Category Archives: #राजनीति

ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष तरूण कालभोर ने 125 ग्रामों में नियुक्त किए ग्राम अध्यक्ष 


नवनियुक्त अध्यक्षों को बताए संगठन को जमीनी स्तर पर मजबूत करने के गुर


बैतूल।
 चुनावी समर में कांग्रेस मजबूती के साथ उतरने की तैयारी में जुट गई है। आम जनता में अपनी पैठ मजबूत करने के लिए कांग्रेस संगठन को मजबूत कर रही है। कांग्रेस द्वारा ग्राम स्तर पर समस्याओं को उठाने और ग्रामीणों से बेहतर समन्वय बनाने के लिए ग्राम अध्यक्षों की नियुक्ति की है। हाल ही में विधानसभा के बैतूल ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष तरूण कालभोर ने मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देश पर संगठन प्रभारी श्रीमती सविता दीवान, बैतूल विधायक निलय विनोद डागा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनील शर्मा की सहमति से बैतूल ब्लॉक के 125 ग्रामों में ग्राम कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्ति किए है। साथ ही इन नवनियुक्त अध्यक्षों को सदस्यता अभियान में कांग्रेस से कैसे जोड़ा जाए, संगठन को जमीनी स्तर पर कैसे मजबूत किया जाए, इसके गुर बताए।

–इन ग्रामों में बनाए ग्राम अध्यक्ष–

जीन-विनायक दरवाई, बोरगांव-गोपीराव धोटे, टाहली-सुरेश कुबड़े, कुम्हली-धर्मेन्द्र बारस्कर, गढ़ा-सुनील देशमुख, पाढरखुर्द- केवलराम यादव, कोदाराटी-शिवप्रसाद साहू, मण्‍डईबुजुर्ग- महेंद्र चौधरी, कुम्हारिया- श्रवण गोचरे, माथनी-रामप्रसाद रावते, मण्डईखुर्द- भोमाराम यादव, लापाझिरी-दीनदयाल रावते, टिगरिया-बाबूलाल सोनारे, साकादेही-मनोहर यादव, उड़दन-कमलेश नहारिया, जामठी-गणेश पंडाग्रे, झगडि़या-कैलाश सरले, डूंडाबारगांव-अर्जुन आहके, झाड़ेगांव-प्रेम पटेल, टेमनी-दिलीप वाघमारे , भयावाड़ी-किशोरी झरबड़े, पांगरा-अशोक कुंभारे, डोक्यां- अमोल झवर, महदगांव- अशोक बारस्कर, डहरगांव-प्रकाश महाले, भडूस-रमेश महाले, ढोंढवाड़ा-पंढरी धोटे, दनोरा(बैतूल) – देवानंद गाड़गे, कोसमी-अशोक खातरकर, बोढ़ना – अनिल चौहान, नीमझिरी- रामदीन पिपरधे, कन्हड़गांव-रामेश्वार देशमुख, लाखापुर-मंगरया यादव, ठानीमाल-रामसु धुर्वे, बरसाली- दिनेश उईके, काजीजामठी-ओमप्रकाश यादव, बघवाड़- रामभरोस उईके, खंडारा-राजू राठौर, खेड़ली-नीलम बेले, भैंसदेही-जगदीश झर्रे, बाजपुर- दिलीप झरबड़े, बुण्डाला-अजय उईके, आरूल-नितेंद्र सोनी, सोहागपुर- गुलाबराव कापसे, जूनावानी-मनोहर ढोले, नाहिया-संतोष नरवरे, साईखंडारा-उत्तम सूर्यवंशी, मिलानपुर-रितेश कोसे, अनकावाड़ी – भावराव मराठा, जगधर-महादेव जावलकर, बैतूल बाजार-गौरव पंवार,

