Tag Archives: भोपाल

Bhopal Warriyars : लोगों ने सफाई कर्मियों पर बरसाए फूल, उतारी आरती, कपड़े और राशन देकर किया सम्मान


कमला नगर कोटरा सुल्तानाबाद के रहवासियों द्वारा सफाई कर्मचारियों की आरती उतारते हुए

भोपाल में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में लोग घरों में रहकर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं, तो कुछ ऐसे लोग हैं, जो बाहर रहकर एक योद्धा की तरह वैश्विक महामारी के खात्मे के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं। इनमें सफाईकर्मी भी शामिल हैं। यह दूसरों की अच्छी सेहत के लिए सफाई कार्यों में लगे हैं। इन कर्मवीरों को लोग सलाम कर रहे हैं।

सोमवार सुबह कमला नगर कोटरा सुल्तानाबाद के रहवासियों ने मोहल्लों में सफाई करने पहुंचे कर्मचारियों का शानदार तरीके से सम्मान किया गया। कहीं फूल बरसाए गए तो कहीं आरती उतारी गई। लोगों ने ताली बजाकर सफाई कर्मचारियों का हौसला भी बढ़ाया। 

कमला नगर कोटरा सुल्तानाबाद के रहवासियों द्वारा सफाई कर्मचारियों को भोजन सामग्री भेट करते हुए

रहवासियों द्वारा सफाई कर्मचारियों को कपड़े, गेहूं, चावल, दाल आदि राशन सामग्री की बोरी भेट की गई।

कमला नगर कोटरा सुल्तानाबाद के रहवासियों की टीम

हमीदिया भोपाल में कोरोना संक्रमण से पिडित मरीजों की मौत की संख्या में कमी नहीं आ रही


HAMIDIYA BHOPAL COVID-19

https://www.covid19india.org/

हमीदिया अस्पताल भोपाल में कोरोना संक्रमण से पिडित मरीजों की मौत की संख्या में कमी नहीं आई शासन के प्रयास में कमी नजर आ रही है। अव्यवस्था का अम्बार नजर आ रहा है बिते 3 दीनो मे कोई सुखद समाचार नही प्राप्त हुए। ना कोई आला अधिकारियों को इस बात का पता है और ना ही किसी ने सुध लेने की जरूरत समझी पुछने पर बस इतना ही कहा जाता है कि हम प्रयास कर रहे हैं और मरीजों की संख्या में कमी आएगी किन्तु देखने में ऐसा नहीं है परिस्थिति विपरीत है जांच की रिपोर्ट आने में भी ज्यादा समय लग रहा है जिससे जो मरीज संग्धित है उन्हें भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है एक ओर तो जहाँ हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान व्यवस्था को परिपूर्ण बनाने की बात कही है जबकि कुछ भी ऐसा नहीं हुआ है प्रदेश के लगभग सभी सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए ऐसे ही हालात का सामना करना पड़ रहा है यदि इस प्रकार चलता रहा तो 3 मई तक प्रदेश में लोकडाऊन की अवधि को समाप्त करने का प्रयास सफल हो पायेगा या नहीं यह विचारणीय है

29 दिन बाद शिवराज मंत्रिमंडल का गठन


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

भोपाल: शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मध्य प्रदेश में नई सरकार बनने के 29 दिन बाद मंत्रिमंडल का गठन हुआ है! आज पांच मंत्रियों ने शपथ ली है! जिन पांच मंत्रियों ने शपथ ली है उनमें दो सिंधिया खेमे के हैं ! सिंधिया खेमे से तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत मंत्री बने हैं!

मध्य प्रदेश में 23 मार्च को शिवराज सिंह चौहान चौथी बार सीएम बने थे, लेकिन अगले ही दिन lockdown का ऐलान होने के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं हो पाया था! तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत के अलावा नरोत्तम मिश्रा, मीना सिंह और कमल पटेल मंत्री बने हैं! मंत्रिमंडल के गठन में क्षेत्र के प्रतिनिधित्व का खास ध्यान रखा गया है! नरोत्तम मिश्रा का ग्वालियर चंबल से नाता है, गोविंद राजपूत बुंदेलखंड से हैं, मीना सिंह महाकौशल व विंध्य और कमल पटेल निमाड़ इलाके से आते हैं! मंत्री पद की शपथ लेने वाले नरोत्तम मिश्रा पार्टी के वरिष्ठ विधायक हैं और बीजेपी की सरकार वापसी में उनकी खास भूमिका है! इसके अलावा कमल पटेल हरदा के विधायक और जाट नेता हैं! साथ ही विधायक मीना सिंह आदिवासी पूर्व मंत्री और महिला कोटे से मंत्री बनी है! नरोत्तम मिश्रा को हो सकता है स्वास्थ्य मंत्रालय का जिम्मा सौंपा जाए!

