Category Archives: गांव के विकास योजना

कोरोना को हराने और वैक्सीनेशन के लिए जनप्रतिनिधि और प्रशासनीक अधिकारी मैदान में


मुलतापी समाचार, किल्लोद

ग्रामीण अंचलों में किल कोरोना के माध्यम शेखपुरा नाम उक्त करने तथा ग्रामीणों को वैक्सीनेशन कराने के लिए शासन प्रशासन एवं जनप्रतिनिधि मैदान में उतर आए गांव में जनप्रतिनिधि और अधिकारियों द्वारा लोगों को समझाइश दी जा रही है और अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है इसी कड़ी में किल्लेद जनपद पंचायत के अध्यक्ष पंकज पटेल एवं

नायब तहसीलदार सहदेव मौर्य द्वारा 18 प्लस के युवा साथियों का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र किल्लोद मैं कोविड-19 से बचाव के लिए टीकाकरण प्रारंभ किया गया जिसमें ग्राम किल्लोद मैं संपूर्ण ग्राम के युवाओं से नाय तहसीलदार सहदेव मौर्य एवं पंकज सिंह पटेल जनपद अध्यक्ष किल्लोद के द्वारा पूरे गांव में भ्रमण कर माई के द्वारा ग्रामीणों को टीकाकरण के लिए प्रेरित किया। साथ ही किल्लोद विकासखंड वासियों से टीकाकरण अवश्य से अवश्य लगाने हेतु आव्हान किया

नायब तहसीलदार सहदेव मौर्य ने ग्रामीणों को समझाइश देते हुए बताया है कि करोना गाइडलाइन का पालन करके एवं करोना का टीका लगवाकर हम अपने अपने परिवार मोहल्ले और गांव को कोरोना वायरस से बचा सकते हैं इसलिए शासन द्वारा टीकाकरण अभियान पर जोर दिया जा रहा है और

इस समय सभी ग्रामीणों को सहयोग करना है एक एक परिवार एक मोहल्ला और एक गांव कोरोना वायरस मुक्त होगा, तो पूरे प्रदेश में कोरोनावायरस की महामारी से हम जीत सकते हैं जनपद पंचायत अध्यक्ष पंकज पटेल ने भी खुद आगे रहकर ग्रामीण युवाओं को टीकाकरण के लियें प्रेरित किया।

जल समस्या की पूर्ति हेतु किया प्रयास


प्याऊ से पानी भरते हुए ग्रामीण

नल जल योजनाए गांव में पूरी पाइपलाइन अस्त-व्यस्त पढ़ि है प्रशासन इस ओर ध्यान दे

जल निगम ने अभी तक गांव घर घर पाइप लाइन स्थापित नहीं की ग्रामीण हो रहे परेशान

अभी भी घर घर तक नल जल योजना नहीं पूछ

नल जल योजना के तहत प्रत्येक घर में पानी पहुंचाने के लिए शासन द्वारा जो व्यवस्था कराई जा रही है वह सराहनीय है लेकिन इस काम के चलते गांव में पूरी पाइपलाइन अस्त-व्यस्त पढ़ि है और मई के महीने में अधिकतर देखा जाता है कि ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की समस्या एक आम समस्या बन गई इसी समस्या का हल ग्राम पंचायत बाघोली द्वारा निकाला गया है और बहुत ही सुव्यवस्थित तरीके से ग्राम वासियों के लिए पानी की व्यवस्था की गई है अगर आपके गांव में इस तरीके की कोई समस्या है तो आपको इनसे सीख लेनी चाहिए गांव की युवाओं द्वारा उठाई गई आवाज पंचायत तक पहुंची और 2 दिन के अंदर इस समस्या का समाधान भी निकाला गया अगर आपके गांव में इस तरीके की कोई समस्या है तो आवाज उठाइए समस्त युवा शक्ति को बहुत-बहुत धन्यवाद एवं ग्राम पंचायत सरपंच सचिव एवं सहायक सचिव का बहुत-बहुत आभार जो इतनी अच्छी व्यवस्था कम समय में समस्त ग्राम वासियों के लिए आपने बनाई!

