Category Archives: #डागा_फाउन्डेशन

14 टॉपर्स को लैपटॉप देकर सम्मानित करेगा डागा फाउंडेशन 


कलेक्टर के मुख्य आतिथ्य में 19 को होगा प्रतिभा सम्मान समारोह 

बैतूल। डागा फाउंडेशन द्वारा 19 सितंबर रविवार को निशुल्क कोचिंग के 74 सेंटर में अध्ययनरत टॉपर्स विद्यार्थियों को लैपटॉप देकर सम्मानित किया जाएगा। समारोह में 10वीं 12वीं में 95 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले प्रतिभावान विद्यार्थियों को लैपटॉप प्रदान किया जाएगा। रविवार 19 सितंबर को जैन दादावाड़ी में आयोजित कार्यक्रम में कलेक्टर अमनबीर सिंह बैस के मुख्य आतिथ्य में प्रतिभा सम्मान समारोह आयोजित होगा। इस अवसर पर प्रतिभावान विद्यार्थी निधि धोटे, तरुण मालवीय, मनीषा उत्तमराव धोटे, मुस्कान लखनलाल मालवीय, हर्षिता मायवाड़, तुषार धोटे, अनिकेत मायवाड़, सौरभ साहू, किरण सातपुते, निहारिका गावंडे, रोशनी पवार, सानिया खान, गीतिका साहू, चंचल इंगले को लैपटॉप प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा। डायरेक्टर दीपाली निलय डागा ने बताया कि इन 14 छात्र-छात्राओं के साथ-साथ उनके माता-पिता का भी सम्मान किया जाएगा।

कार्यक्रम में यह रहेंगे उपस्थित

स्व.श्रीमती कमलाबाई जी, स्व.श्री प्रमोद कुमार जी, स्व.श्री विनोद कुमार जी डागा की स्मृति में आयोजित इस प्रतिभा सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि मा.श्री अमनवीर सिंह बैस (कलेक्टर, बैतूल), अध्यक्षता सुश्री सिमाला प्रसाद (पुलिस अधीक्षक, बैतूल ), विशेष अतिथि – प्रो.विजेता चौबे (प्राचार्य ज.ह.शा.महा. बैतूल), श्री पी.आर.कोसे (से.नि.जिला शिक्षाविद् एवं ज्योतिषाचार्य), पं.कांत दीक्षित (शिक्षाविद् एवं ज्योतिषाचार्य), पी.सी.सुराना (से.नि.सहा.जिला शाला निरीक्षक), श्रीमती ऊषा द्विवेदी (से.नि.प्राचार्य शा.कन्या महा. बैतूल) उपस्थित रहेंगे।

उल्लेखनीय है कि डागा फाउंडेशन द्वारा विगत वर्ष भी प्रतिभावान विद्यार्थियों का सम्मान किया गया था। इनमें सजल चौहान, प्रियांशु भोपते बघोली, निशा सोनी कोदारोटी, निशा साहू भडूस, पूनम दौड़के भरकावाडी, राखी मुसरे बैतूलबाजार, मुस्कान सोनी, नीरजरा यादव कोदारोटी, गुलशन गोरिया, विवेक भोदेकर भरकावाडी, योगिता गोस्वामी सेहरा, आयुषी वर्मा जीन, मुस्कान राठौर जीन, अंकुश गोहे कोदारोटी को लैपटॉप प्रदान किया गया था।

नर सेवा नारायण सेवा से प्रेरित होकर कर रहे कार्य

डायरेक्टर दीपाली निलय डागा ने बताया कि डागा फाउंडेशन केवल शिक्षा के क्षेत्र तक ही सीमित नहीं है बल्कि नर सेवा नारायण सेवा के उद्देश्य को लेकर भी काम कर रहा है। विगत वर्ष फाउंडेशन द्वारा लॉकडाउन के दौर में असहाय, पीड़ितों व गरीबों की सुध लेते हुए राशन वितरण करने का निर्णय लिया गया था इसके फल स्वरुप डागा फाउंडेशन द्वारा लगभग 50 लाख का राशन वितरित किया गया था। विपरीत परिस्थिति में डागा फाउंडेशन ने गरीबों का पेट भरने का काम किया था। वहीं इस वर्ष फाउंडेशन ने कोरोना की तीसरी लहर में जिला अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति करवाई थी, जहां पूरा देश सिलेंडर की कमी से जूझ रहा था वहीं डागा फाउंडेशन ने अपने अथक प्रयास से जिला अस्पताल को सिलेंडर मुहैया करवाए थे।