रोंढा-प्रफुल्ल बारंगे, सावंगा-रामभाउ धोटे, खड़ला-डॉ विश्वनाथ सोनी, सूरगांव-हेमराज चरपे, भरकावाड़ी-शंकरलाल पारधे, भयावाड़ी-डॉ.विष्णुत कामतकर, बघोली-कमलेश वामनकर, जोड़क्या-कैलाश सिंह राजपूत, अमदर- संदीप डांगे, सेहरा- गोकुल नरवरे, पीपला-संजय खांडवे, कोलगांव-रामदयाल बारपेटे, सराड़ – गजानंद बड़ोदे, कनारा-अशोक यादव, मूचगोहान- कलीराम पाटिल, गोराखार-दिनेश नवड़े , सरण्डई-रमेश नवड़े, जावरा-मुकेश साकरे, सेलगांव-रामदयाल साहू, रेढ़वा-दिलीप धोटे, अर्जुनवाड़ी-संदीप चढ़ोकार, बारव्ही -सुदर्शन राने, ताम्यागढ़-धनराज तांडिलकर, जसौंदी-संतराम मर्सकोले, घुटीगढ़-सेवाराम कुमरे, दीवानचारसी-शिवजी धुर्वे, नायकचारसी-रामकिशोर सरियाम, सालार्जुन-भद्दू कास्दे, बग्दरी-बुधलाल इरपाचे, बोरीकास-रामप्रसाद उईके, हाथीडिंगर-सुखराम ओझा, बडोरी- पांडु पर्ते, घोगरी-अक्षुराम नवड़े, ढोढरामोहार-प्रेमलाल कवड़े, गुढ़ी- मुन्ना उईके,छाता-रमेश देशमुख, चारबन-गणेश उईके, नागझिरी-दिेनेश कापसे, सुनारखापा-शंकर अतुलकर, थावड़ी- सुरेंद्र धुर्वे, गोंडीगौला-सुनील देशमुख, हथनाझिरी-माधु आहके, 

मलकापुर-भगतराम मालवी, उमरी-राजू पाल, कुम्हाटरटेक-तारा तुमराम, डहरगांव-प्रकाश महाले, सोनाघाटी-रामपाल यादव, देवगांव-अनिल मालवी, बिटिया- प्रेम वरकड़े, गौनीघाट-रामकिशोर धुर्वे, आमला-श्याम कुमार आहके, बोदीजूनावानी-रामचरण विश्वकर्मा, देवठान-जगलाल कहार, हिवरखेड़ी-अशोक बिसोने, दनोरा में मनोज गायकवाड़ को ग्राम अध्यक्ष नियुक्त किया गया।

सरकार के दावों और हकीकत की खोलेंगे पोल– ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष तरूण कालभोर का दावा है कि ग्राम स्तर पर कांग्रेस भाजपा से मजबूत है। गांव गांव में कांग्रेस कार्यकर्ता ग्रामीणों तक सीधे अपनी बात पहुंचा रहे है। कांग्रेस अब आगामी चुनावों के लिहाज से एक और बड़ा कदम उठा रही है, पार्टी सरकार के दावों और हकीकत की पोल खोलने की तैयारी कर रही है। सरकार के दावों और योजनाओं ने जमीनी स्तर पर कितना काम किया इस मुद्दे को जनता के बीच रखेगी।

नगरीय निकायों के 2 चरणों में ईवव्हीएम और पंचायतों के 3 चरणों में मतपत्र से होंगे चुनाव


नगरीय निकायों के चुनाव ईव्हीएम और पंचायतों के मतपत्र से होंगे

राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह ने की चुनाव तैयारियों की समीक्षा

नगरीय निकायों के चुनाव में ईव्हीएम और त्रि-स्तरीय पंचायतों के चुनाव में मतपत्र और मतपेटियों का उपयोग किया जाएगा। पंचायतों का चुनाव भी ईव्हीएम से करवाने पर 3 माह से अधिक समय लगेगा, क्योंकि ईव्हीएम की संख्या सीमित है, इसलिए मतपेटियों के माध्यम से पंचायतों का चुनाव कराने का निर्णय लिया गया है। राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री बसंत प्रताप सिंह ने यह बात कलेक्टर्स के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से निर्वाचन तैयारियों की समीक्षा के दौरान कही।

राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह ने कहा कि नगरीय निकायों के चुनाव दो चरणों में और पंचायतों के चुनाव तीन चरणों में करवाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि दोनों चुनाव साथ में कराना है, इसलिए ऐसी तैयारी करें कि किसी भी प्रकार की कठिनाई नहीं हो। श्री सिंह ने कहा कि कोई भी समस्या हो, तो मुझे अथवा सचिव राज्य निर्वाचन आयोग को तुरंत बताएं। उन्होंने कहा कि संवेदनशील और अति-संवेदनशील मतदान केन्द्रों की समीक्षा कर जानकारी जल्द आयोग को उपलब्ध कराएं। निर्वाचन प्रक्रिया में सूचना प्रौद्योगिकी का समुचित उपयोग करें। नगरीय निकाय निर्वाचन के लिये चुनाव मोबाइल एप का व्यापक प्रचार-प्रसार करें।

श्री सिंह ने कहा कि नवीन प्रावधानों के अनुरूप पार्षदों के निर्वाचन व्यय का लेखा संधारण व्यवस्थित रूप से करवाएं। उन्होंने कहा कि रिजर्व ईव्हीएम सुरक्षित तरीके से निर्धारित स्थानों पर ही रखवाएं। सभी कलेक्टर्स चुनाव सामग्री की उपलब्धता की समीक्षा कर लें। मतदान पेटी का मेंटेनेंस करवा लें। मतपत्र मुद्रण के लिये सभी तैयारियां पहले से कर लें।