आष्टा के सैकड़ों ग्रामीणों ने तहसील कार्यालय में प्रदर्शन कर सौपा ज्ञापन


मुलतापी समाचार

प्रभातपट्टन ब्लाक में ग्राम शेरगढ़ के पास वर्धा नदी पर बने डैम की नहर ग्राम आष्टा तक पहुंचाने की मांग को लेकर मंगलवार को आष्टा के सैकड़ों किसानों ने तहसील कार्यालय में प्रदर्शन किया। और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम हरसिमरन प्रीत कौर को सौंपा। पूर्व जनपद सदस्य रोशन देशमुख,किसान गुलाब देशमुख, भोजराव देशमुख,भीमराव देशमुख, लक्ष्मण गायकवाड,विजय कुमार देशमुख, सहित बड़ी संख्या में आष्टा के किसान मंगलवार दोपहर में तहसील कार्यालय पहुंचे। किसानों के साथ महिलाओं की उपस्थिति रही। किसानों ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपकर बताया ग्राम आष्टा पटवारी हल्का नंबर 103 में लगभग 1173 हेक्टेयर कृषि भूमि को सिंचाई के लिए कोई भी सुविधा नहीं है। इन परिस्थितियों में किसान कृषि भूमि का उपयोग फसल उगाने में नहीं कर पा रहे हैं। वर्धा डैम का निर्माण होने के दौरान ग्राम आष्टा के किसानों को भी डैम का पानी फसलों की सिंचाई के लिए उपलब्ध होने की उम्मीद बंधी थी। नहर के लिए सर्वे के दौरान ग्राम आष्टा का नाम भी सिंचाई सुविधा देने के लिए शामिल किया गया था। लेकिन षड्यंत्र पूर्वक ग्राम आष्टा के किसानों को वर्धा डैम से मिलने वाली सिंचाई सुविधा से वंचित कर दिया है। किसानों ने ग्राम आष्टा तक वर्धा डैम की नहर पहुंचाने की मांग ज्ञापन में की है।

13 जनवरी से धरना प्रदर्शन करने की घोषणा


किसानों ने ज्ञापन में बताया यदि 7 दिन में उनकी मांग को गंभीरता से नहीं लिया जाता है तो 13 जनवरी से ग्राम आष्टा के किसान ग्राम पंचायत भवन के सामने धरना प्रदर्शन प्रारंभ करेंगे। 15 जनवरी तक धरना प्रदर्शन किया जाएगा। उसके बाद भी मांग पूरी नहीं होती है तो 18 जनवरी को ग्राम से गुजरने वाले मुलताई आठनेर मार्ग पर चक्का जाम किया जाएगा। किसानों ने मांग पूरी नहीं होने की स्थिति में उग्र आंदोलन की चेतावनी भी ज्ञापन में दी है।

ग्राम घोटाला- चौपाल निर्माण शौचालयों के अधूरे काम को पूरा बताकर राशि खाने वाला सचिव निलंबित


मुलतापी समाचार

ग्राम प्रधान, सचिव से राशि वसूली के लिए धारा 92 के तहत प्रकरण दर्ज

मुलताई तहसील की ग्राम पंचायत कान्हाखापा में निर्मित सीमेंट कांक्रीट रोड का घटिया निर्माण करने,चौपाल निर्माण कार्य और शौचालयों के अधूरे निर्माण कार्य को पूर्ण दर्शा कर राशि डकार ने वाले तत्कालीन पंचायत सचिव दिनेश दाबड़े (वर्तमान सचिव ग्राम पंचायत पोहर) को जिला पंचायत सीईओ ने निलंबित करने के आदेश जारी किए हैं। 
 ग्राम पंचायत कान्हाखापा के ग्रामीणों ने पंचायत में घटिया सीमेंट रोडो का निर्माण करने, ग्राम कान्हाखापा और ग्राम सोनखेड़ी में चौपाल निर्माण का कार्य आधा अधूरा करने और हितग्राहियों के निवास पर बनाए गए शौचालयों का आधा अधूरा निर्माण कर सचिव और ग्राम प्रधान द्वारा स्वीकृत राशि आहरित करने की शिकायत जनपद पंचायत सीईओ से की थी।

