Category Archives: जनपद पंचायत

पंचायत सचिव,रोजगार सहायको ने कोरोना योद्धा घोषित नहीं करने पर 10 मई से कामबंद आंदोलन की दी चेतावनी


कोरोना योद्धा नहीं तो काम नहीं का ऐलान करते हुए मुलताई और प्रभातपट्टन ब्लाक के पंचायत सचिव और रोजगार सहायको ने शुक्रवार को कलेक्टर को संबोधित ज्ञापन जनपद पंचायत के सीईओ को सौंपकर 9 मई तक उनकी मांग का निराकरण नहीं होने की स्थिति में 10 मई से काम बंद आंदोलन की चेतावनी दी है। शुक्रवार को  मुलताई ब्लॉक सचिव संघ अध्यक्ष नामदेव खाड़े और ग्राम रोजगार सहायक संघ अध्यक्ष लालसिंह चौहान के नेतृत्व में पंचायत सचिवों ने जनपद पंचायत सीईओ मनीष शेन्डे को ज्ञापन सौंपा।

वही प्रभातपट्टन ब्लॉक सचिव संघ अध्यक्ष राजेंद्र झरबड़े रोजगार सहायक सचिव संघ अध्यक्ष पुरुषोत्तम साहू के नेतृत्व में पंचायत सचिव और सहायक सचिवों ने प्रभातपट्टन जनपद पंचायत सीईओ को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया पंचायत ग्रामीण विकास विभाग द्वारा पंचायत सचिव,सहायक सचिव सहित ग्रामीण विकास विभाग के मैदानी अमले को कोरोना योद्धा घोषित करने के आदेश बीते 26 अप्रैल को जिला कलेक्टरों को जारी किए गए थे। इसके बावजूद प्रदेश के एक दर्जन कलेक्टरों ने पूर्व में जारी आदेश निरस्त कर दिए हैं। जिसके पीछे भोपाल से मिले निर्देशों का हवाला दिया गया है। ज्ञापन में बताया कि कोरोना महामारी के दौरान अपने दायित्व का निर्वहन करते हुए प्रदेश में 50 से अधिक सचिव और रोजगार सहायक कोरोना की चपेट में आने से मौत के मुंह में समा चुके हैं। इसके बावजूद जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा प्रदेश के ग्राम पंचायतों में कार्यरत 46 हजार सचिव और रोजगार सहायक को कोरोना योद्धा का दर्जा देने के नाम पर आंख मिचोली की जा रही है। 

और सुबह से शाम तक बिना सक्षम अधिकारी के लिखित ड्यूटी आदेश जारी किए व्हाट्सएप मैसेज के माध्यम से कार्य कराया जा रहा है। ज्ञापन में सचिव और सहायक सचिवो ने शासन स्तर पर पंचायत सचिव और रोजगार सहायक को कोरोना योद्धा घोषित करने के स्पष्ट आदेश जारी करने  सचिव और रोजगार  सहायको की कोरोना काल के दौरान व्हाट्सएप मैसेज से कराई जा रही ड्यूटी की व्यवस्था को बदल कर सक्षम अधिकारी के लिखित ड्यूटी आदेश जारी करने और कोरोना की चपेट में दिवंगत हुए सचिव और रोजगार सहायको के परिवार को तत्काल 50 लाख रुपए की क्षति पूर्ति राशि प्रदान करने की मांग की है। साथ ही 9 मई तक इन मांगों का निराकरण नहीं होने पर प्रदेश संगठन के आव्हान पर सचिव और रोजगार सहायको द्वारा 10 मई से काम बंद आंदोलन की चेतावनी दी है।

GRS ग्राम रोजगार सहायक द्वारा कपिल धारा योजना के कूप की 1 लाख रुपये से अधिक की राशि गमन किया, किसान हो रहा परेशान


घोड़ाडोंगरी। जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत आमडोह में ग्राम रोजगार सहायक तपनदास मण्डल ने हितग्राही को बिना बताए मजदूरी की राशि फर्जी तरीके से आहरण कर ली है। ग्रामीणों द्वारा बनाये गये पंचनामे में उल्लेख है कि भाग्यधर मंडल के कपिल धारा कूप में एक लाख तेरह हजार पचास रुपये की राशि का गमन की , फर्जी मस्टरोल भरकर किया गया है जबकि मोके पर ग्राम पंचायत ने कुँए का काम प्रारंभ नही किया था।

मनरेगा योजना में ग्राम रोजगार सहायक द्वारा फर्जी तरीके से राशि आहरण करने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है जहां मप्र शासन के आदेशानुसार हर पात्र हितग्राही को लाभ पहुंचाने के लिए तरह तरह के उपाय एवं नए-नए सॉफ्टवेयर बनाए जा रहे हैं। जिससे ग्राम पंचायत में कोई फर्जीवाड़ा न हो सके, लेकिन दबंग रोजगार सहायक तपन दास द्वारा मनरेगा अंतर्गत कपिल धारा कूप निर्माण में अपने चहेतों के खाते में राशि का आहरण नहीं रूक रहा है ।