9 हजार 848 विद्यार्थियों को निशुल्क शिक्षा दे रहा डागा फाउंडेशन

इसके साथ ही डागा फाउंडेशन द्वारा बैतूल क्षेत्र के कक्षा 9वी से कक्षा 12वीं तक के लगभग 9 हजार 848 स्कूली छात्र-छात्राओं को 70 कोचिंग सेंटरों पर 120 उच्च प्रशिक्षित शिक्षको के द्वारा निशुल्क कोचिंग प्रदान की जा रही है। प्रतियोगी परीक्षा एवं महाविद्यालयीन छात्रों की निःशुल्क कोचिंग) प्रोफेसरो द्वारा 1680 छात्रों को निःशुल्क मार्गदर्शन, कोचिंग में अध्ययनरत मेधावी छात्र-छात्राओं को उनके उत्साहवर्धन हेतु समय समय पर आगाज प्रतिभाओं जैसे कार्यक्रम आयोजित कर मेधावी छात्र-छात्राओं को लेपटाप देकर उनका एवं उनके पालको का सम्मान किया जाता है। कार्यक्रम में लगभग 15 हजार छात्र छात्राएं अपने-अपने पालकों के साथ कार्यक्रम एवं सहभोज में शामिल होते है। बैतूल विधानसभा के प्रत्येक सेक्टर में क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन एवं प्रत्येक प्रतिभागी टीम को क्रिकेट किट वितरण, क्रिकेट एवं फुटबाल अकादमी के माध्यम से प्रशिक्षित कोच द्वारा बच्चो को निःशुल्क क्रिकेट एवं फुटबाल खेल का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 

फाउंडेशन ने इन क्षेत्रों में भी बढ़ाए कदम

फाउंडेशन द्वारा 20 सेंटरो पर 938 महिलाओं को ब्युटी पार्लर का निःशुल्क प्रशिक्षण, झाडु पोछा करने वाली महिलाओं एवं अन्य कामकाजी महिलाओं का प्रतिवर्ष सम्मेलन कर उन्हे सुहाग सामग्री व अन्य सामग्री भेंट, परशुराम जयंती पर प्रतिवर्ष 501 कर्मकाण्डी पंडितो का सम्मान एवं सहभोज, गुरूपूर्णिमा पर प्रतिवर्ष 1100 सेवानिवृत गुरुजनों का सम्मान एवं सहभोज, चुनरी यात्रा प्रतिवर्ष 10 हजार लोगो के साथ माँ ताप्ती चुनरी पद यात्रा 27 किमी, ताप्ती आरती प्रत्येक अमावस्या व पूर्णिमा को शहर के अलग अलग वार्डो में ताप्ती आरती का आयोजन, प्रतिवर्ष मेडिकल शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।

डागा फाउंडेशन से सम्मान पाकर अभिभूत हुए सेवानिवृत्त शिक्षक


फाउंडेशन ने विधानसभा क्षेत्र के लगभग 1 हजार शिक्षकों का किया सम्मान

गुरु का दर्जा भगवान के बराबर: निलय डागा

बैतूल। निरंतर कई वर्षों से शिक्षा के क्षेत्र में डागा फाउंडेशन जो कार्य कर रहा है मैं समझता हूं कि फाउंडेशन का यह अभूतपूर्व प्रयास रहा है। खासकर गरीब वर्ग के विद्यार्थियों के लिए यह वरदान सिद्ध हुआ। डागा फाउंडेशन के जो प्रतिफल बच्चों को मिले हैं उसमें कई बच्चे ऐसे थे जो अभूतपूर्व प्रतिभा के धनी थे, लेकिन उनको मौका नहीं मिला था। लेकिन डागा फाउंडेशन ने यह जो कार्य किया है यह निचले तबके के विद्यार्थियों के लिए वरदान सिद्ध हो रहा है। 