मुलतापी समाचार

BHOPAL : नेत्रहीन बुजुर्ग महिला के साथ दुष्कर्म, जांच में जुटी पुलिस


MP News । Multapi samachar

मध्‍यप्रदेश की राजधानी भोपाल शाहपुरा थाना क्षेत्र में 53 साल की नेत्रहीन बुजुर्ग महिला के साथ एक अज्ञात शख्स ने दुष्कर्म (rape) की वारदात को अंजाम दिया है यह नेत्रहीन महिला(Bhopal) अपने घर में अकेली ही रह रही थी और अचानक से देर रात करीब 3:30 बजे के आस पास एक अज्ञात शख्स महिला के घर की बालकनी को लांघ कर घर के अंदर दाखिल हो गया और महिला को धमकी देकर उसके साथ बलात्कार किया. महिला नेत्रहीन थी जिसकी वजह से यह पहचान नहीं पाई.  कि आखिर इस वारदात को किसने अंजाम दिया है .वहीं वारदात के बाद महिला पुलिस थाने पहुंची और पुलिस को इस पूरे मामले की शिकायत की महिला की शिकायत के स्पेशल टीम ने मौके पर पहुंचकर फिंगरप्रिंट समेत तमाम सबूत भी जुटाए. वहीं अब पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई है.

 वहीं पुलिस का कहना है कि जल्द से जल्द आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. फ़िलहाल पुलिस ने कुछ पर संदेह भी जताया और उनसे भी पूछताछ की जा रही है. जिस तरीके से वारदात की गई है. पुलिस को भी शक है कि वारदात को अंजाम देने वाला आरोपी महिला के घर के आस पास का ही कोई हो सकता है. आपको बता दें कि जिस महिला के साथ यह वारदात हुई है वह एक बैंक में मैनेजर के पद पर भी कार्यरत हैं.

Corona Bhopal News पैदा हुआ अजीब संकट, CORONA के आधे मरीज हेल्थ डिपार्टमेंट के, IAS अफसर भी चपेट में


मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में अब तक कुल 142 लोग कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से आधे से ज्यादा स्वाथ्य विभाग के कर्मचारी हैं.

Multapi Samachar

नई दिल्ली: कोरोनावायरस (Coronavirus) यूं तो सारे देश में ही कहर मचा रहा है, लेकिन मध्य प्रदेश में अलग तरह की परेशानी पैदा हो गई है. राजधानी भोपाल (Bhopal) में अब तक कुल 142 लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से आधे से ज्यादा स्वाथ्य विभाग के कर्मचारी हैं. इस बीच, रविवार को शहर में एक आईएएस अफसर और 12 साल की किशोरी सहित 9 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. चिकित्सा शिक्षा विभाग में कार्यरत यह अफसर 2013 बैच का आईएएस है. इसके अलावा कोरोना से एक मौत की पुष्टि भी हुई है.
भोपाल में रविवार को कोरोना पॉजिटिव मरीजों की लिस्ट में 9 और लोग जुड़ गए. शहर में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 133 से बढ़कर 142 हो गई है. इनमें स्वास्थ्य विभाग के 75 कर्मचारी शामिल हैं. उधर, इंदौर में भी दो लोगों की मौत हुई है. आठ नए मरीज भी मिले हैं. खरगोन में एक व्यक्ति की मौत हो गई है.
दैनिक भास्कर के मुताबिक भोपाल में शनिवार को 49 साल के इमरान खान की मौत हुई थी. रविवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इमरान को एक साल से मुंह का कैंसर भी था. वे घर पर ही रहते थे. यह पता नहीं चल पाया है कि उन्हें संक्रमण कैसे हुआ. उनके भाई राशिद ने बताया कि इमरान को हर 15 दिन में कीमोथैरेपी के लिए भर्ती किया जाता था. कीमो के बाद उन्हें उल्टी-दस्त और बुखार आ जाता था. शनिवार को अचानक तबीयत खराब होने पर एम्स ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. रविवार को ही इटारसी में 5 नए मरीज मिले हैं. उज्जैन में सात साल का एक बच्चा भी संक्रमित मिला है.

