बानूर में भरा दैय्यत बाबा का तीरथ मेला।


बानूर में भरा दैय्यत बाबा का तीरथ मेला।
प्रति वर्षानुसार बानूर पंचायत में भरा दैय्यत बाबा का तीरथ मेला। यह मेला प्रतिवर्ष ग्यारस के पहले आने वाले बुधवार या रविवार को लगता है। जिसे बानूर खापा उभारिया उमनपेट गांव वाले बहुत धुमधाम से मनाते है। जिसमें मान्यता है की बाबा को बानूर खापा उपनपेट उभारिया ग्राम से शादी हुई बालिकाओं को दहेज में दिया जाता है। इसलिये प्रत्येक वर्ष गाव की बालिकायें सुविधानुसार तीरथ मेले में दर्शन एवं पुजा के लिये अपने परिवार के साथ आती है। एवज में दैय्यत बाबा बालिकाओं के परिवार की सुरक्षा करते है। वर्षों से यह परम्मपरा चली आ रही है। ग्राम के सभी लोग मिलकर बड़े धुम धाम से यह कार्यक्रम करते है। ग्राम के युवा विशाल डोंगरे, महेन्द्र पवार, पंकज पांसे, अनिल डोंगरे, धर्मेन्द्र धोटे आदि की पहल से हाईवे से कुछ दुरी पर दैय्यत बाबा की सुदंर प्रतिमा विराजित हुई है। जिसमें ग्राम के सरपंच उपसरपंच तथा खापा से अन्य लोगो का भरपुर सहयोंग मिलता है। तथा भंडारे का आयोजन भी किया जाता है।