Tag Archives: अनोखी शादी

आमला में आंगनवाडी कार्यकता आशा कार्यकरता और कोटवार ने सम्‍पन्‍न कराई शादी


आमला के हरदोली में माक्‍स लगाकर मंडे के नीचे खडे शादी संपन्‍न कराकर वर वधु को आर्शीवाद देते हुए आंगनवाडी कार्यकर्ता,आशा कार्यकर्ता और कोटवार

मुलतापी समाचार

कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ है. लोग जहां हैं वहीं फंसे हुए हैं. इसी बीच लोग अपनी शादियां भी टाल रहे हैं. हालांकि कई लोग लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए शादी कर भी रहे हैं और लोगों को प्रेरणा दे रहे हैं.

ऐसी ही एक शादी मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में हुई है जहां ना बाराती आए और ना शहनाई बजी, मास्क भी लगाया और लॉकडाउन का पूरा पालन भी हुआ. इस दौरान पंडित की जगह आंगनवाडी कार्यकर्ता ने आशा कार्यकरता, कोटवार भी मास्क पहने हुए शादी स्‍थल पर मौजूद थे और घर के लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराकर. महज एक घंटे में ये शादी संपन्न कराई.

मामला बैतूल जिले के आमला तहसील के ग्राम पंचायत हरदोली का है, यहां रहने वाले एक परिवार मे यह शादी 6 मई को होने वाली है का पता पूर्व मे ही चल गया था जिसके पश्‍चात कोटवार, आंगनवाडी कार्यकरता और आशा कार्यकार्ता टीम बनाकर शादी समारोह स्‍थल पर पहुचे जहां उन्‍होंने वर वधु काेे सारी रश्‍म और रिवाजों और सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन कराकर शादी सम्‍पनन कराई जिसमें आमला तहसील के ग्राम हरदोली के कोटवार माखन खातरकर आशा कार्यकर्ता प्रमिला चिल्ला टे आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सरस्वती इवने आदी मौजूद थे

लॉकडाउन लागू होने के कारण दोनों परिवारों ने सादगी पूर्ण तरीके से शादी करने का निर्णय लिया और शादी के लिए की गई सभी तैयारियों को कैंसिल करके घर में ही शादी की रस्में अदा करवाई गईं. शादी के दौरान परिवार के ही सदस्य उपस्थित थे और वह सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे थे. सबसे खास बात यह भी थी कि शादी में किसी रिश्तेदार को नहीं बुलाया गया.

मुलतापी समाचार

मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले में हुई अनोखी शादी


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

नरसिंहपुर: मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले में lockdown के बीच एक अनोखी शादी हुई, जिसमें वर-वधू पक्ष को fere कराने के लिए जब कोई पंडित नहीं मिला तो गश्त पर निकली महिला एसआई ने शादी के मंत्र पढ़े और और दिया जलवाकर सात fere लगवाए! एसआई ने वर-वधू को सात वचनों के साथ कानून की जानकारी भी दी!

ताजा किस्सा मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले के गोटेगांव तहसील के गांव झोतेश्वर का है! जिले के श्रीनगर के लक्ष्मण पुत्र टीकाराम चौधरी का अक्षय तृतीया पर इतवारा बाजार निवासी रितु पुत्री राजाराम चौधरी से विवाह तय था! इसके लिए दोनों पक्षों के 8 सदस्य झोतेश्वर के शिव पार्वती मंदिर की परिक्रमा में मौजूद थे! लेकिन विवाह कराने के लिए उन्हें कोई पंडित ही नहीं मिला! अब विवाह हो तो कैसे! इसी बीच झोतेश्वर चौकी प्रभारी एसआई अंजलि अग्निहोत्री गस्त करती हुई जब मंदिर पहुंची तो वर वधु ने समस्या बताइ! इस पर वह खुद पंडित की भूमिका अदा करने को तैयार हो गई!

दूल्हे लक्ष्मण का परिवार पूजन में लगने वाली सामग्री भी नहीं ला पाया था! बताशे तक नहीं थे! उनके पास सिर्फ नारियल ही थे!ऐसे में एस आई अंजलि अग्निहोत्री ने कहीं से शक्कर मंगवा कर मिष्ठान की कमी पूरी की! जब मंत्र पढ़ने की बारी आई तो कुछ मंत्र अंजलि ने पढ़ना शुरू किए और फिर गूगल के सहारे विवाह पद्धति सर्च कर शेष मंत्रों को पढ़कर विवाह संपन्न कराया!

मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल