Tag Archives: बालाघाट

पवार समाज की प्रतिभाएँ हुई सम्मानित, सफल हुआ आयोजन


बैतूल। राष्ट्रीय भर्तृहरि विक्रम भोज पुरस्कार समिति भारत का पहला आयोजन 7 जुलाई 2019 को पांढुर्ना में, दूसरा आयोजन 2 फरवरी 2020 को छिंदवाड़ा में और तीसरा सफल आयोजन 17 अप्रैल 2022 को मुलताई तहसील के ग्राम डहुआ में आयोजित हुआ।

कार्यक्रम तीन सत्रों में आयोजित किया गया पहले सत्र के अध्यक्ष श्री गुलाबराव जी कालभोर, अतिथि कैप्टन एलआर पवार, श्रीमती लक्ष्मी बारंगे, श्रीमती सविता बारंगे, श्री भागचंद देशमुख, श्री सुरेश देशमुख नागपुर, श्रीमती निधि बारंगे छिंदवाडा़, श्रीमती हेमलता डहारे भोपाल, राष्ट्रीय क्षत्रिय महासभा कार्यकारिणी सदस्य श्रीमती पुष्पलता बारंगे, विशेष अतिथि श्री पीएल बारंगे रहे।

द्वितीय सत्र के अध्यक्ष श्री डॉ. एनडी राऊत नागपुर, मुख्य अतिथि डॉ विजय पराड़कर छिंदवाडा, अतिथि डॉक्टर दमयंती कटरे प्राध्यापक छिंदवाडा़, डॉ. जयश्री चौधरी बारंगे नागपुर रहे।

तृतीय सत्र के अध्यक्ष डॉक्टर मानसिंह परमार पूर्व कुलपति पत्रकारिता इंदौर, मुख्य अतिथि कर्नल श्री अरुण पठाडे नागपुर, विशिष्ट अतिथि आर के पी रहांगडाले DGM, BSP छत्तीसगढ़, श्री शक्ति सिंह परमार संपादक स्वदेश, सुश्री मेघा परमार पर्वतारोही, कामनवेल्थ जूडो में गोल्ड मेडल विजेता कपिल परमार, विशेष आमंत्रित अतिथि श्री प्रदीप कालभोर आईएएस रहे।

बैतूल जिले की मुलताई तहसील मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम डहुआ में मां कामख्या देवी मंदिर परिसर में सैकडो की संख्या में राष्ट्रीय भर्तृहरि विक्रम भोज पुरस्कार समिति भारत के तृतीय प्रतिभा सम्मान समारोह में भाग लेने आए पंवार समाज के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत दो दर्जन से अधिक प्रतिभाओ एवं मंचासिन लोगो को समिति की ओर से पुरूस्कृत कर सम्मानित किया गया ।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि जवाहर नेहरु कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर के कुलपति डॉ. पीके बिसेन, पूर्व कैबिनेट मंत्री और मुलताई विधायक सुखदेव पांसे, बैतूल विधायक निलय डागा, जिला क्षत्रिय पवार समाज संगठन के जिलाध्यक्ष श्री बाबूलाल कालभोर एवं समाज के सैकडों पदाधिकारियों की मौजूदगी में पवार – परमार वंश के देश-प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत लोगों को बतौर मुख्य एवं अतिथी के रूप में बुलवाया गया था। सेना, पत्रकारिता, लेखन, कुश्ती, पर्वतारोहण, खेलकूद, कला, संस्कृति, सरकारी सेवाओ, स्कूलों के टॉपर छात्र-छात्राओं को सम्मान राशि के संग सम्मान दिया गया ।

कार्यक्रम में बैतूल, रोंढा, बैतूलबाजार, भारतभारती, आमला, सारणी, पाथाखेड़ा, मुलताई तहसील के गांव से, साथ जिले के बाहर  होशंगाबाद, इटारसी, भोपाल, इंदौर, पीतमपुर, ग्वालियर, हरदा, सिवनी, बालाघाट, छिंदवाडा़, मोहखेड़, पांडुर्णा, सौसर, बिछुआ, परासिया, अमरवाड़ा और प्रदेश के बाहर पुणे, रायपुर, मुंबई, नागपुर, वर्धा, चंद्रपुर, गोंदिया, गाडरवारा आदि स्थानों से समाज सदस्य और समाज की प्रतिभाएँ उपस्थित रही।