सचिव राज्य निर्वाचन आयोग श्री राकेश सिंह ने कहा कि रिटर्निंग और सहायक रिटर्निंग अधिकारी की नियुक्ति कर आयोग को सूचित करें। जिम्मेदार अधिकारियों से मतदान केन्द्रों का सत्यापन कराएं और आवश्यकता अनुसार उनकी मरम्मत करवा लें। राजनैतिक दलों के साथ समय-समय पर बैठक आयोजित करें। मतगणना स्थल का निर्धारण कर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। जिला, नगरीय निकाय एवं ब्लाक स्तर पर ट्रेनिंग के लिये मास्टर ट्रेनर्स का चयन कर लें।

बैठक में ईव्हीएम, सूचना प्रौद्योगिकी, सामग्री प्रबंधन और प्रशिक्षण के संबंध में भी विस्तृत जानकारी दी गई। जिला निर्वाचन अधिकारियों की शंकाओं का समाधान भी किया गया। बैठक में ओएसडी श्री दुर्ग विजय सिंह, उप सचिव श्री अरूण परमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

राष्ट्रीय राज्य कर्मचारी महासंघ, जीईएनसी एवं मध्यप्रदेश राज्य कर्मचारी संघ के प्रदेश व्यापी आव्हान पर पुरानी पेंशन की बहाली के लिये सौपा ज्ञापन


बैतूल। राष्ट्रीय राज्य कर्मचारी महासंघ, जीईएनसी एवं मध्यप्रदेश राज्य कर्मचारी संघ के प्रदेश व्यापी आव्हान पर पुरानी पेंशन को बहाली के लिये आंदोलन के द्वितीय चरण में दिनाँक 12 मई-2022 को जिला स्तरीय धरना प्रदर्शन कर माननीय प्रधानमंत्री जी एवं मुख्यमंत्री जी को संबंधित ज्ञापन संयुक्त कलेक्टर श्री एस.पी. मन्द्रा को सौंपा गया। इस अवसर पर उपस्थित श्री मनोज राय, जिला अध्यक्ष मध्यप्रदेश राज्य कर्मचारी संघ श्री के. के. बारंगे, सचिव श्री संजय जायसवाल को संभागीय कोषाध्यक्ष श्री पंजाबराव गायकवाड़, जिला अध्यक्ष भारतीय मजदूर संघ, श्री कान्ताप्रसाद कौशिक, श्री मुरलीधर पाल, श्री अशोक श्रीवास, श्री के. एन. शर्मा, श्री आलोक कुम्भारे, श्री राजेन्द्र कटारे, श्री मनोहर मालवीय सहित तहसील एवं विकासखण्ड के पदाधिकारी एवं अन्य कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

मिशन 2023′ की तैयारी में जुटे युवक कांग्रेस कार्यकर्ता


ग्राम स्तर पर सक्रिय युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सौंपी जिम्मेदारी। युवक कांग्रेस ने 100 ग्रामों में नियुक्त किए ग्राम अध्य‍क्ष 


बैतूल। आगामी चुनावों में सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जोश फूंकने के लिए कवायद कर रही है। इसी कड़ी में बैतूल विधानसभा के 100 ग्रामों में युवक  कांग्रेस ने अध्यक्ष भी नियुक्त कर दिए है। ‘मिशन 2023’ के लिए ग्राम स्तर पर सक्रिय युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं को युवक कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गईं। 

मिली जानकारी के अनुसार युवक कांग्रेस के विधानसभा अध्यक्ष मिथलेश राजपूत ने युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.विक्रांत भूरिया के निर्देश पर बैतूल विधायक निलय विनोद डागा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनील शर्मा, युवक कांग्रेस जिला अध्यक्ष गौरव खातरकर की सहमति से बैतूल विधानसभा के 100 ग्रामों में ग्राम युवक कांग्रेस अध्यक्षों की नियुक्ति की है।