शिकायत पर सीईओ मनीष शेंडे ने दल गठित कर पंचायत में हुए निर्माण कार्यों की जांच कराई। जांच में सीमेंट रोड का घटिया निर्माण कार्य होने की पुष्टि हुई। वही चौपाल निर्माण कार्य आधा अधूरा होने और 5 हितग्राहियों के घर शौचालयों का आधा अधूरा निर्माण काम होने के बावजूद निर्माण कार्य पूर्ण बता कर फर्जी तरीके से स्वीकृत राशि आहरण करने का भी खुलासा जांच में हुआ था।

जांच दल ने ग्राम प्रधान( सरपंच) राधिका धोटे और तत्कालीन पंचायत सचिव दिनेश दाबडे  द्वारा 4 लाख 20 हजार 200 रुपए की वित्तीय अनियमितता और गबन करने का उल्लेख करते हुए जांच प्रतिवेदन सीईओ को सौंपकर ग्राम प्रधान और सचिव से राशि वसूलने की अनुशंसा की थी। जांच दल द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन के आधार पर सीईओ श्रीशेंडे ने जिला पंचायत सीईओ को पत्र लिखकर ग्राम प्रधान और तत्कालीन सचिव से राशि वसूलने के लिए पंचायत राज अधिनियम की धारा 92 के तहत प्रकरण दर्ज करने और सचिव दिनेश दाबड़े के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया था। जिला पंचायत सीईओ ने जनपद पंचायत सीईओ के पत्र और जांच प्रतिवेदन के आधार पर पंचायत सचिव दिनेश दाबडे को कर्तव्य के प्रति गंभीर लापरवाही बरतने और वित्तीय अनियमितता किए जाने के चलते निलंबित करने के आदेश जारी किए हैं। निलंबन अवधि में दिनेश दाबड़े का मुख्यालय जनपद पंचायत कार्यालय मुलताई नियत किया गया है।

जन आंदोलन मंच का धरना प्रारंभ, भाजपा नेताओं की सद्बुद्धि के लिए की प्रार्थना


✍️ राहुल सारोडे

मुलताई (मुलतापी न्यजू)। जन आंदोलन मंच ने पूर्व घोषणा के अनुसार शुक्रवार से शहीद स्तंभ परिसर बस स्टैंड पर ट्रेनों के स्टापेज को लेकर धरना प्रदर्शन प्रारंभ कर दिया है।

उपजन मंच के सदस्यों ने शुक्रवार अटल जयंती होने से उनका धरना स्थल पर ही जन्मदिन मनाते हुए भाजपा नेताओं के लिए सद्बुद्धि की प्रार्थना भी की ताकि वे नगर की समस्याओं को समझकर उसके निराकरण का प्रयास कर सकें। प्रथम दिन धरने पर राजरानी परिहार, मोहनसिंह परिहार, अनिल सोनी, महेश शर्मा, टीकाराम मंडले, विनोद बेले, श्रवण वाघमारे, आनंद पांसे, संपतराव, सुदर्शन बर्डे, यादोराव निंबालकर, गुलाब राऊत, संतोष बंगाली, राजेश तायवाड़े, गुड्डु पंवार, अमन बोबड़े, हाजी शमीम खान, विजय पारधे, रजनीश गिरे तथा विजय बारंगे सहित बड़ी संख्या में लोग बैठे। जनमंच के अनिल सोनी सहित अन्य सदस्यों ने बताया कि विगत वर्षों से मुलताई क्षेत्र की जनता भाजपा का सांसद चुन कर भेज रही है, लेकिन पूर्व एवं वर्तमान सांसदों द्वारा नगर की समस्याओं को नजर अंदाज किया गया है। पवित्र नगरी होने के बावजूद यहां प्रमुख ट्रेनों का स्टापेज कराने के लिए सांसदों द्वारा कोई प्रयास नहीं किए गए जिससे पूरे क्षेत्रवासियों को आवागमन के लिए समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

कृषि संशोधन बिल 2020 जन जागरूकता अभियान


आज कृषि संशोधन बिल 2020 जन जागरूकता अभियान के सम्बध मे भाजपा जिला अध्यक्ष आदरणीय बबला शुक्ला जी के नेतृत्व में आठनेर नगर मंडल मासोद मंडल एवं प्रभात पट्टन मंडल में बिल के संबंध में बूथ कार्यकर्ता और बूथ प्रभारियों से संवाद किया

