Tag Archives: कृषि उपज मंडी बंद

MP सकल अनाज दलहन तिलहन व्या पारी महासंघ समिति का अनिश्चित काल तक मंडी बंद


मध्य प्रदेश अनाज एवम् तिलहन व्यापारी संघ द्वारा पूरे प्रदेश में सरकार के कृषि नीतियों के विरोध में मंडी बंद रखने का ऐलान किया है जिसके समर्थन में बैतूल अनाज व्यापारी संघ द्वारा मंडी को अनिश्चित काल तक बंद रखने का फैसला किया है।

प्रदेश सरकार मंडी बोर्ड के हठधरमी रवैये के खिलाफ एवं प्रदेश के किसानों की सुरक्षा देने वाली मंडियों को सुरक्षित करने के लिए 50 पैसे मंडी शुल्‍क के लिये 24 सितम्‍बर  गुरूवार से म.प्र. कि सम्‍स्‍त मंडियों में अनिश्चितकाल के लिये पूर्ण रूप से बंद रहेंगी।

इंदौर म.प्र. सकल अनाज दलहन तिलहन व्‍यापारी महासंघ समिति के अध्‍यक्ष गोपालदास अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश सरकार से जून से लगातार पत्राचार व सम्‍पर्क का प्रयास किया गया प्रदेश के मुख्‍यमंत्री एवं कृषिमंत्री व्‍यापारी महासंघ को आश्‍वासन देते रहे। महासंघ सरकार व कृषि विभाग पर विश्‍वास  करता रहा अब सबर का बांध टूट चुका क्‍योंकि ऐसा लगने लगा कि प्रदेश सरकार कर्मचारियों खासकर मंडी बोर्ड के अधिकारियों के दबाव में कार्य करते हुए प्रदेश के किसानों के हितों का ध्‍यान न रखकर मंडियों को बर्बाद करना चाहती है। यदि मंडियों में व्‍यापार नहीं होगा तो मंडी शुल्‍क कहा से आयेगा। व्‍यापारियों में व्‍यापार व्‍यवसाय व मंडी किसान को सुरक्षित करे के लिए मंडी शुल्‍क 50 पैसे करने का प्रस्‍ताव सरकार को दिया है। उसी प्रकार निराश्रित शुल्‍कव अनुज्ञा पत्र की आवश्‍यकता को भी समाप्‍त करने कि बात रखी है। परन्‍तु म.प्र. कृषि उपज मंडी बोर्ड के कर्मचारियों की मांग के लिये तुरन्‍त बोर्ड मिटिंग कर निर्णय लिया परन्‍तु व्‍यापारियों कि मांग 50 पैसे मंडी शुल्‍क पर जो कि किसानों के हित सुरक्षा को ध्‍यान में रखकर की गई है उस पर निर्णय नहीं किया गया। इसलिये 24 सितम्‍बर  से प्रदेश कि मंडियॉ पूर्ण रूप से अनिश्चित काल के लिये बंद रहेगी। इसके लिये प्रदेश सरकार जवाब देह होगी।