Category Archives: क्राइम न्यूज़

Korona Positive सास ने बहू को जबरन गले लगाकर किया पॉजिटिव – बदले की भावना


देश में कोरोना का कहर जारी है। महामारी का खौफ के बीच एक अजीब घटना सामने आया है। तेलंगाना में संक्रमित होने के बाद एक सास ने अपनी बहू से बदला लेने के लिए उसे जबरदस्ती अपने गले लगा लिया। ताकि वह भी महामारी की चपेट में आ जाए। वहीं बहू के पॉजिटिव होने के बाद घर से भी निकाल दिया।

बहू को जबरन गले लगाकर किया संक्रमित

दरअसल, हैरान कर देने वाला यह वाकया राजना सिरचिल्ला जिले के सोमरीपेटा गांव का है। जहां एक महिला के कोरोना पॉजिटिव आन के बाद परिवार के लोगों ने उसे घर में ही आइसोलेट कर दिया था। साथ ही उससे मिलना-जुलना बंद कर दिया। एक निश्चित जगह पर भोजन दिया जाता था। उसके पास पोता-पोती को भी जाने की इजाजत नहीं थी। बहू ने भी महिला से दूरी बना ली थी। क्योंकि दूसरे लोगों में संकमण फैलने का खतरा था। 

अपने आप को अकेला महसूस करने लगी थी

कोरोना पॉजिटिव महिला आइसोलेट के दौरान अपने आप को अकेला महसूस करने लगी। बस यही बात महिला को खल गई और वह इस बात से नाराज हो गई कि कोई उससे मिलने तक नहीं आ रहा है। जब बहू अपनी सास को खाने देने गई तो महिला ने अपनी बहू को जबरदस्ती गले लगा लिया। कहने लगी कि तुम्हें भी कोरोना संकमण होना चाहिए। क्या तुम लोग यही चाहते हो कि मैं मर जाऊं और तुम लोग हमेशा खुशी से रहो।

बहू को संक्रमित कर घर से निकलवा दिया बाहर

बता दें कि जब बहू ने अपनी जांच कराई तो वह भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई। इसके बाद ससुराल वालों ने उसे घर से बाहर निकाल दिया। युवती की बहन उसे अपने माता पिता के घर ले आई और यहीं पर उसका इलाज हो रहा है। महिला ने दुखी होकर जिला प्रशसान से इसकी शिकायत की है। जिसके बाद अधिकारियों ने 31 मई को महिला के घर का दौरा किया था। 

गाडरा बुजुर्ग माँ की हत्या का खुलासा हुआ , पुलिस की ग्रिफ्त में आरोपी


शादी नही करने के कारण हुआ माँ बेटे में विवाद

दो दिन में किया हत्या का खुलासा

मुलताई – बेटे ने  शराब के नशे में अपनी 70 वर्षीय वृद्ध माता का  गला काटकर इसलिए हत्या कर दी  क्योंकि माता  उसका विवाह  नहीं कर रही थी  यह सनसनीखेज मामला   ग्राम गाडरा का है

जिसका खुलासा एसडीओ पुलिस नम्रता सोंधिया ने थाना मुलताई में पत्रकारों के समक्ष किया। उल्लेखनीय है कि 48 घंटे पूर्व एक आदिवासी महिला का शव अपने खेत के मकान की खाट पर संदिग्ध अवस्था में मिला था। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ,पुलिस अधीक्षक बैतूल सुश्री सिमाला प्रसाद,  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बैतूल , श्रध्दा जोशी एवं एसडीओपी  मुलताई सुश्री नम्रता सोधिया के मार्ग दर्शन में थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी के निर्देशन में हत्या के प्रकरण के आरोपी को अपराध कायमी के 48 घण्टे के भीतर गिरफ्तार किया गया है। 