इधर, प्रदेश सरकार ने भोपाल, इंदौर और उज्जैन के बिगड़ते हालात को देखते हुए रविवार को कोरोना संदिग्ध व्यक्तियों के 1200 सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे. सरकार ने दिल्ली से दवाएं भी मंगाई है. इसमें हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और एजीथ्रोमाइसिन टैबलेट भी शामिल हैं, जो गले में इंफेक्शन के दौरान दी जाती है.

LockDown in Bhopal : इंदौर के बाद भोपाल में पुलिसकर्मियों पर धार दार हथियार से हमला, हिस्‍ट्रीशीटर बदमाश और साथियों


LockDown in Bhopal

मुलतापी समाचार

भोपाल हमले में घायल पुलिसकर्मी

भोपाल । इंदौर के बाद अब भोपाल में सामने आया मामला लॉक डाउन का पालन कराने के लिए तलैया इलाके में स्थित इस्लामनगर पहुंची पुलिस पर बाहर घूम रहे कुछ बदमाशों ने धारदार हथियार से हमला कर दिया। सोमवार रात करीब साढ़े दस बजे एक बदमाश ने अपने दर्जनभर साथियों के साथ मिलकर छह पुलिस कर्मियों पर हमला किया है।

पुलिस ने इन लोगों को बाहर घूमने से रोका था। जिस पर तीन बदमाशों ने दो पुलिस कर्मियों पर दनादन छुरा चला दिया। एक पुलिसकर्मी के हाथ में तो दूसरे के कंधे में चोट लगी है। वारदात के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए। घायलों को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

तलैया थाना टीआई डीपी सिंह के अनुसार शाहिदिया स्कूल के पीछे रात में 15 से 20 लोग समूह में घूम रहे थे। इस दौरान आरक्षक लक्ष्मण यादव और सतीश सिंह ने उनको घर जाने के लिए बोला। जिस पर यह लोग पुलिस से विवाद करने लगे।

तभी शाहिद कबूतर, मजिद मामू और मोहसिन कचौड़ी ने मिलकर दोनों पुलिस कर्मियों पर हमला कर दिया। जब तक बाकी पुलिस कर्मी उनके पास मदद करने पहुंचते, आरोपित हमला कर भागने में कामयाब हो गए।

जहां पुलिस कर्मियों पर हमला किया गया है। वह इलाका कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है। एक जमाती यहां कोरोना संक्रमित मिला था। तीनों आरोपित बदमाश हैं। उनका पुराना अपराधिक रिकॉर्ड भी है। उनके साथ घूम रहे 15 लोगों की तलाश की जा रही है।

Multapi Samachar

Indore से क्वारंटाइन से भागा युवक बाइक से पहुंचा Bhopal, कोरोना से संक्रमित मिला


Multapi Samachar

भोपाल। इंदौर के एक क्वारंटाइन सेंटर से भागकर भोपाल पहुंचा युवक कोरोना से संक्रमित मिला है। उसे सोमवार को इलाज के लिए एम्स में भर्ती कराया गया है। युवक लंदन (यूके) से मुंबई आया था। यहां से 24 मार्च को दिल्ली आने के बाद उसी दिन इंदौर पहुंचा। विदेश यात्रा की हिस्ट्री की वजह से उसे इंदौंर में क्वारंटाइन किया गया था। वहां से वह 29 मार्च को भागा और अपने दोस्त की बाइक से छिपते हुए भोपाल पहुंचा। यहां 30 मार्च की सुबह 6ः30 बजे वह इलाज के लिए बाइक से ही जेपी अस्पताल पहुंचा। यहां इमरजेंसी में देखने के बाद डॉक्टरों ने इलाज के लिए एंबुलेंस से एम्स रेफर कर दिया। यहां सोमवार को ही उसके सैंपल लेकर जांच की गई। सोमवार देर रात आई रिपोर्ट में वह कोरोना वायरस से संक्रमित मिला। युवक की हालत ठीक है। युवक के भाई का घर वेदवती परिसर अवधपुरी में है। क्वारंटाइन से भागने के चलते युवक पर एफआईआर कराने की तैयार प्रशासन ने की है।

