Category Archives: मध्य प्रदेश

भारत तिब्बत सहयोग मंच के प्रकृति संरक्षण सप्ताह के अन्तर्गत आज मुलताई नगर के शासकीय अस्पताल में भारत तिब्बत सहयोग मंच के द्वारा वृक्षारोपण किया गया।


भारत तिब्बत सहयोग मंच के प्रकृति संरक्षण सप्ताह के अन्तर्गत आज मुलताई नगर के शासकीय अस्पताल में भारत तिब्बत सहयोग मंच के द्वारा वृक्षारोपण किया गया, जिसमें भारत तिब्बत सहयोग मंच बैतूल के जिला महामंत्री नितेश पवार, बजरंग दल के जिला संयोजक गगन साहू जी, भारतीय जनता युवा मोर्चा के नगर मंडल महामंत्री विशाल डोंगरे जी, अभिषेक सोनी जी, कृष्णा जगदेव जी,सुमित कोड़ले जी, निखिल देशमुख जी, गोपाल उबनारे जी एवं अन्य कार्यकर्तागण उपस्थित रहे ।

हेमंत देशमुख को रोजगार संबंधी विषय में पीएचडी।।


हेमंत देशमुख को रोजगार संबंधी विषय में पीएचडी

श्री देशमुख इससे पूर्व मध्यप्रदेश शासन में रोजगार एवं कौशल विकास बोर्ड अध्यक्ष (कैबिनेट मंत्री दर्जा) भी रह चुके है, तथा भारत सरकार के नॅशनल स्किल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन में सलाहकार के रुप मे कार्य कर रहे है। वे काफी वर्षो से रोजगार और कौशल विकास विषय पर कार्य कर रहे है। उन्होंने रोजगार और कौशल विकास के विभिन्न शोध संस्थाओ का अध्ययन किया एवं विदेशो में यात्रा कर वहाँ के रोजगार और कौशल विकास के नवाचारों को समझा। उस के परिणाम स्वरूप मध्यप्रदेश में भारत की पहली ग्लोबल स्किल एंप्लॉयमेंट सम्मिट का आयोजन हुआ।
श्री देशमुख ने अपना शोध कार्य रविंद्र नाथ टैगोर विश्वविधालय में एवं डॉ ऊषा वैद्य औऱ डॉ संगीता जौहरी के मार्गदर्शन में किया।

मध्य प्रदेश रोजगार एवं कौशल विकास बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष हेमंत विजयराव देशमुख को रविंद्र नाथ टैगोर यूनिवर्सिटी द्वारा पीएचडी की उपाधि प्रदान की गई। हेमंत विजयराव देशमुख द्वारा “सोशियोलॉजिकल स्टडी ऑफ स्किल इनीशिएटिव फॉर एंप्लॉयमेंट जनरेशन : ए पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप पर्सपेक्टिव विथ स्पेशल रिफरेंस टू मध्य प्रदेश ” के अंतर्गत देशमुख द्वारा यह रिसर्च किया गया ।

हेमंत देशमुख को रोजगार संबंधी विषय में पीएचडी।।


हेमंत देशमुख को रोजगार संबंधी विषय में पीएचडी

मध्य प्रदेश रोजगार एवं कौशल विकास बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष हेमंत विजयराव देशमुख को रविंद्र नाथ टैगोर यूनिवर्सिटी द्वारा पीएचडी की उपाधि प्रदान की गई। हेमंत विजयराव देशमुख द्वारा “सोशियोलॉजिकल स्टडी ऑफ स्किल इनीशिएटिव फॉर एंप्लॉयमेंट जनरेशन : ए पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप पर्सपेक्टिव विथ स्पेशल रिफरेंस टू मध्य प्रदेश ” के अंतर्गत देशमुख द्वारा यह रिसर्च किया गया ।