कार्यक्रम का शुभारंभ समाज के पूर्वज पुरुषों, मां कामाख्या, मां गढ़कालिका और चक्रवर्ती सम्राट राजा भोज की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर प्रारंभ किया गया। सभी अतिथियों का स्वागत कन्याओं द्वारा तिलक लगाकर और श्रीफल भेंट कर किया गया। सर्वप्रथम तबला वादन गौरव पवार चौधरी सारनी ने अपनी प्रस्तुति दी, इसके बाद श्रीमती निशा हजारे द्वारा स्वागत गीत, श्री बलवंत कड़वेकर द्वारा प्रस्तावना भाषण और पुरस्कार समिति की विकास यात्रा बताई गई। कुमारी आकांक्षा पवार भिलाई दुर्ग के द्वारा गणपति वंदना नृत्य प्रस्तुत किया गया। गौरव ओंकार पाथाखेड़ा सारणी द्वारा शिव तांडव नृत्य, कुमारी आकांक्षा पवार भिलाई दुर्ग द्वारा नृत्य, ओशिन धारे भोपाल द्वारा प्रभु जी मेरे अवगुण चित ना धरो भजन, कुमारी कनक भोपाल नृत्य, कुमारी रौनक भोपाल द्वारा देशभक्ति नृत्य की प्रस्तुति दी गई।

ये हस्तियाँ हुई सम्मानित —– सेना में सम्मानजनक पद पर रहने वाले और 11 मेडल प्राप्त करने वाले श्री कर्नल अरुण पठाडे, कैप्टन संतोष कौशिक, फाइटर प्लेन विशेषज्ञ श्री भगवत बुआड़े, स्वदेश के संपादक और राष्ट्रवादी पत्रिका के प्रतीक श्री शक्ति सिंह परमार, चिकित्सा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले डॉ अशोक बारंगा, डॉक्टर जीवन किंकर, डॉ अमित राहंगडाले, सामाजिक उत्थान के लिए श्री मनीराम बारंगे, श्री दिनकर राव बुवाड़े, श्री बृजलाल गोहिते, श्री दयाराम महाजन, श्री बालकृष्ण पटेल, श्री कन्हैयालाल बुआड़े, खैरीपेका में कई सालों से सामूहिक विवाह का आयोजन सफलतापूर्वक आयोजित कराने वाले श्री कृष्ण कुमार ढोबले और श्रीमती निवेदिता ढोबले, श्री प्रदीप कालभोर आईएएस, श्री नामदेव रबड़े आईईएस, मुलताई क्षेत्र से पहले यूपीएससी क्लियर कर आबकारी अधिकारी बने वाले श्री निलेश पवार, सुश्री मेघा परमार पर्वतारोही और बेटी बचाओ अभियान की ब्रांड एम्बेसेडर, श्री शंकर पवार पत्रकार, श्री विजय बारंगे जोनल मैनेजर एयरटेल, शासकीय सेवा में उत्कृष्ट कार्य करने वाले डॉक्टर एम एस परमार कुलपति, श्री प्रकाश बारंगे, प्रधानमंत्री श्रम श्री अवार्ड से सम्मानित श्री पंचम कालभोर मुलताई और श्री फगनलाल पवार सेरके, श्री संतोष पवार बुआड़े एनटीपीसी में सेवारत, स्वर्गीय डॉक्टर अशोक पराड़कर और अशासकीय सेवाओं के लिए श्री राजेश बारंगे खरपतवार निवारण में शोध और नियंत्रण में पेटेंट पुरस्कृत, स्व. गोपीनाथ कालभोर ग्रामीण पत्रकारिता पुरस्कार से सम्मानित श्री राम किशोर पवार रोंढा, श्री संजय पठाडे, श्री सुंदरलाल देशमुख शिक्षा पुरस्कार के लिए श्रीमती प्रभावती पवार उन्होंने 2005 से 2022 तक बेस्ट टीचर अवार्ड से नवाजा गया है। सुखवाड़ा द्वारा ₹31000 का पुरस्कार कुमारी शिवानी पवार डोंगरे राखीढाना छिंदवाड़ा, स्वर्गीय मोहनलाल पवार स्मृति छात्रवृत्ति राशि ₹15000, 5 छात्रों में बांटी गई जिसमें कुमारी शिवानी पवार विजयवाड़ा, कुमारी विजेता पवार रिधोरा, प्रतीक सेरके उमरानाला, प्रियांशु गोहिते, कुमारी आरती बिसेन तिरोड़ा सभी हायर सेकेंडरी स्टेट टॉपरों को ₹3000 की राशि, प्रशस्ति पत्र, श्रीफल से पुरस्कृत किया गया। स्वर्गीय काशीबाई कृष्णराव पराड़कर की स्मृति में ₹5000 की राशि 5 बच्चों में समान रूप से बांटी गई जिसमें कुमारी लवीना जगदीश कोड़ले बैतूल बाजार, कुमारी शिवानी देवा से वर्धा, कुमारी प्रतिक्षा पवार फरकाड़े, कुमारी कृतिका धारे उमरानाला, कुमारी रानी गाडरे को 1000 रुपये, प्रशस्ति पत्र और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया। दीक्षा श्रिया बुआड़े छात्रवृत्ति राशि 5000 रुपये के लिए कुमारी अदिति पवार छिंदवाड़ा को सम्मानित किया गया

