Tag Archives: कानपुर

फुटपाथ पर खाना बांटते बांटते नीलम से हुआ प्यार, फिर दोनों की हुई शादी


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

कानपुर: कानपुर के बुध आश्रम में नीलम से शादी रचाने वाले अनिल ने शायद सपने में भी नहीं सोचा होगा कि लाकडाउन में वह फुटपाथ पर जिस नीलम को भिखारियों के साथ खाने के पैकेट बांट रहा है वह 1 दिन उसके गले में वरमाला पहनाएगा।

नीलम के पिता नहीं है ,मां पैरालिसिस से पीड़ित हैं। भाई और भाभी ने मारपीट कर नीलम को घर से भगा दिया था। नीलम के पास गुजारा करने के लिए कुछ नहीं था, इसलिए वह लाकटाउन में खाना लेने के लिए फुटपाथ पर भिखारियों के साथ लाइन में बैठती थी। अनिल अपने मालिक के साथ रोज सब को खाना देने आता था। इसी दौरान अनिल को जब नीलम की मजबूरियों का पता चला तो उसे उससे प्यार हो गया। फिर क्या भिखारी की लाइन से निकलकर नीलम सात जन्मों के लिए उसकी हमसफर बन गई। अनिल एक प्रॉपर्टी डीलर के यहां ड्राइवर है । उसका अपना घर है, माता-पिता भाई सब है। जबकि नीलम की जिंदगी फुटपाथ पर भीख मांग कर चलती थी। उसे तो यह उम्मीद ही नहीं थी कि कोई उससे भी शादी कर सकता है।

इस शादी को कराने में अनिल के मालिक ललिता प्रसाद का सबसे बड़ा योगदान रहा। अनिल जब दिन में खाना बांट कर आता था तो उससे नीलम के बारे में बातें करता। ललिता भी उसकी भावना समझ गए। उसके बाद ललिता प्रसाद ने उसके पिता को शादी के लिए राजी किया, और दोनों की शादी करा दी। ललिता प्रसाद का कहना है कि अनिल खाना बांटने हमारे साथ जाता था, फिर उसे उस लड़की से लगाव हो गया। मुझसे इस बारे में चर्चा की तो मैंने इसे रात में भी खाना देने को कहा।फिर अनिल खुद खाना बनाकर देने जाने लगा। उसके बाद मैंने अनिल के पिता को राजी किया सिर्फ दोनों की शादी करवा दी। भगवान की कृपा से दोनों बेटा बेटी खुश है।

मुलतापी समाचार

कोरोना सैनिक-नर्सों, डॉक्टरों से बदसलूकी करने वाले कोरोना संदिग्ध जमातियों का जेल में होगा इलाज


अस्‍पताल मेंं नर्सो से बदसलूकी करने वाले जमातियों पर कैस

तबलीगी जमात में शामिल कोरोना संदिग्धों ने डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ को परेशान करके रख दिया है। जमात में शामिल कई लोग कोरोना से पीड़ित पाए गए है जबकि इस कार्यक्रम में शामिल 9 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

हाइलाइट्स

  • वॉर्ड के बाहर तैनात की गई पुलिस, स्वास्थ्य विभाग कर रहा एफआईआर दर्ज कराने की तैयारी
  • बदसलूकी करने वालों के लिए गाजियाबाद में जेल में वॉर्ड बनाने पर बात चल रही है
  • अस्पताल में नर्सों और डॉक्टरों के साथ बदसलूकी कर रहे हैं जमाती
  • दिल्ली के नरेला और कानपुर में भी मिली हैं बदसलूकी की शिकायत

दिल्ली/गाजियाबाद/कानपुर
निजामुद्दीन मरकज में शामिल कोरोना संदिग्धों की हरकतों ने दिल्ली से लेकर गाजियाबाद और कानपुर तक मेडिकल स्टाफ को परेशान करके रख दिया है। दिल्ली के नरेला आइसोलेशन सेंटर में तो बदसलूक जमातियों से निपटने के लिए आर्मी टीम बुलाई गई है, वहीं गाजियाबाद में ऐसे जमातियों के लिए जेल में ही आइसोलेशन सेंटर बनाने पर विचार शुरू हो गया है। उत्तर प्रदेश में तो मुख्यमंत्री योगी ने नैशनल सिक्यॉरिटी ऐक्ट(रासुका) के तहत ऐसे उपद्रवियों पर ऐक्शन के निर्देश दे दिए हैं। ऐसी भी खबरें हैं कि बदसलूकी करने वालों पर रासुका भी लगाया जा सकता है।

गाजियाबाद के जिला एमएमजी अस्पताल में तो कोरोना संदिग्ध जमातियों ने हदें ही लांघ दी थीं। नर्सों और डॉक्टरों से बदसलूकी के बाद अब जेल में अलग से आइसोलेशन वॉर्ड बनाकर उन्हें वहां भर्ती करने पर भी बात चल रहा है। गाजियाबाद के सीएमओ डॉ. एन. के. गुप्ता ने बताया कि जमातियों के हंगामा करने की शिकायतें मिलीं हैं। स्वास्थ्य विभाग रिपोर्ट दर्ज करवाने की तैयारी कर रहा है। साथ ही पुलिस और जेल प्रशासन से जेल में वॉर्ड बनाने पर बात चल रही है। हालांकि ऐसे उपद्रवियों को जेल भेजने में भी संकट है, क्योंकि वे कैदियों को कोरोना के खतरे में डाल सकते हैं।

नर्सों के सामने उतार रहे हैं कhttp://MultapiSamachar.comपड़े
जमातियों के व्यवहार से अस्पताल प्रबंधन परेशान है। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि जमाती आइसोलेशन के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। वे स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं। नर्सों की मौजूदगी में ही कपड़े उतार देते हैं, जबकि कपड़े बदलने के लिए वॉर्ड में बाथरूम बना हुआ है। ऐसा करने से मना करने पर नर्सों के साथ बदतमीजी कर रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन ने इस संबंध में सीएमओ से शिकायत की है। सीएमओ का कहना है कि पुलिस को मामले की सूचना दी गई है। यदि ये लोग नहीं मानते हैं तो इनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई जाएगी।

योगी का जमातियों पर बड़ा आदेश
जानकारी के मुताबिक बदसलूकी की की घटना के बाद योगी ने निर्देश दिया है कि अस्पताल में जमातियों की देखरेख के लिए किसी महिला को तैनात न किया जाए। बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वह इंदौर जैसी घटनाएं यूपी में बर्दाश्त नहीं करेंगे।

देश में कहां कितने कोरोना मरीज, पूरी लिस्ट

137 जमातियों को किया जा चुका है भर्ती
निजामुद्दीन मरकज से यहां लौटे 137 जमातियों को चार अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती किया गया है। सीएमओ ने बताया कि इनमें से 90 के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। अन्य के भी सैंपल जल्द भेजे जाएंगे। अब तक 90 लोगों को डासना स्थित सुंदरदीप आयुर्वेदिक अस्पताल, 36 को सूर्या अस्पताल मुरादनगर, 5 को एमएमजी, 5 को संजय नगर कंबाइंड अस्पताल में क्वारंटीन किया गया है।