श्री देशमुख इससे पूर्व मध्यप्रदेश शासन में रोजगार एवं कौशल विकास बोर्ड अध्यक्ष (कैबिनेट मंत्री दर्जा) भी रह चुके है, तथा भारत सरकार के नॅशनल स्किल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन में सलाहकार के रुप मे कार्य कर रहे है। वे काफी वर्षो से रोजगार और कौशल विकास विषय पर कार्य कर रहे है। उन्होंने रोजगार और कौशल विकास के विभिन्न शोध संस्थाओ का अध्ययन किया एवं विदेशो में यात्रा कर वहाँ के रोजगार और कौशल विकास के नवाचारों को समझा। उस के परिणाम स्वरूप मध्यप्रदेश में भारत की पहली ग्लोबल स्किल एंप्लॉयमेंट सम्मिट का आयोजन हुआ।
श्री देशमुख ने अपना शोध कार्य रविंद्र नाथ टैगोर विश्वविधालय में एवं डॉ ऊषा वैद्य औऱ डॉ संगीता जौहरी के मार्गदर्शन में किया।

डागा फाउंडेशन से सम्मान पाकर अभिभूत हुए सेवानिवृत्त शिक्षक


फाउंडेशन ने विधानसभा क्षेत्र के लगभग 1 हजार शिक्षकों का किया सम्मान

गुरु का दर्जा भगवान के बराबर: निलय डागा

बैतूल। निरंतर कई वर्षों से शिक्षा के क्षेत्र में डागा फाउंडेशन जो कार्य कर रहा है मैं समझता हूं कि फाउंडेशन का यह अभूतपूर्व प्रयास रहा है। खासकर गरीब वर्ग के विद्यार्थियों के लिए यह वरदान सिद्ध हुआ। डागा फाउंडेशन के जो प्रतिफल बच्चों को मिले हैं उसमें कई बच्चे ऐसे थे जो अभूतपूर्व प्रतिभा के धनी थे, लेकिन उनको मौका नहीं मिला था। लेकिन डागा फाउंडेशन ने यह जो कार्य किया है यह निचले तबके के विद्यार्थियों के लिए वरदान सिद्ध हो रहा है। 

यह बात गुरु पूर्णिमा के अवसर पर डागा फाउंडेशन से सम्मान पाकर अभिभूत हुए बैतूल ब्लाक के ग्राम बाबई निवासी सेवानिवृत्त शिक्षक वामनराव कुंभारे ने अपने ओजस्वी उद्बोधन में व्यक्त किए। शिक्षक श्री कुंभारे ने कहा कि मेरी अवस्था इस समय 82 वर्ष की है परंतु डागा फाउंडेशन का जो यह कार्य है यह मेरे जीवन में एक नया प्रकाश लेकर आया है, और उन बच्चों को प्रकाशित कर रहा है जो निचले तबके के है, उनको भी उभरने का सुअवसर डागा फाउंडेशन ने दिया है। उल्लेखनीय है कि गुरु पूर्णिमा पर्व पर डागा फाउंडेशन ने विधानसभा क्षेत्र के लगभग 1 हजार शिक्षकों को सम्मानित कर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। फाउंडेशन के सदस्यों ने घर-घर जाकर बैतूल एवं आठनेर ब्लॉक में निवासरत शिक्षकों को साल श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया।

डागा फाउंडेशन जैसी सोच सबकी हो जाए तो यह देश चहुमुखी विकास करेगा

शिक्षक वामन राव कुंभारे ने आगे कहा कि डागा फाउंडेशन जैसी शिक्षा के क्षेत्र में यदि सभी कार्य करने लग जाए तो मैं ऐसा सोचता हूं कि यह देश जल्द ही चहुमुखी विकास कर पाएगा। डागा फाउंडेशन ने जो गुरु पूर्णिमा पर हम लोगों को सम्मानित किया है, यह वास्तव में हम लोगों को अभिभूत करने वाला है। हमारे प्रति जो उन्होंने प्रेम जाहिर किया है वह अतुलनीय है.. हम खुशी से लबरेज है, यह हम जानते हैं। ईश्वर ऐसी ही सद्बुद्धि और सद मार्ग पर चलने की प्रेरणा दें। हम इसकी कामना करते हैं बहुत सारा आशीर्वाद शुभकामनाएं देते हैं।