पीएम रिपोर्ट हुआ खुलासा धारदार हथियार से हुई थी हत्या

02.02.21 को मृतिका रुनिया पति सुरेलाल तड़ामे जाति गोंड उम्र 70 वर्ष नि. गाडरा का शव मृत अवस्था मे उसके खेत मे बनी झोपड़ी ग्राम गाडरा मे पड़ा मिला था। जिसके गले मे धारदार हथियार से चोट लगकर खून निकला था। जिसकी सूचना प्राप्त होने पर थाना मुलताई मे मर्ग कायम कर जांच की गई। मर्ग मे मृतिका के शरीर मे लगे चोटो को देखकर पृथम दृष्टया हत्या की शंका हो रही थी। जिसकी बारीकी से जांच की गई। जांच के दौरान साक्षीगणो के कथन लिये गये। व मृतिका रुनिया बाई का पीएम कराकर डाक्टर से मृत्यू के संबंध मे शार्ट पीएम रिपोर्ट प्राप्त की गई जो पीएम रिपोर्ट मे डाक्टर द्वारा किसी धारदार हथियार से चोट आना एवं होमीसाईडल इंजरी होना लेख किया।

विवाह को लेकर पुत्र नशे में करता था विवाद विवाद

प्रकरण मे हत्या का अपराध घटित होना पाया जाने से दिनांक 05.02.21 को अज्ञात आरोपी के विरुध्द हत्या प्रकरण पंजीबध्द किया गया। विवेचना के दौरान आये तथ्यों के आधार पर पाया गया कि संदेही सुनील तड़ामे जो कि मृतिका का पुत्र है। स्वयं के विवाह की बात लेकर अपनी मां मृतिका रुनिया बाई से अक्सर लड़ते रहता था कहता था कि तुमने छोटे लड़के की शादी कर दी मेरी नही कर रहे हो तथा शराब भी पीता था इसी बात को लेकर उसकी मां मृतिका उसे समझाती थी।

घटना दिनांक को भी इसी बात पर से आरोपी सुनील तड़ामे का विवाद उसकी मां रुनिया बाई से हुआ और उसी दौरान उसने शराब के नशे मे होकर हसिये से रुनिया बाई के गले मे मार दिया था। और उसे खटिया पर लिटा कर चला गया था। जिसकी मृत्यू हो चुकी थी।

प्रकरण कायमी के 48 घण्टे के भीतर ही अज्ञात आरोपी की पतारसी कर सुनील पिता सुरेलाल तड़ामे उम्र 27 वर्ष नि. ग्राम गाडरा थाना मुलताई को गिरफ्तार किया गया है । उक्त हत्या के प्रकरण के आरोपी को गिरफ्तार करने मे थाना प्रभारी निरी. श्री सुरेश सोलंकी, उनि. अनिल राहोरिया, प्रआर. 186 अशोक आठोले, प्रआर. चालक 282 रवीन्द्र नागले, आर. 470 सुरेन्द्र, 586 नितेश, 719 तिलक, 575 प्रकाश, 368 बलवंत, 239 मेजरसिंह, मआर. 304 सुनीता की विशेष भूमिका रही 

Breaking news- थाने में आरक्षक रिश्वत लेते बना वीडियो हुआ वॉयरल


मुलताई थाने में सरेआम रिश्वत खोरी ,आपसी समझौते के लिए आरक्षक ने की पैसों की मांग पैसे देते हुए हुआ स्टिंग ऑपरेशन वीडियो हुआ वायरल

  मुलतापी समाचार

मुलताई थाने में आपसी समझौते  के लिए आरक्षक ने की पैसों की मांग पैसे देते हुए हुआ स्टिंग ऑपरेशन वीडियो हुआ वायरल

आज एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें मुलताई थाने में पदस्थ आरक्षक  ने  समझौते करवाने के लिए  आवेदक पक्षों से पैसों की मांग की तथा  पैसे भी लिए तथा बचे हुए पैसे बाद में देना तय हुआ हैरतअंगेज रिश्वतखोरी का ये मामला जैसे ही सामने आया लोग हैरत रह गए और तरह-तरह की बातें पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली पर करने लगे

