Category Archives: आयुष्मान कार्ड, निरामय स्वास्थ्य बीमा योजना,

जंगल मे नेटवर्क ढूढ़ ढूढ़ कर बनाया ग्रामीणों के आयुष्मान कार्ड


चिचोली:- जंगल मे नेटवर्क ढूढ़ कर बनाये जा रहे ग्रामीणों के आयुष्मान कार्ड

बैतूल जिले के चिचोली ब्लॉक में कलेक्टर के आदेश पर आयुषमान आपके द्वारा योजना अंतर्गत 1 मार्च से 31 मार्च तक निःशुल्क आयुष्मान कार्ड बनाये जाने हेतु मध्यप्रदेश सरकार के निर्देश पर CSC कॉमन सर्विस सेंटर के संचालक कन्हैया यादव द्वारा जनपद पंचायत चिचोली के ग्राम गवासेन टोकरा एवं झिरियाडोह के ग्रामीणों के आयुष्मान कार्ड बनाये जा रहे है। ग्रामीण क्षेत्र होने के कारण नेटवर्क की समस्या बनी हुई है, लेकिन यादव द्वारा जंगलों में नेटवर्क ढूंढ कर जंगल के बीच केम्प लगाकर ग्रामीणों के आयुष्मान कार्ड बनाकर उन्हें इसके फायदे भी बता रहे हैं

निःशुल्क आयुषमान कार्ड केम्प आयोजन


मुलतापी समाचार

पंचायती राज एव ग्रामीण विकास विभाग की परियोजना महात्मा गांधी ग्राम सेवा केंद्र परियोजना में पंचायत स्तर पर केंद्र संचालन कर आयुषमान कार्ड केम्प लगाये जा रहे है , शासन की योजनाओं का समय समय पर हमारे vle द्वारा , सदस्यों द्वारा सुव्यवस्थित आयोजित कर निरक्षण कर प्रचार प्रसार कर अधिक से अधिक ग्रमीण जनों का कार्ड बनाने का प्रयास रत है


शारदा राम मनमोहन शैक्षणिक एवं समाज सेवा समिति  के सदस्य द्वारा आयुषमान कार्ड केम्प निम्बोटी में vle विशाल बारस्कर केम्प आयोजित किया गया जिसमें निम्बोटी ग्राम वाशियों के निशुलक कार्ड बनाये गए , तथा संस्था अध्यक्ष स्वंय केम्प में उपस्थित हो कैम्प का निरीक्षण किया गया और ग्रामवाशियों को आयुषमान कार्ड स्वास्थय चिकित्सा के लाभ भी बताए।

Vle के प्रयास से जरूरत मंद को मिला उसका हक, ह्रदय समस्या से थी परेशान, आयुषमान से हुआ सफल इलाज लाभ


पीडिता का उपचार होने के उपरान्त पीडिता के परिवार वालो ने एव ग्रामवासियों ने VLE आकाश भटकरे आभार व्यक्त किया |

महात्मा गांधी ग्राम सेवा केंद्र VLE आकाश भटकरे ,ग्राम थपोड़ा तहसील भैंसदेही जिला बेतूल म.प्र. द्वारा किया प्रयास सफल हुआ और,एक जरूरत मंद को उसका हक मिला

मध्यप्रदेश के बैतूल ज़िले की जनपद पांचायत भैंसदेही की ग्राम पांचायत थपोड़ा में कुमारी पार्वती पांसे पुत्री रामकिशन पांसे ग्राम पांचायत थपोड़ा में ग्राम थपोड़ा के रहने वाली हैं, कुछ दिन पहले वो आयुष्मान कार्ड बनाने, ग्राम पांचायत थपोड़ा में संचालित महात्मा गाधी ग्राम सेवा केन्द्र में आई ,वह हार्ड कि समस्या से पीड़ित थी, महात्मा गांधी ग्राम सेवा केंद्र के संचालक VLE आकाश भटकरे को पता चला कि वो आयुष्मान भारत योजना में पात्र है|

