Tag Archives: दामजीपुरा

कोरोना पॉजिटिव मरीज के नाम में हुई गलती, दूसरे युवक को एंबुलेंस में बिठाया – भीमपुर


 गलती पकड़ में आने के बाद वापस क्वारंटाइन सेंटर पहुंचाया और पॉजिटिव को लेकर हुए रवाना

जिले गलती से पॉजिटिव मरीजों के साथ बिठाया उसे स्कूल भवन में किया आइसोलेट

दामजीपुरा। ग्राम झाकस में पहुंचकर कलेक्टर और एसपी ने ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों को दिशा निर्देश दिए।

मुलतापी समाचार

दामजीपुरा । भीमपुर ब्लॉक के ग्राम झाकस में मुंबई से आए 15 मजदूरों में से 3 को कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद शनिवार रात भीमपुर अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती कर दिया गया और शेष 11 मजदूरों को पंचायत भवन से हटाकर हाइस्कूल भवन में शिफ्ट कर दिया गया है। इस मामले में एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। शनिवार की शाम झाकस के पंचायत भवन में क्वारंटाइन किए गए 15 मजदूरों में से 3 के सैंपल रिपोर्ट पॉजिटिव आने की सूचना मिली। इसमें एक 16 साल के किशोर का नाम भी शामिल था। इसके बाद पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने क्वारंटाइन सेंटर से जिल तीन लोगों के पॉजिटिव आने की सूचना मिली थी उन्हें एंबुलेंस में बिठाया और भीमपुर के कोविड वार्ड में भर्ती करने के लिए रवाना कर दिया। झाकस से करीब 10 किमी की दूरी पर जब एंबुलेंस पहुंच गई तब सूचना मिली कि 16 साल के किशोर के स्थान पर एक 19 साल के युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यह खबर मिलते ही प्रशासनिक अधिकारियों और स्वास्थ्य अमले में हड़कंप मच गया। क्योंकि दो पॉजिटिव मरीजों के साथ गलती से एक किशोर को एंबुलेंस में बिठा दिया गया। आनन-फानन में एंबुलेंस केा वापस बुलाया गया और जिस तीसरे मजदूर की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी उसे एंबुलेंस में बिठाया गया एवं जिस किशोर को गलती से ले गए थे उसे उतार दिया गया। रात में ही प्रशासन ने पंचायत भवन में रह रहे शेष 12 लोगों को हाइस्कूल भवन में शिफ्ट किया और जिस किशोर को गलती से पॉजिटिव मानकर एंबुलेंस में बिठा लिया गया था उसे प्रायमरी स्कूल के एक अलग कमरे में आईसोलेट कर दिया गया है। इस पूरी लापरवाही के संबंध में सीएमएचओ से लगातार संपर्क करने का प्रयास किया जाता रहा लेकिन उन्होंने हमेशा की तरह मोबाइल रिसीव करने की जहमत नहीं उठाई।

9 की रिपोर्ट आई निगेटिव

भैंसदेही एसडीएम आरएस बघेल ने बताया कि झाकस के पंचायत भवन में क्वारंटाइन किए गए 15 मजदूरों में से 3 की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के कारण उन्हें कोविड वार्ड भीमपुर में भर्ती कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अमले ने गलती से जिस मजदूर को पॉजिटिव मानकर एंबुलेंस में बिठा लिया था उसे प्राथमिक स्कूल के एक कक्ष में आईसोलेट किया गया है। अन्य 8 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आ गई है जिन्हें अलग से क्वारंटाइन किया गया है। जिन 3 मजदूरों की रिपोर्ट आनी शेष है उन्हें अलग से क्वारंटाइन किया गया है। रविवार की शाम कलेक्टर राकेश सिंह और एसपी डीएस भदौरिया ने झाकस पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया और अमले को संक्रमण रोकने मुस्तैद रहने के निर्देश दिए।

महाराष्ट्र बॉर्डर को किया सील उमरघाट के पास


Multapi Samachar

बैतूल जिले की लास्ट बॉर्डर ग्राम उमरघाट के पास नावघाट पर प्रशासन ने महाराष्ट्र बॉर्डर सील कर दिया। शानिवार 20 मार्च को क्षेत्र के समाजसेवियों, ग्रामीणों के द्वारा पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग को ज्ञापन सौंपकर महाराष्ट्र बॉर्डर सील करने की मांग की गई थी। गांव-गांव में दामजीपुरा क्षेत्र के मजदूर वर्ग जो महाराष्ट्र में मजदूरी करने के लिए गया था वह नोवेल कोरोना वायरस की वजह से अपने गांव में वापस आ रहे हैं इसलिए उनके स्वास्थ्य जांच की मांग की गई थी। स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा लोगों की जांच की जा रही है। साथ ही नोडल अधिकारी के द्वारा निरीक्षण भी किया गया।