ऐसा ही एक मामला जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत आम डोह के ग्राम नारायणपुर का देखने को मिला। जहां पर भाग्यधर पिता अधीर मंडल का मनरेगा योजना से कपिल धारा कूप निर्माण स्वीकृत वर्ष 2018 किया गया था।

जो कि नियमानुसार एक वर्ष की अवधि में निर्माण कार्य को पूरा होना था, लेकिन 2 साल बीत जाने के बाद कपिल धारा का कूप निर्माण पंचायत द्वारा शुरू नही किया गया जिसके चलते पात्र हितग्राही द्वारा खुद जैसे तैसे रुपये जुगाड़ कर कच्चा कूप खुदवाया गया हितग्राही भाग्यधर मण्डल को बाद में पता चला की उसके कपिलधारा कूप निर्माण के नाम पर एक लाख तेरह हजार पचास रुपये निकल चुके हैं।

हितग्राही द्वारा जिसकी आरोप ग्राम पंचायत आमडोह के सह सचिव तपन दास पर लगाया, एवं हितग्राही ने बताया कि मजूदरों के नाम का फर्जी मस्टररोल से फर्जी तरीके से मेरे खेत के कपिल धारा कूप निर्माण कार्य का रकम निकल लिया गया है जिसका मास्टरमाइंड सह सचिव तपनदास मंडल है। जिम्मेदार अधिकारीयो द्वारा निष्पक्ष जांच की जाये कपिल धाराकूप निर्माण राशि मे गमन का मामला उजागर होगा।

GRS ग्राम रोजगार सहायक द्वारा कपिल धारा योजना के कूप की 1 लाख रुपये से अधिक की राशि गमन किया, किसान हो रहा परेशान


घोड़ाडोंगरी। जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत आमडोह में ग्राम रोजगार सहायक तपनदास मण्डल ने हितग्राही को बिना बताए मजदूरी की राशि फर्जी तरीके से आहरण कर ली है। ग्रामीणों द्वारा बनाये गये पंचनामे में उल्लेख है कि भाग्यधर मंडल के कपिल धारा कूप में एक लाख तेरह हजार पचास रुपये की राशि का गमन की , फर्जी मस्टरोल भरकर किया गया है जबकि मोके पर ग्राम पंचायत ने कुँए का काम प्रारंभ नही किया था।

मनरेगा योजना में ग्राम रोजगार सहायक द्वारा फर्जी तरीके से राशि आहरण करने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है जहां मप्र शासन के आदेशानुसार हर पात्र हितग्राही को लाभ पहुंचाने के लिए तरह तरह के उपाय एवं नए-नए सॉफ्टवेयर बनाए जा रहे हैं। जिससे ग्राम पंचायत में कोई फर्जीवाड़ा न हो सके, लेकिन दबंग रोजगार सहायक तपन दास द्वारा मनरेगा अंतर्गत कपिल धारा कूप निर्माण में अपने चहेतों के खाते में राशि का आहरण नहीं रूक रहा है ।

ऐसा ही एक मामला जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत आम डोह के ग्राम नारायणपुर का देखने को मिला। जहां पर भाग्यधर पिता अधीर मंडल का मनरेगा योजना से कपिल धारा कूप निर्माण स्वीकृत वर्ष 2018 किया गया था।

जो कि नियमानुसार एक वर्ष की अवधि में निर्माण कार्य को पूरा होना था, लेकिन 2 साल बीत जाने के बाद कपिल धारा का कूप निर्माण पंचायत द्वारा शुरू नही किया गया जिसके चलते पात्र हितग्राही द्वारा खुद जैसे तैसे रुपये जुगाड़ कर कच्चा कूप खुदवाया गया हितग्राही भाग्यधर मण्डल को बाद में पता चला की उसके कपिलधारा कूप निर्माण के नाम पर एक लाख तेरह हजार पचास रुपये निकल चुके हैं।

हितग्राही द्वारा जिसकी आरोप ग्राम पंचायत आमडोह के सह सचिव तपन दास पर लगाया, एवं हितग्राही ने बताया कि मजूदरों के नाम का फर्जी मस्टररोल से फर्जी तरीके से मेरे खेत के कपिल धारा कूप निर्माण कार्य का रकम निकल लिया गया है जिसका मास्टरमाइंड सह सचिव तपनदास मंडल है। जिम्मेदार अधिकारीयो द्वारा निष्पक्ष जांच की जाये कपिल धाराकूप निर्माण राशि मे गमन का मामला उजागर होगा।