नगरीय निकायों के आम निर्वाचन के लिए रिटर्निंग एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त


बैतूल। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन) श्री अमनबीर सिंह बैंस ने मध्यप्रदेश नगरपालिका निर्वाचन नियम 1994 के नियम 13 एवं 14 के अंतर्गत जिले में नगरीय निकायों के आम निर्वाचन 2022 सम्पन्न कराने के लिए रिटर्निंग अधिकारी एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारियों की नियुक्ति की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर पालिका परिषद् बैतूल के लिए कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस रिटर्निंग अधिकारी होंगे। सीईओ जिला पंचायत श्री अभिलाष मिश्रा, अपर कलेक्टर श्री श्यामेन्द्र जायसवाल, एसडीएम बैतूल श्रीमती रीता डेहरिया, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन श्री ए.के. डेहरिया को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

नगरपालिका परिषद् मुलताई के लिए एसडीएम मुलताई सुश्री राजनंदिनी शर्मा को रिटर्निंग अधिकारी एवं तहसीलदार मुलताई श्री सुधीर जैन तथा नायब तहसीलदार आमला श्रीमती कीर्ति प्रधान को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

नगर परिषद आमला के लिए संयुक्त कलेक्टर श्री एसपी मंडराह को रिटर्निंग अधिकारी तथा तहसीलदार आमला श्री वैधनाथ वासनिक एवं नायब तहसीलदार बोरदेही श्री संजय बारस्कर को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

नगर परिषद् बैतूल बाजार के लिए नायब तहसीलदार बैतूल सुश्री सृष्टि डेहरिया को रिटर्निंग अधिकारी तथा नायब तहसीलदार बैतूल सुश्री डॉली रैकवार को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

नगर परिषद् भैंसदेही के लिए एसडीएम भैंसदेही श्री केसी परते को रिटर्निंग अधिकारी एवं तहसीलदार भैंसदेही श्री नीरज कालमेघ को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

नगर परिषद शाहपुर के लिए एसडीएम शाहपुर श्री अनिल कुमार सोनी को रिटर्निंग अधिकारी एवं नायब तहसीलदार शाहपुर श्री रोहित विश्वकर्मा को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

नगर परिषद् घोड़ाडोंगरी के लिए तहसीलदार घोड़ाडोंगरी श्री अशोक कुमार डेहरिया को रिटर्निंग अधिकारी एवं विकासखंड शिक्षा अधिकारी घोड़ाडोंगरी श्री हाकम सिंह रघुवंशी को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के आम निर्वाचन के लिए रिटर्निंग एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त


पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के आम निर्वाचन के लिए रिटर्निंग एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त

बैतूल। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन) श्री अमनबीर सिंह बैंस ने मध्यप्रदेश पंचायत निर्वाचन नियम 1995 के नियम 20 एवं 21 (1) के तहत जिला बैतूल में पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के आम निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिए रिटर्निंग अधिकारी एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारियों की नियुक्ति की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला पंचायत बैतूल के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) श्री अमनबीर सिंह बैंस रिटर्निंग अधिकारी होंगे। डिप्टी कलेक्टर एवं एसडीएम बैतूल श्रीमती रीता डेहरिया को (निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 01 से 12 तक) तथा अधीक्षक भू-अभिलेख श्री एसके नागू को (निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 13 से 23 तक) सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत बैतूल के लिए तहसीलदार श्री प्रभात मिश्रा को रिटर्निंग अधिकारी एवं अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त एवं पदेन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत बैतूल सुश्री अपूर्णा सक्सेना को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी के लिए तहसीलदार घोड़ाडोंगरी श्री अशोक कुमार डहेरिया को रिटर्निंग अधिकारी एवं अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त एवं पदेन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी श्री प्रवीण इवने को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत मुलताई के लिए तहसीलदार मुलताई श्री सुधीर जैन को रिटर्निंग अधिकारी एवं अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त एवं पदेन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत मुलताई श्री मनीष शेन्डे को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत आठनेर के लिए नायब तहसीलदार आठनेर श्रीमती लवीना घाघरे को रिटर्निंग अधिकारी एवं अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त एवं पदेन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत आठनेर श्री केपी राजोदिया को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत भैंसदेही के लिए नायब तहसीलदार भैंसदेही श्री नीरज कालमेघ को रिटर्निंग अधिकारी एवं अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त एवं पदेन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत भैंसदेही श्री जितेन्द्र सिंह ठाकुर को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत आमला के लिए तहसीलदार आमला श्री बैधनाथ वासनिक को रिटर्निंग अधिकारी तथा अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त एवं पदेन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत आमला श्री दानिश अहमद खान को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत प्रभात पट्टन के लिए नायब तहसीलदार प्रभातपट्टन सुश्री याचिका परतेती को रिटर्निंग अधिकारी एवं नायब तहसीलदार मासोद सुश्री स्मिता देशमुख को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत शाहपुर के लिए तहसीलदार शाहपुर श्रीमती अंतोनिया एक्का को रिटर्निंग अधिकारी एवं अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त एवं पदेन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत शाहपुर सुश्री फिरदोश शाह को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत चिचोली के लिए नायब तहसीलदार चिचोली श्री नरेश सिंह राजपूत को रिटर्निंग अधिकारी एवं विकासखंड शिक्षा अधिकारी चिचोली श्री डीके शर्मा को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

