Tag Archives: बैतूल जिले की खबरें

अतिथि शिक्षकों का हो रहा शोषण, फिर कैसा शिक्षक दिवस शिक्षकों ने सौंपा ज्ञापन


मुलतापी समाचार

बैतूल। संयुक्त अतिथि शिक्षक संघ बैतूल द्वारा अतिथि शिक्षकों की नियमितिकरण की मांग को लेकर शनिवार मुख्यमंत्री के नाम से जिला प्रशासन और भाजपा के जिला अध्यक्ष बबला शुक्ला को ज्ञापन सौंपा।संघ के जिला अध्यक्ष केसी पंवार व चिंताराम हारोड़े ने बताया कि अतिथि शिक्षक विगत 13 वर्षो से अल्पवेतन पर शासकीय शालाओं में अध्यापन कार्य कर रहें हैं। वेतन के नाम पर मात्र वर्ग 3 को पांच हजार, वर्ग 2 को सात हजार रूपए, वर्ग 1 को नौ हजार रूपए दिया जा रहा है। वेतन में से भी छुट्टियों को वेतन नहीं मिलता है। प्रमोद जागरे व अब्रान शाह ने बताया कि अतिथि शिक्षक का पद भी स्थाई नहीं होता है। इन 13 वर्षो में आंदोलन, हड़ताल व धरना प्रदर्शन, भुख हड़ताल के माध्यम से मांग की गई परन्तु कोई निष्कर्ष नहीं निकला।

मुख्यमंत्री सिर्फ घोषणा और आश्वासन ही देते रहें हैं। अनिल चौकीकर व प्रकाश सूर्यवंशी ने बताया कि हमारी मांगों को ना मानने का खामियाजा प्रदेश सरकार को उपचुनाव में उठाना पड़ेगा। दयानंद साहू व कैलाश पाटिल ने बताया कि अतिथि शिक्षकों को शोषण हो रहा है ऐसे में शिक्षक दिवस मनाना बेमानी लगता है। अतिथि शिक्षकों की मांग पर बबला शुक्ला ने कहा कि वे अतिथि शिक्षकों की बात को मुख्यमंत्री तक पहुंचाएंगे। ज्ञापन सौंपते समय अजाबराव पाटिल, दुर्गेश मनोटे, माधोसिया मन्नासे, खेमराज झरबड़े, आनंद भौंडे, राजेश ठाकरे, बसंत विश्वकर्मा, राजेश बर्डे, विमल चंदेलकर, राजेश चौकीकर, अखलेश सोनपुरे, नारायण हुरमाड़े, राजेन्द्र मालवीय, योगेश वामनकर, विजय डोंगरे, धमेन्द्र साहू, दीपक गोचरे, राजू पंडागरे, आशीष कोकने, मुनीराज हारोड़े मौजूद थे। 

जाच के इंतजार में सलैया छतरपुर वासी


बडा खुलासा

ग्राम पंचायत सूचना के अधिकार के अधिकारियों को बना रखा है बाबूजी

क्या पंचायती राज में कार्यवाही मौखिक की जाती है

क्या छूट भईय्ये नेताओं के इशारों पर चलते हैं पंचायती राज के कार्य

एक कदम सतर्कता एवं स्वच्छता की ओर

चला रहे ग्रामीण सहायक रोजगार दो– दो पंचायतों को l

ऐसी क्या विडंबना है पंचायती राज की

।।। जहां सक्षम सूचना के अधिकार के अधिकारी होने के बावजूद दिया गया ग्रामीण सहायक रोजगार को प्रभार ? ।।।