समाज की त्रिदेवियां जिन्होंने वैवाहिक जीवन में विपरीत परिस्थितियों के बावजूद अपनी स्वयं की पहचान स्थापित करके सम्मानजनक मुकाम हासिल किया है जिसमें श्रीमती आदित्या पवार डोंगरे मैनेजर ग्रामीण बैंक, श्रीमती नीतू बारंगे मैनेजर एसबीआई बैंक, श्रीमती निधि बारंगे उपभोक्ता फोरम सदस्य जज एवं शोधार्थी पीएचडी शामिल है को प्रशस्ति पत्र, पवारी साहित्य और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया।

पवार परिणय, पवार मेट्रोमोनियल, सुखवाड़ा, सुखवाड़ा जीवनसाथी एप एडमिन श्रीमती अनीता दिनेश बुआडे़, श्री बलवंत कड़वेकर, श्री विजय बारंगे, श्री नामदेव बारंगे, श्री महेंद्र डिगरसे, श्री अजय डहारे, श्री संतोष कौशिक, श्री हरीश घागरे, श्री मिथिलेश गाकरे, श्री चंदन पवार, श्री श्याम पवार, श्री दिनेश कुमार पवार सभी को समाज के विवाह योग्य सदस्यों की जानकारी संकलित कर समाज में सजा करने के लिए प्रशस्ति पत्र, श्रीफल देकर सम्मानित किया गया।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचकर समाज और देश का नाम गौरवान्वित करने वाली महिला कुश्ती में रजत पदक विजेता कुमारी शिवानी पवार डोंगरे के पिता श्री नंदलाल पंवार डोंगरे राखीढाना छिंदवाड़ा, शिक्षा नवाचार के लिए श्री उदल पवार श्रीमति गीता पवार, श्रीमती निशा हजारे, श्रीमती प्रभावती पवार, श्री संजीव बारंगे, श्री हितेश पठाडे को प्रशस्ति पत्र, पवार साहित्य और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया।