यह बात गुरु पूर्णिमा के अवसर पर डागा फाउंडेशन से सम्मान पाकर अभिभूत हुए बैतूल ब्लाक के ग्राम बाबई निवासी सेवानिवृत्त शिक्षक वामनराव कुंभारे ने अपने ओजस्वी उद्बोधन में व्यक्त किए। शिक्षक श्री कुंभारे ने कहा कि मेरी अवस्था इस समय 82 वर्ष की है परंतु डागा फाउंडेशन का जो यह कार्य है यह मेरे जीवन में एक नया प्रकाश लेकर आया है, और उन बच्चों को प्रकाशित कर रहा है जो निचले तबके के है, उनको भी उभरने का सुअवसर डागा फाउंडेशन ने दिया है। उल्लेखनीय है कि गुरु पूर्णिमा पर्व पर डागा फाउंडेशन ने विधानसभा क्षेत्र के लगभग 1 हजार शिक्षकों को सम्मानित कर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। फाउंडेशन के सदस्यों ने घर-घर जाकर बैतूल एवं आठनेर ब्लॉक में निवासरत शिक्षकों को साल श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया।

डागा फाउंडेशन जैसी सोच सबकी हो जाए तो यह देश चहुमुखी विकास करेगा

शिक्षक वामन राव कुंभारे ने आगे कहा कि डागा फाउंडेशन जैसी शिक्षा के क्षेत्र में यदि सभी कार्य करने लग जाए तो मैं ऐसा सोचता हूं कि यह देश जल्द ही चहुमुखी विकास कर पाएगा। डागा फाउंडेशन ने जो गुरु पूर्णिमा पर हम लोगों को सम्मानित किया है, यह वास्तव में हम लोगों को अभिभूत करने वाला है। हमारे प्रति जो उन्होंने प्रेम जाहिर किया है वह अतुलनीय है.. हम खुशी से लबरेज है, यह हम जानते हैं। ईश्वर ऐसी ही सद्बुद्धि और सद मार्ग पर चलने की प्रेरणा दें। हम इसकी कामना करते हैं बहुत सारा आशीर्वाद शुभकामनाएं देते हैं।

https://youtu.be/MhOR44POfdM

विधायक निलय डागा ने कहा कि डागा फाउंडेशन ने गुरुजनों के महत्व को समझते हुए कोरोना से सुरक्षा की गाइडलाइन का पालन करते हुए घर-घर जाकर शिक्षकों का सम्मान कर अपनी परंपरा का निर्वहन किया है। श्री डागा ने बताया कि फाउंडेशन ने कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत कार्यक्रम का स्वरूप बदला है लेकिन गुरु के महत्व को नहीं भूले हैं। प्रति वर्ष अनुसार इस वर्ष भी शाल श्रीफल से सेवानिवृत्त शिक्षकों का घर घर जाकर सम्मान किया गया। उन्होंने कहा जीवन में गुरु का विशेष महत्व है। गुरु अंधेरे से शिष्य को प्रकाश में लाता है। गुरु न हो तो जीवन में कुछ भी हासिल करना कठिन है। इसलिए गुरु का दर्जा भगवान के बराबर माना गया है। उन्होंने कहा गुरु हमारे जीवन को सही राह पर ले जाते हैं। गुरु के बिना यह जीवन बहुत अधूरा है। गुरु पुर्णिमा गुरु के प्रति नतमस्तक होकर कृतज्ञता व्यक्त करने का दिन है।

एक नहीं अनेक शिक्षकों को सम्मान देने की परंपरा डागा फाउंडेशन ने शुरू की है, डागा फाउंडेशन परोपकार की भावना लेकर काम कर रहा है। डागा फाउंडेशन ने हमारा सम्मान किया है इससे हम अभिभूत है। फाउंडेशन का तहे दिल से आभार व्यक्त करते हैं। किसनलाल कासदे, सेवानिवृत्त शिक्षक

गुरू पूर्णिमा के शुभ अवसर पर मुझे सम्मानित करने के लिए डागा फाउंडेशन का हार्दिक धन्यवाद एवं आभार। खेमराज मगरदे, सेवानिवृत्त प्राचार्य जेएच कॉलेज

ये प्रसन्नता का विषय है गुरुओं के दिये आदर्शों को डागा फाउडेशन ने निरन्तर संजोए रखा है। एस.टी डोंगरे,सेवानिवृत्त शिक्षक

डागा फाउंडेशन ने कोरोना काल में भी गुरु सम्मान की परम्परा को संजोए रखा गुरुओं के प्रति यह सच्ची श्रद्धा है। सम्मान करने वाले पदाधिकारियों को आशीर्वाद। श्रीमती नर्मदा डोंगरे, सेवानिवृत  शिक्षिका

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल 9584390839