Multapi Samachar

घोड़ाडोंगरी । मध्यप्रदेश के बैतूल जिला घोड़ाडोंगरी विकासखंड में आए दिन नए-नए कारनामे होते रहते हैं। कोई रोड का रोड हजम कर जाता है तो कोई चौपाल। कहीं रिकवरी निकलती है चौपाल की तो सिर्फ मात्र 30,000 देखने में यह भी आया है कि पंचायती राज के कई कर्मचारी नालियों को तो पूरी तरह से हजम कर चुके हैं। तो कहीं खेत तालाब के नाम पर किस्तों में पूरी राशि हजम कर ली जाती है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पंचायतों में आजकल एक दौर चल पड़ा है शासकीय फंड को किस तरह से हजम किया जाए। खेत तालाब के नाम पर निकाला जा रहा हैं फंड।
हमने भाग 1 में दर्शाया था आर ई एस तालाबों की एक बाढ़ सी आई। जिसको पाने के लिए क्षेत्र के छूट भैय्ये नेताओं में एक होड़ सी लगी हुई थी। हर कोई अपने अपने छूट भैय्ये साथियों को साथ लेकर आर ई एस के कार्यालय में अपनी अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाते हुए किसी ने जिले से तो किसी ने प्रदेश से जुगाड़ लगाया। आर ई एस तालाब निर्माण कार्यों को अपने हाथों या अपने साथियों के हाथ में लेने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाते हुए कुछ छूट भैय्ये नेताओं ने आर् ई एस के तालाबों पर अपना कब्जा जमा लिया। नतीजा यह हुआ क्षेत्र के कई तालाबो की हल्की सी बारिश ने पंचायती राज के अधिकारियों के साथ ही साथ पंचायत के यंत्री हो या आर ई एस के उपयंत्री की पोल खोलते हुए करप्शन किस तरह किया गया प्रशासन को सच का आइना दिखाया। क्षेत्र वासियों में आक्रोश देखने को मिल रहा है पंचायती राज के प्रति। वरिष्ठ सूचना के अधिकार के अधिकारियों की जिसे पंचायती राज में सचिव के नाम से जाना जाता है कद्र नहीं करते हुए ग्रामीण सहायक रोजगार को दिए जा रहे हैं दो-दो ग्राम पंचायते। जिस तरह से ग्राम पंचायत सलैया एवं छतरपुर में सक्षम अधिकारी होते हुए ग्रामीण सहायक रोजगार को दिए गए प्रभार।

सच को सच झूठ को झूठ लिखता हूं इसलिए लोगों को मैं बुरा लगता हूं

विगत 5 वर्षों की ग्राम पंचायत सलैया एवं छतरपुर की जांच की जाए तो कहीं तरह के बड़े मामले सामने आ सकते हैं। जिसे बड़े पैमाने पर पंचायती राज के फंड को किस तरह से हजम किया गया।

डॉ जाकिर शेख एडिटर मध्य प्रदेश

Breaking News बैतूल के सेलगांव में ट्यूबवेल ज्वलनशील पदार्थ निकला, भीड ने मचायी लूट video


बैतूल – बड़ी खबर आ रही है मध्यप्रदेश के बैतूल जिले से

Multapi Samachar

जहाँ बरसात के मौसम में ट्यूबवेल से अपने आप पानी उगलते तो देखा सुना होगा। लेकिन कोई ट्यूबवेल ज्वलनशील पदार्थ उगले तो हैरानी तो होती है. आज ऐसा ही एक बोर देखा गया जिससे कि डीजल जैसा पदार्थ बाहर निकल रहा है. जिसे देख ग्रामीण दंग रह गए.

साईंखेड़ा थाना क्षेत्र में आने वाले चारबन गांव के पास सेलगांव पंचायत में सालों से बन्द पड़े बोर में डीजल निकल रहा है. ग्रामीणों ने दो दिन पहले देखा था तभी से लोग यहाँ से कुप्पी, बाटल भरकर ले जा रहे है. लोगों के द्वारा ट्यूबवेल में हाथ डालकर कच्चे तेल जैसे पदार्थ को अपने घर ले जा रहे है।

गांव के लोगो का कहना है की पूरे दिन खड़े रहने पर भी उनका नम्बर नही लग रहा लोगो ने अपने डम्पर ट्रेक्टर गाड़ी सबके टैंक फुल कर लिए है

साईंखेड़ा पुलिस को जब इसकी सूचना मिली टीआई रत्नाकर हिंगवे और बैतूल से पीएचई  विभाग की टीम यहा पहुुची है.

