Category Archives: ताजा खबर

गरीब वर्ग को एक माह का राशन नि:शुल्क देने के निर्देश


मुलतापी समाचार

भोपाल और जबलपुर जिले में गरीब वर्ग को एक माह का राशन निशुल्क देने के निर्देशभोपाल और जबलपुर जिले में गरीब वर्ग को एक माह का राशन निशुल्क देने के निर्देश

मध्‍यप्रदेश सरकार राशन वितरा नि:शुल्‍क करेंगी ताकी गरिब जनता परेशान न हो

कोरोना वायरस  से निपटने भोपाल-जबलपुर जिले में गरीब वर्ग को एक माह का राशन निशुल्क प्रदान किया जाएगा। यह राशन उचित मूल्य दुकानों से दिया जाएगा।कार्यवाहक मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज यह निर्देश जारी किए हैं।

प्रदेश में नागरिकों को कोरोना के प्रकोप से  राहत देने की मंशा से अनेक उपाय किए जा रहे हैं। इन उपायों में शहरों में शटडाउन किया जाना भी शामिल है। शटडाउन की स्थिति में गरीबों को राहत देने के लिए यह निर्णय लिया गया है।

Corona महामारीः प्रशासन सतर्क, नागरिकों में जागरूकता की कमी


19एचओएस16 होशंगाबाद। स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर पहुंचकर गर्भवती महिलाओं व नवजात का टीकाकरण कर रही हैं।

19एचओएस17 होशंगाबाद। सेठानीघाट पर भंडारे में सैनिटाइजर का उपयोग किए बिना भोजन करते हुए लोग।

Multapi Samachar

होशंगाबाद। कोरोना के भय से एक ओर प्रशासन सतर्क हो गया है वहीं नागरिकों में सार्वजनिक कार्यक्रम में भाग लेने के लेकर जागरूकता का अभाव देखा जा रहा है। शासन के निर्देश अनुसार प्रशासन ने जनसुनवाई समेत सरकारी दफ्तरों में लोगों की आवाजाही रोकने के लिए सभी तरह की बैठकें भी निरस्त कर दी है। स्कूलों, कॉलेजों, आंगनवाड़ी केंद्रों, मैरिज गार्डनों को बंद कर दिया गया है। वहीं नागरिकों की ओर से अब भी कई स्थानों पर सार्वजनिक आयोजन कराए जा रहे हैं। प्रशासन के निर्देश पर स्वास्थ्य कार्यकर्ताएं घर पहुंचकर गर्भवती महिलाओं व नवजातों का टीकाकरण कर रही हैं। इधर, नगरिक दुकानों पर खुले में रखी खाद्य सामग्री खाने को मजबूर है। बाजार में कुछ लोगों को छोड़कर न तो दुकानदार मास्क का उपयोग कर रहे और न ही ग्राहक इसके प्रति गंभीर दिख रहे हैं। खुलेआम बाजार में फुलकी, चाट खाते लोग नजर आ रहे हैं।

अफवाह मुलताई में कोरोना वायरस का संदिग्‍ध नहीं


कोरोना वायरस पीड़ित को पकड़ने पहुंचे अधिकारी मुलताईं, सौंसर

मुलतापी समाचार

अफवाह मुलताई में, कोरोना वायरस संदिग्‍ध का आगमन हुआ, लेकिन मुलताई में, स्वास्थ्य विभाग की टीम तुरंत निश्चित स्थान पर पहुंची और परिवार के सदस्यों की भी जांच की जांच में पीडि़त नहीं पाया गया

मुलताई में कोरोना वायरस संदिग्ध सूचना मिलने पर मुलताई में हड़कंप संदिग्ध  के बारे में जानकारी प्राप्त कर कोरोना वायरस से बचने के उपाय बताये गए

जांच

सोसर में BMO नंदकुमार शास्त्री ने उसकी जांच की जिसमे प्रथम द्रष्टया पाया कि उक्त व्यक्ति करोंना कोविद 19 का पीड़ित नही है एतिहात के तौर पर उसे छिंदवाड़ा जिला चिकित्सालय भेजा गया है

