Tag Archives: कोरोंना

पत्रकारों को कोविड-19 कव्हरेज में सहयोग के लिये कलेक्टरों को निर्देश – प्रसचिव जनसंपर्क


Multapi Samachar

Bhopal  सचिव जनसंपर्क ने पत्रकारों को कोविड-19 कव्हरेज में सहयोग के लिये कलेक्टरों को दिये निर्देश
भोपाल (हेडलाईन)।  सचिव जनसम्पर्क पी. नरहरि ने पत्रकारों को कोविड-19 संक्रमण के दौरान समाचार कव्हरेज में सहयोग के लिये जिला कलेक्टरों को निर्देश जारी किये हैं। कलेक्टरों से कहा गया है कि राज्य शासन द्वारा पत्रकारों को जारी अधिमान्यता कार्ड को प्राथमिकता दी जाये।

मीडिया संस्थानों अथवा समाचार पत्र कार्यालयों में कार्यरत ऐसे कर्मचारी, जो कोरोना कव्हरेज में सक्रिय रूप से कार्यरत हैं, उनके संस्थान द्वारा जारी फोटोयुक्त परिचय-पत्र को मान्यता दी जाये।

यदि किसी पत्रकार के पास ये दोनों दस्तावेज नहीं हैं, तो जिले के जनसम्पर्क अधिकारी से प्रमाणित कराकर कलेक्टर स्वयं फोटोयुक्त परिचय-पत्र जारी करें।
सचिव पी. नरहरि ने कलेक्टरों से कहा है कि इन तीनों दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज रखने वाले पत्रकारों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाते हुए समाचार संकलन की अनुमति दी जाये।

उन्होंने कहा कि यह भी उचित होगा कि ऐसे पत्रकारों से उनके वाहन के लिये अलग से अनुमति पत्र की मांग न की जाये।

अफवाह मुलताई में कोरोना वायरस का संदिग्‍ध नहीं


कोरोना वायरस पीड़ित को पकड़ने पहुंचे अधिकारी मुलताईं, सौंसर

मुलतापी समाचार

अफवाह मुलताई में, कोरोना वायरस संदिग्‍ध का आगमन हुआ, लेकिन मुलताई में, स्वास्थ्य विभाग की टीम तुरंत निश्चित स्थान पर पहुंची और परिवार के सदस्यों की भी जांच की जांच में पीडि़त नहीं पाया गया

मुलताई में कोरोना वायरस संदिग्ध सूचना मिलने पर मुलताई में हड़कंप संदिग्ध  के बारे में जानकारी प्राप्त कर कोरोना वायरस से बचने के उपाय बताये गए

जांच

सोसर में BMO नंदकुमार शास्त्री ने उसकी जांच की जिसमे प्रथम द्रष्टया पाया कि उक्त व्यक्ति करोंना कोविद 19 का पीड़ित नही है एतिहात के तौर पर उसे छिंदवाड़ा जिला चिकित्सालय भेजा गया है

बैतूल ! मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला बैतूल मध्य प्रदेश डॉ गिरीश चंद्र चौरसिया द्वारा बताया गया कि व्हाट्सएप पर प्रसारित कुछ न्यूज़ पोर्टल एवं संदेश में मुलताई में पाया गया कॉरोना संदिग्ध की खबर पूर्णतः भ्रामक है । उक्त खबर प्राप्त होने पर खंड चिकित्सा अधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मुलताई डॉ उदय प्रताप सिंह तोमर को निर्देशित कर पूरी जांच एवं मॉनिटरिंग कराए जाने बाबत निर्देशित किया गया।
जिस पर मय चिकित्सा अमले के खंड चिकित्सा अधिकारी द्वारा उक्त क्षेत्र की सघन मानीटरिंग करवाई गई एवं संदिग्ध के बाबत पूरी सूचना प्राप्त कर उक्त क्षेत्र में कोई संदेश या संक्रमित नहीं होने बाबत जानकारी प्रस्तुत की गई।
प्राप्त सूचना के आधार पर मुलताई तहसील में गांधी वार्ड निवासी श्याम वल्द धुडल्या पारसे कोरोना वायरस का संदिग्ध पाया गया । रामाकोना सरपंच के भाई की सूचना के अनुसार सौसर से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह संदिग्ध मुलताई का रहने वाला है । कुछ दिन पहले हरियाणा राजस्थान में काम करने के लिए गया था वहां से पीड़ित होने के बाद वह अपनी ससुराल रमाकोना पहुंचा , जहां पर राजस्थान से पुलिस और डॉक्टरों की टीम पहुंची तो पता चला कि वह मुलताई में आया एक-दो दिन यहां रहा और ससुराल वापस चला गया ।
वर्तमान में बैतूल जिले में अभी तक कोई भी कोरोना वायरस से पूर्ण संदिग्ध नहीं हुआ है एवं स्वास्थ्य रक्षा अमला पूरी तन्मयता और तत्परता के साथ स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर गिरीश चंद्र चौरसिया ने बताया कि किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान ना दें । साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें। हांथ साबुन तथा पानी से सफाई से धोएं। भीड़ वाले स्थान पर जाने से बचें। खांसते समय मुंह पर कपड़ा रखें। किसी भी प्रकार की कोई भी बीमारी के लक्षण प्रदर्शित होने पर तत्काल निकटतम स्वास्थ्य केंद्र में जाकर अपनी जांच करवाएं।
स्वास्थ्य विभाग का अमला आपकी स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए पूर्णतः कटिबद्ध है।