Tag Archives: ट्रम्‍प

Chain में कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या पर राष्ट्रपति ट्रंप को संदेह, कहा- हमें कैसे पता?


Multapi Samachar

ट्रंप ने जोर देकर कहा कि चीन के साथ अच्छा संबंध है, लेकिन बीजिंग की पारदर्शिता पर विवाद ने तनाव बढ़ा दिया है।

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कोरोना वायरस की वजह से चीन में होने वाली मौतों की आधिकारिक संख्या पर संदेह जाहिर किया। दरअसल, एक अमेरिकी सांसंद ने खुफिया जानकारियों के हवाले से बीजिंग पर इस मामले को दबाने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि “हम कैसे जानते हैं” कि वे (चीनी सरकार) सटीक आंकड़े दे रहे हैं। ट्रंप ने एक संवाददाता सम्मेलन कहा कि उनकी मौतों की संख्या कम लगती है।

ट्रंप ने जोर देकर कहा कि चीन के साथ अच्छा संबंध है और वह राष्ट्रपति शी जिनपिंग के करीबी हैं। हालांकि, बीजिंग की पारदर्शिता पर विवाद ने तनाव बढ़ा दिया है। चीन ने बुरी भावनाओं को जोड़ते हुए एक साजिश सिद्धांत देते हुए कहा था कि कोरोना वायरस को फैलाने के लिए अमेरिकी सेना दोषी थी। ब्लूमबर्ग द्वारा अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए कांग्रेस में रिपब्लिकन्स ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि बीजिंग ने स्पष्ट रूप से चीन के संक्रमण और मौतों पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को गुमराह किया है, जो साल 2019 के अंत में वुहान शहर में शुरू हुआ था।

ब्लूमबर्ग ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि कुछ खुफिया अधिकारियों ने बीजिंग की तरफ से आधिकारिक रूप से बताए गए मृतकों की संख्या को फर्जी करार देते हुए कहा है कि चीन ने जानबूझकर अधूरी रिपोर्टिंग की है। जिसमें जिसने पिछले हफ्ते व्हाइट हाउस को भेजे गए वर्गीकृत खुफिया दस्तावेज को उजागर किया था। जॉन्स होप्स यूनिवर्सिटी के एक रोलिंग ट्रैकर के अनुसार, चीन ने बुधवार को सार्वजनिक रूप से 82,361 पुष्ट मामलों और 3,316 मौतों की सूचना दी है। वहीं, इसकी तुलना में संयुक्त राज्य अमेरिका में अब तक दो लाख 6 हजार 207 मामले सामने आ चुके हैं और 4,542 मौतें हो चुकी हैं।

रिपब्लिकन सीनेटर बेन सासे ने बीजिंग के नंबरों को “कचरा प्रचार” करार देते हुए कहा कि यह दावा झूठा है कि चीन की तुलना में संयुक्त राज्य अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से अधिक मौतें हुई हैं। किसी भी क्लासीफाइड जानकारी पर टिप्पणी किए बिना उन्होंने कहा कि यह , बहुत स्पष्ट है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने झूठ बोला था, झूठ बोल है और अपने शासन को बचाए रखने के लिए वह कोरोना वायरस के बारे में झूठ बोलती रहेगी।

हाउस फॉरेन अफेयर्स कमेटी के शीर्ष रिपब्लिकन माइकल मैककॉल ने रिपोर्ट का जवाब देते हुए कहा कि COVID-19 के खिलाफ लड़ाई में चीन भरोसेमंद साथी नहीं है। उन्होंने वायरस के इंसान से इंसान में फैलने के बारे में दुनिया से झूठ बोला, सच्चाई को सामने लाने की कोशिश करने वाले डॉक्टरों और पत्रकारों को खामोश कर दिया गया। अब जाहिरा तौर पर इस बीमारी से प्रभावित लोगों और मृतकों की संख्या को वे छिपा रहे हैं।

मुलतापी समाचार