बैतूल ! मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला बैतूल मध्य प्रदेश डॉ गिरीश चंद्र चौरसिया द्वारा बताया गया कि व्हाट्सएप पर प्रसारित कुछ न्यूज़ पोर्टल एवं संदेश में मुलताई में पाया गया कॉरोना संदिग्ध की खबर पूर्णतः भ्रामक है । उक्त खबर प्राप्त होने पर खंड चिकित्सा अधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मुलताई डॉ उदय प्रताप सिंह तोमर को निर्देशित कर पूरी जांच एवं मॉनिटरिंग कराए जाने बाबत निर्देशित किया गया।
जिस पर मय चिकित्सा अमले के खंड चिकित्सा अधिकारी द्वारा उक्त क्षेत्र की सघन मानीटरिंग करवाई गई एवं संदिग्ध के बाबत पूरी सूचना प्राप्त कर उक्त क्षेत्र में कोई संदेश या संक्रमित नहीं होने बाबत जानकारी प्रस्तुत की गई।
प्राप्त सूचना के आधार पर मुलताई तहसील में गांधी वार्ड निवासी श्याम वल्द धुडल्या पारसे कोरोना वायरस का संदिग्ध पाया गया । रामाकोना सरपंच के भाई की सूचना के अनुसार सौसर से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह संदिग्ध मुलताई का रहने वाला है । कुछ दिन पहले हरियाणा राजस्थान में काम करने के लिए गया था वहां से पीड़ित होने के बाद वह अपनी ससुराल रमाकोना पहुंचा , जहां पर राजस्थान से पुलिस और डॉक्टरों की टीम पहुंची तो पता चला कि वह मुलताई में आया एक-दो दिन यहां रहा और ससुराल वापस चला गया ।
वर्तमान में बैतूल जिले में अभी तक कोई भी कोरोना वायरस से पूर्ण संदिग्ध नहीं हुआ है एवं स्वास्थ्य रक्षा अमला पूरी तन्मयता और तत्परता के साथ स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर गिरीश चंद्र चौरसिया ने बताया कि किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान ना दें । साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें। हांथ साबुन तथा पानी से सफाई से धोएं। भीड़ वाले स्थान पर जाने से बचें। खांसते समय मुंह पर कपड़ा रखें। किसी भी प्रकार की कोई भी बीमारी के लक्षण प्रदर्शित होने पर तत्काल निकटतम स्वास्थ्य केंद्र में जाकर अपनी जांच करवाएं।
स्वास्थ्य विभाग का अमला आपकी स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए पूर्णतः कटिबद्ध है।

PM मोदी ने की ‘जनता कर्फ्यू’ की अपील, बॉलीवुड से यूं आए रिएक्शन पीएम मोदी


Multapi Samachar

(PM MODI) ने रविवार के दिन यानी 22 मार्च को ‘जनता कर्फ्यू (JANTA CURFEW)’ की अपील की तो बॉलीवुड से यूं आए रिएक्शन.

नई दिल्ली: 

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर देश को संबोधित किया. अपने संबोधन में पीएम मोदी (PM Modi) ने जहां 60 साल से ऊपर की आयु के लोगों को घरों में रहने के लिए कहा तो इसके साथ ही उन्होंने रविवार के दिन यानी 22 मार्च को ‘जनता कर्फ्यू (Janta Curfew)’ का आह्वान किया. पीएम मोदी के इस ‘जनता कर्फ्यू’ की अपील पर बॉलीवुड से रिएक्शन आ रहे हैं. शबाना आजमी (Shabana Azmi), महेश भट्ट (Mahesh Bhatt) और रितेश ने ट्वीट कर अपनी राय पेश की है. 

शबाना आजमी (Shabana Azmi) ने एक ट्वीट का जवाब दिया था और ट्वीट करने वाले को फटकार लगाई थी क्योंकि इस ट्वीट में पीएम मोदी के 22 मार्च को शाम पांच बजे कोरोना से फाइट करने वालों के हौसले बढ़ाने के लिए अपनी बालकनी, दरवाजे या खिड़की पर खड़े होकर ताली या थाली बजाने की अपील की आलोचना की गई थी. शबाना आजमी ने कहा, ‘यह कोई बेवकूफी नहीं है. यह सभी भारतीयों को एक साथ लाने के लिए मास्टरस्ट्रोक है.’