इन्हें सौंपी जिम्मेदारी– युवक कांग्रेस में बैतूल विधानसभा के 100 ग्रामों में युवक कांग्रेस अध्यक्ष के नामों की घोषणा की है इनमें ऐनखेड़ा से सूरज राने, जामठी-नवीन गीद, हिवरा-गुलशन गावंडे, ठानी–दीपक दवंडे, धनोरी– विनोद पड़लक, अर्जुनवाड़ी-भीमराव गायकवाड़, रेढ़वा-भीमराव कोसे, जावरा–मुकेश साकरे, बघोली- शैलेन्द्र देशमुख, खेडी- विकास नामू कावरे, डहरगांव-प्रकाश कोसे, टाहली- रजनीश देशमुख, हिवरखेड़ी- मस्तराम यादव, देवगांव- रितेश धामोड़े, पाढरखुर्द-पीयूष दवंडे, देवठान-राजेश यादव, दनोरा-प्रदीप देशमुख, कुम्हली- सुशील बारस्कर, महूपानी-शिवकिशोर यादव, बोदीजूनावानी- कमल धुर्वे, आमला-रमेश आहके, गौनीघाट– जितेंद्र परते, बिटिया-ढिमरा परपाचे, बोरगांव- शिवम धोटे, जीन- सुरेश दरवाई, कोदारोटी- नितिन सोनी , मण्डईबुजुर्ग-योगराज गंगारे, कुम्हारिया-रघुनाथ नारे, मा‍थनी-प्रवीण हरि पारधे, मण्डई खुर्द- गोकुल गाड़गे, लापाझिरी-सतीश रावते, टेमनी-सुजीज खोबरे, भयावाड़ी- संजय झरबड़े, डूडाबोरगांव- दीपक, महदगांव- प्रकाश ढोबारे, भडूस- गिरीश साहू, दनोरा-कैलाश सरले, कोसमी-खूबराज कापसे, बोडना- राकेश चौहान, नीमझिरी, रामदास सिलुकर, कन्हगड़गांव-मनीष कवड़े, लाखापुर, गोकुल यादव, ठानीमाल-सोनू उईके, बरसाली- आकाश यादव, काजीजामठी- दुर्गेश सोनारे, बघवाड़- रघुनाथ कासदेकर, खंडारा-विवेक राठौर, खेड़ली-गोविंद टिकमें, भैंसदेही-लोकेश निर्मले, बुण्डाला-शेखर सरियाम, आरूल- दिलीप उईके, जूनावानी-अर्जुन धुर्वे, नाहिया-राजेश धुर्वे, साईखंडारा-जगदीश धुर्वे, रोंढा-अजय डिगरसे, कनारा-सदन यादव, सराड़– सुभाष बड़ोदे, सूरगांव-राजेंद्र रावंधे, भयावाड़ी– प्रकाश कावरे, अमदर- अजीत भालेकर, सेहरा- कृष्णा लिल्होरे, पीपला– संपत इवने, कोलगांव-पुनीत साहू, मूचगोहान-परसु धुर्वे, गोराखार- हंसराज आहके, सरण्डाई- रवि विश्वंकर्मा, सेलगांव-जयपाल साहू, बारव्ही-सागर धोटे, ताम्यावगढ़- राजू दहीकर, जसौंदी-मानकसिंह धुर्वे, घुटीगढ़ नितेश धुर्वे, दीवानचारसी-संजय सिरसाम, बोरीकास-राजकुमार मर्सकोले, सालार्जुन- नानकराम पांसे, बगदरी-संदीप उईके, सिवनपाट-कैलाश धुर्वे, जावरा- कमलेश कोसे, गुनखेड़ कोमल गावंडे, राबड़या-प्रताप उईके, धामोरी, गजानंद अलोने, खापा-प्रफुल्लप भालेकर, पुसली, महेश -सदाराम सोलंकी, टेमुरनी- हरीश डांगे, चौकी-सूरज आहके, टिगरिया- वीरेंद्र पर्ते, साकादेही- महतू आहके, उड़दन-लवलेश करोचे, जामठी-प्रकाश गोहिते, मिलानपुर-विशाल हुरमाड़े, अनकावाड़ी-सुनील मराठा, परसोड़ी-नितेश जावलकर, जोड़क्या- शैलेन्द्र सिंह राजपूत, दनोरा-निलेश धोटे, भरकावाड़ी-योगेश रावंधे, बैतूल बाजार-रवि लोनारे, नीमझिरी-रामदास सैलूकर एवं चौकी-सूरज आहके को ग्राम युवक कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई।

रामू के विवाह में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पहुँचे बैतूल


