Tag Archives: कलेक्टर बैतूल

BETUL जिले में लाॅक डाउन के प्रभावी पालन में मदद करेंगे कोरोना वालेंटियर


बैतूल, कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस

कोविड गाइडलाइन उल्लंघन करने वालो की तुरंत शिकायत करें

कलेक्टर डेस्क न्यूज़

मुलतापी समाचार

बैतूल, कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस ने जिले में पंजीकृत कोरोना वालेंटियर्स , समाजसेवियों, स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं आमजन से अपील की है कि वे लाॅक डाउन के प्रभावी पालन में सहयोग प्रदान करें. सोमवार की शाम वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि यदि कहीं लाॅक डाउन का उल्लंघन पाया जाता है तो इसकी जानकारी काॅल सेन्टर के दूरभाष नंबर 07141-1075 अथवा 07141-230098 पर दी जाए.

उन्होंने है कहा कि ग्रामीण अथवा शहरी क्षेत्रों में जहां कहीं कोविड गाइडलाइन अथवा सार्वजानिक आयोजन संबंधी निर्देशों का उल्लंघन हो रहा है उसकी भी सूचना उपरोक्त दूरभाष नंबरों पर दी जाए. जिन स्थानों पर क्वेरंटाइन अथवा आइसोलेशन का उल्लंघन किया जाता है वह जानकारी भी दी जाए ताकि समय रहते उचित कार्रवाई की जा सके .

उन्होंने कहा है कि शहरी क्षेत्रों अथवा गाँवों में अधिकारियों के साथ व्हाटसेप ग्रुप बना कर भी ऐसी सूचनाएं शेयर की जाएं .

कलेक्टर ने दल के साथ कोवला चोर के अवैध उत्खनन पर छापामार कर कार्यवाही की देखे वीडियो


शाहपुर में कोयला खनिज के अवैध उत्खनन पर छापामार कार्रवाई

मुलतापी समाचार

बैतूल कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस द्वारा कोयला खनिज के अवैध उत्खनन की जांच हेतु गठित दल द्वारा शुक्रवार को कोयल खनिज के अवैध उत्खनन पर छापामार कार्रवाई करते हुए अवैध उत्खनित कोयला सहित अन्य सामग्रियां जब्त की गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जांच दल द्वारा शुक्रवार को ग्राम टेमरू में तवा नदी के किनारे के क्षेत्रों में गुफा बनाकर किए जा रहे कोयले के अवैध उत्खनन की जांच की गई। जांच में दल द्वारा अवैध उत्खनन गुफाओं के अन्दर प्रवेश कर अवैध उत्खनन के लिए उपयोग होने वाली पानी खींचने की एक मोटर, सात वॉल कटर, सात सब्बल, भारी संख्या में गैती फावड़े आदि जब्त किए गए। साथ ही चार ट्रैक्टर ट्राली कोयला एवं गुफा के बाहरी क्षेत्र से तीन डम्फर कोयला जब्त किया गया। जांच दल में सहायक कलेक्टर श्री तन्मय शर्मा, खनि अधिकारी श्री ज्ञानेश्वर तिवारी एवं खनि निरीक्षक श्री व्ही के वशिष्ट शामिल रहे। अनुविभागीय राजस्व अधिकारी शाहपुर श्री अनिल सोनी के निर्देशानुसार कार्रवाई में जब्त कोयला एवं औजार आगामी कार्रवाई हेतु सुरक्षा की दृष्टि से तहसील कार्यालय परिसर शाहपुर में रखा गया है।

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=1157397388048180&id=413523802435546

ग्राम पंचायत के विकास कार्यों को ठेके पर लेने नगर पंचायत बनाने पर तुले हुए कुछ लोग?