https://youtu.be/MhOR44POfdM

विधायक निलय डागा ने कहा कि डागा फाउंडेशन ने गुरुजनों के महत्व को समझते हुए कोरोना से सुरक्षा की गाइडलाइन का पालन करते हुए घर-घर जाकर शिक्षकों का सम्मान कर अपनी परंपरा का निर्वहन किया है। श्री डागा ने बताया कि फाउंडेशन ने कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत कार्यक्रम का स्वरूप बदला है लेकिन गुरु के महत्व को नहीं भूले हैं। प्रति वर्ष अनुसार इस वर्ष भी शाल श्रीफल से सेवानिवृत्त शिक्षकों का घर घर जाकर सम्मान किया गया। उन्होंने कहा जीवन में गुरु का विशेष महत्व है। गुरु अंधेरे से शिष्य को प्रकाश में लाता है। गुरु न हो तो जीवन में कुछ भी हासिल करना कठिन है। इसलिए गुरु का दर्जा भगवान के बराबर माना गया है। उन्होंने कहा गुरु हमारे जीवन को सही राह पर ले जाते हैं। गुरु के बिना यह जीवन बहुत अधूरा है। गुरु पुर्णिमा गुरु के प्रति नतमस्तक होकर कृतज्ञता व्यक्त करने का दिन है।

एक नहीं अनेक शिक्षकों को सम्मान देने की परंपरा डागा फाउंडेशन ने शुरू की है, डागा फाउंडेशन परोपकार की भावना लेकर काम कर रहा है। डागा फाउंडेशन ने हमारा सम्मान किया है इससे हम अभिभूत है। फाउंडेशन का तहे दिल से आभार व्यक्त करते हैं। किसनलाल कासदे, सेवानिवृत्त शिक्षक

गुरू पूर्णिमा के शुभ अवसर पर मुझे सम्मानित करने के लिए डागा फाउंडेशन का हार्दिक धन्यवाद एवं आभार। खेमराज मगरदे, सेवानिवृत्त प्राचार्य जेएच कॉलेज

ये प्रसन्नता का विषय है गुरुओं के दिये आदर्शों को डागा फाउडेशन ने निरन्तर संजोए रखा है। एस.टी डोंगरे,सेवानिवृत्त शिक्षक

डागा फाउंडेशन ने कोरोना काल में भी गुरु सम्मान की परम्परा को संजोए रखा गुरुओं के प्रति यह सच्ची श्रद्धा है। सम्मान करने वाले पदाधिकारियों को आशीर्वाद। श्रीमती नर्मदा डोंगरे, सेवानिवृत  शिक्षिका

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल 9584390839

Braking News Sarni , पत्थरों से कुचलकर. 30 वर्षीय महिला की हत्या घटना स्थल पर पहुंची सारनी पुलिस मौके पर एसडीओपी उपस्थित


बिग ब्रेकिंग न्यूज़ ,  पत्थरों से कुचलकर. 30 वर्षीय महिला की हत्या घटना स्थल पर पहुंची सारनी पुलिस मौके पर एसडीओपी उपस्थित

युवती के 12 वर्षीय पुत्र के अनुसार उसके पिता ने ही कि उसकी मां की हत्या कल पति पत्नी के बीच हुआ था जमकर विवाद, आरोपी फरार