बैतूल मप्र । मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ बैतूल हरदा हरसूद के पूर्व लोकसभा प्रत्याशी रहे रामू टेकाम के विवाह समारोह में शामिल होने बैतूल पहुंचे। कमलनाथ के साथ बैतूल विधायक निलय डागा भी हेलीकॉप्टर से बैतूल पहुँचे थे। हेलीपेड से कमलनाथ सीधे विवाह स्थल पहुंचे जहां मंच पर जाकर उन्होंने वर वधु को आशीर्वाद दिया और उनके परिजनों से मिले और इसके बाद वापस हेलीपेड के लिए रवाना हो गए। पहले कमलनाथ का कार्यक्रम 40 मिनट का बताया गया था लेकिन बेकाबू हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं के चलते विवाह स्थल पर कमलनाथ महज 10 मिनट ही रुक सके और रवाना हो गए। हेलिपैड से लेकर विवाह स्थल तक कई जगह कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कमलनाथ का स्वागत किया।

पूर्व सीएम कमलनाथ के अलावा कई जिलों के कांग्रेस विधायक और सांसद भी इस विवाह समारोह में शामिल हुए। पुलिस पर बने हेलीपैड से विवाह स्थल तक कमलनाथ को विधायक निलय डागा ने स्वयं गाड़ी चलाकर लेकर गए इतना ही नही विवाह समारोह में शामिल होने के बाद वापस हेलीपेड तक ड्राइविंग कर निलय डागा ने कमलनाथ को छोड़ा। विधायक को ड्राइविंग सीट पर देख लोग हैरान थे की कमलनाथ का वाहन विधायक स्वयं चला रहे थे इस दौरान विधायक आकर्षण का केंद्र बने रहे।

बैतूल विवाह समारोह में पंहुचे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सिंह पर तंज कसते हुए कहा कि आज प्रदेश में हर वर्ग परेशान है। हमारा भटकता नौजवान, पीडित किसान सहित छोटा व्यापारी सभी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के झूठे अस्वासन और घोषणाओं से परेशान है ऐसी घोषणाओं से जनता का ध्यान खींच रहे है शिवराज सोचते है कि ऐसा करके जनता को फिर से मूर्ख बनाएंगे।

पवार समाज की चुनावी वोटर लिस्ट का प्रकाशन सम्पन्न


बैतूल। जिला क्षत्रिय पवार समाज संगठन बैतूल के चुनाव अधिकारी श्री पंजाबराव चिकाने से प्राप्त जानकारी के अनुसार आज 24 अप्रैल 2022 को शाम 4 बजे वोटर लिस्ट का प्रकाशन कर दिया गया है । जिसमें आजीवन सदस्यों और वार्षिक सदस्यों के नाम अंकित किए गए हैं जिसमें संगठन की सदस्यता प्राप्त सदस्य ही चुनाव प्रक्रिया में भाग ले सकेगें। जिन सदस्यों को अपना नाम, स्थान या अन्य सुधार करना हो वे अंतिम प्रकाशन के पूर्व कर सकते हैं।  अब वोटर लिस्ट का अंतिम प्रकाशन 28 अप्रैल 2022 को शाम 4 बजे तक किया जाएगा।

क्षत्रिय पवार समाज संगठन के सचिव लक्ष्मीनारायण (भंगू) खपरिये से प्राप्त जानकारी के अनुसार क्षत्रिय पवार समाज संगठन जिला बैतूल की बैठक में आमसभा एवं चुनाव सूचना दिनाँक 01 मई 2022 को संगठन की आमसभा एवं चुनाव कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। आमसभा में चुनाव की प्रक्रिया की जावेंगी।

आम सभा में निम्न विषयों पर विचार विमर्श कर निर्णय लिया जाना प्रस्तावित है — आय-व्यय का वार्षिक प्रतिवेदन वाचन, वर्ष 22-23 के लिए अनुमानित बजट पर चर्चा, संगठन के पदाधिकारियों चुनाव पर चर्चा

01 मई 2022 को प्रातः 10 बजे से आमसभा एवं चुनाव कार्यक्रम जिला मुख्यालय पर स्थित पवार भवन, विवेकानंद वार्ड कालापाठा बैतूल में आयोजित किया जा रहा है। क्षत्रिय पवार समाज संगठन के जिलाध्यक्ष श्री बाबूलाल कालभोर ने आमसभा में अधिक से अधिक सामाजिक बंधुओं को उपस्थिति होने का आग्रह किया है।

पवार समाज संगठन ने वैभव पवार का किया भव्य स्वागत


बैतूल। क्षत्रिय पवार समाज संगठन के जिला सचिव लक्ष्मीनारायण (भंगू भैया) पवार ने बताया है कि भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष और पवार समाज के गौरव श्री वैभव पवार अपने एक दिवसीय प्रवास पर बैतूल पहुँचे, तब पवार समाज संगठन के द्वारा वैभव पवार का पवार मंगल भवन कालापाठा में भव्य स्वागत किया गया।

