Category Archives: जुआ, सट्टा

जुआरियों को जुआ खेलते रंगे हाथों पकड़ा- मुलताई पुलिस


बैतूल जिले में जुआ धर पकड़ अभियान मुलतापी पुलिस का कारनामा

12 जुआरियों को 15100 की फड़ जप्त कर मुलताई पुलिस ने पकड़ा

मुलतापी समाचार

श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय बैतूल सुश्री सिमाला प्रसाद जी के व्दारा जिले में अवैध जुआ के विरुद्ध धरपकड़ हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत श्रीमान अति.पुलिस अधीक्षक महोदय बैतूल श्रीमति श्रध्दा जोशी एवं एसडीओपी मुलताई सुश्री नम्रता सोधिया जी के मार्गदर्शन मे दिनांक 22.12.20 को थाना प्रभारी मुलताई श्री सुरेश सोलंकी के निर्देशन मे जरिये मुखबीर से सूचना की मिली कि 47 ढाबे के पीछे बिरूल रोड पर अवैध रूप से जुआ होने की सूचना लगातार प्राप्त होने पर हमराह स्टॉप मय गवाहों के मौके पर जाकर दबिश दिया जुआ खेलते रंगे हाथों 12 लोगों को पकडा गया जिनसे नाम पता पूछा गया तो अपना नाम (1) आरिफ उर्फ मुस्तकीम पिता जूमेर उम्र 22 साल निवासी मुलताई (2) सगीर शाह पिता बल्लू शाह उम्र 40 साल निवासी मुलताई (3) बबला उर्फ शहराज खान पिता रशीद खान उम्र 27 साल निवासी मुलताई (4) पंकज पिता साहेबराव डोंगरे 29 साल निवासी मुलताई (5) रफीक शाह पिता लल्ली शाह 40 साल निवासी मुलताई (6) फिरोज पिता शेख रफीक 29 साल निवासी मुलताई (7) शेख सरवर उर्फ गोलू पिता शेख सक्रू 24 साल निवासी मुलताई (8) भगवत पिता बन्ने देशमुख 49 साल निवासी मुलताई (9) अमर पिता मिथुन हलद्वार 24 साल निवासी मुलताई (10) रफीक पिता सफीक खान 45 साल निवासी मुलताई (11) रवि और रविंद्र पिता महादेव पवार 26 साल निवासी मुलताई (12) नीलेश पिता शंकर 32 साल निवासी मुलताई को पकड़ कर उनके कब्जे से 52 ताश के पत्ते एवं उनके पास एवं फड़ से ₹15100 जप्त कर आरोपियों के विरुद्ध धारा 13 जुआ एक्ट का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

उपरोक्त कार्यवाही मे थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी , सहा उपनिरीक्षक रणधीर सिंह राजपूत, आरक्षक प्रदीप , आरक्षक बिशन आरक्षक रोहित आरक्षक नीलेश प्रधान आरक्षक रविंद्र की सराहनीय भूमिका रही।

जुंआरियों के लिए जंगल सुरक्षित अड्डा बना- टेटरमाल और बोड़ रोड़ जंगल


मुलतापी समाचार

बैतूल । बीजादेही थाना क्षेत्र इन दिनों जुएं के अड्डे चलाने वालों को सबसे सुरक्षित जोन नजर आने लगा है। अब जो जानकारी चर्चाओं में सामने आ रही है उसके अनुसार जुंआरियों ने टेटरमाल और बोड़ के जंगल को अपना नया सुरक्षित अड्डा बना रखा है। यहां भी लग्जरी गाडिय़ों की आवाजाही शुरू हो गई है। कहा जा रहा है कि इटारसी, होशंगाबाद, लोकल शाहपुर, भौंरा, चोपना आदि क्षेत्र से भारी संख्या में जुंआरी टू-व्हीलर और फोर व्हीलर से जंगल में मंगल मनाने जा रहे है। 

  जिस तादाद में इन लोगों की आवाजाही हो रही है उससे आसपास के आदिवासी दहशत में है। बताया जा रहा है कि कि इसकी सूचना ग्राम कोटवारों के माध्यम से पुलिस तक भी पहुंच चुकी है, लेकिन पता नहीं क्यों जुंआरियों में पुलिस को लेकर जरा भी खौफ नहीं है। जुएं के अड्डे चलाने वाले जुंआरियों को भरोसा दिलाते है कि कोई परमिशन जैसी चीज है। जिससे जुंआरियों में पुलिस को लेकर खौफ नहीं है। हालांकि जुएं के अड्डे चलाने वाले झूठ भी बोल सकते है, लेकिन लोगों का मानना है कि जब तक पुलिस की दबिश नहीं होगी। तब तक जुंआरियों में खौफ पैदा नहीं होगा और यह अड्डे ऐसे ही चलते रहेंगे। 
एक अनुमान के मुताबिक यहां पर हर दिन 1 लाख से लेकर 5 लाख रूपये तक की नाल ही कट रही है। यदि नाल से जुएं की फड़ का अंदाजा लगाया जाए तो यह लाखों में होगी। इतने बड़े पैमाने पर जुएं के अड्डे चलने से कई तरह के असामाजिक तत्वों की आवाजाही इस ग्रामीण क्षेत्र में बढ़ रही है। जुएं के अड्डे पर खाने-पीने के लिए हर तरह का साजो साज सामान उपलब्ध है। इससे समझ आता है कि बौड़ और टेटरमाल के जंगल में एक तरह का खुला केसिनों ही चल रहा है।