हादसा बस और कार आपस मे टकराई


मुलतापी समाचार

अंकित यादव
सारनी रोड पर बंजारी माइ मंदिर के पास हादसा बस और कार आपस मे टकराई
कार चालक घायल

घायल घोड़ाडोंगरी निवासी हे जो कि पेेेेसे से डॉ. पवन सोलंकी है जो अपनी पत्नी और परिवार के सदस्य के साथ बैतुल जा रहे थे । उन्हें और उनकी पत्नी दोनों को पैर में चोट आई है। कार से टकराने वाली बस का नं. MP 48P0211 है

पोषण पखवाड़ा अंतर्गत हाट बाजार के दिन प्रदर्शनी एवं पोषण जागरूकता


मुलतापी समाचार

साप्ताहिक हॉट बाजार में पोषण प्रदर्शनी सेक्टर जौलखेड़ा परियोजना मुलताई द्वारा पोषण जागरूकता अभियान चलाया

ब्‍लाॅॅक समन्‍वय अधिकारी राममोहन पंवार द्वारा साप्ताहिक हॉट बाजार में पोषण प्रदर्शनी सेक्टर जौलखेड़ा परियोजना मुलताई द्वारा पोषण जागरूकता अभियान के तहत जानकारी देते हएु

मुलताई । महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना मुलताई ब्‍लाॅॅक समन्‍वय अधिकारी राममोहन पंवार व मुलताई परियोजना के परवेक्षकों के मार्गदर्शन में सेक्टर जौलखेडा में साप्ताहिक हाट के दिन सोमवार को नगर मे पोषण जागरूकता व्यंजन प्रदर्षनी व रैली का आयोजन किया जिसमें आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओ ने बैनर , पोस्टर ले पोषण जागरूकता के नारे लगाये । स्वास्थ्य एवं पोषण के तहत शारदा राम मनमोहन शैक्षणिक एवं समाज सेवा समिति मुलताई के सदस्‍य ने बताया की पोषण पखवाड़ा का उद्देश्य 0 से 6 वर्ष के बच्चों , गर्भवती महिलाओं व धात्री माताओं के पोषण स्तर मे सुधार लाना तथा नवजात शिशुओं के कम वजन , बच्चों में ठिग्नापन ,कुपोषण तथा महिलाओं , बच्चों व किशोरी बालिकाओं में एनिमीया के स्तर में कमी लाकर कुपोषण को दूर करना है ।

मुलताई परियोजना द्वारा सेक्‍टर जौलखेडा में पोषण प्रदर्शनी एवं जानकारी देते हुए

इस दौरान सेक्टर पर्यवेक्षक चन्द्रवती अमरूते ने बताया कि आज की थीम ऊपरी आहार एवं वृद्धि निगरानी एवं पोषण जागरूकता , इसी क्रम में पोषण पखवाड़ा के पोषण के प्रति जागरूकता लाने के लिए आँगनवाड़ी केंद्रों पर प्रतिदिन गतिविधि आयोजित कर गर्भवती महिलाओं व नवजात शिशुओं की माताओं तथा किशोरी बालिकाओं को स्वच्छता के साथ भोजन मे उचित व पोषणयुक्त आहार के बारे मे जानकारी दी जानी है

पर्यवेक्षक श्रीमती अमृते ने बताया कि गर्भावस्था से ही पोषण की शुरुआत इसमें शुरू के 1000 दिवस का महत्व समझाया, किशोरी शिक्षा , पोषण शिक्षा का अधिकार , सही उम्र में विवाह की समझाइश दी जायेगी ।

मुलताई परियोजना द्वारा सेक्‍टर जौलखेडा में गर्भवती महिलाओं के गृहभेट कर जानकारी देते हुए

परवेक्षक चन्‍द्रावती अमरूते ने गृह भेट कर बताया कि गर्भवती महिलाओं का शीघ्र पंजीयन करना आवश्यक है साथ ही समय अनुसार उनकी जांच सुनिश्चित करना है तथा हाय रिस्ट में आने वाली गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य सेवा देने हेतु रेफर करना है इस अवसर पर जौलखेडा सेक्टर की समस्त आँगनवाड़ी कार्यकर्ता , सहायिकाओं सहित किशोरी बालिकाएं , धात्री माताएं तथा गर्भवती महिलाएं मौजूद थी ।
मुलतापी समाचार

Corona वायरस की संदिग्ध महिला को ससुराल व मायके से भगाया


गिरिडीह ,दिल्ली से लौटी एक महिला को कोरोना वायरस का संदिग्ध मरीज समझकर अफरातफरी मच गई। गिरिडीह में सुसराल पहुंचने पर सर्दी-खांसी देख उसे कथित रूप से भगा दिया। इसके बाद वह मायके देवरी स्थित भलवाई पहुंची तो मायकेवाले भी डर गए और फौरन इलाज करवाने की सलाह देते हुए अपने से दूर कर दिया। पति के साथ रहने पर भी उसे अपनों ने घर में नहीं रहने दिया। अब स्वास्थ्य विभाग उसे खोज रहा है।