वैभव पवार के साथ भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष आदित्य बबला शुक्ला, प्रदेश मीडिया प्रभारी अंकित आर्य, भाजयुमो के जिलाध्यक्ष भास्कर मगरदे, बैतूलबाजार नगर पालिका अध्यक्ष और भाजपा महामंत्री सुधाकर पवार उपस्थित थे। सर्वप्रथम वैभव पवार सहित सभी लोगों के द्वारा पवार मंगल भवन में रखी परम प्रतापी चक्रवर्ती सम्राट राजा भोज की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया।

क्षत्रिय पवार समाज संगठन के जिलाध्यक्ष श्री बाबूलाल कालभोर के द्वारा वैभव पवार को तिलक लगाकर बधाई दी, साथ ही समाज की ओर से अभिनंदन पत्र भी सौपा। इसके बाद कार्यकारिणी सदस्य युवा संगठन और समाज के सभी लोगों के द्वारा वैभव पवार को पुष्पगुच्छ और पुष्पमाला पहनाकर स्वागत किया गया।

श्री वैभव पवार ने अपने संबोधन में समस्त क्षत्रिय पवार समाज संगठन के लोगों को बधाई देते हुए कहा कि आप लोग अपने व्यक्तिगत जिम्मेदारियों के साथ संगठन को जो समय दे रहे हैं और समाज की जो सेवा कर रहे हैं इसके लिए आप समाज में बधाई के पात्र है। समाज के सर्वांगीण विकास के लिए समाज को एकजुट होकर आगे बढ़ना और संगठित समाज एक विशेष प्रभाव होता है जिससे राजनीतिक दल सहित समाज के अन्य तपके से मदद मिल जाती है। वैभव पवार ने अपनी राजनीतिक करियर के बारे में भी बताया कि वे इस पद पर लम्बे राजनीतिक कैरियर में किस संघर्ष के साथ पहुंचे है।

इस अवसर पर क्षत्रिय पवार समाज संगठन के उपाध्यक्ष कमल पवार, रामकिशोर पवार, अशोक बारंगे, बाबूराव पवार, कोषाध्यक्ष मुन्नालाल डहारे, सहसचिव कृष्ण कुमार बारंगे, मीडिया प्रभारी प्रदीप डिगरसे, कार्यकारिणी सदस्य झनक कड़वे, युवा संगठन के अध्यक्ष अनिल खवसे, सचिव राहुल पवार, पूर्व जिलाध्यक्ष किशनलाल बुआड़े, एमआर देशमुख, पूर्व कोषाध्यक्ष मुन्नालाल कसारे,

नागरिक बैंक के अध्यक्ष, भाजपा मंत्री अतित पवार, वीवीएम कॉलेज के संचालक निर्गुण देशमुख, पूर्व जिला पंचायत सदस्य सतीश गम्फू पाठा, प्रबंधक अशोक देशमुख, पूर्व सचिव जीवन बुआड़े, पूर्व सचिव दीपक देशमुख, मनोज बारंगे, अनिल पिंजारे, आशीष पवार, राजेंद्र सोनू पवार, चेतन देशमुख, रवि ओमकार, ताप्ती दर्शन समाचार पत्र के पत्रकार अजय पवार, दैनिक बैतूल एक्सप्रेस समाचार पत्र के संपादक मोहित पवार, नामदेव पवार, प्रदीप माटे, गजानंद पवार, विक्की पवार, देवराव पवार, रविकांत देशमुख, संजीव पवार, रंगा पवार, अनुप पवार, महेन्द्र पवार,

राजा भोज कॉलेज की संचालिका श्रीमती ममता डॉ. राजू एस. पवार, रेखा पवार, ज्योति देशमुख, बिल्लो पवार, मंगलेश्वरी पवार, सरोज पवार, पुष्पा पवार, सहित क्षत्रिय पवार समाज के अनेक लोग उपस्थित थे।

कार्यक्रम का संचालन क्षत्रिय पवार समाज संगठन के सचिव लक्ष्मीनारायण भंगु पवार और आभार प्रदर्शन क्षत्रिय पवार समाज के मीडिया प्रभारी प्रदीप डिगरसे द्वारा किया गया।

फोटोयुक्त मतदाता सूची में नाम जोडऩे, हटवाने या संशोधन कराने के लिए 11 अप्रैल तक दावे-आपत्ति आमंत्रित


बैतूल। मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरीय निकायों एवं पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची का वार्षिक पुनरीक्षण-2022 का कार्यक्रम जारी किया गया है। कार्यक्रम के अनुसार नाम जोडऩे, हटवाने अथवा संशोधन कराने के लिए 11 अप्रैल 2022 तक दावे-आपत्ति आमंत्रित किए जा रहे हैं।