सारनी। रविवार को सुबह राधाकृष्णन वार्ड क्रमांक 2 के विजय नगर की झुग्गी बस्ती में एक 30 वर्षीय महिला का शव उसके मकान से 100 फीट की दूरी पर मिलने से हड़कंप मच गया है। घटना की जानकारी सारनी पुलिस को लगते ही मौके पर एसडीओपी महेंद्र सिंह चौहान कारवाहक सारनी थाना प्रभारी फतेह बहादुर सिंह घटना स्थल पर दल बल के साथ मौके पर पहुंचकर हत्या के कारणों का खुलासा करने में जुट गए हैं। मृतक महिला की पहचान 30 वर्षीय नीतू मालवी के रूप में की गई है पुलिस संदेह व्यक्त कर रही है कि मृतक महिला के पति जीवन मालवी के द्वारा इसकी हत्या करके मौके से भाग खड़े हुए हैं जबकि मृतक महिला का  12 वर्षीय पुत्र आयुष मालवीय ने पुलिस को बताया कि बीती रात उसके पिता जीवन मालवीय और मां नीतू मालवीय के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ और विवाद इतना बढ़ गया कि उसके पिता जीवन मालवीय ने मृतक नीतू के साथ मारपीट कर घर के पीछे ले जाकर पत्थरों से उसे कुचल कर घटनास्थल से भाग खड़े हुए। यह घटना लगभग रात एक बजे से लेकर तीन बजे के बीच की बताई जा रही है। घटना के बाद से 12 वर्षीय आयुष मालवीय और 11 वर्षीय वैष्णवी मालवीय सुबह तक दोनों बच्चे भय के मारे अपने घर में दुबके रहे और सुबह होते ही पड़ोसियों को यह घटना की जानकारी दी और पड़ोसियों ने इसकी जानकारी रविवार सुबह 6 बजे के लगभग सारनी पुलिस को दी है।सारनी पुलिस मौके पर पहुंचकर पंचनामा तैयार करने में जुटी है साथ ही मृतक नीतू मालवीय के परिजनों को सूचना करके बुलाया गया है। शव का पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज कर शव मृतक के परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

इनका कहना है

रविवार को सुबह सूचना मिली की राधाकृष्णन वार्ड क्रमांक 2 विजय नगर की झुग्गी बस्ती में एक 30 वर्षीय महिला का शव पत्थरों से कुचल कर कोई फेंका मिला है मौके पर पहुंचकर पंचनामा तैयार किया जा रहा है। प्रथम दृष्टि में मृतक नीतू मालवीय के पति जीवन मालवी पर संदेह व्यक्त किया जा रहा है। 

महेंद्र सिंह चौहान  एसडीओपी सारनी

21 सरहदों पर जाएगी बैतूल की बहनों की हाथ से बनी राखियां


21 सरहदों पर जाएगी बैतूल की बहनों की हाथ से बनी राखियां, करगिल युद्ध के बाद से जारी है राष्ट्र रक्षा मिशन का संकल्प

बैतूल। जिले की बहनें रक्षा बंधन के एक महीने पहले से फौजी भाईयों के लिए राखी बनाने में जुट गई है। यह राखियां देश की सरहदों पर तैनात सैनिकों के लिए बनाई जा रही है। बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति के राष्ट्र रक्षा मिशन को यह राखियां अलग-अलग संगठनों एवं विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों से जुड़ी छात्राओं द्वारा भेंट की जाएगी।

जिले के अग्रणी कोचिंग संस्थान दृष्टि एजुकेशन की छात्राओं ने भी सैकड़ों राखियां देश की सीमाओं पर तैनात फौजियों के लिए बनाई गई है। यह राखियां पूर्व सैनिक विजय नरवरे, संजय नरवरे एवं कोचिंग संचालक श्री कमलेश निरापुरे के मार्गदर्शन में तैयार की गई है। अंतिम सांस तक चलेगा राष्ट्र रक्षा मिशन करगिल युद्ध के बाद से देश की 20 सरहदों पर बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति के सदस्य प्रत्यक्ष रुप से पहुंचकर रक्षा बंधन का पर्व मनाते आए है। वर्ष 2020 में कोरोना की वजह से बैतूल की बेटियां सरहदों पर भले ही नहीं पहुंची लेकिन सैनिकों की कलाई उन्होंने सूनी नहीं रहने दी। गत वर्ष 20 सरहदों पर राखियां पोस्ट की गई थी और इस वर्ष भी संस्था द्वारा आमला सहित 21 सरहदों पर सैनिकों के लिए राखियां भिजवाई जाएगी। संस्था प्रमुख गौरी भारत पदम ने बताया कि राष्ट्र रक्षा मिशन अंतिम सांस तक चलता रहेगा। संस्था के इस मिशन से पूरा बैतूल जुड़ा है। हर बैतूलवासी को बैतूल की इन बेटियों पर नाज है जिन्होंने मुश्किल से मुश्किल हालात में सेना की हौसला अफजाई के लिये लिया संकल्प निभाया है।