इस दौरे में मासौद मंडल के प्रभारी देवी सिंह ठाकुर अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला अध्यक्ष अभीजर हुसैन आठनेर मंडल के प्रभारी किशोर मोहबे सहित तीनों मंडलों के अध्यक्ष गोवर्धन रानी विजय घोड़की राजेश सोनारे उपस्थित रहे

MULTAPI SAMACHAR

NEWS RIPOTOR (RAHUL SARODE)

Betul निशुल्क मास्क वितरण किया ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति कुही


लगातार चले 2 घंटे अभियान के अंतर्गत

बिना मास्क लगाए राहगीरों को वितरण किए निशुल्क मास्क

एक कदम सतर्कता एवं सफलता की ओर

रानीपुर Multapi Samachar बैतूल जिला घोड़ाडोंगरी विकासखंड के ग्राम पंचायत रानीपुर क्षेत्र में रोको टोको अभियान के तहत मध्य प्रदेश जन अभियान परिषद द्वारा संचालित ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति कुही ने रानीपुर क्षेत्र में कोरोना के लगातार बढ़ते हुए मरिजो को देखते हुए एवं सड़क पर बिना मास्क पहने नगर में घुम रहे राहगीरों को दो घण्टे लगातर चले अभियान में नि:शुल्क मास्क वितरण किया गया, साथही सड़क पर घुमते एवं वाहन चलाते समय एवं भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में मास्क का उपयोग करें। सोशल डिस्टेंस का पूर्ण रुप से पालन करने कि समझाइश दि। कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित थाना प्रभारी पाल ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति के अध्यक्ष पृथ्वीराज वरटी, ए एस आई तिवारी, बोरासे एवं पुरा पुलिस बल मौजूद रहा।

MP – गाँवों के विकास एवं कोरोना रोकथाम के लिए दी गई 1830 करोड़ रूपए की राशि


मुख्यमंत्री श्री चौहान नेपवीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के सरपंचों से की चर्चा

Multapi Samachar

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के लगभग 6 हजार सरपंचों/पूर्व सरपंचों को संबोधित किया। उन्होंने वीसी से जुड़े उपस्थित सरपंचों/पूर्व सरपंचों से संवाद भी किया। मुख्यमंत्री ने सरपंचों से पंच-परमेश्वर योजना, मनरेगा के कायों, श्रम सिद्धि अभियान, रोजगार सेतु पोर्टल पर पंजीयन, गौशाला निर्माण, नि:शुल्क राशन वितरण तथा कोरोना की स्थिति के संबंध में चर्चा की।

वीसी में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमारा हिन्दुस्तान गाँवों में बसता है। गाँवों के विकास से ही देश एवं प्रदेश का विकास संभव है। मध्यप्रदेश सरकार द्वारा ग्रामीण विकास के लिए पर्याप्त राशि पंचायतों को दी जा रही है। सरकार ने पंच-परमेश्वर योजना को दोबारा चालू किया है तथा 14वें वित्त आयोग की 1830 करोड़ 7 लाख रूपये की राशि पंचायतों को भिजवाई गई है। (1555 करोड़ रूपये अधोसंरचना विकास एवं पेयजल व्यवस्था के लिए तथा 275 करोड़ रूपये कोविड रोकथाम के लिए)। सरपंच इस राशि का समुचित उपयोग करें। कोरोना की रोकथाम के साथ ही अच्छी गुणवत्ता के स्थाई प्रकृति के विकास कार्य करवाएं। जल एवं स्वच्छता संबंधी कार्यों को प्राथमिकता दें।

कोविड की रोकथाम के लिए 275 करोड़ रूपए

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना रोग शहरों से ही गाँवों में पहुंचा है। अभी मध्यप्रदेश के 440 गाँवों में 904 कोरोना के मरीज पाए गए है। सरकार ने कोविड की रोकथाम के लिए ग्राम पंचायतों को 14वें वित्त आयोग की 15 प्रतिशत राशि 275 करोड़ रूपए भिजवाई है। इसे मास्क, साफ सफाई, साबुन, सेनेटाइजर, पीपीई किट आदि पर खर्च किया जा सकता है। प्रदेश में कोरोना के मरीज तीव्र गति से स्वस्थ हो रहे हैं फिर भी पूरी सावधानी की आवश्यकता है। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सभी मास्क लगाएं, दो गज की दूरी रखें तथा अन्य सावधानियां बरतें।        