 देखे क्या है पूरा मामला 

मूलताई पुलिस थाने में 2 फरवरी की शाम एक आपसी लड़ाई झगड़े के मामले में जब आपसी समझौता हो गया उस पर आरक्षक महेश भलावी द्वारा अपने उच्च अधिकारी के इशारे पर समझौता करने वाले दोनों पक्षो से पैसों की मांग की गई।

आवेदक पक्ष ने 100 रुपए नगद ओर बाकी के पैसे दूसरे दिन देने का वादा किया तब ही उन्हें थाने से छोड़ा गया। 

      लेकिन यह पूरा मामला वीडियो कैमरे में रिकार्ड हो गया, ओर इसकी शिकायत जिला अधीक्षक एवं अनुविभागीय अधिकारी मूलताई से शिकायत कर इस तरह के कर्मचारियों और अधिकारियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने को कहा गया है।

एसडीओपी मुलताई  का कहना

इस पूरे वायरल वीडियो के बारे में जब मुलताई  एसडीओपी  नम्रता सोंधिया से जब हमने बात की तो उनका कहना है कि हमारे पास भी यह वीडियो अभी प्राप्त हुआ है इस पूरे वीडियो की जांच कराई जाएगी और मैं खुद इस मामले को देखती हूं उसके बाद ही कुछ कह सकती हूं

क्राइम न्यूज – जमीन विवाद के चलते की आदिवासी महिला हत्या, फरार आरोपी पुलिस ने पकड़े


मुलताई ग्राम भीलावाड़ी में हुई 45 वर्षीय आदिवासी महिला की मौत का खुलासा करते हुए मुलताई अनुविभागीय अधिकारी पुलिस नम्रता सोंधिया ने बताया कि महिला की हत्या जमीनी विवाद के चलते हुई थी घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गए थे जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

हत्या के आरोपी आमला पुलिस की गिरफ्त में है। घटना के संबंध में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि
थाना आमला के ग्राम भीलावाड़ी चौकी बोड़खी में मंगलवार को आरोपीगण क्रमशः छोटेलाल सरयाम, दुर्गेश सरयाम एवं आकाश उईके सभी निवासी ग्राम भीलावाड़ी के द्वारा जमीनी विवाद के चलते सेवंता पति स्वर्गीय सुम्मा सरयाम उम्र 45 वर्ष निवासी ग्राम भीलावाड़ी की सिर पर मारी गई चोटो से उसकी मृत्यु हो गई थी। इसके पश्चात आरोपीगण घटनास्थल से फरार हो गए थे।

थाना आमला के घटना में आहत सुरेश पिता स्वर्गीय सुम्मा सरयाम उम्र 27 साल निवासी ग्राम भीलावाड़ी की रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 84/21 धारा 302 ,294 ,323 ,34 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था। प्रकरण की विवेचना के दौरान पुलिस अधीक्षक बैतूल, अति पुलिस अधीक्षक एवं एसडीओपी मुलताई के मार्गदर्शन में लगातार आरोपियों की खोजबीन की गई जिसके पश्चात मुखबिर सूचना पर आमला पुलिस को बुधवार को उक्त फरार शुदा आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई ।

उक्त आरोपियों से पूछताछ की गई जिनके द्वारा बताया गया कि सेवंता बाई द्वारा धोखे में इनकी जमीन अपने नाम करवा ली थी  इनके द्वारा बैतूल कोर्ट में केस भी चल रहा है । इसी रंजिश के चलते आरोपियों द्वारा से सेवंता बाई की हत्या करना स्वीकार किया गया। जिसकी गिरफ्तारी की जान कर न्यायालय पेश किया गया।