दृष्टि एजुकेशन की छात्राओं ने बनाई सैकड़ों राखियांसदर क्षेत्र में संचालित दृष्टि एजुकेशन कोचिंग संस्थान के छात्र-छात्राओं में सेना के प्रति अटूट जज्बा है। इस संस्थान का संचालन में भी पूर्व सैनिकों द्वारा ही श्री निरापुरे को मार्गदर्शन किया जा रहा है। जब कोचिंग संचालक एवं पूर्व सैनिकों ने हाथ से बनाई राखियां सैनिकों के लिए भेंट करने की मंशा जाहिर की तो राष्ट्र रक्षा मिशन की बहनों ने सहर्ष राखियां सरहद तक पहुंचाने की जिम्मेदारी हमेशा की तरह ली। इस वर्ष भी देश की सरहदों पर तैनात हजारों सैनिकों की कलाई पर बैतूल की राखी सजेगी। कोचिंग की छात्रा भारती राऊत, विशाखा यादव, टीना दीवान, हर्षलता खाकरे, साक्षी माकोड़े, शिवानी धुर्वे, सरस्वती काकोड़िया, प्रियंका गीद, स्वाती निरापुरे ने मिलकर सैकड़ों राखियां फौजियों के लिए बनाई है। जुलाई के अंतिम सप्ताह में करेंगे पोस्टराष्ट्र रक्षा मिशन का दल प्रयासरत है कि कोरोना गाईडलाईन का पालन करते हुए उन्हें सरहद पर जाने की अनुमति मिल जाए। गत वर्ष अनुमति न मिलने और रेल यातायात बंद होने की वजह से आमला में एयर फोर्स के जवानों को राखियां सौंपी गई थी। इस वर्ष हमेशा की तरह प्रत्यक्ष रुप से जाने के प्रयास किए जा रहे है।

समिति की कोषाध्यक्ष जमुना पंडाग्रे ने बताया कि जुलाई माह के अंतिम सप्ताह में सभी राखियां सरहदों के लिए पोस्ट कर दी जाएगी। गत वर्ष कुछ सरहदों पर राखियां देर से पहुंची थी, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। उन्होंने अनुरोध किया है कि जो भी बहने राखियां भेंट करना चाहती है वह संस्था के पदाधिकारियों एवं सदस्यों से सम्पर्क कर सकती है। 

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल 9584390839

हादस- गंज बासौदा के लाल पठार गांव में कुएं में गिरे अनगिनत लोग रेस्क्यू ऑपरेशन जारी मुख्यमंत्री ने जताया शोक -विडियो देखे


अचानक कुआ भस्कने से हुआ हादसा

विदिशा-गंजबासौदा के लाल पठार पर हुआ बड़ा हादसा, कुएं में डूबे बच्चे को निकालने पहुची भीड़ कुआ के आसपास खड़ी थी। भीड़ का दबाब बढ़ने से कुआ भरभराकर गिर गया।कुएं के आसपास खड़े दर्जनों की संख्या में लोग कुये में जा गिरे।
घटना की जानकारी लगते ही प्रशासन भी मौके पर पहुचा। अंधेरा होने के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने में आ रही परेशानी।
अभी तक एक दर्जन से अधिक घायलों को अस्पताल पहुचाया गया है।नगर के साथ आसपास की एम्बुलेंस मौके पर पहुची।

सूर्यपूत्री मां ताप्ती लोकसेवा न्यास मुलतापी के तत्वावधान में ग्राम सांईखेड़ा के विद्युत वितरण केन्द्र में किया वृक्षारोपण।।