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का देसी नुस्खा बताया 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का देसी नुस्खा भी सरपंचों को बताया। उन्होंने बताया कि गिलोए को पानी में उबालें, एक कप में पाँच तुलसी के पत्ते, तीन काली मिर्ची तथा हल्दी डालकर उसका काढ़ा बनाकर पिएं। इसके साथ ही नियमित रूप से योगासन और प्राणायाम करें।

प्रत्येक ग्राम पंचायत को औसत 8 लाख रूपये की राशि

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि ग्राम पंचायतों को अधोसंरचना विकास, पेयजल संबंधी कार्य, संधारण कार्य आदि के लिए 14वें वित्त आयोग की 1555 करोड़ रूपये की राशि भिजवाई गई है। प्रत्येक ग्राम पंचायत को औसत 8 लाख रूपये की राशि प्राप्त हुई है।

1256 करोड़ की राशि मजदूरों के खातों में

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि मनरेगा के अंतर्गत 1256 करोड़ रूपये की राशि मजदूरों के खातों में पहुंचाई गई है। प्रदेश में प्रतिदिन औसतन 25 लाख 14 हजार मजदूरों को मनरेगा के तहत रोजगार कार्य दिलाया जा रहा है। श्रमसिद्धि अभियान में भी 7.5 लाख से अधिक मजदूरों को जॉब कार्ड उपलब्ध कराए गए हैं। रोजगार सेतु पोर्टल पर 7 लाख 30 हजार प्रवासी श्रमिकों और इन्हीं श्रमिकों के 5 लाख 79 हजार परिवार के सदस्यों को मिलाकर कुल 13 लाख 10 हजार का पंजीयन किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने सरपंचों से कहा कि वे देखें कि किसी भी स्थिति में मनरेगा के अंतर्गत मशीनों से कार्य न हो।

जीरो प्रतिशत ब्याज पर गत वर्ष के ऋण की अदायगी 30 जून तक

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए जीरो प्रतिशत ब्याज पर फसल ऋण लेने की योजना पुन: प्रारंभ की है। गत वर्ष जिन किसानों ने जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऋण लिया था अब उनके लिए ऋण अदायगी की तिथि को बढ़ाकर 30 जून कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने इन सरपंचों/पूर्व सरपंचों से चर्चा की

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीसी के माध्यम से जिला सूचना केंद्रों में उपस्थित सरपंच/उपसरपंच से चर्चा की। मुख्यमंत्री ने बालाघाट जिले की ग्राम पंचायत परासपानी की श्रीमती किरण चौधरी, मण्डला जिले की ग्राम पंचायत तिंदनी की श्रीमती संध्या, रतलाम जिले ग्राम पंचायत केलकच्छ के श्री मुकेश डोडियार, अलीराजपुर जिले की ग्राम पंचायत सन्दा के श्री श्यामसिंह बामनिया, अनूपपुर  जिले की ग्राम पंचायत सकरा की श्रीमती विमला सिंह, भिण्ड जिले की ग्राम पंचायत उझावल के श्री राममिलन यादव, दतिया जिले ग्राम पंचायत बिछोंदना के श्री पंकज पुजारी, सीहोर जिले की ग्राम पंचायत धुराडाकला के श्री राजाराम गोयल, टीकमगढ़ जिले की ग्राम पंचायत वौरी के श्री कीरत लोधी तथा बैतूल जिले की ग्राम पंचायत पावरझण्डा के श्री ईश्वर दास कुमार से चर्चा की।

ग्राम पंचायत विकास योजना को अपलोड करने में मध्यप्रदेश अव्वल

इस दौरान अपर मुख्य सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि 15वें वित्त आयोग के अंतर्गत वर्ष 2020-21 के लिए ग्राम पंचायत विकास योजना (GPDP) बनाने एवं उसे भारत सरकार के पोर्टल पर अपलोड करने में मध्यप्रदेश पूरे देश में प्रथम है। प्रदेश की 22756 पंचायतों द्वारा योजना अपलोड कर दी गई है।