साईंखेड़ा थाना टीआई रत्नाकर हिंगवे ने बताया है कि
सालों से बन्द पड़े बोर से दो दिन पहले पानी बहना शुरू हुआ और उसके बाद से कच्चे तेल जैसा पदार्थ बहने लगा है जिसे ग्रामीणों ने देखा उसके बाद लोगो की भीड़ यहाँ लग गई और तेल को भरकर ले जा रहे थे पुलिस मौके पर पँहुची है और लोगो को यंहा से दूर किया है बोर को निगरानी में लिया गया है.

मुलतापी समाचार

देखेे पुरा विडियों

मुलतापी समाचार का युटूब चैनल लाइक करें,सबस्‍क्राइब करें, शेयर जरूर करें

कोरोना मरीज 16 मरीजों को कोरोना से मिला छुटकारा


बैतूल। हमलापुर स्थित कोविड सेंटर से मरीजों को स्वस्थ होने पर घर विदा करते सेंटर प्रभारी रजनीश शर्मा।

मुलतापी समाचार

बैतूल।जिले में मरीजों द्वारा कोरोना बीमारी को हराकर स्वस्थ होने एवं घर पहुंचने का सिलसिला लगातार जारी है। सोमवार 10 अगस्त को 27 वर्षीय युवक निवासी पटेल वार्ड बैतूल, 25 वर्षीय युवती निवासी सेलगांव सेहरा, 20 वर्षीय युवक एवं 4 माह का बालक निवासी गोविन्द कालोनी आमला, 25 वर्षीय युवती निवासी रेल्वे कालोनी आमला, 45 वर्षीय पुरूष निवासी शाहपुर, 21 वर्षीय युवक, 45 वर्षीय पुरूष, 50 वर्षीय पुरूष निवासी हेटी विकासखंड मुलताई, 25 वर्षीय युवक निवासी रानीपुर विकासखंड घोड़ाडोंगरी, 30 वर्षीय युवक निवासी बारव्ही सेहरा, 29 वर्षीय युवक निवासी महात्मा फुले वार्ड पाथाखेड़ा, 43 वर्षीय महिला निवासी महावीर वार्ड लिंक रोड बारस्कर कॉलोनी बैतूल, 40 वर्षीय पुरूष निवासी टेलीफोन कालोनी बैतूल, 23 वर्षीय युवक, 48 वर्षीय महिला निवासी पटेल वार्ड इटारसी रोड बैतूल कोरोना से स्वस्थ हुये। इन सभी व्यक्तियों को शुभकामनाएं देकर विदा किया गया।

Breaking महिलावाड़ी में बहा मुलताई निवासी लक्की का शव बोकाखेडी की नदी में मिला, एक ग्रामीण की तलाश जारी


बोकाखेडी डेम से अबतक दो शव बरामद हुए अन्‍य की खोज जारी

बाढ़ में बहे लोग मुलताई निवासी  युवक का मिला शव  एक ग्रामीण की अभी भी तलाश 


नदी में बहे व्यक्ति की लाश बुकखेड़ी डेम में मिली। दो बाइक नाले मेेेें म‍िली।

मुलताई। छिंदवाड़ा हाईवे से ग्राम महिलावाड़ी जाने वाले मार्ग पर स्थित कालापाठा डैम नदी पर बनी पुलिया पर बुधवार रात में हुई तेज बारिश के चलते बह रहे पानी के बहाव की चपेट में आने से मुलताई निवासी युवक बाइक समेत बह गया था वहीं इसी पुलियापर बाढ़ की चपेट में आने से ग्राम खड़क वार निवासी  दो ग्रामीण भी बाइक समेत बह गए थे गुरुवार दोपहर में एक ग्रामीण का शव बुका खेड़ी डैम में  गोताखोरों ने खोज लिया था जबकि मुलताई निवासी युवक और एक ग्रामीण की तलाश जारी थी  एसडीएम सी एल चनाप ने बताया कि शुक्रवार सुबह पुलिया से लगभग 500 मीटर दूर ग्रामीणों को मुलताई निवासी लक्की पिता कैलाश बारंगे का शव मिला है

