हें बहुत पैसा लग गया है इनकी आर्थिक हालत बहुत ख़राब हो चुकी है और आगे इलाज के लिए पैसे नहीं है यह अपने माता पिता का एकलौता पुत्र है और इसकी 1 वर्ष की बेटी भी है कृपया आप लोगो से हाथ जोड़कर निवेदन है की आपकी क्षमता अनुसार इनकी मदद करे जिससे उसकी जान बच सके और एक बेटी अनाथ होने से बचे |
अभी यह NECTAR सुश्रुत हॉस्पिटल नागपुर में एडमिट है आप संपर्क कर जानकारी भी ले सकते है –
मोबाईल क्रं – 9926881055

Read more – https://milaap.org/fundraisers/support-amit-pawar-1?utm_source=whatsapp&utm_medium=fundraisers-title&mlp_referrer_id=5390510

To pay via Paytm (for Android users only) – https://milaap.org/fundraisers/support-amit-pawar-1/deeplink?deeplink_type=paytm

हेल्पिंग हैंड ने बांटे सैनिटाइजर, मास्क और ग्लब्स


  • लगातार ड्यूटी कर रही मैदानी कार्यकर्ताओं को मिलेगी सुरक्षा
  • बैतूल। कोरोना काल में सेवा के लिए बने ‘हेल्पिंग हैंड द्वारा लगातार जरुरतमंदों की सहायता की जा रही है। संगठन द्वारा केवल मरीजों और परिजनों को ही मदद नहीं पहुंचाई जा रही है बल्कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए लगातार फील्ड में कार्य कर रहे कर्मचारियों की सुध भी ली जा रही है। इसी कड़ी में आज ‘हेल्पिंग हैंड से जुड़ी समाजसेविकाओं द्वारा बैतूल शहर के आंगनवाड़ी केंद्रों में पदस्थ आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और एएनएम को सैनिटाइजर, मास्क और ग्लब्स वितरित किए। ‘हेल्पिंग हैंड की माधुरी साबले, शिखा भौरासे, तूलिका पचोरी, सोनल पाटिल, अभिलाषा बाथरी और मनीषा तिवारी ने भगतसिंह वार्ड-3 आंगनवाड़ी में कार्यकर्ता कौशल्या हजारे, सहायिका सरिता मालवीय, चंद्रशेखर वार्ड-2 में कार्यकर्ता सुनिता लोखंडे एवं सहायिका मालती पाटिल, एएनएम ओमप्रभा यादव, आशा कार्यकर्ता कंचना उच्चसरे, पटेल वार्ड-2 में सहायिका बबीता महाले, शास्त्री वार्ड में सहायिका सोना अमझरे, चंद्रशेखर वार्ड-1 में सहायिका संगीता खातरकर, विकास वार्ड-1 में कार्यकर्ता उषा सातनकर, विकास वार्ड-2 में कार्यकर्ता गीता रावत, सहायिका करूणा जैन, गणेश वार्ड-1 में कार्यकर्ता कल्पना नाइक, सहायिका कांता कोसे, गणेश वार्ड-2 में कार्यकर्ता राधा दवंडे, सहायिका रत्ना मालवी, राजेंद्र वार्ड-1 में कार्यकर्ता राधिका गव्हाड़े, सहायिका सरिता गव्हाड़े, राजेंद्र वार्ड-2 में सहायिका रेखा पाटिल, राजेंद्र वार्ड-3 में सहायिका बिंदु धुर्वे, विकास वार्ड-1 में कार्यकर्ता पूजा सुरे को यह सामग्री भेंट की। समाजसेवी माधुरी साबले ने कहा कि कोरोना काल में यह सभी कर्मचारी पूरे दिन फील्ड में कार्य करती है और उन्हें सर्वे के लिए घर-घर भी पहुंचना पड़ रहा है। ऐसे में हमारे इन कोरोना वॉरियर्स की सुरक्षा भी बेहद आवश्यक है। हमने इसी की फिक्र करते हुए इन्हें यह सुरक्षा सामग्री प्रदान की है। अब यह पूरे मुस्तैदी से कार्य भी कर सकेंगी और कोरोना से सुरक्षित भी रह सकेंगी।

मिलकर हराएँगे कोरोना को, Rss संघ हार नही मानेगे हम…


मुलतापी समाचार

सेवा ही संगठन अभियान-2
कोरोना महामारी से संघर्ष की इस विषम परिस्थिति में सेवा ही संगठन_अभियान-2 के अंतर्गत आज
पूर्व अध्यक्ष कौशल विकास एवं रोजगार बोर्ड (कैबिनेट मंत्री दर्जा)भाऊ हेमंत विजयराव देशमुख के द्वारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं सेवा भारती जिला मुलताई के संघ कार्यालय पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ नर्मदापुरम विभाग प्रचारक शिवशंकर सिंह एवं जिला प्रचारक गिरीश जैस्वाल की उपस्थिति में 7 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, 250 राशन पैकेट, सेनेटाइजर 2990 बोटल(520ml), 3002 हैड वाश(250ml),1080, साबुन(100gm), 500किलो बासमती चावल, 2300 बिस्किट पैकेट, 70 मेडिसिन किट, 40 लीटर छिड़काव करने वाला सेनेटाइजर, 4000 मास्क यह सामग्री दी गई है जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिला मुलताई के स्वयंसेवको के माध्यम से नगर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में वितरित किए जाएंगे।

