बैतूलवी पत्रकारिता का मजबूत स्तंभ रामकिशोर दयाराम पंवार रोंढ़ावाला


जन्मोत्सव पर विशेष
बैतूलवी पत्रकारिता का मजबूत स्तंभ रामकिशोर दयाराम पंवार रोंढ़ावाला
सचित्र आलेख – अनिल गोयर
बैतूल जिले की पत्रकारिता का लीपीबद्ध इतिहास सामने लाने वाले लेखक / पत्रकार / कहानीकार/ सत्यकथाओ के लेखक रामकिशोर दयाराम पंवार का जन्म बैतूल जिले के ग्राम रोढ़ा में 23 मई 1964 को हुआ था। रामकिशोर पंवार की प्रारंभिक शिक्षा पुण्य सलिला माँ सूर्य छाया पुत्री ताप्ती जन्मस्थली मुलताई के नगर पालिका के टेकड़ी वाले स्कूल से शुरू हुई। मुलताई – रोढ़ा – पाथाखेड़ा – सारनी का स्कूली सफर बीए फायनल एयर में फेल हो जाने के बाद रूक गया। वन विभाग में वनपाल रहे स्वर्गीय दयाराम पंवार के चार पुत्रो एवं दो पुत्रियो में सबसे रामकिशोर पंवार ने समाचार पत्रो के हाकर के रूप में अपनी संघर्ष की शुरूआत की और समाचार पत्रो में कोयलाचंल की आवाज को पत्र संपादक के नाम और आपके पत्र जैसे स्तंभ में समस्याओं को रखते – रखते वे साप्ताहिक बैतूल समाचार से अपनी पत्रकारिता की शुरूआत कर दैनिक भास्कर भोपाल – दैनिक युगधर्म नागपुर – नवभारत नागपुर के कोयलाचंल से संवाददाता बने।
1980 के दशक में कोयलाचंल मे जब कोयला माफिया अपने पांव पसारने लगा था तब कोयलाचंल के कोल माफिया की खबरो को छापने का साहस दिखाने वाले रामकिशोर पवार पर कई बार प्राण घातक हमले भी हुए। उनकी हत्या के प्रयासो के बाद भी वे एक सफल और संघर्षशील पत्रकार के रूप मे सामने आए। प्रदेश की राजधानी भोपाल से निकलने वाले लगभग सभी समाचार पत्रो के लिए पाथाखेड़ा – सारणी से समाचार सम्प्रेषण करने वाले रामकिशोर पंवार ने पाथाखेड़ा से टे्रडल प्रेस पर अपना दैनिक समाचार पत्र दैनिक पाथाखेड़ा का सपूत का प्रकाशन शुरू किया। समाचार पत्र की प्रकाशिका उनकी श्रीमति रूक्मिणी पंवार थी। पाथाखेड़ा से ही आधा दर्जन से अधिक समाचार पत्रो के प्रकाशक एवं संपादक बने रामकिशोर पंवार ने नागपुर – भोपाल – इन्दौर – जबलपुर – मुम्बई – दिल्ली के समाचार पत्रो के लिए बैतूल जिला ब्यूरो के रूप मे काम किया।
वर्तमान में दैनिक पंजाब केसरी दिल्ली के बीते 15 वर्षो से ब्यूरो है। साप्ताहिक समाचार पत्र ताप्ती हलचल का प्रकाशन एवं संपादन करने वाले रामकिशोर पंवार ने बैतूल जिले में अनेक टीवी न्यूज चैनलो से भी जुड़ कर उन्होने टीवी पत्रकारिता में भी अपना जौहर दिखाया। पाथाखेड़ा से केबल चैनल पर कोल सिटी हलचल की भी शुरूआत की। समाचार प्रेषण करने वाली न्यूज एजेंसी साइना हिन्दुस्तान समाचार से भी जुड़े रहे रामकिशोर पंवार की देश भर में अनेक रहस्य रोमांच से जुड़े सत्यकथायें छप चुकी है। देश की ख्याति प्राप्त पत्रिका कादिम्बनी एवं नवनीत में भी उनके आलेख प्रकाशित हो चुके है। हिन्दी पाक्षिक आऊटलुक से लेकर दैनिक ट्रिब्यून में उनकी कहानी छप चुकी है।
बैतूल जिले में वे प्रथम पंक्ति के पत्रकारो के नेता रहे। जिले में सबसे बड़े पत्रकार संगठन के संस्थापक रहे रामकिशोर पवंार ने भोपाल के पत्रकार कामरेड़ शलभ भदौरिया एवं कामरेड़ जगत पाठक के नेतृत्व में बैतूल – छिन्दवाड़ा में पत्रकार संगठन की नींव रखी। लम्बे समय तक कामरेड के विक्रमराव के संग पत्रकार आन्दोलनो से जुड़े रहे रामकिशोर पंवार ने देश के ख्याति प्राप्त पत्रकार एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पत्रकार एवं सासंद रामाराव की स्मृति में आयोजित सेवाग्राम से राजघाट तक की पत्रकारो की एतिहासिक सदभावना यात्रा का सावनेर से लेकर भोपाल तक नेतृत्व किया। श्री पंवार ने मध्यप्रदेश के अनेक संगठनो के संग काम किया वे बैतूल जिले में जिला प्रेस क्लब के उपाध्यक्ष से लेकर एक दर्जन से अधिक पत्रकार संगठनो के जिलाध्यक्ष / प्रदेश सचिव एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य भी रहे। वर्तमान में आईएफडब्लयूजे के परमानंद पाण्डे गुट में प्रदेश सचिव एवं नेशनल कौङ्क्षसल के सदस्य है। रामकिशोर पंवार की पुस्तक बेतूल पत्रकारिता काफी चर्चित कृति रही। वर्तमान में बैतूल जिले के 200 साल पूरा होने पर उनकी पुस्तक बेतूल का संपादन जारी है। अपने गांव से लेकर नदियो पर भी उनकी किताब छप कर आने वाली है।
बीते लगभग डेढ़ दशक से पुण्य सलिला माँ सूर्यपुत्री ताप्ती जागृति समिति एवं माँ ताप्ती जागृति मंच के बैनर तले वे ताप्ती के जल संरक्षण / संर्वधन / ताप्ती घाटी परियोजना और ताप्ती विकास प्राद्यिकरण को लेकर संघर्षरत है। प्रदेश में उनकी पहचान पुण्य सलिला ताप्ती को लेकर जारी संघर्ष को लेकर बनी हुई है। ताप्ती जन्मोत्सव से लेकर ताप्ती महोत्सव और अब ताप्ती नदी के दोनो किनारो पर परिक्रमा मार्ग एवं घाटो के निमार्ण का संकल्प लेकर चल रहे रामकिशोर दयाराम पंवार की इस वर्ष 23 मई 2021 को 56 वर्ष पूरे हो जाएगें और वे 57 वर्ष में प्रवेश करने जा रहे है। दो पुत्रो के पिता रामकिशोर पंवार अपनी दो साल की सुपुत्री तृप्ति के दादा जी है। कोरोना महामारी के दौर में रामकिशोर पंवार ने अपना जन्मोत्सव आयोजन पर सेवा – परोपकार के रूप में मनाने का संकल्प लिया है।
संलग्र छायाचित्र
रामकिशोर पंवार

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल 9584390839

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s