Tag Archives: डॉक्‍टर

डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए दिया मकान,घर को क्वारंटाइन सेन्टर बनाया


मुलतापी समाचार

समीर पाठक

घोड़ाडोंगरी। लॉक डाउन में जनता और सरकार की मदद के लिए अनेकों दानवीर भामाशाह के रूप में सामने आ रहे हैं इसी कड़ी में घोड़ाडोंगरी के युवा समाजसेवी समीर पाठक ने अपना बजरंग कॉलोनी स्तिथ सर्वसुविधा से युक्त 7 कमरो सहित बड़े हॉल और टॉयलेट युक्त घर स्वास्थ्य विभाग को क्वारंटाइन सेन्टर के रूप में उपयोग करने के लिए निशुल्क उपलब्ध कराया है।

मुख्यालय का सरकारी अस्पताल जो कि इन दिनों साफ-सफाई और अच्छे इलाज के लिए जिले में चर्चित है अपने कुशल प्रबंधन और कार्यशैली से अस्पताल को नई रौनक देने वाले डॉक्टर संजीव शर्मा द्वारा कोरोना संक्रमण के इलाज मैं लगे डॉक्टरों को उनके परिवार की सुरक्षा के चलते घोड़ाडोंगरी में ही एक अलग निवास स्थान रहने के लिए चयनित किया गया है ताकि कोरोना मरीजों के इलाज के बाद उन्हें इस घर में परिवार से अलग रखा जाए ताकि डॉक्टरों का परिवार संक्रमण से पीड़ित ना हो जाए। वही ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी संजीव शर्मा द्वारा बताया गया कि कल से हमारी तैयारी प्रारंभ कर दी जावेगी उक्त घर को कर्मचारियों के रहने के लिए चिन्हित किया गया है। युवा समाजसेवी समीर पाठक ने कहा कि जनसेवा के लिए धन की नही आत्म बल की आवश्यकता होती है।

Corona Betul News नवविवाहित डॉक्टर दंपती जुट गए कोरोना सै‍न‍िक जंग में


Coronavirus in Betul News

मुलतापी समाचार

बैतूल ।कोरोना के खिलाफ जारी जंग में वैसे तो विभिन्ना विभागों के कई अधिकारी और कर्मचारी अपना योगदान दे रहे हैं, लेकिन कुछ कोरोना योद्धाओं का योगदान अपने आप में विशिष्ट है। जिले में दो ऐसे उदाहरण हैं और यह दोनों शाहपुर से ताल्लुक रखते हैं।

एक डॉक्टर दंपती जहां शादी के चार दिन बाद ही कोरोना महामारी को देखते हुए ड्यूटी पर पहुंच गए और निरंतर सेवा दे रहे हैं। वहीं दूसरी ओर एक डॉक्टर और उनकी सब इंस्पेक्टर पत्नी भी कोरोना वॉरियर्स के रूप में मुस्तैदी से सेवा में जुटे हैं।

नवविवाहित डॉक्टर दंपती शाहपुर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉ. अक्षय सवाईतुल और डॉ. यूपा वर्मा हैं। युवा चिकित्सक डॉ. अक्षय और डॉ. यूपा 12 फरवरी को ही परिणय सूत्र में बंधे हैं। नई नवेली दुल्हन के हाथों की मेहंदी भी नहीं छूटी थी कि विवाह के चार दिनों बाद ही कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने लॉकडाउन की घोषणा हो गई।

ऐसे में यह दोनों पति-पत्नी सामाजिक रस्मों रिवाज और पारिवारिक आकांक्षाओं को दरकिनार कर अपने कर्तव्य के निर्वहन करने के लिए ड्यूटी पर हाजिर हो गए। विगत एक माह से दोनों दिन-रात अस्पताल में अपनी सेवाएं दे हैं। इसी बीच 26 मार्च को डॉ. यूपा के नानाजी बच्चू भाई चनावाला की भरूच गुजरात में 26 मार्च को किडनी फेल होने से मृत्यु हो गई।

उनके अंतिम संस्कार में भी यह डॉक्टर दंपती शामिल नहीं हो पाए, क्योंकि उन्होंने सेवा को प्राथमिकता दी।

पति चिकित्‍सक, पत्‍नी उपनिरीक्षक

इसी तरह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शाहपुर में ही खंड चिकित्सा अधिकारी के रूप में डॉ. शैलेंद्र साहू और उनकी पत्नी जागृति शाहपुर थाने में उप निरीक्षक के पद पर पदस्थ हैं। डॉ. साहू अभी तक कोरोना के तीन संदिग्ध मरीजों के सैंपल ले चुके हैं और पांच को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया। वे सुबह से रात तक और आकस्मिक सेवाएं दे रहे हैं। डॉ. साहू की पत्नी जागृति भी कोरोना में एक सजग प्रहरी बन कर लोगों को लॉकडाउन के प्रति जागरूक कर रही हैं।