रक्तदान के लिए श्री शंकर पवार पत्रकार, श्री बीआर पवार शिक्षक, विधवा महिला सम्मान नानी बाई डिवटया, निरक्षर महिला सम्मान श्रीमती जेएल परिहार भोपाल, श्री गोवर्धन पवार छिंदवाड़ा, कुमारी प्रियंका चोपडे़ कराटे, आशीष चोपडे़ कराटे, कुमारी अविशा बारंगे मुलताई भोपाल कराटे, कुमारी नीतू कालभोर एनसीसी मार्गदर्शक, सारांश पवार और मनीषा पवार बुआडे़ गाडरवारा शिक्षा नेग, इंजीनियर अंशु पवार पिंजारे टेमझिरा भारतीय रेल्वे में 11 वी रैंक, डॉक्टर राजू एस पवार चिकाने की धर्मपत्नी श्रीमती ममता पवार, कुमारी पल्लवी परिहार पोहर राष्ट्रीय बाल विज्ञान, कुमारी काजल पवार पाठेकर पोहर टेनिश बाल क्रिकेट, कुमारी मुस्कान पवार शतरंज, कुमारी भूमि ओमकार कैरम, कुमारी हर्षिता बारंगे आईसस्टॉक, कुमारी सोनिया बारंगे सॉफ्टबॉल, कुमारी गुंजन कड़वे सॉफ्टबॉल, कुमारी कशिश बोबडे सॉफ्टबॉल, कुमारी कुमकुम डहारे सॉफ्टबॉल, युवराज चौधरी सॉफ्टबॉल, लीना कालभोर बाल विज्ञान, कुमारी रुहानी परिहार विज्ञान प्रदर्शनी, कुमारी रितु धारे उमरानाला, भविष्य डोगरदिए, कु. दिव्या कोड़ले जिला टॉपर सभी जूनियर राज्य और राष्ट्र प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय भर्तृहरि विक्रम भोज पुरस्कार समिति भारत में सबसे अधिक बच्चों का मनोरंजन करने वाले राहुल चोपड़े बिछुआ ने क्यूबिक की सहायता से जिन्होंने लता मंगेशकर गणेश जी शिवाजी महात्मा गांधी जैसे महान हस्तियों की प्रतिमा बनाकर पूरे देश में ख्याति अर्जित की है आकर्षण का केन्द्र रहे। कुमारी जिज्ञासा देशमुख बैतूल, श्री रामकिशोर पवार रोंढा स्वतंत्र पत्रकारिता के साथ तीन किताबें लिख कर समाज में लेखन में प्रसिद्धि पाने वाले पत्रकार, श्रीमती शकुंतला बारंगे कैंसर पीड़ितों को बाल दान, श्री नामदेव बारंगे और श्रीमती शकुंतला पवार सेरके, श्री बलराम डहारे मंडीदीप और टीम, श्री तान्बाजी बारंगे पांढुर्ना, श्री योगेश पवार बैतूल, डॉक्टर संदीप परिहार बैतूल, डॉ गेन्दलाल फरकाड़े, श्री हरिशंकर पठाडे मुलताई को प्रशस्ति पत्र और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया।

अंत में आयोजन समिति, मां कामाख्या देवी मंदिर समिति डहुआ, ग्राम पंचायत डहुआ, बलराम बारंगे और उनकी टीम को प्रशस्ति पत्र और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया। साथ ही भोजन व्यवस्था टीम, मंच पंडाल और बैठक व्यवस्था, प्रचार प्रसार की टीम, कैमरा मैन सहित सभी को प्रशस्ति पत्र और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया।

तृतीय राष्ट्रीय भर्तृहरि विक्रम भोज पुरस्कार डहुआ में श्री प्रकाश नारायण बारंगे अध्यक्ष सतपुड़ा पवार समाज समिति सारनी और श्रीमती पुष्पलता प्रकाश नारायण बारंगे सदस्या राष्ट्रीय क्षत्रिय पवार महासभा द्वारा राजभोज की 40 प्रतिमाएँ सभी सेवा निवृत्त सैनिक भाइयों और वरिष्ठजनों को भेट की गई।

इस भव्य आयोजन में कार्यक्रम में राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य श्री जगदीशचन्द्र पवार, लक्ष्मण धोटे, श्रीमती निशा हजारे, श्रीमती अर्चना जगदीश पवार, श्री गोविंदा हजारे, श्री रमेश सरोदे, श्री अमित बुआड़े, श्री बीआर कालभोर, श्री रणवीर प्रताप सिंह, श्रीमती कृष्णा हजारे, श्री बलराम बारंगे, दिनेश कुमार गाकरे, धुरेन्द्र बारंगे, सुभाष बारंगे, कमलेश करदाते, अनिल मदन बारंगे, राजेश बारंगे, इमरत बारंगे, कक्कु कड़वे, सुधीर परिहार, सरिता बलराम बारंगे, सुशीला युवराज बारंगे, प्रतिभा दिनेश गाकरे, सरोज बाई पटेल, लता करदाते, सीता बारंगे, जया कड़वे, संगीता हजारे,श्री जगन्नाथ पाठेकर, प्रदीप डिगरसे रोंढा, लक्ष्मीनारायण पंवार, अविनाश देशमुख, कमल पंवार, सुधाकर पंवार, झनक कडवे, अजय पंवार, अखिलेश परिहार का विशेष सहयोग रहा।

