Tag Archives: बैतूल के जंगलों में संचालित जुआ अड्डा

जुंआरियों के लिए जंगल सुरक्षित अड्डा बना- टेटरमाल और बोड़ रोड़ जंगल


मुलतापी समाचार

बैतूल । बीजादेही थाना क्षेत्र इन दिनों जुएं के अड्डे चलाने वालों को सबसे सुरक्षित जोन नजर आने लगा है। अब जो जानकारी चर्चाओं में सामने आ रही है उसके अनुसार जुंआरियों ने टेटरमाल और बोड़ के जंगल को अपना नया सुरक्षित अड्डा बना रखा है। यहां भी लग्जरी गाडिय़ों की आवाजाही शुरू हो गई है। कहा जा रहा है कि इटारसी, होशंगाबाद, लोकल शाहपुर, भौंरा, चोपना आदि क्षेत्र से भारी संख्या में जुंआरी टू-व्हीलर और फोर व्हीलर से जंगल में मंगल मनाने जा रहे है। 

  जिस तादाद में इन लोगों की आवाजाही हो रही है उससे आसपास के आदिवासी दहशत में है। बताया जा रहा है कि कि इसकी सूचना ग्राम कोटवारों के माध्यम से पुलिस तक भी पहुंच चुकी है, लेकिन पता नहीं क्यों जुंआरियों में पुलिस को लेकर जरा भी खौफ नहीं है। जुएं के अड्डे चलाने वाले जुंआरियों को भरोसा दिलाते है कि कोई परमिशन जैसी चीज है। जिससे जुंआरियों में पुलिस को लेकर खौफ नहीं है। हालांकि जुएं के अड्डे चलाने वाले झूठ भी बोल सकते है, लेकिन लोगों का मानना है कि जब तक पुलिस की दबिश नहीं होगी। तब तक जुंआरियों में खौफ पैदा नहीं होगा और यह अड्डे ऐसे ही चलते रहेंगे। 
एक अनुमान के मुताबिक यहां पर हर दिन 1 लाख से लेकर 5 लाख रूपये तक की नाल ही कट रही है। यदि नाल से जुएं की फड़ का अंदाजा लगाया जाए तो यह लाखों में होगी। इतने बड़े पैमाने पर जुएं के अड्डे चलने से कई तरह के असामाजिक तत्वों की आवाजाही इस ग्रामीण क्षेत्र में बढ़ रही है। जुएं के अड्डे पर खाने-पीने के लिए हर तरह का साजो साज सामान उपलब्ध है। इससे समझ आता है कि बौड़ और टेटरमाल के जंगल में एक तरह का खुला केसिनों ही चल रहा है।