कुल्हाड़ी से प्राणघातक हमला करने वाले आरोपी भाइयो का जमानत आवेदन निरस्त


Crime News Betul

Multapi Samachar

मुलताईं। थाना क्षेत्र बोरदेही के ग्राम भुमका ढाना में खेत के मकान की बाउंड्री के अंदर सो रहे एक किसान पर पुरानी रंजिश के चलते कुल्हाडी से प्राणघातक हमला करने वाले दो आरोपियो के जमानत आवेदन पत्र पर वीडियो कांफ़्रसिंग से सुनवाई के बाद तृतीय अपर सेशन जज मुलताईं द्वारा निरस्त कर दिया।अतिरिक्त शासकीय अधिवक्ता राजेश साबले ने बताया कि बीते 1अक्टूबर 2020 की रात्रि में ग्राम भुमका ढाना थाना बोरदेही निवासी मंगल खाना खाने के बाद अपने खेत मे जाकर मच्छरदानी लगाकर जमीन पर अपने पुत्र शिवराम के साथ सोया था।

रात्रि करीब 12 से 1 बजे बीच बकरी के पास का लाइट बन्द कर मच्छरदानी के ऊपर से किसी चीज से मारा तो मंगल के दाहिने ओर नाक के पास जबड़े पर चोट आई। फिर से दूसरी बार आहत मंगल के साथ मारपीट की तो उसके दाहिने आँख के पास चोट आई।मंगल ने कुल्हाड़ी छुड़ाने की कोशिश की तो उन्होंने कान के पीछे मारपीट करने से सिर में चोट आने से खून निकलने लगा।इस दौरान मंगल का पुत्र कुँवर आया तो वे लोग वहां से भाग गए।

परिजनों द्वारा 108 एम्बुलेंस से घायल मंगल को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया।आहत मंगल का 3 वर्ष से पूर्व से रोशन,सुखलाल, सन्नू,धनसु, भोगी से विवाद हुआ था। जिससे रोशन एवं सुखलाल पर संदेह होने पर पुलिस द्वारा आरोपी रोशन और सुखलाल पिता भोगी के खिलाफ धारा 450,307 भादवि के तहत बोरदेही पुलिस द्वारा केस दर्ज किया था। आरोपियों की ओर से उनके अधिवक्ता द्वारा तृतीय अपर सेशन जज मुलताईं के न्यायालय में जमानत के लिए आवेदन पत्र प्रस्तुत किया था।

उक्त जमानत आवेदन पर सुनवाई करते हुए न्यायाधीश ने पाया कि आरोपी रोशन एवं सुखलाल ने मंगल के घर में घुसकर जान से मारने की नीयत से कुल्हाड़ी से प्राणघातक हमला किया।जिससे मंगल के सिर एवं चेहरे पर गंभीर चोट आई है।आरोपियो के खिलाफ प्रथम दृष्टया पर्याप्त साक्ष्य एकत्रित की गई है। प्रकरण में अनुसंधान जारी है।उक्त गंभीर प्रकृति का अपराध होने से आरोपियो को जमानत का लाभ दिया जाना उचित ना पाते हुए जमानत आवेदन निरस्त कर दिया।

तीन साल से फरार, 5 हजार रु. इनामी अपराधी गुजरात से पकड़ा


दुष्कर्म कर फरारी काट रहा अपराधी पकड़ाया

मुलतापी समाचार

मुलताई। पुलिस अधीक्षक महोदय बैतूल सुश्री सिमाला प्रसाद जी के व्दारा जिले में महिला संबंधित अपराधों की धरपकड़ हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत श्रीमान अति.पुलिस अधीक्षक महोदय बैतूल श्रीमति श्रध्दा जोशी एवं एसडीओपी मुलताई सुश्री नम्रता सोधिया जी के मार्गदर्शन मे दिनांक 17.10.20 को थाना प्रभारी मुलताई श्री सुरेश सोलंकी के निर्देशन मे अपराध क्रमांक 546/17 धारा 376 ,506 भादवि.का आरोपी उमेश बचले के दवारा मंगोनाकला निवासी महिला के साथ बुरा काम करके घटना समय से फरार हो गया था।

आरोपी उमेश पिता ओझा बचले 30 साल निवासी मंगोनाकला थाना मुलताई के विरूद्ध दर्ज अपराध मे आरोपी की तलाश विगत तीन साल से लगातार की जा रही थी।