बोकाखेडी डेम से अबतक दो शव बरामद हुए अन्‍य की खोज जारी


       गौरतलब है कि नगर के कन्या हायर  सेकेंडरी स्कूल के पास रहने युंवक लक्की  बारंगे  बुधवार रात में महिलावाडी के पास नदी की पुलिया पर तेज पानी के  बहाव में  बाइक समेत बह गया।  जबकि दूसरी बाईक पर सवार गजामारढाना (खड़कवार)  निवासी कृष्णा डिगरसे और रघुनाथ देशमुख  भी पुलिया पार करने के दौरान तेज बहाव के चपेट में आ जाने से  बाईक समेत बह गए  गुरुवार सुबह एस डी आरएफ की टीम द्वारा मोटर बोट से और गोताखोरों ने डैम में खोजबीन आरंभ की दोपहर में ग्राम गजामार ढाना निवासी रघुनाथ देशमुख 50 साल शव  मिल गया था लेकिन शाम तक लक्की  बारंगे और कृष्णा का पता नहीं चल पाया था रात में खोज अभियान  रोक दिया गया था एसडीएम श्री चनाप ने बताया कि शुक्रवार सुबह  ग्रामीणों को लक्की की बाईक जिस  स्थल पर नदी में मिली थी उससे कुछ दूरी पर लक्की बारंगे का शव मिला है जबकि कृष्णा की तलाश की जा रही है

  खोजबीन के दौरान युवक की बाइक के साथ एक और बाइक नदी के बहाव में फंसी मिली। ऐसी स्थिति में दो लोगों के बहने की आशंका बनी हुई है। 

बताया जा रहा है कि मूलताई का युवक लक्की बारंगे अपने दोस्त आकाश विश्वकर्मा और दीपेश धारपुरे के साथ बुधवार को ग्राम परसठानी गया था। रात में तीनों लोग बाइक से मुलताई लौट रहे थे। रात में तेज बारिश होने के चलते महिलावाड़ी मार्ग पर स्थित पुलिया पर पानी का तेज बहाव होने के बावजूद लक्की बारंगे बाइक लेकर पुलिया पार करने की जिद करने लगा। जिस पर आकाश और दीपेश बाइक पर से उतर गए। लक्की बाइक लेकर पुलिया पर पहुंच गया । पानी के तेज बहाव में वह बाइक समेत बह गया। आकाश और दीपेश भागकर ग्राम महिला वाड़ी पहुंचे और सरपंच दिनेश पठाडे को जानकारी दी। दिनेश पठाडे ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंचे। 

  पुलिस को सूचना देने के साथ ग्रामीणों के साथ नदी किनारे खोजबीन भी की सूचना पर एएसआई रणधीरसिंह राजपूत भी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों के साथ नदी में खोजबीन की तो लक्की बारंगे की बाइक हौंडा शाइन के साथ एक और बाइक नदी में मिली । सरपंच दिनेश पठाडे ने बताया दूसरी बाइक हीरो सीडी डीलक्स है। पंजीयन नंबर के आधार पर बाइक स्वामी गजामारढाना (खड़कवार)  निवासी कृष्णा डिगरसे के नाम से पंजीकृत है। इस आधार पर कृष्णा के परिजनों को सूचना देकर मौके पर बुलाया परिजनों ने बताया कि कृष्णा बुधवार को बैंक से रुपए निकालने मुलताई गया था। कृष्णा की पत्नी कविता ने पुलिस को बताया कि बुधवार रात 9  बजे मोबाइल पर कॉल किया तो स्विच ऑफ आया। गुरुवार सुबह करीब 11 बजे एनडीआरएफ और नगर रक्षा के गोताखोर बुकखेड़ी डेम में व्यक्ति की डेड बॉडी निकली गई। वहीं बाइक पर सवार युवक का पता नहीं चल पाया है।

Corona को LOCK DOWN से नहीं, प्रबंधन से नियंत्रित किया जाएगा- कलेक्टर राकेश सिंह


BETUL / MULTAPI SAMACHAR

कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमण अब लॉकडाउन की बजाय बेहतर प्रबंधन से नियंत्रित किया जाएगा, जिसके लिए समूचे जिले में निगरानी व्यवस्था को मजबूत किया गया है। जिले में प्रवेश करने वाली समस्त सीमाओं पर चेकपोस्ट बनाए गए हैं, जहां बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी संकलित की जा रही है। ऐसे लोगों के नाम एवं पते संबंधित नगरीय निकाय / ग्राम पंचायत को प्रदाय किए जाते हैं। नगरीय निकाय/ग्राम पंचायत बाहर से आने वाले लोगों को 14 दिनों के लिए होम क्वारेंटाइन करते हैं। होम क्वारेंटाइन व्यवस्था पर निगरानी के लिए समूचे जिले में बड़ी संख्या में अधिकारियों-कर्मचारियों की तैनाती की गई है। ये अधिकारी सतत् भ्रमण कर लोगों का होम क्वारेंटाइन सुनिश्चित करवा रहे हैं।