जनपद पंचायत भीमपुर के लिए नायब तहसीलदार भीमपुर श्री कार्तिक मौर्य को रिटर्निंग अधिकारी एवं अतिरिक्त सहायक विकास आयुक्त एवं पदेन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत भीमपुर सुश्री कंचना वास्केल को सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है।

नगर पालिका के फायर कर्मचारियों द्वारा सड़क दुर्घटना में घायल हुए व्यक्तियों को अपनी जिम्मेदारी समझते हुएं।


नगर पालिका के फायर कर्मचारियों द्वारा सड़क दुर्घटना में घायल हुए व्यक्तियों को अपनी जिम्मेदारी समझते हुए सरकारी अस्पताल पहुंचाया था इस संबंध में आज मुलताई नगर पालिका फायर कर्मचारियों का अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय में एसडीएम श्रीमती राजनंदनी शर्मा, एसडीओपी सुश्री नम्रता सोंधिया, जिला उपाध्यक्ष ओबीसी मोर्चा कीर्ति यादव, नगर पालिका सीएमओ नितिन कुमार बिजवे, जीआर देशमुख द्वारका सम्मानित कर प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।

उस सिस्टम को तो आग ही लगा देना चाहिए जो हाथ के बल घिसटकर चलने वाली विकलांग को न्याय नही दे पा रहा-बकलोल


बकलोल : हम लोग गन्दे है
उस सिस्टम को तो आग ही लगा देना चाहिए जो हाथ के बल घिसटकर चलने वाली विकलांग को न्याय नही दे पा रहा.

बैतूल। उस सिस्टम को तो आग ही लगा देना चाहिए जो मजलूम असहाय की मदद नही कर सकता, उनके साथ न्याय नही कर सकता। क्या जरूरत है मोटी तनख्वाह और सरकारी खर्चे पर सुख सुविधा लेने वाले अफसरों की जब एक विकलांग महिला दफ़्तर दफ्तर घिसट रही हो। उसके आवेदन आवक जावक रजिस्टर का महज एक तम्बर बनकर रह जाने के लिए नही है। क्या कलेक्टर की जनसुनवाई में इतना दम नही कि उसके हक के 15 हजार रुपए वापस दिलवा दे या एसपी की पुलिस में इतना जोर नही कि उसके पैसे हड़प कर जाने वाले उसके पैसे उगलवा दे। यदि प्रशासन जैसी कोई चीज है तो फिर पिछले एक माह से भटक रही विकलांग की अब तक सुनवाई क्यो नही हुई। जबकि पिछले मंगलवार भी वह जनसुनवाई में गई थी और इस मंगलवार को भी अपने हाथ मे व्हप्पल पहन कर घिसटते हुए पहुंची थी। एसपी आफिस में भी 9 मई को उसने आवेदन दिया था पर सिस्टम है कि रेंग रहा क्योकि इस गरीब महिला के पास किसी सफेदपोश की सिफारिश नहीं है या उसके पास किसी दलाल मुखबिर टाइप चापलूस का जुगाड़ नही है। यदि होता तो उसे इस तरह भरी गर्मी में घिसटते हुए नही भटकना पड़ता। यहा बात हो रही डॉन बास्को के पास सदर में रहने वाली विधवा विकलांग मीरा कांगले की जिसे चकोरा मुलताई निवासी दिलीप धुर्वे ने भरोसे में लेकर 15 हजार रुपए ले लिए और अब पैसे लौटने से मना कर रहा। उसे धमका रहा है। वह थाने गई तो उसे टरका दिया औऱ अब हमारे सिस्टम के साहेब लोगो के पास भी गुहार लगा चुकी पर नतीजा सिफर ही रहा। आश्चर्यजनक तो यह कि यह महिला 100 फीसदी विकलांग है फिर भी इसे अभी तक ट्राइसाइकिल ही नही मिली। एक जरूरत मंद अल्पशिक्षित और खुद्दार महिला जो विधवा है विकलांग है फिर भी भीख मांगने की जगह सब्जी भाजी बेचकर अपना औऱ अपने बेटे का पेट पाल रही , उसकी तकलीफ है। ऐसे लोगो से अन्याय और धोखे में भी मदद न हो तो फिर सिस्टम और उसके अफसरो का क्या अचार डालेंगे।
सिस्टम बैठे महानुभावों को भी कभी कभी तो ऐसे मामलों में ऑन द स्पॉट की नाजीर पेश करना चाहिए वरना देखने और दिखाने के लिए बहुत कुछ है जिस पर इतने सवाल खड़े हो सकते है कि सिस्टम पर से लोगो का भरोसा ही नही उठेगा बल्कि लोग खिलाफ खड़े हो जाएंगे। उन जनप्रतिनिधियों को भी ऐसे लोगो की खोजबीन कर मदद करना चाहिए जिनकी संवेदनशीलता सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही फ़ोटो में दिखाई जाने वाली संवेदन तक ही है।
बाकी सब खैरियत है उस महिला का आवेदन और मामला यदि सच है यह हमारे समाज के लिए ही शर्मनाक है।