मुलतापी समाचार

मां ताप्ती प्रकटोत्सव 2021 के अंतर्गत बुधवार को विद्युत वितरण केन्द्र में वृक्षारोपण किया गया। जिसमें 11 पौधे रोपे गये। जानकारी अनुसार वितरण केन्द्र की सुंदरता बढ़ाने हेतू स्टाप द्वारा उद्यान स्वरुप कायाकल्प किया जा रहा है। जिसमें मुख्यरुप से विद्युत विभाग के जेई पी.आर. सिरसाम, थाना प्रभारी रत्नाकर हिंगवे, ग्राम पटेल योगेन्द्र देशमुख, भाजपा मंडल अध्यक्ष राजेश हिंगवे, ग्राम प्रधान मंदा वट्ठी, न्यास के विशाल डोंगरे, योगेश सातव व ग्राम से हरि माकोड़े, दीनू पवांर, करण कोसे, नितिन सोनी, चेतन साहू, राहुल देशमुख विद्युत वितरण केन्द्र के समस्त कर्मचारी उपस्थित थे। न्यास के विशाल डोंगरे, योगेश सातव ने बतलाया कि साईखेड़ा क्षेत्र में लगातार वृक्षारोपण व पर्यावरण जागरुकता के कार्यक्रम किये जा रहे है। जिसमें सभी ग्राम वासियों का भरपूर सहयोग प्राप्त हो रहा है। केन्द्र के स्टाफ ने रोपित पौधो की देशभाल की समस्त जिम्मेदारी संकल्प स्वरुप ली है।

प्रभारी मंत्री एवं स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री के प्रथम नगर आगमन पर किया अभिनंदन


बैतूल – प्रभारी मंत्री एवं स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री श्री इंदर सिंह परमार जी के बैतूल की पावन और पवित्र भूमि पर प्रथम नगर आगमन के अवसर पर आमला सारणी विधायक डॉ योगेश पंडाग्रे के निवास पर आयोजित स्वागत सत्कार के प्रीतिभोज कार्यक्रम में एससी एम्पलाई वेलफेयर सोसाइटी बैतूल एवं सजाक्स संगठन जिला इकाई बैतूल के पदाधिकारियों के द्वारा पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत अभिनंदन किया गया ।
इसके साथ ही एस.सी. एम्पलाई वेलफेयर सोसाइटी बैतूल के द्वारा जिले में अनुसूचित जाति संवर्ग के छात्र छात्राओं के लिए संचालित दृष्टि एजुकेशन पॉइंट सदर बैतूल कोचिंग संस्थान की स्थापना एवं सुनियोजित संचालन हेतु माननीय मंत्री महोदय को सरकारी जमीन आवंटन को लेकर संगठन के पदाधिकारियों ने मांग पत्र सौंपा एवं माननीय मंत्री महोदय को विश्वास दिलाते हुए यह संकल्प दोहराया कि हमारा संगठन सामाजिक उद्देश्य प्राप्ति के लिए हमेशा संगठित संघर्षरत एवं वचनबद्ध है।

स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री एवं प्रभारी मंत्री जिला बैतूल के स्वागत, अभिनंदन के पुनीत प्रसंग में संगठन की ओर से सजाक्स संगठन के जिला अध्यक्ष एस. ब्राह्मणे एससी वेलफेयर एंपलाई सोसाइटी बैतूल के अध्यक्ष एवं मुख्य सलाहकार श्री आर के विजयकर, भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के भूतपूर्व जिला अध्यक्ष श्री सतीश जोधंलेकर, श्री हेमराज पाटिल ,श्री पुरुषोत्तम पाटील ,आदि पदाधिकारी गण उपस्थित थे।

रोंढा में वैक्सीन लगाने वालों की उमड़ी भीड़, पुलिस और कोरोना वालेंटियरों की लेनी पड़ी मदद


बैतूल – जिला मुख्यालय के सेहरा ब्लॉक में आने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रोंढा में कोरोना टीकाकरण महा अभियान के तहत 150 नागरिकों को कोरोना का टीका लगाया गया।

टीका लगाने के लिए सुबह 7:00 बजे से ही नागरिकों की भीड़ लगना शुरू हो गई और करीब 9:00 बजे तक 300 से ज्यादा लोग प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के दरवाजे पर जा पहुंचे। अधिक भीड़, वादविवाद और धक्कामुक्की की स्थिति को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग और ग्राम पंचायत को व्यवस्था बनाने के लिए पुलिस और कोरोना वालेंटियरों की मदद लेनी पड़ी।

पुलिस प्रशासन द्वारा व्यवस्था बना देने के बाद शाम तक शांतिपूर्ण कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य चलता रहा।