नगर पंचायत को लेकर गूंजने लगे विरोध के स्वर

बैतूल जाकर किया विरोध प्रदर्शन

बैतूल । बैतूल जिला आदिवासी बहुल जिला होने के साथ-साथ ग्रामीण इलाकों में कई जगह अत्यधिक पिछड़ा हुआ भी है जो शहरी आजीविका एवं नगर पालिका नगर पंचायत आदि के खर्चों को वहन करने में नागरिक असक्षम है वाबजूद इसके कुछ लोग अपना निजी हितो को साधने घोड़ाडोंगरी ग्राम पंचायत को पेसा एक्ट का उल्लंघन कर नगर पंचायत बनाने में लगे हैं वही घोड़ाडोंगरी को नगर पंचायत बनाने को लेकर घोड़ाडोंगरी ग्राम पंचायत क्षेत्र में ही विरोध के स्वर भी गूंजने लगे हैं।

घोड़ाडोंगरी ग्राम पंचायत क्षेत्र के बासन्या, बेहड़ीढाना, बाजारढाना के ग्रामीणों ने घोड़ाडोंगरी को नगर पंचायत बनाने को लेकर बैतूल जाकर विरोध दर्ज कराया है ।

रिटायर्ड फौजी संतोष उइके के नेतृत्व में घोड़ाडोंगरी के लोग बैतूल पहुंचे और उन्होंने कलेक्टर कार्यालय में राज्यपाल के नाम ज्ञापन देकर अपना विरोध दर्ज कराया।

श्री संतोष उइके ने बताया कि ग्राम पंचायत घोड़ाडोंगरी क्षेत्र में अधिकांश आदिवासी वर्ग के लोग रहते हैं और नगर पंचायत बनाने से अनुसूचित क्षेत्रों को और अनुसूचित समाज के लोगों को दिए गए विशेष अधिकारों का हनन होगा ।

शासन द्वारा पेसा एक्ट के तहत अनुसूचित क्षेत्रों के लोगों को कई तरह के अधिकार दिए गए हैं नगर पंचायत बन जाने से यह अधिकार छिन जाएंगे।

उन्होंने बताया कि नगर पंचायत बनाने के लिए 20 हजार की जनसंख्या के प्रावधानों को भी नजरअंदाज किया गया है।

2011 की जनगणना के अनुसार घोड़ाडोंगरी ग्राम पंचायत क्षेत्र की जनसंख्या 8632 है ।

लेकिन 20 हजार मानकर नगर पंचायत बना दी गई है ,जो गलत है हम सभी इसका विरोध करते हैं।

उन्होंने आरोप लगाया है कि घोड़ाडोंगरी को नगर पंचायत बनाने का प्रस्ताव जब ग्राम सभा में लिया गया था तो कोरम पूरा नहीं था और उसके बावजूद प्रस्ताव ले लिया गया।

घोड़ाडोंगरी ग्राम पंचायत को नगर पंचायत बनाने से आदिवासी समाज के हितों पर कुठाराघात होगा।

ग्रामीण मजदूरों को रोजगार देने वाली योजना महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना बंद हो जाएगी ।

ग्राम पंचायत के विकास कार्यों को ठेके पर लेने के लिए कुछ लोग नगर पंचायत बनाने पर तुले हुए हैं ।

लेकिन यह गरीब आदिवासी मजदूरों के साथ अन्याय होगा।

इसलिए हम इसका विरोध करते हैं ।

ग्राम सभा में भी किया था विरोध

महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर आयोजित ग्राम सभा में बासन्या, ओर बाजारढाना के लोगों ने अपने ग्राम सभा क्षेत्र को घोड़ाडोंगरी नगर पंचायत से अलग रखने को लेकर प्रस्ताव भी पारित किया था। बेहड़ीढाना के लोगों ने भी बेहड़ीढाना को घोड़ाडोंगरी नगर पंचायत में शामिल नहीं करने को लेकर ग्राम पंचायत सचिव को आवेदन भी दिया था ।

वही अभी घोड़ाडोंगरी ग्राम पंचायत नगर पंचायत घोषित हो चुकी है शासन द्वारा अपवर्जन की कार्यवाही भी प्रारंभ कर दी गई है।

नगर पंचायत चुनाव के पहले ही घोड़ाडोंगरी में नगर पंचायत को लेकर विरोध के स्वर फूटने से क्षेत्र की राजनीति गरमा गई है।