भोपाल से मंगलवार को 87 सैंपल लिए गए हैं। इनकी रिपोर्ट बुधवार को आएगी। शहर में अब तक मिले चारों पॉजिटिव मरीजों का इलाज एम्स में चल रहा है। उधर, एम्स के आईसोलेनशन वार्ड में भर्ती नीमच के 22 साल के एक युवक की सोमवार को मौत हो गई है। उसकी कोरोना वायरस की जांच निगेटिव आई है।

इलाज के बाद अशोका लेक व्यू में क्वारंटाइन होंगे हमीदिया के डॉक्टर-नर्स

हमीदिया अस्पताल के डॉक्टर व नर्स संदिग्ध व पॉजिटिव मरीजों के इलाज के बाद होटल अशोका लेक व्यू समेत तीन होटलों में क्वांरटाइन में रहेंगे । इसके लिए पूरा होटल चिकित्सा शिक्षा विभाग ने ले लिया है। अब यहां पर अन्य लोग नहीं रुक पाएंगे। इसके अलावा लाल घाटी स्थित आरके रीजेंसी और निर्मल होटल को भी लिया गया । हमीदिया अस्पताल में संदिग्ध या पॉजिटिव मरीज भर्ती होने के बाद इलाज में लगे डॉक्टर, नर्स व अन्य स्टाफ घर नहीं जाएंगे। उन्हें अस्पताल से होटल लाने व छोड़ने के लिए दो बसें भी चलाई जाएंगी। बस के ड्राइवर, क्लीनर भी क्वारंटाइन रहेंगे। हफ्ते भर इलाज के बाद भी उन्हें घर जाने की अनुमति नहीं होगी। न ही वह अपने परिवार के लोगों से मिल सकेंगे।

हमीदिया में संदिग्धों के आज से लिए जाएंगे सैंपल

हमीदिया अस्पताल में अब कोरोना की जांच की सुविधा शुरू हो गई है। लिहाजा संदिग्ध मरीजों को भर्ती कर सैंपल लिया जाएगा। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उनका इलाज भी शुरू कर दिया जाएगा। फिलहाल तीन शिफ्ट में 18 डॉक्टर, नर्स व अन्य कर्मचारियों की ड्यूटी आइसोलेशन वार्ड में लगाई गई हैं

मुलतापी समाचार

भोपाल में सामने आए कोरोना के आठ नए मामले, जेल से 60 दिनों के लिए रिहा किए जाएंगे कैदी


मुलतापी समाचार

भोपाल। देश में लगातार कोरोना वायरस के मामलों में इजाफा हो रहा है। इसी बीच भोपाल में कोरोना वायरस के 8 मामले सामने आ गए हैं। 8 नए कोरोनावायरस पॉजिटिव मामलों में 7 इंदौर में और 1 उज्जैन में है। इसी के साथ राज्य में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 32 हो गई है। साथ ही मध्य प्रदेश सरकार किसी भी प्राकृतिक आपदा या महामारी के मद्देनजर छुट्टी के नियम, 1989 के तहत  जेलों में बंद लोगों को  60 दिनों के लिए पैरोल पर रिहा कर दिया है।   स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या 1000 के पार पहुंच गई है। हालांकि इनमें से 99 लोग ठीक भी हो गए है। 

बता दें कि देश में बढ़ते संक्रमित मामलों को देखते हुए सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन लागू कर दिया है। लॉकडाउन का उद्देश्य कोरोना वायरस के प्रसार को रोकना है। लॉकडाउन के तहत आजेश दिया गया है कि सभी लोग अपने-अपने घरों में ही रहें ताकि एक दूसरे के संपर्क में ना आए। 

Corona virus in MP: तब्‍लीगी जमात में शामिल म.प्र. के नागरिकों को पहचान कर क्वारेंटाइन में रखने के आदेश


