ग्राम रोंढा ने मनाया अपना पहला गौरव दिवस


बैतूल। जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम रोंढा में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी की मंशा अनुसार ग्राम गौरव दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में ग्राम प्रधान श्रीमती विमला बाई धुर्वे, पूर्व सरपंच श्रीमती मीना बाई बारंगे, क्षत्रिय पवार समाज संगठन के जिलाध्यक्ष श्री बाबूलाल कालभोर, वरिष्ठ पत्रकार और लेखक रामकिशोर पवार, श्री दिलीप ओमकार और श्री अशोक जग्गू बारंगे के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ।

कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथियों के द्वारा ग्राम में विराजमान भगवान भोलेनाथ के चरणों में नमन करते हुए पूजा अर्चना और दीप प्रज्वलित कर किया गया। ग्राम की बालिकाओं कुमारी पलक, कुमारी निधि और कुमारी अमृता के द्वारा सरस्वती वंदना, स्वागत गीत कुमारी अंशिका पवार, कुमारी निकिता पवार कुमारी विभा पवार के द्वारा प्रस्तुत किया गया।

ग्राम के प्रथम गौरव दिवस पर ग्राम रोंढा की पावन धरा पर जन्मे और गांव का गौरव बढ़ाने वाले शिक्षकों, पटवारियों, भूतपूर्व सैनिकों, प्रतिभावान छात्र-छात्राओं, भूतपूर्व सरपंचों, ग्राम के हित में सेवा कार्य करने वाले नागरिकों को साल और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया और आगे आने वाले वर्षों में भी खेल, शिक्षा, सांस्कृतिक कार्यक्रम, उन्नत कृषि, लघु उद्योग, शासकीय सेवा, अशासकीय सेवा, पत्रकारिता, लेखन में जिला संभाग राज्य और अंतरराष्ट्रीय स्तर की सभी प्रतिभाओं को सम्मानित करने का लक्ष्य रखा गया है।

ग्राम गौरव दिवस के अवसर पर ग्राम रोंढा के गौरव और पहले कलेक्टर बने माननीय श्री प्रदीप कालभोर जी अप्रत्यक्ष रूप से उपस्थित रहकर ग्राम गौरव दिवस के उपलक्ष्य में शुभकामना संदेश प्रेषित किया जिसका वाचन ग्राम के युवा प्रदीप डिगरसे के द्वारा किया गया श्री कालभोर के शुभकामना संदेश के अनुसार 23 मई 2020 दिन सोमवार को ग्राम रोंढा में आयोजित भव्य ग्राम गौरव दिवस कार्यक्रम के अवसर पर सभी ग्रामवासियों, सभी सम्मानित अधिकारी, कर्मचारी, प्राविव्य प्राप्त छात्र-छात्राएं एवं सम्मानित शिक्षकों के लिए शुभकामना एवं धन्यवाद देना चाहता हूं। इस तरह के बड़े समारोह का आयोजन करने और हमें आमंत्रित करने के लिए ग्राम पंचायत, सचिव, प्रबंधन समिति का भी धन्यवाद देना चाहूंगा। उक्त आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर मैं सभी ग्रामवासी एवं पूर्वजों का नमन करते हुए धन्यवाद करना चाहता हूँ, जिन्होंने मुझे एवं अन्य अनेकों महान और प्रतिभाशाली अधिकारीगण निर्मित कर उपलब्ध कराए। इस कार्यक्रम को एक यादगार दिवस बनाने के लिए विशेष धन्यवाद।
आईएएस प्रदीप कुमार कालभोर पूर्व कलेक्टर एवं सचिव महाराष्ट्र शासन

पहले ग्राम गौरव दिवस पर इनका हुआ सम्मान….ग्राम गौरव दिवस के अवसर पर ग्राम के भूतपूर्व शिक्षकों श्री माधोराव जी ओमकार, श्री महेपराव जी ओमकार, श्री नारायण राव जी कोड़ले, श्री संपतराव जी चौधरी, श्री ओंकार प्रसाद जी माथुरकर, ग्राम के पटवारियों श्रीराम जी ओमकार, श्री चिन्धया जी पठाडे, वर्तमान शिक्षक श्री रितेश पठाडे, भूतपूर्व सैनिक श्री मिसरु देवासे, श्री अवनीश डोगरदिए, श्री चंदू बारंगे, भूतपूर्व नगर रक्षक श्री परसराम कालभोर, श्री सरजूप्रसाद फरकाड़े, गूगल के इंजीनियर श्री अंकित डिगरसे,

पंचायत ग्रामीण विकास के पहले जनपद अध्यक्ष रहे श्री शेषराव जी बारंगे, ग्राम पंचायत के भूतपूर्व सरपंचों डॉक्टर बकाराम जी कालभोर, श्री छोटेलाल जी कालभोर, श्री नत्थू ओंकार, श्री बाबूलाल जी देवासे, श्री संपतराव जी पाठा, श्री रमेश कुमार ओमकार, श्रीमती उर्मिला बाई कोड़ले, श्री मिश्रीलाल जी कोड़ले, श्रीमती मीना बाई बारंगे, श्रीमती नीलू बाई उईके, श्रीमती कुंदाबाई कोड़ले, श्रीमती मालती बाई कोकाडिया को प्रत्यक्ष या अनुपस्थित लोगों के परिजनों को सम्मानित किया गया।

ग्राम का गौरव बढ़ाने वाले छात्र-छात्राओं को भी सम्मानित किया गया जिसमें कुमारी अंशिका पवार (89%), कुमारी निकिता कालभोर (86%), कुमारी विभा पवार (85%), कुमारी पलक ढोबारे (96%), कुमारी निधि कोड़ले (91%), कुमारी भाग्यश्री ओमकार (85%), कुमारी अमृता कोड़ले (91%) को सम्मानित किया गया।

क्षत्रिय पवार समाज संगठन के जिलाध्यक्ष बाबूलाल कालभोर ने अपने संबोधन में ग्राम के गौरव को प्रति वर्ष मनाने और ग्राम की माटी से सभी जुड़े रहने का आवाहन किया।

समाज के वरिष्ठ पत्रकार रामकिशोर पवार ने भी अपने संबोधन में ग्राम की माटी को मरते दम तक याद करने और जुड़े रहने की बात कही और प्रतिवर्ष गौरव दिवस मनाते रहने और प्रतिभाओं का इसी प्रकार सम्मान किए जाने का आग्रह ग्राम पंचायत से किया।

ग्राम अवसर पर ग्राम पंचायत सचिव श्री रघुनाथ ठाकरे, ग्राम पटवारी श्री संदीप चौरागढे़, ग्राम रोजगार सहायक उषा मालवी, एएनएम आभा डिगरसे, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता आशा पवार, सुनीता पवार, प्राथमिक शाला के शिक्षक श्री राजेश बाजपेयी, श्रीमती रेखा माथुरकर, श्रीमती अर्चना पवार, अलकेश हजारे सहित गांव के सैकड़ों वरिष्ठजन, युवा, महिलाएं और बच्चे उपस्थित रहे। मंच संचालन का कार्य ग्राम के युवा प्रदीप डिगरसे और आभार प्रदर्शन ग्राम रोजगार सहायक उषा मालवी द्वारा किया गया।