श्री इंदल चिकाने, मोहन बुआड़े, अशोक ओंकार, बंशीलाल बारंगे, अशोक बारंगे, अनिल कौशिक, राधेश्याम नागर, राधेश्याम डहारे, प्रकाश चौधरी, शंकर पठाडे, श्री राजा पवार, श्री राजू पवार, श्री जगदीश पवार, तरुण कालभोर, मोहित पवार पत्रकार, निलेश कोड़ले, जगदीश पंवार पत्रकार छिन्दवाडा, कृष्ण कुमार बारंगे, मुन्नालाल कसारे, गजानन पवार, सेवानिवृत सैनिक अशोक पंवार, अजय पवार पत्रकार, मनमोहन पवार, श्री पलाश कड़वे, अंकित कड़वे, मोनू पवार, मनोज बारंगे, जबलपुर से श्री अमर फरकाड़े, श्री धर्मदास बोबडे, श्री दुर्गेश पाठेकर, श्री तेजी लाल पिंजारे, श्री नंदलाल बारंगे, श्यामराव देशमुख, प्रदीप माटे, दिनेश डिगरसे, एम आर देशमुख, मदन महाजन, रोशन चौधरी, श्रीमती बिल्लो पवार, श्रीमती ज्योति देशमुख, श्रीमती रेखा पवार, श्रीमती सरोज पवार, श्रीमती कविता डिगरसे, कुमारी सविता फरकाड़े, श्रीमती हेमलता बारंगे, श्रीमती आशा पवार, श्रीमती मंगलेश्वरी पवार, श्रीमती संगीता पवार सहित सैकड़ों की संख्या में पवार समाज के जनमानस उपस्थित रहे।

आज डहुआ में होगा क्षत्रिय पवार प्रतिभाओं का महाकुंभ


राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतिभाओं का सम्मान होगा कुलपति के हाथों, 85 % या उससे अधिक अंक लेकर हाई स्कूल हायर सेकेण्डरी परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले बच्चों को भी किया जायेगा पुरस्कृत।

मुलताई डहुआ। राष्ट्रीय भर्तृहरि विक्रम भोज पुरस्कार समिति भारत के तृतीय प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन माँ कामाख्या देवी मंदिर परिसर डहुआ मुलताई में  17 अप्रैल 2022, दिन रविवार, सुबह 10 बजे से राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पवारी प्रतिभाओं का महाकुम्भ आयोजित हो रहा है.

इस आयोजन में राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पवार समाज की प्रतिभाओं का सम्मान कुलपति के हाथों किया जायेगा। विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय उपलब्धि हेतु लगभग डेढ़ लाख रुपये की राशि पुरस्कार के रुप में बांटी जायेगी और 30 हजार रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान की जायेगी।

इस अवसर पर जिला, संभाग, राज्य स्तर की प्रतिभाओं के साथ साथ 85 % या उससे अधिक अंक लेकर हाई स्कूल हायर सेकेण्डरी परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले बच्चों को भी पुरस्कृत किया जायेगा। ऐसे बच्चे आयोजन दिनाँक को अपनी मूल अंक सूचि दिखाकर और एक फोटो कापी जमा कर पुरस्कार राशि और प्रशस्ति पत्र प्राप्त कर सकेंगे।

खेड़ी के पास भीषण हादसा, नाले में जा गिरी कार, कार जलकर खाक, 1 की मौत


बैतूल। बैतूल से खेड़ी मार्ग पर भीषण दर्दनाक हादसा हो गया। नेशनल हाइवे से गुजर रही एक कार अनियंत्रित होकर नाले में घुस गई। इसके बाद कार में आग लग गई और वह खाक हो गई। घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई है। जबकि आधा दर्जन लोग घायल हैं। इनका इलाज चल रहा है।