मुलतापी समाचार

कोरोना हेल्‍थ न्‍यूज: लॉकडाउन के दूसरे दिन रविवार को 10 लोगाें की रिपोर्ट आई पाॅजिटिव, बैतूल के डॉक्टर सामिल


कोरोना हैल्‍थ रिपोर्ट बैतूल
  • बैतूल शहर में बच्चों का डॉक्टर सहित 6, 
  • पाथाखेड़ा में 1, वहीं 
  • आमला 1, 
  • चिचोली में सीहोर से लौटे युवक की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई
  • मुलताई के अम्बेडकर वार्ड में एक व्यक्ति  जो की पूर्व में कोरोना मरीज के संपर्क में  आया था पॉजिटिव आया है । 

जिले में कुल पाॅजिटिव केस 271  हो गए हैं। राहत की बात यह है कि 181 लाेग ठीक होकर घर भी लौट गए हैं। अब एक्टिव केस 74 रह गए हैं।बैतूल शहर के महावीर वार्ड में पाॅजिटिव आया डॉक्टर, जिला अस्पताल में पदस्थ है। आर्यपुरा का डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव : इधर शहर के आर्यपुरा क्षेत्र का एक डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाया गया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्राइवेट उपचार करने वाला यह डॉक्टर बच्चों का उपचार करता था। लेकिन डॉक्टर महावीर वार्ड में कोरोना पॉजिटिव पाए गए कुछ मरीजों को घर पर बॉटल लगाने गया था। उन मरीजाें की प्राइमरी संपर्क हिस्ट्री में डाॅक्टर के आने के कारण उसका भी सैंपल लिया था। तहसीलदार ओमप्रकाश चोरमा ने बताया आर्यपुरा का एक डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाया गया है। उसके घर के आसपास कंटेंटमेंट एरिया बनाया है। 

अधिकांश पाॅजिटिव दूसरे शहर से लौटने वाले : जिले में अधिकतर मामले बाहर से लौटने वालाें के सामने आ रहे हैं। शहर के टिकारी में पटना से लौटा युवक, महावीर वार्ड में विजयवाड़ा से लौटी महिला संक्रमित निकली।

वहीं पाॅजिटिव के संपर्क में आकर टेलीफाेन कॉलोनी निवासी 40 वर्षीय पुरुष,

पटेल वार्ड निवासी 23 वर्षीय युवक,

पटेल वार्ड निवासी 48 वर्षीय महिला के अलावा

महात्मा फुले वार्ड पाथाखेड़ा की 56 वर्षीय महिला,

हरण्या चिचोली में सीहोर से लौटा 23 वर्षीय युवक पाॅजिटिव पाया गया।


मुलताई में रात में आया पॉजिटिव केस 

– मुलताई नगर के आंबेडकर वार्ड में एक युवक जो पिछले दिनों आये कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क  आया था तथा उसे भोपाल से गाड़ी में लाया था, वह रविवार को देर रात पॉजिटिव पाया गया| मामले की पुष्टि SDM मुलताई द्वारा की गई| 

कोल नगरी की हालत ख़राब
कोविड-19 कोरोना वायरस का संक्रमण दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है। कोल नगरी पाथाखेड़ा में अब संक्रमितों की संख्या बढ़कर 34 हो गई है। रविवार सुबह 56 वर्षीय महिला की रिपोर्ट कोरोना वायरस पॉजिटिव आई। इससे पहले भी वार्ड नंबर 31 के इसी परिवार के दो सदस्य पॉजिटिव आए हैं। पाथाखेड़ा क्षेत्र में 26 दिनों के भीतर 34 केस सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। वहीं प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा सतत दौरा किया जा रहा है। फेस मास्क, हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करने के निर्देश दिए जा रहे हैं। इसके अलावा पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क वाले लोगों को चिह्नित कर उनके कोरोना सैंपल लिए जा रहे हैं। रविवार को डॉ. मनोज सूर्यवंशी व उनकी टीम द्वारा वार्ड नंबर 35 में संक्रमित व्यक्ति के संपर्क वाले 18 लोगों के कोरोना सैंपल लिए गए।

