Category Archives: जल आपूर्ति

जल समस्या की पूर्ति हेतु किया प्रयास


प्याऊ से पानी भरते हुए ग्रामीण

नल जल योजनाए गांव में पूरी पाइपलाइन अस्त-व्यस्त पढ़ि है प्रशासन इस ओर ध्यान दे

जल निगम ने अभी तक गांव घर घर पाइप लाइन स्थापित नहीं की ग्रामीण हो रहे परेशान

अभी भी घर घर तक नल जल योजना नहीं पूछ

नल जल योजना के तहत प्रत्येक घर में पानी पहुंचाने के लिए शासन द्वारा जो व्यवस्था कराई जा रही है वह सराहनीय है लेकिन इस काम के चलते गांव में पूरी पाइपलाइन अस्त-व्यस्त पढ़ि है और मई के महीने में अधिकतर देखा जाता है कि ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की समस्या एक आम समस्या बन गई इसी समस्या का हल ग्राम पंचायत बाघोली द्वारा निकाला गया है और बहुत ही सुव्यवस्थित तरीके से ग्राम वासियों के लिए पानी की व्यवस्था की गई है अगर आपके गांव में इस तरीके की कोई समस्या है तो आपको इनसे सीख लेनी चाहिए गांव की युवाओं द्वारा उठाई गई आवाज पंचायत तक पहुंची और 2 दिन के अंदर इस समस्या का समाधान भी निकाला गया अगर आपके गांव में इस तरीके की कोई समस्या है तो आवाज उठाइए समस्त युवा शक्ति को बहुत-बहुत धन्यवाद एवं ग्राम पंचायत सरपंच सचिव एवं सहायक सचिव का बहुत-बहुत आभार जो इतनी अच्छी व्यवस्था कम समय में समस्त ग्राम वासियों के लिए आपने बनाई!

पारसडोह से आज बैतूल बैराज के लिए छोड़ा जाएगा पानी


पारसडोह डेम बेराज

आमजन से नदी के बहाव से दूर रहने की अपील

नल जल योजनाएं,

जल आपूर्ति हेतू पारसडोह का पानी छोड़ेंगे,

बैतूल के लिये पानी आएगा पारसडोह से,

जल संसाधन विभाग द्वारा बैतूल शहर के पेयजल की आपूर्ति हेतु पारसडोह जलाशय से निर्माणाधीन घोघरी एवं मेंढा मध्यम परियोजना पार कर ताप्ती नदी पर पारसडोह परियोजना से लगभग 55 कि.मी. नीचे नगरपालिका के बैराज में पानी भरा जाना है।

जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री अशोक देहरिया ने बताया कि नगरपालिका अधिकारी बैतूल द्वारा अवगत कराया गया कि क्षतिग्रस्त बैराज में वर्तमान लगभग 4.00 मि.घ.मी. जल भराव क्षमता उपलब्ध है। इस हेतु 10 अप्रैल 2021 को प्रात: 7.00 बजे से पारसडोह परियोजना के एनवारमेन्टल स्लूस के माध्यम से 5.43 क्यूमेक्स जल लगातार (रात एवं दिन) छोड़ा जाएगा, जो प्रतिदिन लगभग 0.47 मि.घ.मी. होगा। पानी को 55 किमी की दूरी तय करने में लगभग 10 दिवस का समय लगेगा। पानी पहुंचने के 04 दिवस बाद ही क्षतिग्रस्त बैराज अपनी उपलब्ध पूर्ण जलभराव क्षमता में भर जाएगा। पानी छोडऩे के दौरान 10 अप्रैल 2021 से लेकर 24 अप्रैल 2021 तक आमजन से अनुरोध किया जाता है कि नदी के बहाव से दूर रहे एवं मवेशियों को भी नदी में जाने से रोके, जिससे की जनधन की हानि से बचाव हो सके।