जनपद स्तर पर प्रत्येक ग्राम पंचायत में, तहसील कार्यालय में एवं जनपद पंचायत कार्यालय में दावे-आपत्ति प्राप्त करने के लिए प्राधिकृत कर्मचारी नियुक्त किए गए हैं।
नगर पालिका स्तर पर प्रत्येक वार्ड में, तहसील कार्यालय में तथा नगर पालिका कार्यालय में दावे-आपत्ति प्राप्त करने के लिए प्राधिकृत कर्मचारी नियुक्त किए गए हैं।

नाम जोडऩे के लिए प्रारूप ईआर-1, आपत्ति के लिए प्रारूप ईआर-2, संशोधन के लिए प्रारूप ईआर-3 तथा अपील के लिए प्रारूप ईआर-4 आयोग द्वारा विहित किए गए हैं। निर्धारित दावे-आपत्ति केन्द्रों पर प्रतिदिन प्रात: 10 बजे से सायं 5 बजे तक तथा अंतिम दिनांक 11 अप्रैल 2022 को अपरान्ह 3 बजे तक दावे आपत्ति प्राप्त किए जाएंगे।

जो मतदाता 01 जनवरी 2022 या उससे पहले 18 वर्ष के हो चुके हैं, जिन्होंने अपना नाम नगरीय निकाय/पंचायत की मतदाता सूची में दर्ज नहीं कराया है, वे अपना नाम दर्ज कराने हेतु संबंधित वार्ड/ग्राम पंचायत में निर्धारित दावा-आपत्ति केन्द्र पर उपस्थित होकर निर्धारित प्रारूप ईआर-1 भरकर प्राधिकृत कर्मचारी को देकर अपना नाम जुड़वा सकते हैं। जो मतदाता अपना नाम हटवाना या संशोधन कराना चाहते हैं, वे मतदाता भी निर्धारित प्रारूप ईआर-2, संशोधन के लिए प्रारूप ईआर-3 भरकर संबंधित प्राधिकृत कर्मचारी को देकर नाम हटवाना या संशोधन करा सकते हैं।

एक गाँव ऐसा भी – गांव में कुंवारे रहने की वजह जानकर रह जाएंगे दंग, आखिर ग्रामीणों ने लगाई प्रशासन से लगाई गुहार।


बेगमगंज रायसेन। एक और क्षेत्र में विकास की गंगा बहाने वाली बातें जनप्रतिनिधियों द्वारा बराबर की जाती हैं, लेकिन नगर के निकटवर्ती ग्राम कटंगी के अंदर पानी की समस्या के चलते कई लड़कों की शादियां नहीं हो पा रही हैं। ग्रामीण खिरिया गांव या खेतों में बने जल स्रोतों से पानी भरकर लाने के लिए मजबूर हैं। ऐसे ही परेशान महिला-पुरुषों ने एक ज्ञापन एसडीएम अभिषेक चौरसिया को सौंप कर गांव में पेयजल समस्या का स्थाई समाधान कराए जाने की मांग की है।

ग्राम वासियों ने बताया कि गांव में कोई भी सार्वजनिक कुआं नहीं है, एक हैंडपंप है जिसे 400 फीट गहराई तक बोर किया गया था, जिसमें मात्र करीब सो फीट लाइन विभाग द्वारा डाली गई है। पूर्व में पंचायत द्वारा नल-जल योजना के तहत खुदवाए गए कुए से जल की सप्लाई आदिवासियों के लिए की जाती थी लेकिन वह भी 2 साल से बंद डली है। आज गांव में स्थिति यह है कि लोग पानी के लिए दिनभर मशक्कत करते हैं।

रायसेन, गांव मैं कुंवारे रहने की वजह जानकर रह जाएंगे दंग, आखिर ग्रामीणों ने लगाई प्रशासन से गुहार; देखें वीडियो क्या कहते हैं ग्रामीण।

गरीब मजदूरों के बच्चों की पढ़ाई भी पानी के कारण ही प्रभावित हो रही है। गांव के लोगों के लिए साइकिल से या पैदल सर पर खैप रखकर महिलाओं को डेढ़ किलोमीटर दूर ग्राम खिरिया से पानी लेकर आना पड़ रहा है। वहां पर भी पानी के लिए घंटों इंतजार करना पड़ता है, कभी-कभी वहां से भी खाली हाथ लौटना पड़ता है।

