ग्रोप्योर एग्रो कृषि प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड का हुआ शुभारंभ


बैतूल जिले के ग्राम अमदर में ग्रोप्योर एग्रो कृषि प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड के कार्यालय और दुकान का हुआ शुभारंभ।

बैतूल ग्रोप्योर एग्रो कृषि प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड बैतूल में सरकारी योजना 10,000 किसान उत्पादक संगठन के अंतर्गत एसएफएसी के द्वारा कृषि विकास सहकारी समिति लिमिटेड, निगरानी समिति के माध्यम से बने एफपीओ का शुभारंभ अमदर ग्राम में हुआ। जिसमें मुख्य अतिथि श्री के पी भगत उपसंचालक कृषि विभाग बैतूल, आर एस राजपूत एसडीओ, श्रीमती अलका कोडा़पे एएसएडीओ, श्री विजेंद्र वाईकर आत्मा द्वारा किया गया।

इस अवसर पर क्षेत्र के सभी कृषक बंधु सहित एफपीओ संस्था के चेयरमैन सुभाष कालभोर, एफपीओ के सीईओ कैलाश लोखंडे, कृषक बंधु केशोराव जी लिखितकर, नगेंद्र जी लिल्लोरे, दयाल हारोड़े, अशोक काले, अयोध्या प्रसाद दुबे, मुंशीलाल देशमुख, ईश्वर चंद पाटनकर, बलिराम पवार, बद्री प्रसाद, रिंकू डिगरसे, संतोष हिंगवे, बलवंत पवार, गौदन हजारे, कृष्ण कुमार डोंगरदिए, लक्ष्मण सातपुते प्रदीप डिगरसे, अशोक बारंगे, मदन महाजन, सुरेश पडाड़े सहित ग्रामीण क्षेत्र के किसान उपस्थित रहे।

इस योजना की जानकारी विभागीय अधिकारी द्वारा सभी किसान भाइयों को दी गई और कृषि को उन्नत बनाने की तरीके भी बताया गए। साथ ही वित्तीय संस्था के शुभारंभ पर एफपीओ संस्था के सभी कृषक भाइयों को बधाई और शुभकामनाएं दी अंत में एपीओ के चेयरमैन सुभाष कालभोर द्वारा सभी किसान भाइयों और संस्था सदस्यों का आभार व्यक्त किया गया।

विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल द्वारा शस्त्र पूजन का कार्यक्रम किया सम्पन्न – मुलताई


विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल द्वारा शस्त्र पूजन का कार्यक्रम मंगलवार को बजरंग दल चौक (फव्वारा चौक) स्थित दुर्गा मंडल में संपन्न हुआ

मुलतापी समाचार

मुलताई- कार्यक्रम का शुभारंभ छोटी छोटी कन्याओं एवम माता बहनों के द्वारा भगवान श्री राम के चित्र पर माल्यार्पण एवम दिया प्रज्योलन के साथ हुआ उसके बाद शस्त्रों का पूजन किया गया उसके बाद सभी संगठन के पदाधिकारी कार्यकर्ताओं ने पूजन कर कार्यक्रम संपन्न किया कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के जिला मंत्री गगन साहू ने कहा कि शस्त्र पूजन करना हमारी आधुनिक परंपरा नहीं शस्त्र पूजन करना हमारी पुरातन परंपरा में से एक है हमारे पूर्वज हजारों लाखों वर्ष से शस्त्र पूजन करते है जैसा कि हम देखते है की हमारी देवी देवताओं के एक हाथ में शस्त्र और दूसरे हाथ में शास्त्र भी होता है जितना हमे शास्त्र से ज्ञान प्राप्त होता है उतना ही हमे शस्त्र का भी ज्ञान होना चाहिए शस्त्र के बिना संस्कृति की रक्षा संभव नहीं है अगर संस्कृति नष्ट हो गई तो धर्म नही बचेगा अगर धर्म नही रहा तो जीवन व्यर्थ है,

हर घर में शस्त्र होना आवश्यक है ताकि आवश्यकता पड़ने पर उसका उपयोग हो सके जिस तरह हम अपने जीवन के उपयोग के लिए अनेक वस्तु खरीदते है पर हमें शस्त्र रखने का विचार कभी नही आता हमे शस्त्रों का महत्व समझनां होगा और उसकी उपयोगिता भी
जब द्रोपति का चिर हरण हुआ तब पितामह भीष्म द्रोणाचार्य,आदि सब सक्षम होते हुए भी मौन रहे इसके विपरित माता सीता का हरण देख एक पक्षी जटायु ने त्रिलोक विजेता रावण से युद्ध किया और वीरगति प्राप्त की इसलिए हमे आने वाली युवा पीढ़ी एवम बहनों को अपनी आत्मरक्षा के लिए शस्त्र चलाना भी आना चाहिए और धर्मपथ पर अपने प्राणों की आहुति देना पड़े तो भी पीछे नहीं हटना चाहिए कार्यक्रम में मुख्य रूप से विश्व हिंदू परिषद के विभाग सेवा प्रमुख उदय जोशी जिला सह संयोजक ऋषि साहू,जिला महाविधालय प्रमुख पिंटू प्रजापति,नगर संयोजक चाणक्य शर्मा,नगर प्रचार प्रसार प्रमुख गजनी साहू, प्रखंड गौरक्षा प्रमुख मोहन ढोमने नगर सुरक्षा प्रमुख द्वारका उइके,भूपेश साहू,लोकेश दियावार पवन नागवंशी सचिन विश्वकर्मा,शैलेश,शेखर साहू,राहुल,पंकज पलेवार,प्रेम,सौरभ दुबे,संदीप साहू मुकेश पहलवान सहित छोटी छोटी कन्याएं,माता बहने एवम अनेक कार्यकर्ता उपस्थित हुए