हेमंत विजयराव देशमुख जी ने बताया जो आज 7 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दिए है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिला मुलताई के द्वारा ऑक्सीजन बैंक बनाकर जो कोरोना मरीज होम आइसोलेशन में एवं ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की आवश्यकता होने पर संघ कार्यालय से उपलब्ध किए जाएंगे यह व्यवस्था पूरी तरह नि:शुल्क रहेगी ।
स्वयंसेवकों के साथ मिलकर सैनिटाइजर,मार्क्स,राशन किट,हैड वाश,साबुन, बासमती चावल,बिस्किट, मेडिसिन किट,
मुलताई ग्रामीण एवं नगर में निरंतर लोगों तक पहुंचाए जाएंगे जिससे लोगों को कोरोना से जीतने की शक्ति एवं संबल मिल रहा है
इसको लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में जन जागरण अभियान, जागरूकता अभियान हर ग्राम पंचायत स्तर पर चलाए जा रहा है जिससे जल्द से जल्द मुलताई को कोरोन महामारी से हम सभी को मिलकर हराना है कोरोना से जीतना है
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रत्येक स्वयंसेवक द्वारा जरूरतमंदों की हर संभव सहायता कर रहा है। इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ नर्मदापुरम के विभाग प्रचारक शिवशंकर सिंह, जिला प्रचारक गिरीश जायसवाल, जिला कार्यवाह विवेक राठौड़, मुलताई नगर संघचालक अरविंद जैन, जिला महाविद्यालयीन प्रमुख शिवेन्द्र बोरबन विभाग संयोजक बजरंग दल एवं प्रांत गौ रक्षा प्रमुख कृष्णकांत गावंडे, विश्व हिंदू परिषद जिला मंत्री उदय जोशी,भाजयुमो जिला अध्यक्ष भवानी गावंडे,
हरिश कापसे भाजपा जिला महामंत्री जगदीश पवार, मनीष माथानकर, मोहित गर्ग , प्रवीण गुगनानी, विशाल डोंगरे, तपन खंडेलवाल , गगन साहू, राज वर्मा, राहुल साहू, कृष्णा साहू, अभिषेक सोनी, सौरभ दुबे उपस्थित रहे।