इधर, दिल्ली से लौटी महिला की तबीयत खराब होने पर स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया। देवरी की स्वास्थ्य इकाई ने महिला की खोज कर उसे 108 एम्बुलेंस से गिरिडीह भेजा। वहां प्राथमिक उपचार या जांच की व्यवस्था होती, इससे पहले ही वह एम्बुलेंस कर्मी को चकमा देकर अपने पति संग बाइक से फरार हो गई। महिला के फरार होने की घटना से देवरी स्वास्थ्य विभाग परेशान हो गया।

इस दौरान सूचना मिली कि महिला राजधनवार में एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज करा रही है। हिन्दुस्तान ने उसके पति से फोन पर बात की तो उसने पत्नी को सुसराल से भगाने की बात को झूठा बताया। कहा कि उसे चक्कर और उलटी की शिकायत थी, जिस कारण बाइक से राजधनवार इलाज कराने लाए हैं। 

एसपी ने सूचना दी थी कि दिल्ली से एक महिला आई है, उसे सर्दी-खांसी है। जब टीम ने महिला से सम्पर्क का प्रयास किया तो वह बाइक से किसी के साथ फरार हो गई। -डॉ. एस सान्याल, आरसीएच पदाधिकारी सह प्रभारी सीएस।

पीड़िता भलवाई देवरी की है। वह दिल्ली से शनिवार रात लौटी थी। उसे 108 एम्बुलेंस से भेजा गया। इस बीच वह राजधनवार में इलाज कराने की बात कहकर चली गई। उसकी खोज की जा रही है। -सत्येन्द्र सिंह, चिकित्सा प्रभारी देवरी।

अब क्या होंगा? कमलनाथ सरकार ने स्पीकर का दांव और कोरोना बन गयी की ढाल,


Multapi samachar

मध्य प्रदेश की सियासत में सोमवार का दिन काफी अहम रहा. हर किसी की नज़र इसपर थी कि क्या कमलनाथ की सरकार विधानसभा में बहुमत साबित कर पाएगी. लेकिन विधानसभा स्पीकर नर्मदा प्रसाद प्रजापति की तरफ से विधानसभा की कार्यवाही को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया. सदन की कार्यवाही को स्थगित करने के लिए कोरोना वायरस का कारण बताया गया है. हालांकि, बीजेपी ने बहुमत परीक्षण करवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई है.

जब विधानसभा की कार्यवाही सोमवार को शुरू हुई तो राज्यपाल लालजी टंडन ने अपना अभिभाषण दिया. लेकिन उन्होंने सिर्फ भाषण की पहली और आखिरी लाइन ही पढ़ी. उसके बाद उम्मीद थी कि विधानसभा स्पीकर की तरफ से फ्लोर टेस्ट की इजाजत दी जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और कार्यवाही स्थगित हुई. अब मध्य प्रदेश विधानसभा की कार्यवाही 27 मार्च को शुरू होगी.

साफ है कि ऐसे में मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस पार्टी के पास अपने विधायकों को मनाने और सरकार बचाने के अन्य रास्ते अपनाने के लिए वक्त मिल सकता है. बता दें कि अभी विधानसभा में कांग्रेस गठबंधन के पास 99 सीटें हैं, जबकि बीजेपी के पास 107 सीटें हैं.

भाजपा ने राज्यपाल से फ्लोर टेस्ट  मांग की


Multapi Samachar बडी खबर, ताजा खबर

कमलनाथ सरकार को बने रहने का संवैधानिक अधिकार नहीं, सबसे पहले फ्लोर टेस्ट कराया जाए

                भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने आज राज्यपाल महोदय से आने वाले विधानसभा सत्र में सबसे पहले फ्लोर टेस्ट कराने की मांग की है ।प्रतिनिधिमंडल का कहना है कि यह सरकार पूरी तरह विश्वास मत खो चुकी है इसलिए इसे बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। प्रतिनिधिमंडल में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह  चौहान नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव, मुख्य सचेतक डॉ नरोत्तम मिश्रा, पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह एवं श्री रामपाल सिंह शामिल थे।