जानकारी के मुताबिक बालाघाट का बोपचे परिवार धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने फोर्ड  कार से उज्जैन जा रहा था। बैतूल से खेड़ी के बीच कार अनियंत्रित हो कर पुल से टकराते हुए नीचे जा गिरी। कर में 2 छोटी बच्चियां सहित कार चालक युवक के अलावा 5  अन्य सदस्य शामिल थे। घटना में कार चालक की मौत हो गई। अन्य लोग घायल हैं। जिनका उपचार चल रहा है।

बताया जाता है कि दुर्घटना रात करीब 2 बजे की है। कार अनियंत्रित होकर नाले में जा गिरी। कार में 2 बच्चे और 5 बड़े लोग सवार थे। जिसमें शैलेश गणेश टेमरे (29), कृष्ण बोपचे (22), सोहनलाल रूपचंद बोपचे (52) दुर्गावती सोहनलाल बोपचे (45) सहित पूरा परिवार मौजूद था। कृष्ण ड्राइविंग कर रहा था। जिसकी बैतूल हॉस्पिटल ले जाते वक्त मौत हो गई। बाकी अन्य लोग घायल हैं, जिन का इलाज बैतूल हॉस्पिटल में चल रहा है।

पुलिस के अनुसार जानकारी मिली है कि नींद के झोंके में कार अनियंत्रित होने के कारण दुर्घटना घटी है। हादसे में फोर्ड कंपनी की इको कार जलकर पूरी तरह से खाक हो गई है। आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

केंद्रीय राज्य मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल के अनूपपुर अल्पप्रवास का कार्यक्रम…


भारत सरकार पर्यटन एवं संस्कृति मंत्रालय केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रह्लाद सिंह पटेल के अनूपपुर अल्पप्रवास का कार्यक्रम (4-6 जून 2020)

Multapi samachar

अनूपपुर/ भारत सरकार पर्यटन एवं संस्कृति मंत्रालय केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रह्लाद सिंह पटेल 4 से 6 जून तक अनूपपुर के अल्पप्रवास में आएँगे जारी कार्यक्रम के अनुसार 4 जून शाम 6:45 पर श्री पटेल का अमरकंटक (अनूपपुर) आगमन एवं सर्किट हाउस अमरकंटक में रात्रि विश्राम होगा 5 जून प्रातः 7 से 8 बजे तक आप पुष्कर सरोवर रामघाट में श्रमदान अभियान में शामिल होंगे प्रातः 9:30 से 10 बजे धार्मिक आध्यात्मिक गुरुओं से चर्चा करेंगे प्रातः 10 से 11:30 बजे तक स्थानीय जनप्रतिनिधियों से चर्चा करेंगे इसके पश्चात् 11:30 बजे से स्मार्ट सिटी, सिंचाई एवं जल संसाधन पर्यटन आदि विषयों पर ज़िला प्रशासन एवं सम्बंधित अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करेंगे बैठक उपरांत श्री पटेल अन्य स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होंगे रात्रि विश्राम अमरकंटक में रहेगा 6 जून को प्रातः 10 बजे आप अमरकंटक से जबलपुर के लिए प्रस्थान करेंगे…

मनरेगा से रोजगार देने में बालाघाट जिला प्रदेश में प्रथम स्थान पर


बालाघाट मध्यप्रदेश – एक लाख 23 हजार मजदूरों को मिल रहा है रोजगार बालाघाट जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जाबकार्ड धारकों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए मनरेगा के अंतर्गत जल संरक्षण एवं जल संवर्धन एवं हितग्राही मूलक कार्य कराये जा रहे है। मनरेगा के अंतर्गत जिले के एक लाख 23 हजार 64 मजदूरों को रोजगार मिल रहा है। मनरेगा के अंतर्गत इतनी अधिक संख्या में ग्रामीण जाबकार्ड धारकों को रोजगार देने के मामले में बालाघाट जिला प्रदेश में प्रथम स्थान पर है। इतनी अधिक संख्या में प्रदेश के किसी अन्य जिले में मजदूरों को काम नहीं मिला है। चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में मनरेगा के कार्यों में मजदूरी पर 20 करोड़ रुपये की राशि व्यय की जा चुकी है।