बैतूलवी पत्रकारिता का मजबूत स्तंभ रामकिशोर दयाराम पंवार रोंढ़ावाला


जन्मोत्सव पर विशेष
बैतूलवी पत्रकारिता का मजबूत स्तंभ रामकिशोर दयाराम पंवार रोंढ़ावाला
सचित्र आलेख – अनिल गोयर
बैतूल जिले की पत्रकारिता का लीपीबद्ध इतिहास सामने लाने वाले लेखक / पत्रकार / कहानीकार/ सत्यकथाओ के लेखक रामकिशोर दयाराम पंवार का जन्म बैतूल जिले के ग्राम रोढ़ा में 23 मई 1964 को हुआ था। रामकिशोर पंवार की प्रारंभिक शिक्षा पुण्य सलिला माँ सूर्य छाया पुत्री ताप्ती जन्मस्थली मुलताई के नगर पालिका के टेकड़ी वाले स्कूल से शुरू हुई। मुलताई – रोढ़ा – पाथाखेड़ा – सारनी का स्कूली सफर बीए फायनल एयर में फेल हो जाने के बाद रूक गया। वन विभाग में वनपाल रहे स्वर्गीय दयाराम पंवार के चार पुत्रो एवं दो पुत्रियो में सबसे रामकिशोर पंवार ने समाचार पत्रो के हाकर के रूप में अपनी संघर्ष की शुरूआत की और समाचार पत्रो में कोयलाचंल की आवाज को पत्र संपादक के नाम और आपके पत्र जैसे स्तंभ में समस्याओं को रखते – रखते वे साप्ताहिक बैतूल समाचार से अपनी पत्रकारिता की शुरूआत कर दैनिक भास्कर भोपाल – दैनिक युगधर्म नागपुर – नवभारत नागपुर के कोयलाचंल से संवाददाता बने।
1980 के दशक में कोयलाचंल मे जब कोयला माफिया अपने पांव पसारने लगा था तब कोयलाचंल के कोल माफिया की खबरो को छापने का साहस दिखाने वाले रामकिशोर पवार पर कई बार प्राण घातक हमले भी हुए। उनकी हत्या के प्रयासो के बाद भी वे एक सफल और संघर्षशील पत्रकार के रूप मे सामने आए। प्रदेश की राजधानी भोपाल से निकलने वाले लगभग सभी समाचार पत्रो के लिए पाथाखेड़ा – सारणी से समाचार सम्प्रेषण करने वाले रामकिशोर पंवार ने पाथाखेड़ा से टे्रडल प्रेस पर अपना दैनिक समाचार पत्र दैनिक पाथाखेड़ा का सपूत का प्रकाशन शुरू किया। समाचार पत्र की प्रकाशिका उनकी श्रीमति रूक्मिणी पंवार थी। पाथाखेड़ा से ही आधा दर्जन से अधिक समाचार पत्रो के प्रकाशक एवं संपादक बने रामकिशोर पंवार ने नागपुर – भोपाल – इन्दौर – जबलपुर – मुम्बई – दिल्ली के समाचार पत्रो के लिए बैतूल जिला ब्यूरो के रूप मे काम किया।
वर्तमान में दैनिक पंजाब केसरी दिल्ली के बीते 15 वर्षो से ब्यूरो है। साप्ताहिक समाचार पत्र ताप्ती हलचल का प्रकाशन एवं संपादन करने वाले रामकिशोर पंवार ने बैतूल जिले में अनेक टीवी न्यूज चैनलो से भी जुड़ कर उन्होने टीवी पत्रकारिता में भी अपना जौहर दिखाया। पाथाखेड़ा से केबल चैनल पर कोल सिटी हलचल की भी शुरूआत की। समाचार प्रेषण करने वाली न्यूज एजेंसी साइना हिन्दुस्तान समाचार से भी जुड़े रहे रामकिशोर पंवार की देश भर में अनेक रहस्य रोमांच से जुड़े सत्यकथायें छप चुकी है। देश की ख्याति प्राप्त पत्रिका कादिम्बनी एवं नवनीत में भी उनके आलेख प्रकाशित हो चुके है। हिन्दी पाक्षिक आऊटलुक से लेकर दैनिक ट्रिब्यून में उनकी कहानी छप चुकी है।
बैतूल जिले में वे प्रथम पंक्ति के पत्रकारो के नेता रहे। जिले में सबसे बड़े पत्रकार संगठन के संस्थापक रहे रामकिशोर पवंार ने भोपाल के पत्रकार कामरेड़ शलभ भदौरिया एवं कामरेड़ जगत पाठक के नेतृत्व में बैतूल – छिन्दवाड़ा में पत्रकार संगठन की नींव रखी। लम्बे समय तक कामरेड के विक्रमराव के संग पत्रकार आन्दोलनो से जुड़े रहे रामकिशोर पंवार ने देश के ख्याति प्राप्त पत्रकार एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पत्रकार एवं सासंद रामाराव की स्मृति में आयोजित सेवाग्राम से राजघाट तक की पत्रकारो की एतिहासिक सदभावना यात्रा का सावनेर से लेकर भोपाल तक नेतृत्व किया। श्री पंवार ने मध्यप्रदेश के अनेक संगठनो के संग काम किया वे बैतूल जिले में जिला प्रेस क्लब के उपाध्यक्ष से लेकर एक दर्जन से अधिक पत्रकार संगठनो के जिलाध्यक्ष / प्रदेश सचिव एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य भी रहे। वर्तमान में आईएफडब्लयूजे के परमानंद पाण्डे गुट में प्रदेश सचिव एवं नेशनल कौङ्क्षसल के सदस्य है। रामकिशोर पंवार की पुस्तक बेतूल पत्रकारिता काफी चर्चित कृति रही। वर्तमान में बैतूल जिले के 200 साल पूरा होने पर उनकी पुस्तक बेतूल का संपादन जारी है। अपने गांव से लेकर नदियो पर भी उनकी किताब छप कर आने वाली है।
बीते लगभग डेढ़ दशक से पुण्य सलिला माँ सूर्यपुत्री ताप्ती जागृति समिति एवं माँ ताप्ती जागृति मंच के बैनर तले वे ताप्ती के जल संरक्षण / संर्वधन / ताप्ती घाटी परियोजना और ताप्ती विकास प्राद्यिकरण को लेकर संघर्षरत है। प्रदेश में उनकी पहचान पुण्य सलिला ताप्ती को लेकर जारी संघर्ष को लेकर बनी हुई है। ताप्ती जन्मोत्सव से लेकर ताप्ती महोत्सव और अब ताप्ती नदी के दोनो किनारो पर परिक्रमा मार्ग एवं घाटो के निमार्ण का संकल्प लेकर चल रहे रामकिशोर दयाराम पंवार की इस वर्ष 23 मई 2021 को 56 वर्ष पूरे हो जाएगें और वे 57 वर्ष में प्रवेश करने जा रहे है। दो पुत्रो के पिता रामकिशोर पंवार अपनी दो साल की सुपुत्री तृप्ति के दादा जी है। कोरोना महामारी के दौर में रामकिशोर पंवार ने अपना जन्मोत्सव आयोजन पर सेवा – परोपकार के रूप में मनाने का संकल्प लिया है।
संलग्र छायाचित्र
रामकिशोर पंवार

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल 9584390839