एक से चार अगस्त तक सम्पूर्ण जिले में पूर्ण लॉक डाउन उल्लंघन करने पर होगी कार्रवाई


3 अगस्‍त की रात्री तक ही रहेगा पूर्ण लॉक डाउन

इस आदेश मे क्राइसेस मेनेजमेंट टीम द्वारा बैठक में अमीटमेंट कर दिया गया है जिसके बाद बैतूल जिले में 4 नहीं अब सिर्फ 3 अगस्त तक ही रहेगा लाॅक डाउन

मुलतापी समाचार

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने समूचे बैतूल जिले में शनिवार एवं रविवार 01 अगस्त एवं 02 अगस्त को पूर्ण लॉकडाउन घोषित किया है। साथ ही आगामी त्यौहारों के कारण बाजारों में होने वाली संभावित भीड़ एवं लोगों की व्यापक आवाजाही के कारण कोरोना वायरस को नियंत्रित करने हेतु आगामी सोमवार एवं मंगलवार 03 अगस्त एवं 04 अगस्त को भी लॉकडाउन घोषित किया है, फलस्वरूप शुक्रवार 31 जुलाई की सायं 8 बजे से मंगलवार 05 अगस्त की प्रात: 5 बजे तक जिले के सभी नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र में पूर्ण लॉकडाउन प्रभावी रहेगा।कलेक्टर ने आमजन से अपील है कि वे लॉकडाउन के दौरान अपने घरों से पैदल अथवा वाहनों से न निकलें। लॉकडाउन के दौरान इंसिडेंट कमाण्डर सहित पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारी समूचे जिले में सतत् गश्त करेंगे। आपातिक चिकित्सा कारणों को छोडक़र सभी व्यक्तियों को अपने घरों से निकलना पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। उन्होंने कहा है कि बेवजह घर से बाहर निकलने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।लॉकडाउन के दौरान व्यवस्थाएं इस प्रकार रहेगीं

———————–

लॉकडाउन के दौरान नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सभी तरह की दुकानें (मेडीकल स्टोर को छोडक़र) पूरी तरह से बंद रहेंगी।

आपातिक चिकित्सा कारणों को छोडक़र सभी व्यक्तियों का अपने घरों से निकलना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

बैतूल जिले की सीमा के अंदर सभी नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में माल वाहनों को छोडक़र आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा।प्रात: 6 बजे से प्रात: 8 बजे तक समाचार पत्रों एवं दूध की मात्र डोर-टू-डोर डिलेवरी की अनुमति रहेगी।बैतूल जिले की सीमाओं में किसी भी तरह के ऐसे दो पहिया या चार पहिया यात्री वाहन जिन्हें बैतूल जिले के किसी नगर या ग्राम में आना है, का प्रवेश पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा, परन्तु ऐसे वाहन जो हाईवे के माध्यम से मात्र सडक़ पर ही रहेंगे एवं आगामी जिले में प्रवेश करेंगे, वे समुचित प्रमाण पत्र एवं जानकारी देते हुए आवागमन कर सकेंगे।अंतर्जिला एवं अंतर्राज्यीय माल वाहन तथा रेल्वे से माल का परिवहन एवं लोडिंग-अनलोडिंग लॉकडाउन अवधि में की जा सकेगी। लोडिंग-अनलोडिंग में कार्यरत मजदूर/हम्मालों की आवाजाही संबंधित प्रतिष्ठान के स्वामी/संचालक से प्राप्त परिचय पत्र दिखाकर आवाजाही कर सकेंगे।रेल्वे से यात्रा कर बैतूल जिले में आने वाले यात्रियों को रेल्वे स्टेशन से जिले की सीमा में अन्य शहर या ग्राम में यात्रा करने के लिए मेडिकल टीम से अनुमति प्राप्त करना अनिवार्य होगा।पूर्व आदेशों के अनुक्रम में पूर्व व्यवस्था अनुसार अत्यावश्यक सेवाओं में कार्यरत कर्मी जैसे मेडीकल प्रोफेशनल्स, नर्सों तथा पैरा-मेडीकल स्टाफ, सेनिटेशन कर्मचारी, एंबुलेंस, दूरसंचार सेवाएं, विद्युत प्रदाय के कार्य, शासकीय कार्यालय एवं नगरपालिका के कार्य एवं उसमें लगे सभी कर्मी, अधिकारी/कर्मचारी लॉकडाउन अवधि में अपना परिचय पत्र दिखाकर आवागमन कर सकेंगे।उक्त लॉकडाउन अवधि में जिले के नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित समस्त पेट्रोल/डीजल पम्प बंद रखे जाएंगे।