तब्‍लीगी जमात में लॉगडॉउन के समय सामिल हुए लोगों जत्‍था

Multapi Samachar

भोपाल। Corona virus मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मंत्रालय में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में निर्देश दिए हैं कि तब्‍लीगी जमात में हिस्सा लेने वाले प्रदेश के नागरिकों को क्वारेंटाइन में रखने की व्यवस्था की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसा कि समाचार मिले हैं, कुछ दिन पूर्व तब्‍लीगी जमात का एक बड़ा धार्मिक आयोजन हुआ था। इसमें पूरे देश के श्रद्धालु भाग लेने गए थे। इस समूह में से 200 लोगों के कोविड-19 से संक्रमित होने तथा इनमें से 6 लोगों की तेलंगाना में मृत होने की सूचना प्राप्त हुई है।

मध्य प्रदेश से भी 100 से अधिक व्यक्ति इस धार्मिक कार्यक्रम में शामिल थे

मुख्‍यमंत्री के अनुसार मध्य प्रदेश से भी 100 से अधिक व्यक्ति इस धार्मिक कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। ऐसी जानकारी प्राप्त हुई है। इस संदर्भ में पूर्ण सजग रहने की जरूरत है।

मुख्यमंत्री चौहान ने इस संबंध में अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इस आयोजन में सम्मिलित मध्यप्रदेश के व्यक्तियों को चिन्हित करें तथा उन्हें क्वारेंटाइन में रखकर उनका आवश्यक स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए। यह कार्यवाही सभी के हित में है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यदि किसी भी प्रकार की बीमारी के लक्षण उन व्यक्तियों में दिखाई देते हैं तो उनके टेस्ट और इलाज की समुचित व्यवस्था भी की जाए। सभी पुलिस अधीक्षकों को यह कार्रवाई अति शीघ्र करने के लिए निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा धार्मिक कार्यक्रम के सिलसिले में जो भी व्यक्ति घूम रहे हैं, उनकी यात्रा का विवरण भी प्राप्त कर आवश्यक कार्रवाई किए जाने के निर्देश भी दिए गए हैं।

मुलतापी समाचार

राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता और रीवा निगम कमिश्नर सभाजीत यादव को हटाया


मुलतापी समाचार

राजगढ कलेक्टर निधि निवेदिता का किया तबादला

भोपाल । Madhya Pradesh News कमल नाथ सरकार में भाजपा नेताओं से भिड़ने वाले अफसरों के खिलाफ शिवराज सरकार ने कार्रवाई शुरू कर दी है। राजगढ़ में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में रैली के दौरान भाजपा नेताओं से हाथापाई करने वाली कलेक्टर निधि निवेदिता और रीवा के नगर निगम कमिश्नर सभाजीत यादव को मंगलवार को हटाकर मंत्रालय में पदस्थ कर दिया। 2012 बैच के आईएएस अफसर नीरज कुमार सिंह को राजगढ़ कलेक्टर बनाया गया है। सिंह अब तक संचालक बजट थे। वहीं, रीवा नगर निगम कमिश्नर का अतिरिक्त प्रभार जिला पंचायत रीवा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अर्पित वर्मा को दिया है।

सामान्य प्रशासन विभाग ने देर शाम राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता और रीवा नगर निगम कमिश्नर सभाजीत यादव को हटाने के आदेश दिए और मंत्रालय में पदस्थ कर दिया।

विवादों में रहे हैं दोनों अफसर

राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता ने नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में भाजपा द्वारा निकाली गई रैली में मीडिया प्रभारी को थप्पड़ मार दिया था। इसके बाद उन्होंने ब्यावरा में एक एएसआई को थप्पड़ मारा। इसकी जांच दो वरिष्ठ अधिकारियों को भेजकर करवाई गई और सरकार ने मामले को रफा-दफा कर दिया। इसी तरह रीवा कमिश्नर सभाजीत यादव ने पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ल के खिलाफ सीधा मोर्चा खोला। उन्हें पांच करोड़ रुपये की वसूली का नोटिस थमाए और फिर पत्र भी लिखा, जिसमें शिवराज सिंह चौहान के बारे में भी आधारहीन बातें की थी।

22 मार्च को ही ‘राजगढ़ कलेक्टर, रीवा ननि आयुक्त सहित एक दर्जन अफसरों की बढ़ेगी मुसीबत” शीर्षक से खबर प्रकाशित कर बता दिया था कि सत्ता परिवर्तन होने पर प्रशासनिक स्तर पर क्या कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ मंगलवार को मंत्रालय में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस की बैठक के बाद प्रशासनिक स्तर पर बदलाव का निर्णय ले लिया गया था।