पीडिता का उपचार होने के उपरान्त पीडिता के परिवार वालो ने एव ग्रामवासियों ने VLE आकाश भटकरे आभार व्यक्त किया |

चुकि हितग्राही कुमारी पार्वती पांसे हार्ड कि समस्या से पीड़ित है जिसका इलाज और दवाइया काफ़ी महगी होती है, आर्थिक रूप से कमजोर होने, पर उन्हें आयुष्मान कार्ड कि बहुत जरूरत थी| इसलिए महात्मा गांधी ग्राम सेवा केंद्र VLE आकाश भटकरे द्वारा इसका पता जिला अस्पताल से करवाया तो पता चला कि आशा अस्पताल नागपुर में इस हार्ड कि बीमारी का इलाज हो सकता है| आशा अस्पताल नागपुर में जा कर VIE आकाश भटकरे द्वारा रिक्वेस्ट दिलाई जिससे पीडिता कि रिक्वेस्ट आ गई| आशा अस्पताल नागपुर में डॉक्टर ने कहा कि हार्ड का ओपरेशन होंगा, और बाइपास सर्जरी होंगी| जिसकी लागत एक लाख चालीस हजार रूपये होंगी| आयुष्मान कार्ड के माध्यम से पीडिता को निशुल्क उपचार मिला | एव पीड़िता अस्पताल से स्वस्थ होकर घर वापास आ गई |

आयुष्मान निरामयम् योजना से जिला अस्पताल में मिल रही बेहतर सुविधाएं हो रहा इलाज


आयुष्मान निरामयम् योजना: संध्या ने स्वस्थ शिशु को जन्म दिया

मुलतापी समाचार

जिले के सेलगांव निवासी 24 वर्षीय श्रीमती संध्या कुम्भारे को उनके प्रथम प्रसव के समय चिकित्सकों ने ऑपरेशन की सलाह दी। उनके पति श्री लक्ष्मीनारायण संयुक्त परिवार में खेती कर 6 सदस्यीय परिवार का अल्प आय में पालन पोषण करते हैं। निजी चिकित्सालय में ऑपरेशन पर आने वाले 30 हजार व्यय के स्थान पर उनके द्वारा शासन की सुविधाओं में विश्वास जताया गया और आयुष्मान भारत निरामयम मप्र योजना के अंतर्गत नि:शुल्क आपरेशन (सीजर) कराना उन्हें उचित लगा। श्री लक्ष्मीनारायण पत्नी श्रीमती संध्या को लेकर जिला चिकित्सालय आये। चिकित्सकों द्वारा 23 दिसंबर 2020 को संध्या का नि:शुल्क ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के उपरांत संध्या एवं उनका शिशु स्वस्थ हैं।
संध्या एवं उनके परिजन शासन की इस योजना का आभार व्यक्त करते हैं । आयुष्मान भारत निरामयम मप्र योजना के बारे में बताते हुये संध्या एवं उनके पति लक्ष्मीनारायण कहते हैं कि जिला चिकित्सालय में बेहतर सुविधाएं प्राप्त हुईं। इस योजना के माध्यम से आम व्यक्ति भी नि:शुल्क स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकता है। यह योजना लोगों के लिये बहुत लाभप्रद है।
आयुष्मान भारत निरामयम मप्र योजना के अंतर्गत मिले नि:शुल्क लाभ हेतु संध्या एवं उनके परिजन शासन एवं स्वास्थ्य विभाग का धन्यवाद देते हैं।

जिले में आयुष्मान सप्ताह का आयोजन 14 से 21 दिसंबर, लाभार्थी निरामय स्वास्थ्य बीमा योजना लाभ ले


प्रत्येक पात्र हितग्राही को मिले आयुष्मान भारत योजना का लाभ

कलेक्टर का आदेश जिले में आयुष्मान निरामायण स्वास्थ्य योजना अंतर्गत आयुष्मान लाभार्थी कार्ड बनाए जाने हेतु सप्ताह का आयोजन

आयुष्मान आयुष्मान सप्ताह का आयोजन 14 से 21 दिसंबर तक ग्रामों में कैंप लगाकर जिले में प्रमुख रूप से संचालित होंगे

“आयुष्मान कार्ड” बनाने के लिए अभियान चलाया जाएगा

• एक वर्ष में 5 लाख रुपये की मिलेगी नि:शुल्क उपाचार सुविधा

• मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ली आयुष्मान भारत योजना संबंधी बैठक

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने कहा है कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पात्र हितग्राहियों को एक वर्ष में 5 लाख रुपये तक की नि:शुल्क उपचार सुविधा मिलती है। इसके अंतर्गत अधिकांश बीमारियां कवर्ड हैं। योजना का प्रदेश के प्रत्येक पात्र हितग्राही को लाभ दिलाया जाए। “आयुष्मान कार्ड” बनाने के लिए अभियान चलाया जाए। मध्यप्रदेश में यह योजना आयुष्मान भारत निरामयम् योजना के नाम से संचालित की जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में आयुष्मान भारत योजना की बैठक ले रहे थे। बैठक में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव वित्त श्री मनोज गोविल आदि उपस्थित थे।

• 1 करोड़ 49 लाख आयुष्मान कार्ड, 5.85 करोड़ हितग्राही

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि प्रदेश में अभी 1 करोड़ 49 लाख लोगों के आयुष्मान कार्ड बन गए हैं। योजना अंतर्गत प्रदेश के लगभग 5.85 करोड़ गरीब एवं मध्यम वर्गीय व्यक्तियों के कार्ड बनाए जाने हैं। इस वर्ष इनमें से 60 प्रतिशत व्यक्तियों के कार्ड बनाए जाने का लक्ष्य है।

• 717 अस्पतालों में कैशलेस उपचार सुविधा

योजना के अंतर्गत प्रदेश के कुल 717 शासकीय एवं संबद्ध निजी चिकित्सालयों में पात्र हितग्राहियों को कैशलेस उपचार की सुविधा है। अब इसके अंतर्गत कोविड के इलाज भी व्यवस्था जा सकता है।

• अब पंचायतों एवं नगरीय निकायों के माध्यम से भी वार्ड बनेंगे

योजना के अंतर्गत अभी तक सम्बद्ध शासकीय व निजी चिकित्सालयों के अलावा लोक सेवा केन्द्र तथा कॉमन सर्विस सेंटर में जाकर आयुष्मान कार्ड बनवाना होता था, परन्तु अब पंचायतों एवं नगरीय निकायों के माध्यम से कार्ड बनाने की भारत सरकार से स्वीकृति प्राप्त हो गई है।

• अधिक से अधिक निजी अस्पतालों को संबद्ध किया जाए

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि इस योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक निजी अस्पतालों को संबद्ध किया जाए, जिससे मरीज अपनी सुविधा अनुसार जहां चाहे इलाज करवा सकें। योजना में वर्तमान में प्रदेश में 282 निजी चिकित्सालय संबद्ध हैं, जबकि उत्तरप्रदेश में 1542, राजस्थान में 1498, महाराष्ट्र में 1243 व गुजरात में 802 निजी अस्पताल संबद्ध है।

• 561 करोड़ रुपये की राशि का भुगतान

योजना के अंतर्गत शासकीय अस्पतालों में इलाज करवाने पर 60 प्रतिशत व्यय केन्द्र सरकार एवं 40 प्रतिशत व्यय राज्य सरकार उठाती है। वहीं निजी चिकित्सालयों में इलाज कराने पर शत-प्रतिशत भुगतान शासन द्वारा किया जाता है। योजना अंतर्गत अभी तक प्रदेश में 4 लाख 14 हजार 509 प्रकरणों में 561 करोड़ रूपए की राशि का भुगतान किया जा चुका है।