किन्तु बैतूल जिले की सीमा में नागपुर-भोपाल हाईवे, बैतूल-इंदौर हाईवे, मुलताई-छिंदवाड़ा, मुलताई-वरूड़, खेड़ीसांवलीगढ़ से अमरावती, बैतूल-खण्डवा, घोड़ाडोंगरी-परासिया के मुख्य मार्गों पर स्थित पेट्रोल पम्प जो नगरीय क्षेत्र की सीमा से बाहर हैं, खुले रहेंगे।कलेक्टर का यह आदेश आमजनता को संबोधित है एवं एकपक्षीय पारित किया गया है।

इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 तथा एपिडेमिक एक्ट 1897 के तहत मप्र शासन द्वारा जारी किए गए विनियम दिनांक 23 मार्च 2020 की कंडिका 10 के अंतर्गत भारतीय दण्ड संहिता की धारा 187, 188, 269, 270, 271 के अंतर्गत दंडनीय है एवं उल्लंघनकर्ता के विरूद्ध इन धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी।

Real कोरोना योद्धा है पत्रकार,कोरोना योद्धाओं का सीएमओ ने किया सम्मान


multapi samachar

आमला. नगर पालिका सीएमओ एच. आर.खाड़े ने कोरोना योद्धा कलमकारों का सम्मान किया साथ ही सीएमओ ने तहसीलदार नीरज कालमेघ ओर जनपद सीईओ संस्कार बावरिया का भी सम्मान किया इस मौके पर नगरपालिका सीएमओ एच. आर.खाड़े ने कहा कि नगर के कलमकारों ने विषम परिस्थितियों में भी अपनी अहम भूमिका निभाई है सतत कोविड-19 में शहर के हित मे कार्य किया है कलमकारों ने अपनी कलम से रोजाना प्रशासन को अवगत कराया है हमारी कमिया और खामिया को भी उजागर किया है लेकिन कही ना कहीं शहर के हित मे ही कार्य किया है जिसके चलते आज पूरे जिले में कोरोना पाजिटिव मरीज की सख्या काफी कम है और जो कोरोना के मरीज पाए गए है वो भी बहार से आने वाले ही निकले और आमला शहर में निवासरत एक भी कोरोना के मरीज नही निकले कही ना कहीं कलमकारों के अवगत कराने से कोविड- 19 में कोरोना के मरीज कम निकले है इस लिए आज शहर के सभी कोरोना योद्धा कलमकार सम्मान के काबिल है इस लिए आज कोरोना योद्धाओं का सम्मान किया गया है इस मौके पर तहसीलदार नीरज कालमेघ ने कहा कि कोविड-19 शहर के हित के लिए कलमकारों ने सराहनीय कार्य किया है इसीलिए आज कलमकारों का सम्मान कर आभार व्यक्त किया गया है।