थाना प्रभारी द्वारा बताया गया कि मुलताई से टीम गठित कर आरोपी की तलाश मे सुरत गुजरात रवाना की गयी थी, जिसे सुरत से गिरफ्तार किया गया।आरोपी उमेश पिता ओझा बचले 30 साल निवासी मंगोनाकला पर पांच हजार रूपये का इनाम घोषित किया गया था, जिसे टीम दवारा गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया।
उपरोक्त कार्यवाही मे थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी उप निरीक्षक बसंत अहाके, उप निरीक्षक तरुणा भारद्वाज , आरक्षक विवेक टेटवार, आरक्षक 209 अनिल
सायबर सेल टीम प्रभारी उप निरीक्षक राजेंद्र राजवंशी , आरक्षक राजेंद्र धाडसे , आरक्षक बलराम की सराहनीय भूमिका रही।

क्राइम न्यूज़- राजस्थान के करौली में पुजारी को जलाया, जमीन विवाद में दबंगों ने ले ली जान


राजस्थान के करौली में जमीन विवाद में एक पुजारी को जलाकर मार डाला गया है. आरोप है कि दबंगों ने जमीन पर कब्जा करने के मामले में पुजारी को जलाकर मार डाला.

राजस्थान के करौली में जमीन विवाद में एक पुजारी को जलाकर मार डाला गया है. पुजारी की जलकर जख्मी होने की हालत में अस्पताल में इलाज चल रहा था, जहां पुजारी ने दम तोड़ दिया है. ये पूरा मामला जमीन पर कब्जे को लेकर है. आरोप है कि दबंगों ने जमीन पर कब्जा करने के मामले में पुजारी को जलाकर मार डाला. 

फिलहाल, परिवार जयपुर के एमएसएस अस्पताल के बाहर धरने पर बैठक गया है. मौके पर पहुंचे पुलिस अफसर और परिवार के बीच बातचीत चल रही है. सपोटरा एसएचओ को सस्पेंड करने का निर्णय लिया जा सकता है. साथ ही शव को सुरक्षा में करौली पहुंचाया जायेगा. मामले की जांच के लिए उच्च अधिकारी करौली जा सकते हैं

सीएम बोले- दोषियों पर कार्रवाई होगी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सपोटरा, करौली में बाबूलाल वैष्णव जी की हत्या अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण एवं निंदनीय है,सभ्य समाज में ऐसे कृत्य का कोई स्थान नहीं है. प्रदेश सरकार इस दुखद समय में शोकाकुल परिजनों के साथ है. घटना के प्रमुख आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है एवं कार्रवाई जारी है. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.
  
इस मामले में केंद्रीय जल संसाधन मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने ट्वीट कर कहा, ‘करौली में एक मंदिर के पुजारी को जिंदा जला देना राजस्थान की दुर्दशा का हाल बता रहा है. अशोक जी राजस्थान को बंगाल बनाना चाहते हैं या राज्य  जिहादियों को सौंप दिया है या इसका भी ठीकरा अपने राजकुमार की तरह मोदी जी या योगी जी पर फोड़ोगे?’

क्या है पूरा मामला
करौली के बुकना गांव में पुजारी को जलाकर मार डाला गया है. कल बुधवार शाम इलाज के दौरान जयपुर के एसएमएस अस्पताल में पूजारी की दर्दनाक मौत हो जाने से राजधानी जयपुर सहित करौली जिले में पुजारियों और ब्राह्मण समाज द्वारा घटना का जबरदस्त विरोध किया जा रहा है. 

ब्राह्मण समाज, पुजारी संघ,  ब्राह्मण समाज, बजरंग दल, भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार कर उन्हें  कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की है. इसके साथ ही पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपये का य और एक सरकारी नौकरी देने की मांग की गई है. आंदोलन की चेतावनी दी गई है.

इधर घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा ने 6 स्पेशल टीम गठित कर घटना के मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया, वहीं अन्य आरोपियों की तलाश जारी है.