17 लाख मानव दिवसों का रोजगार सृजित जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती रजनी सिंह ने बताया कि 22 मई 2020 की स्थिति में बालाघाट जिले की 684 ग्राम पंचायतों में कुल 5246 कार्य प्रगति पर है। इनमें 4520 कार्य हितग्राही मूलक कार्य है और 726 कार्य सामुदायिक कार्य है। इन कार्यों में 2076 कार्य जल संरक्षण एवं जल संवर्धन से जुड़े है। मनरेगा के अंतर्गत चल रहे इन कार्यों से जिले के एक लाख 23 हजार 64 मजदूरों को रोजगार मिला हुआ है। कोरोना महामारी संकट के दौर में जिले में 20 अप्रैल से मनरेगा के कार्यों को प्रारंभ किया गया है। 20 अप्रैल से 22 मई 2020 तक जिले में मनरेगा से 17 लाख मानव दिवसों को रोजगार सृजित किया जा चुका है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती सिंह ने बताया कि कोरोना संकट के दौर में बालाघाट जिले में एक लाख 04 हजार मजदूर बालाघाट जिले में अन्य राज्यों से वापस आये है। बाहर से आये मजदूरों के जाबकार्ड बनाकर उन्हें भी मनरेगा में काम दिया जा रहा है। बालाघाट जिले में मनरेगा से प्रदेश में सबसे अधिक एक लाख 23 हजार 64 मजदूरों को काम मिल रहा है। इतनी अधिक संख्या में प्रदेश के किसी अन्य जिले में मजदूरों को काम नहीं मिल रहा है। इस प्रकार बालाघाट जिला मनरेगा में अधिक संख्या में मजदूरों को रोजगार दिलाने में मध्यप्रदेश में प्रथम स्थान पर है। कोरोना संकट के दौर में अधिक से अधिक मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए पूर्व मंत्री एवं विधायक श्री गौरीशंकर बिसेन ने जलाशयों की नहरों से सिल्ट निकालने एवं नहरों के सुधार व सफाई कार्य मनरेगा से कराने का सुझाव दिया था। जिससे वर्षा ऋतु के बाद धान फसल की सिंचाई के लिए नहरों से किसानों को सुगमता से पर्याप्त पानी दिया जा सकेगा। मनरेगा के अंतर्गत जिले के सर्राटी, चावरपानी, मुरूमनाला, वैनगंगा नहर प्रणाली, गांगुलपारा, भंडारखोह, मौरिया, भिमोरी, आमगांव, पोंगार, गायमुख, परसाटोला जलाशय की नहरों एवं मेंडकी एवं वारासिवनी शाखा की 218 किलोमीटर लंबाई की नहरों की सिल्ट निकालने एवं सुधार कार्य के लिए 03 करोड़ 44 लाख 50 हजार रुपये की मंजूरी प्रदान की गई है। इसी प्रकार 40 तालाबों के सुदृढ़ीकरण कार्य के लिए 03 करोड़ 83 लाख 76 हजार रुपये की मंजूरी प्रदान की गई है। नहरों एवं तालाबों के सुदृढ़ीकरण कार्यों से 02 लाख 97 हजार 438 मानव दिवसों का रोजगार सृजित होगा।

एक लाख 08 हजार मजदूरों को मास्क का किया गया वितरण
कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए मनरेगा के कार्यों में पूरी सावधानी बरती जा रही है। सभी मजदूरों को मास्क लगाकर या मुंह पर गमछा बांधकर काम करने की सलाह दी गई है। इसके साथ ही काम के दौरान दो व्यक्तियों के बीच कम से कम 06 फिट की दूरी बनाये रखने की भी सलाह दी गई है । मनरेगा में काम कर रहे एक लाख 08 हजार मजदूरों को मास्क का वितरण किया जा चुका है। मनरेगा के कार्य स्थल पर मजदूरों के लिए पीने के पानी की भी व्यवस्था की गई है।

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल