बुधवार को कोरोना के 44 नए मरीज मिले, एक्टिव केस 183


बैतूल – बुधवार को 24 घंटे में कोरोना के 44 नए मरीज मिले, एक्टिव केस 183 हुए।

सीएमएचओ डॉ. एके तिवारी ने बताया कि बुधवार को जिलें में 44 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बुधवार रात्रि में आई रिपोर्ट के बाद एक्टिव केस बढ़ कर 183 हो गई हैं। वहीं 13 मरीजो को डिस्चार्ज किया गया है। बुधवार आए नये मरीजों मे 14 मरीज बैतूल शहर के हैं जबकि 4 आमला, 3 चिचोली,  8 मुलताई , 3 सेहरा, 7 शाहपुर, 5 घोड़ाडोंगरी के मरीज शामिल है।

2 वर्ष पहले बर्बाद हुई थी सोयाबीन की फसल का बीमा आज तक नहीं मिला – किसान संघर्ष समिति


फसल बीमा की मांग को लेकर किसान संघर्ष समिति ने किया प्रदर्शन

बैतूल। 2 वर्ष पहले 2020 में सोयाबीन की फसल खराब होने पर  नुकसान के एवज में किसानों को आंशिक  रूप में राहत राशि तो प्रदान की थी लेकिन उसके बाद नुकसान के एवज में आज तक फसल बीमा नही दिया गया। सोमवार को किसान संघर्ष समिति अध्यक्ष पूर्व विधायक डॉ सुनीलम के नेतृत्व में किसानों ने फसल बीमा देने सहित अन्य मांगों को लेकर प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार सुधीर जैन को सौंपा सुबह 11 बजे किसान संघर्ष समिति के सदस्य सहित बड़ी संख्या में किसान स्टेशन रोड पर स्थित समिति के कार्यालय से रैली के रूप में बस स्टैंड परिसर के सामने स्थित शहीद किसान स्तंभ परिसर पहुंचे जहां अपने मांगो के समर्थन में नारेबाजी की। किसानों के प्रदर्शन की सूचना पर तहसीलदार सुधीर जैन किसान स्तंभ परिसर पहुंचे जहां किसानो ने उन्हें ज्ञापन सौंपा ज्ञापन में बताया वर्ष 2020 में सोयाबीन की फसल खराब होने पर दो किस्तों में  कुल 66 प्रतिशत राहत राशि सरकार द्वारा प्रदान की गई थी, शेष 34 प्रतिशत राहत राशि आज तक नहीं दी वही फसल को हुए नुकसान के एवज में किसी भी किसान को फसल बीमा की राशि का भुगतान बीमा कंपनी द्वारा नहीं किया गया ज्ञापन में बताया, कि वर्ष 2019 की सोयाबीन की फसल का भावांतर और गेंहू और बोनस देने का सरकार ने वादा किया था, लेकिन उसे भी नहीं पूरा किया गया कोरोना काल में बिजली बिल माफी की घोषणा की गई थी लेकिन इस घोषणा पर अमल नहीं हुआ और अब बिजली विभाग बकाया बिल होने का हवाला देकर कनेक्शन काट देने का दबाव बनाते हुए बिजली बिल की राशि जमा करा रहा है। ज्ञापन में बताया कि किसान परिवारों को प्रधानमंत्री सम्मान निधि के साथ 4 हजार रूपए  प्रतिवर्ष मुख्यमंत्री सम्मान निधि देने की घोषणा की गई थी लेकिन कई किसानों को आज तक यह राशि नही मिली है। किसानों ने ज्ञापन में मुख्यमंत्री से वर्ष 2020 का फसल बीमा देने  भावांतर राशि देने बिजली बिल माफ करने मुख्यमंत्री निधि की राशि प्रदान करने के साथ कमलनाथ सरकार द्वारा 2 लाख रुपए के कर्ज माफी की योजना के तहत कर्जा माफ करने और प्रदेश में किसानों की फसलों की एम एस पी पर खरीदी करने की मांग की है। ज्ञापन देने के दौरान किसान संघर्ष समिति के जगदीश दौड़के अनिल सोनी सीताराम नरवरे लक्ष्मण बोरबन डखरू महाजन शेषराव सूर्यवंशी भागवत परिहार शिवलू चौरे  विनोदी बुवाडे कृपाल सिंह सिसोदिया मूलचंद सोनी राजकिशोर ख़ाकरे सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे