Tag Archives: दुकान आवंटन घोटाला

Amla – 20 दुकानदारों ने जमा किए कागज, बिना अनुबन्ध के आवंटित कर दी दुकाने, सामने नही आ रहे कुछ दुकानदार


कलेक्टर ने सौपी एसडीएम को जांच,10 दिन में जांच कर देना होगा प्रतिवेदन

Multapi Samachar

बैतूल। पिछले एक पखवाड़े से जनपद पंचायत द्वारा निर्मित दुकानो को लेकर शिकवे-शिकायतो का दौर जारी है। जनपद सदस्य और ग्रामीणो की शिकायत के बाद मुख्य कार्यपालन अधिकारी संस्कार बावरिया द्वारा दुकानो का निरीक्षण भी किया था और सभी दुकानदारो से जवाब तलब करते हुए नोटिस थमाए थे साथ ही नोटिस का जवाब देने के लिए दुकानदारो को 7 दिन का समय दिया था जिसकी अवधि गुरुवार समाप्त हो रही थी। गुरूवार जनपद पंचायत की दुकान में अपना व्यवसाय कर रहे करीब 10 से 12 दुकानदार जनपद कार्यालय पहुंचे और लिखित में नोटिस का जवाब दिया। दुकानदारो ने सभी दस्तावेज भी जमा किये और उनके द्वारा जो किराया जमा किया गया है उसकी रसीदे भी मुख्य कार्यपालन अधिकारी संस्कार बावरिया को सौपी। वही दुकानदारों का कहना था कि उनसे किसी प्रकार का अनुबंध किया ही नही गया है जबकि जनपद सीईओ के मुताबिक बिना अनुबन्ध के दुकाने आवंटित की ही नही जा सकती थी ।मिली जानकारी के मुताबिक जनपद सीईओ द्वारा दिए गए नोटिस के जवाब का गुरुवार आखिरी दिन था बावजूद इसके गुरुवार को भी 10 से 12 दुकानदार ही नोटिस का जवाब देने पहुंचे थे। जबकि 20 दुकानदारों से कागजात जनपद सीईओ के पास पहुच गए है वही 3 दुकानदारों ने अभी तक कागजात सौपे ही नही है ।सूत्रो द्वारा बताया जाता है कि वास्तव में जो दुकानदार सही है और जिनके नाम पर दुकाने है वे ही गुरुवार जनपद कार्यालय पहुंचे है। बाकी दुकानदार जिन्होने गोलमाल करके दुकाने आवंटित करवाई है वे अभी भी नोटिस का जवाब लेकर जनपद नहीं पहुंचे है।  

बड़े व्यापारियो को भी दे दी दुकान:-


मिली जानकारी के अनुसार जनपद पंचायत की दुकान आवंटन में ग्रामीण बेरोजगारो को नजरअंदाज कर शहर के बड़े व्यापारियो को मोटी रकम लेकर दुकाने दी गई है। ज्यादातर दुकाने ऐसे व्यापारियो को दी गई है जिनकी पहले से ही शहर में कई दुकाने है और लाखो का व्यापार है। इन व्यापारियो द्वारा फर्जी तरीके से ग्राम में अपने नाम जुड़वाकर या अपने रिश्तेदारो या भरोसेमन्द लोगो के नाम पर दुकाने ले रखी है और अब इन दुकानो को 10 से 12 हजार रूपये महिने का किराया लेकर किराये पर चला रहे है।  


एसडीएम को सौपा जांच का प्रभार:-


विधायक और जनपद सदस्यों द्वारा लगातार दुकान आवंटन को लेकर आरोप प्रत्यारोप लगाये जा रहे थे जनपद सदस्यो द्वारा जिला कलेक्टर को शिकायत पत्र प्रस्तुत कर 6 बिन्दुओ पर जांच की मांग की गई थी वहीं ग्रामीण बेरोजगारो के द्वारा भी दुकान आवंटन को लेकर काफी सवाल खड़े किये जा रहे थे इन सबको देखते हुए जिला कलेक्टर द्वारा बुधवार जनपद पंचायत में निर्मित दुकानो की निलामी एवं आवंटन प्रक्रिया के संबंध में बिन्दुवार जांच करने के लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मुलताई को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। पत्र में 10 दिवस में जांच कर जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए है।

मुलतापी समाचार