                राजपाल महोदय को दिए ज्ञापन में कहा गया है कि विधानसभा के 22 सदस्यों ने अपनी सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया है। इन सभी 22 विधायकों ने राष्ट्रीय मीडिया में आकर भी इस तथ्य की पुष्टि की है। यह बात आज सार्वजनिक रूप से स्पष्ट हो चुकी है कि श्री कमलनाथ जी के नेतृत्व में चल रही कांग्रेस सरकार ने विधानसभा का विश्वास खो दिया है तथा अब उनके लिए राज्य में संवैधानिक तरीके से सरकार चलाना संभव नहीं है।

                मध्यप्रदेश विधानसभा का सत्र 16 मार्च से बुलाया है। उपरोक्त तथ्यों एवं संवैधानिक प्रणाली व प्रावधानों को ध्यान में रखते हुए, यह वर्तमान सरकार का संवैधानिक एवं प्राथमिक कर्तव्य है.कि वह सत्र में सबसे पहले अन्य कोई भी विषय ना लेते हुए अपना बहुमत साबित करने के लिए अपना फ्लोर टेस्ट करवाए। इसके अतिरिक्त विधानसभा में अन्य किसी भी विषय पर कार्रवाई करना या वर्तमान सरकार का बने रहना पूर्णतः असंवैधानिक एवं अलोकतांत्रिक होगा। यह बात सार्वजनिक हो चुकी है कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी द्वारा सिर्फ उपरोक्त 22 विधायकों को ही नहीं, बल्कि अन्य विधायकों को भी दबाव में लाने की या लालच देने की निरंतर कोशिश की जा रही है।

                ज्ञापन में राज्यपाल महोदय से  निवेदन किया गया है कि आप में निहित संविधान के अनुच्छेद 175 (2) और अन्य प्रावधानों से मिली शक्तियों का प्रयोग करते हुए यह आदेश एवं निर्देश जारी करने की कृपा करें कि मध्यप्रदेश में अल्पमत में चल रही श्री कमलनाथ जी के नेतृत्व वाली सरकार तुरंत अपना विश्वास सिद्ध करें। तथा इसके लिए निर्धारित की गई तिथि 16 मार्च से पहले ही विधानसभा का सत्र बुलाया जाए। जिसमें केवल विश्वास मत साबित करने के अतिरिक्त और कोई भी विषय ना लिया जाए।

                ज्ञापन में यह अनुरोध भी किया गया कि विश्वास मत पर मतदान ध्वनि मत से ना होकर डिवीजन एवं बटन दबाकर किया जाए तथा सदन की सारी कार्यवाही की आप द्वारा अधिकृत व्यक्ति द्वारा वीडियोग्राफी की जाए।संविधान एवं लोकतंत्र की रक्षा के लिए हम आपसे आग्रह करते हैं कि संविधान के संरक्षक होने के नाते आप तुरंत विश्वास मत साबित करने के निर्देश जारी करें। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी प्रकार के बहाने बनाकर सरकार इस सत्र की तिथि को स्थगित ना कर सके, ना विश्वास मत प्राप्त करने की तिथि को आगे बढ़ाए जाना चाहिए।

सारनी गुरुद्वारा से दान पेटी चाेरी, थाने में शिकायत


Multapi Samachar

नगर के गुरुद्वारा से बीती रात चाेराें ने दान पेटी चाेरी कर ली। गुरुद्वारा के ज्ञानी ने इसकी रिपाेर्ट दर्ज कराई…

नगर के गुरुद्वारा से बीती रात चाेराें ने दान पेटी चाेरी कर ली। गुरुद्वारा के ज्ञानी ने इसकी रिपाेर्ट दर्ज कराई है। इसके पहले चाेराें ने पाथाखेड़ा के गुरुद्वारा काे अपना निशाना बनाया था। अज्ञात चाेर पुलिस की पकड़ में नहीं आ सके हैं। जानकारी के अनुसार शुक्रवार की रात अज्ञात चोर गुरुद्वारा के पीछे लगे एग्जास्ट फैन के पास की खिड़की को तोड़कर गुरुद्वारा के अंदर घुसे और दान पेटी चोरी कर ले गए। गुरुद्वारा के ज्ञानी ने सुबह देखा ताे दानपेटी चाेरी की लिखित शिकायत सारनी थाने में दी। सिंह सभा के ज्ञानी ने बताया इसके पूर्व पाथाखेड़ा के गुरुद्वारा में भी अज्ञात चोरों ने धावा बोलकर दान पेटी चोरी की थी। पुलिस अब तक अज्ञात चाेराें काे नहीं पकड़ पाई है।