Category Archives: #स्वास्थ्य #सेहत

मुलताई की बेटी को मिला राज्य स्तरीय सम्मान पत्र


CHO(कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर) माधुरी पवार को राज्य स्तरीय सम्मान से किया सम्मानित

कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान मध्यप्रदेश का सम्मान पत्र प्रदान किया


कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान के अंतर्गत मध्यप्रदेश ने
“पूर्ण टीकाकरण” में अभूतपूर्व उपलब्धि प्राप्त की है।

कोविड-19 महामारी की पहली और दूसरी लहर में वायरस की रफ्तार को रोक पाना आसान नहीं था। कार्य योजनाओं में स्वयं आगे रहकर बिना रुके, बिना डरे और बिना अपनी जान की चिंता किये चिकित्सकों और चिकित्साधिकारियों ने दिन रात काम किया। सैकड़ों लोगों को काल खींच ले गया लेकिन कुछ चिकित्सकों और चिकित्साधिकारियों की बदौलत लाखों लोगों की जान बची श्रीमती माधुरी पवार ने अभियान में अथक परिश्रम कर समर्पित सेवा भाव से अविस्मरणीय एवं असाधारण कार्य किया है। इस अद्वितीय सहभागिता के लिये “राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्यप्रदेश” आपकी मुक्तकंठ से प्रशंसा करता है।

(प्रियंका दास) मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, मध्यप्रदेश से सम्मानित किया गया

यह कार्यक्रम राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत छिंदवाड़ा जिले के ब्लाक पांढुर्ना में कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान मध्य प्रदेश में सहभागी अधिकारी करचरियों का ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर गुन्नाडे एवं बीपीएम रविंद्र पराडकर बीसीएम एवं अन्य स्वास्थ्य विभाग पांढुर्ना के अधिकारी उपस्थित रहे एवं सम्मान प्रशस्ति पत्र वितरित किया गया

मुलतापी समाचार

आपके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता है

बुधवार 108 कोरोना मरीज मिले, 183 हुए स्वस्थ, एक्टिव केस घटकर 708 हुए।



बैतूल । कोरोना का कहर थमने का नाम नही ले रहा है। जहाँ पूरा देश 73 वे गणतंत्र दिवस का जश्न मना रहे है वही बैतूल जिले में कोरोना अपने पैर पसार रहा है जिससे स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ रही है। पिछले 24 घंटे में जिले में रिकार्ड 108 नए केस मिलने से अब एक्टिव केस की संख्या 708 हो गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार आई रिपोर्ट में 108 पॉजिटिव मरीज निकले है। जिसमें RAT से 06 और RTPCR से 102 मरीज मिले है। उन्हें मिलाकर जिले में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर अब 708 हो गई है। जबकि आज 183 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। बुधवार तक जिले में कुल 783 मरीज एक्टिव थे जो अब घटकर 708 हो गए है। जिले में अब पॉजिविटी रेट 9.76 हो गई है।

सर्दियों में ट्राई करें ये 5 तरह के आटे की रोटी, सेहत के लिए भी रहेगी फायदेमंद


Winter Diet: रोटी भारतीय सात्विक भोजन (Indian Moral Food) का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसे हर घर, हर मौसम में खाया जाता है। जब रोटी चूल्हे पर बनी हो तो उसका स्वाद कई गुना बढ़ जाता है।

सर्दियों (Winter) में कभी-कभी ऐसा भी होता है कि आपका मन गेहूं के आटे से बनी रोटी (Chapati) खाने का नहीं होता और आप उसका विकल्प खोजने लगते है। अगर देखा जाए तो आपके आस-पास कई सारे विकल्प मौजूद होते हैं। तो चलिए आज आपको बताएंगे 5 अन्य तरह के आटे की रोटी के बारे में जिन्हें आप अपने रोज के मेन्यू में शामिल कर सकते हैं। ये आपकी सेहत के लिए भी फायदेमंद हैं।

मक्के की रोटी के फायदे

मक्के की रोटी के फायदे मक्के दी रोटी और सरसों दा साग, सर्दियों का मौसम आते ही मक्के की रोटी पहली पसंद हो जाती है। मक्के की रोटी ना सिर्फ स्वाद में बल्कि सेहत के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद होती है। मक्का में कार्बोहाइड्रेट, मिनरल्स, विटामिन, फोलिक एसिड, कैरोटीन और आयरन की अधिक मात्रा पाई जाती है। जो कई बीमारियों से लड़ने में सहायक है। इससे आपकी इम्यूनिटी भी बढ़ती है।

 बाजरे की रोटी

ज्वार की रोटी के फायदे ज्वार का आटा ग्लूटेन फ्री होता है और सर्दियों के मौसम में ज्वार की रोटी काफी पसंद की जाती है। हड्डियों को मजबूत रखने में सहायक मैग्नीशियम और कैल्शियम भी ज्वार में पर्याप्त मात्रा पाया जाता है, साथ ही ज्वार वजन घटाने में भी मददगार होती है। सर्दियों में ज्वार की रोटी खाने से शरीर का तापमान सही बना रहता है।

कुट्टू की रोटी

बाजरे की रोटी बाजरा बहुत ही फ़ायदेमंद होता है, क्योंकि बाजरा स्टार्च का प्रमुख स्रोत है और यह ग्लूटेन फ्री होता है। जिसके कारण आपको जल्दी भूख भी नहीं लगती और यह आपको लंबे समय तक ऊर्जावान बनाए रखता है। इसके अलावा बाजरा में आयरन, कैल्शियम जैसे कई स्रोत होते हैं। सर्दियों में बाजरे की रोटी गुड़ के साथ खाने का अलग ही मज़ा है।

रागी की रोटी

कुट्टू की रोटी सर्दियों के मौसम में बेहद फायदेमंद कुट्टू का आटा अक्सर व्रत में इस्तेमाल किया जाता है। इसमें विटामिन बी कॉन्प्लेक्स के साथ-साथ विटामिन बी 2 और कई सारे मिनरल्स पाए जाते हैं। कुट्टू की रोटी खाने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर रहता है साथ ही ब्लड प्रेशर से जुड़ी समस्याएं भी दूर रहती है। इसमें मौजूद फाइबर और मैग्नीशियम गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करता है। इसे खाने से हमारे शरीर को गर्माहट मिलती है।

रागी की रोटी रागी आपके शरीर को गर्म रखता है। रागी की रोटी से आपका इम्यून सिस्टम भी स्ट्रांग रहता है। इसलिए सर्दियों में प्रतिदिन एक रागी की रोटी अपने भोजन में शामिल करना चाहिए। इसमें कैल्शियम की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। सर्दियों में लहसुन की चटनी के साथ रागी की रोटी बहुत स्वादिष्ट लगती है।