Category Archives: #जल है तो कल है

भव्या फाऊडेंशन जयपुर द्वारा बैतूल जिले के पत्रकार रामकिशोर पंवार को मिला सम्मान


भव्या फाऊडेंशन जयपुर द्वारा बैतूल जिले के पत्रकार रामकिशोर पंवार को मिला सम्मान

बैतूल में ताप्ती जल संरक्षण एवं उत्कृष्ट पत्रकारिता के लिए बैतूल के सासंद द्वारा सम्मानित

बैतूल – बीते माह पिंक सिटी जयपुर में आयोजित भव्या फाऊडेशन के द्वारा आयोजित अंतराष्ट्रीय मैत्री सम्मेलन और रेड डायमंड एचीवर एवार्ड 2020 के कार्यक्रम में लाकडाऊन के कारण भाग लेन नहीं पहुंच सके। पत्रकार रामकिशोर पंवार को जयपुर से मिला सम्मान एवं एवार्ड बैतूल जिला मुख्यालय पर भाजपा सासंद श्री दुर्गादास उइके ने प्रदान किया। उत्कृष्ट पत्रकारिता एवं ताप्ती नदी के जल संरक्षण को लेकर को लेकर काम कर रहे पत्रकार रामकिशोर पंवार दो दशक से ताप्ती नदी के धार्मिक महत्व एवं उसके जल संरक्षण के लिए कार्यरत है। श्री पंवार बीते चार दशक से जिले में पत्रकारिता एवं लेखन के क्षेत्र में सक्रिय है। श्री पंवार को उक्त सम्मान भव्या फाऊडेशन की निर्देशक डाँ श्रीमति निशा व्यास की अध्यक्षता में बनी चयन समिति द्वारा चयनीत कर दिया गया।
श्री पंवार बैतूल जिले से एक मात्र पत्रकार है जिन्हे भव्या फाऊडेशन के द्वारा आयोजित अंतराष्ट्रीय मैत्री सम्मेलन और रेड डायमंड एचीवर एवार्ड 2020 द्वारा नवाजा गया।

15 करोड़ 58 लाख की नल जल योजना से दूर होगी विधानसभा के 29 गांवों की पेयजल समस्याविधायक निलय डागा का प्रयास लाया रंग, अब हर गांवों में पहुंचेगा शुद्ध पानी


15 करोड़ 58 लाख की नल जल योजना से दूर होगी विधानसभा के 29 गांवों की पेयजल समस्या
विधायक निलय डागा का प्रयास लाया रंग, अब हर गांवों में पहुंचेगा शुद्ध पानी

बैतूल। बैतूल विधानसभा के 29 गांवों में पेयजल संकट को देखते हुए विधायक निलय विनोद डागा ने 15 करोड़ 58 लाख रुपये की नल जल योजना को स्वीकृति प्रदान करवाई है। अब नलजल योजना से हजारों ग्रामीण आबादी को स्वच्छ पीने का पानी मिलेगा। करोड़ों की नल जल योजनाओं के स्वीकृत होने पर पेयजल समस्या से ग्रस्त ग्रामीणों को पेयजल संकट से निजात मिलेगी।
गौरतलब है कि ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की समस्या को लेकर लगातार ग्रामीणों द्वारा विधायक श्री डागा से शिकायतें की गईं थी। कलेक्ट्रेट में भी लोगों ने पहुंचकर जल समस्या से निजात दिलाने की मांग की थी। श्री डागा ने ग्रामीणों की समस्याओं को सुनते हुए अब घर-घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने की पहल की है। नल जल योजना के तहत यह कार्य किया जाएगा। बता दें कि बहुप्रतीक्षित योजना को विधायक डागा के प्रयास ने ही अमलीजामा पहनाने का काम किया है। पेयजल समस्या को लेकर श्री डागा की मेहनत आखिरकार रंग लाई। विधानसभा क्षेत्र में ग्रामीणों की पेयजल समस्या को प्राथमिकता से निराकरण कराया गया। इसके अंतर्गत खराब बंद पड़ी नल जल योजना को पुनः चालू कराया एवं कुछ क्षेत्रों में नवीन नल जल योजना स्वीकृत कराई है। नल-जल योजनाओं की मंजूरी मिलने पर ग्रामीणों ने प्रसन्नता जताई है। महिलाओं का कहना है कि उन्हें हैण्ड पम्प, नदी नालों से पानी लाने से निजात मिलेगी अब सीधे घर पर ही पानी मिलेगा।

हर घर तक पानी पहुंचाना लक्ष्य

उल्लेखनीय है कि विधायक बनते ही श्री डागा ने संकल्प लिया था कि वे विधानसभा क्षेत्र के हर घर तक पीने का पानी पहुंचाने के लिए काम करेंगे।शुरुआत से ही उन्होंने इस दिशा में प्रयास प्रारंभ कर दिए थे। इसके पूर्व भी कोरोना काल में श्री डागा ने क्षेत्र के लिए नलजल योजनाओं की स्वीकृति दिलाई थी। विधायक ने बताया कि अन्य ग्रामों की योजनाओं के प्रस्ताव शासन को भेजे जा चुके हैं, उन प्रस्तावों को भी स्वीकृत कराने के प्रयास जारी हैं।
इन गांवों को मिली सौगात।

स्वीकृत नल जल योजना में विधानसभा क्षेत्र बैतूल और आठनेर के ग्राम शामिल है। नल जल योजना के तहत ग्राम खापा के लिए 27.90 लाख, महदगांव 12.95 लाख, बाजपुर 2073 लाख, भैंसदेही 25.79 लाख, डुडाबोरगांव 30.21 लाख, मिलानपुर 30.72 लाख, दनोरा 36.95 लाख, रोंढा 42 लाख, खंडारा 46.56 लाख, गड़ा 47.9 लाख, कुम्हारिया 47.32 लाख, मलकापुर 48.13 लाख, देवगांव 48.40 लाख, कुम्हली 49.83 लाख, रोंधा 27.12 लाख, आमला 39.11 लाख, चुरनी 41.16 लाख, हथनाझिरी 39.44 लाख, मंडईबुजुर्ग 76.65 लाख, परसोड़ीखुर्द 39.37 लाख, भडूस 84.9 लाख, भरकावाडी 69.98 लाख, ढोंडवाड़ा 34.15 लाख, बाबई 35.80 लाख, राठीपुर 77.67 लाख, रेडवा 46.17 लाख, बोरीकास 66.11 लाख, बोरगांव 102.48 लाख, खेड़ी 265.8 लाख। ऐसी कुल 15 करोड़ 58 लाख 96 हजार की स्वीकृति नल जल योजना के लिए प्रदान की गई।