गांव के ही भगवान दास गौर ने बताया कि शासन एक और तो विकास के दावे करती है लेकिन हरिजन आदिवासी पानी के लिए परेशान हो रहे हैं। पंचायत भी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही है। अभी कुछ कम बच्चे कुंवारे हैं, यदि यही स्थिति रही तो कुआरों की संख्या बढ़ जाएगी जो कि वह सभी ओवर एज होते जा रहे हैं। लेकिन कोई उन्हें जल समस्या के चलते अपनी बेटी देने को तैयार नहीं है।

गांव की चंदा रानी, देवा बाई, लक्ष्मी रावत, रचना बाई, राम बाई, नीमा बाई, रीना बाई, मनीषा बाई, सावित्री बाई, राधा बाई, शांति बाई रावत आदि ने बताया कि हम महिलाएं मजदूरी करके अपने परिवार का सहयोग करें या दिन भर पानी को ढोने में अपना समय व्यतीत करें। घर की जल समस्या को देखते हुए बच्चे भी डेढ़ से 2 किलोमीटर दूर से पानी लेकर आते हैं, जिनसे उनकी पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है।

जनप्रतिनिधि बड़ी-बड़ी डींगे हांकते हैं, लेकिन शहर के निकट के इस गांव में जल समस्या का समाधान आज तक नहीं करा पा रहे हैं। गांव में ग्राम सभा की बैठक भी कभी आयोजित नहीं होती, जिससे कि गांव की समस्या का समाधान किया जा सके। सरपंच, सचिव भी जल समस्या के समाधान के लिए कोई प्रयास नहीं कर रहे हैं।

रायसेन, गांव मैं कुंवारे रहने की वजह जानकर रह जाएंगे दंग, आखिर ग्रामीणों ने लगाई प्रशासन से गुहार; देखें वीडियो क्या कहते हैं ग्रामीण।

हम हरिजन आदिवासी बहुल गांव के निवासी जल समस्या से जूझ रहे हैं, जबकि शासन हरिजन आदिवासियों को ऊपर उठाने के खोखले दावे बराबर करता आ रहा है। ज्ञापन में मांग की गई है कि शीघ्र नल जल योजना के माध्यम से या अन्य किसी माध्यम से गांव में पेयजल उपलब्ध कराया जाए ताकि कुंवारों की संख्या बढ़ने से रुक सके और लोग अपनी बेटियां हमारे गांव में देने को तैयार हो सके।

मध्यप्रदेश पंचायत चुनाव 2022 को लेकर बड़ी खबर, राज्य निर्वाचन आयोग ने बताया इस दिन होंगे चुनाव


भोपाल: मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव (MP Panchayat Chunav 2022) को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। दरअसल राज्य निर्वाचन आयोग (state election commission) ने नया निर्देश जारी किया है। जिसके मुताबिक अब पंचायत चुनाव के लिए लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ेगा। इसका मतलब मध्य प्रदेश में पंचायत के चुनाव 25 अप्रैल तक आयोजित किए जाएंगे।

25 अप्रैल तक नहीं होंगे पंचायत चुनाव – बता दें कि जारी निर्देश के मुताबिक 25 अप्रैल तक पंचायत के चुनाव नहीं होंगे। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नए परिसीमन (new delimitation) के आधार पर वोटर लिस्ट (voter list) तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं।

जिसके लिए प्रक्रिया 16 मार्च से शुरू होगी। इसके बाद 4 अप्रैल से लेकर 16 अप्रैल तक इसके लिए दावे और आपत्तियां आमंत्रित किए गए। जबकि 25 अप्रैल को नए वोटर लिस्ट के फाइनल प्रकाशन होंगे। वहीं राज्य में पंचायती राज्य निर्वाचन आयोग वोटर लिस्ट अपडेट करने का कार्य किया जा रहा है. इसके लिए निर्देश जारी किए गए।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव को निरस्त कर दिया गया था। जिसके बाद निर्वाचन आयोग द्वारा नए सिरे से पंचायत का परिसीमन करने के निर्देश दिए थे। वोटर लिस्ट नए परिसीमन के आधार पर ही तैयार किए जाएंगे। इसके अलावा नई बनाई गई नगरीय निकाय और जिन निकाय का क्षेत्र का विस्तार किया गया है। वार्डो का विभाजन शेष है, इन क्षेत्रों को मतदाता सूची अलग से जारी होगी.

ढाई साल से रुके हुए हैं पंचायत चुनाव 
दरअसल, मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव ढाई साल से भी ज्यादा वक्त से रुके हुए हैं। नवंबर दिसबर 2021 में मध्य प्रदेश निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव कराने का ऐलान भी कर दिया था। लेकिन ओबीसी आरक्षण को लेकर चुनाव फिर से निरस्त हो गए। ऐसे में एक बार फिर से राज्य में पंचायत चुनाव कराए जाने की मांग की जा रही है।