कोरोना की रोकथाम के लिए सजग रहे सीएमओ 

विगत तीन माह से कोरोना काल के चलते शासन प्रशासन काफी एक्टिव दिखाई दिया वही शहर में नगरपालिका सीएमओ भी काफी एक्टिव दिखाई दिए नपा सीएमओ एच आर खाड़े द्वारा लगातार शहर में सम्पर्क बनाया गया और सजगता से कोरोना की रोकथाम में अपनी भूमिका निभाई आज पत्रकार सम्मान समारोह और कोरोना को लेकर चर्चा में सीएमओ खाड़े ने कहा कि आगे भी कोरोना से लड़ने सभी का सहयोग जरूरी है सहयोग से ही कोरोना की रोकथाम की जा सकती है ।

lock down RETAIN : 1 से 4 अगस्त तक बैतूल में पूर्ण लॉकडाउन, त्योहार घर पर ही मनेंगे


पुन: संपुर्ण कडाके वाला लॉकडाउन लगा जिलेे से लेगे छिन्‍दवाडा, सिंवनी एवं सतना में भी लॉकडाउन के आदेश जारी

कोरोना महामारी के चलते इस बार घर पर ही मनेगी ईद और रक्षाबंधन

  • लॉकडाउन के दौरान नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सभी तरह की दुकानें (मेडीकल स्टोर को छोड़कर) पूरी तरह से बंद रहेंगी।
  • आपातकालीन चिकित्सा कारणों को छोड़कर सभी व्यक्तियों का अपने घरों से निकलना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।
  • जिले की सीमा के अंदर सभी नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में माल वाहनों को छोड़कर आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा।

ईद और रक्षाबंधन इस बार घर पर ही मनेगा। जिले में 31 जुलाई रात 8 बजे से 5 अगस्त सुबह 5 बजे तक जिले के ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों में पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। आगामी त्योहारों के कारण बाजारों में होने वाली भीड़ और लोगों की व्यापक आवाजाही रोकने के लिए कलेक्टर राकेश सिंह ने लॉकडाउन घोषित किया है। कलेक्टर ने जारी आदेश में लोगों से लॉकडाउन के दौरान अपने घरों से पैदल अथवा वाहनों से नहीं निकलने का आग्रह किया है। लॉकडाउन के दौरान इंसिडेंट कमांडर सहित पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारी समूचे जिले में सतत गश्त करेंगे। आपातकालीन चिकित्सा कारणों को छोड़कर सभी व्यक्तियों को अपने घरों से निकलना पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। बेवजह घर से बाहर निकलने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

यह कर सकेंगे

  • सुबह 6 से प्रात: 8 बजे तक समाचार पत्रों एवं दूध की मात्र डोर-टू-डोर डिलीवरी की अनुमति रहेगी।
  • लोडिंग-अनलोडिंग में कार्यरत मजदूर-हम्मालों की आवाजाही संबंधित प्रतिष्ठान के स्वामी, संचालक से प्राप्त परिचय पत्र दिखाकर कर सकेंगे।
  • {रेल से यात्रा कर जिले में आने वाले यात्रियों को रेल्वे स्टेशन से जिले की सीमा में अन्य शहर या ग्राम में यात्रा करने के लिए मेडिकल टीम से अनुमति प्राप्त करना अनिवार्य होगा।

इनको रहेगी छूट

  • अत्यावश्यक सेवाओं में कार्यरत कर्मी जैसे मेडिकल प्रोफेशनल्स, नर्सों तथा पैरा-मेडिकल स्टाफ, सेनिटेशन कर्मचारी, एंबुलेंस, दूरसंचार सेवाएं, विद्युत प्रदाय के कार्य, शासकीय कार्यालय एवं नगरपालिका के कार्य एवं उसमें लगे सभी कर्मी, अधिकारी व कर्मचारी लॉकडाउन अवधि में अपना परिचय पत्र दिखाकर आवागमन कर सकेंगे।

नगर के पेट्रोल पंप रहेंगे बंद, हाईवे पर शुरू
लॉकडाउन अवधि में जिले के नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित समस्त पेट्रोल, डीजल पंप बंद रखे जाएंगे। नागपुर-भोपाल हाईवे, बैतूल-इंदौर हाईवे, मुलताई-छिंदवाड़ा, मुलताई-वरूड़, खेड़ीसांवलीगढ़ से अमरावती, बैतूल-खंडवा, घोड़ाडोंगरी-परासिया के मुख्य मार्गों पर स्थित पेट्रोल पंप जो नगरीय क्षेत्र की सीमा से बाहर हैं, खुले रहेंगे।