Tag Archives: मध्यप्रदेश

“अजब गांव की गजब दास्तां – रोंढा” पुस्तक का सांसद श्री डी डी उइके ने किया विमोचन


बैतूल। जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम रोंढा में रविवार को रामकिशोर दयाराम पंवार लिखित पुस्तक “अजब गांव की गजब दास्तां” का विमोचन बैतूल-हरदा-हरसूद सांसद श्री डीडी उइके और रामकिशोर पवार की माँ श्रीमती कसिया बाई पवार की गरिमामयी उपस्थिति में सम्पन्न हुआ।

रामकिशोर ने अपने गांव के बारे किताब लिख कर देश – दुनियां को रोंढ़ा के बारे में वह जानकारी देने का काम किया है। जिसे आने वाली पीढ़ी को गांव के बारे में पता चल सकेगा, कि यह गांव कितना समृद्ध एवं विकासशील था।

बैतूल-हरदा-हरसूद संसदीय क्षेत्र से सासंद श्री डीडी उइके ने ग्राम रोंढ़ा में पहली बार शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर रोंढ़ा में आयोजित पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में मां सरस्वती एवं पुण्य सलिला मां सूर्यपुत्री ताप्ती की पूजा अर्चना और दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

कार्यक्रम में आमंत्रित सभी अतिथियों का पुष्पमाला से स्वागत सत्कार होने के बाद पत्रकार / लेखक रामकिशोर दयाराम पंवार रोंढ़ावाला की पुस्तक “अजब गांव की गजब दास्तां” का विमोचन करते हुए मध्यप्रदेश – महाराष्ट्र की सीमा पर बसे आदिवासी बाहुल्य बैतूल जिले से चुने गए भाजपा सासंद श्री दुर्गादास उइके ने अपने धारा प्रवाह भाषण में कहा कि जन्म देने वाली माँ की महिमा का बखान करते हुए कहा कि मै उन सौभाग्यशाली लोगों में से एक हूँ, जिसने अपने और लेखक रामकिशोर दयाराम पंवार के माता – पिता के संग चार धामों की यात्रा की है।

लेखक और उसके परिवार के साथ-साथ अपने पुराने सबंधो का जिक्र करते हुए सांसद ने कहा कि आज के कार्यक्रम में उपस्थित लेखक की माता श्रीमति कसिया बाई पंवार को सम्बोधित करते हुए कहा कि माँ की मौजूदगी किसी भी कार्यक्रम में चार चाँद लगा देती है। माता – पिता की सेवा का सौभाग्य हर किसी को नहीं मिलता है। जननी और जन्मभूमि दोनो माता है। आज रामकिशोर पंवार ने अपनी जन्मभूमि की महिमा को किताब का रूप देकर उसका कर्ज अदा कर दिया है। सासंद श्री उइके ने कहा कि माँ की महीमा अपरमपार है।

पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में ग्राम रोंढ़ा में जन्मे दो दर्जन से अधिक शासकीय सेवानिवृत एवं शासकीय सेवारत लोगो तथा सेना के सेवानिवृत सैनिको का शाल श्री फल से सम्मान किया। गांव से निकल कर गांव की पहचान बनाने वाले, जिनका सम्मान किया गया वे अपने सम्मान को पाकर भाव विभोर हो गए।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से महाकौशल की संस्कारधनी नगरी जबलपुर से पधारे अंतराष्ट्रीय कवि माथुरकर जबलपुरी, पवार समाज संगठन के जिलाध्यक्ष बाबूलाल कालभोर, रोंढ़ा के श्री गुलाबराव कालभोर, श्री दीलिप ओमकार, श्री अशोक बारंगे, श्री चन्द्रशेखर मुल्लू देवासे, श्री मिसरू देवासे, बैतूल के नामचीन अधिवक्ता श्री प्रशांत गर्ग, ग्राम रोंढ़ा में पढ़े पूूर्व जिला भाजपा महामंत्री एवं शासकीय अधिवक्ता बलराम कुंभारे, अधिवक्ता संजय शुक्ला, पत्रकार सुनील पलेरिया,

मुलताई से जगदीश चन्द्र पवार, श्री कमल पवार, भाजपा मीडिया प्रभारी अखलेश परिहार, युवा कवि अजय पवार, इंजीनियर अनिल डिगरसे, सहायक इंजीनियर लक्ष्मण पवार, सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी श्री दिनेश डिगरसे, लाडो फाऊडेंशन के अनिल यादव पहलवान, रेडक्रास सोसायटी के अध्यक्ष डाँ अरूण जयसिंहपुरे, श्री वायुसेना में कार्यरत रहे कैप्टन अशोक पंवार, मुन्नालाल डहारे, जनकलाल कड़वे, श्यामराव देशमुख जामठी,

ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष तरूण कालभोर,जनपद सदस्य ललीत बांरगे, तरूण पाठा, सुभाष कालभोर, विजेन्द्र पाठा, रमेश डिगरसे, जगदीश खपरिये, पत्रकार नीतिन अग्रवाल, राज मालवीय, मनोज अतुलकर, गौदन कालभोर, चन्द्रेश ओमंकार, युगेश देशमुख, कल्लू कोड़ले, प्रवीण चौधरी, संतोष कालभोर, राजेश तावरे, दयाराम चौधरी, मोहन डोंगरदिये, तोषण खपरिये, अनुकुल डिगरसे, रोशन देशमुख, सचिन हजारे, दुर्गाप्रसाद कसरादे आदि उपस्थित थे।

कार्यक्रम का संचालन श्री बी. आर. पंवार शिक्षक एवं श्री संजय पठाडे शेष और आभार प्रदर्शन श्री प्रदीप डिगरसे रोंढा द्वारा किया गया।

संवैधानिक मूल्यों की रक्षा करना हमारा दायित्व – निशा बांगरे डिप्टी कलेक्टर


बैतूल। संपूर्ण राष्ट्र आज 26 नवंबर 2021 को भारतीय संविधान दिवस मना रहा है ,आज ही के दिन अनेकों चर्चाओं एवं वैचारिक मंथन के बाद अंततः डॉ बी आर अंबेडकर अध्यक्ष प्रारूप समिति के विशेष प्रयासों एवं दूरदर्शी सोच के परिणाम स्वरूप 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा के द्वारा पारित किया गया। एवं 26 जनवरी 1950 को इसे पूरे देश में लोकतांत्रिक गणराज्य की स्थापना हेतु लागू किया गया। यह बात एससी वेलफेयर एम्पलाई यूनियन मध्य प्रदेश एवं सजाक्स संगठन जिला इकाई बैतूल के द्वारा संयुक्त रुप से भारतीय संविधान दिवस के अवसर पर आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित श्रीमती निशा बांगरे डिप्टी कलेक्टर भोपाल ने कहीं। उन्होंने संविधानिक मूल्यों की रक्षा के लिए युवाओं को आगे आने की बात कही, उन्होंने कहा डॉ बी आर आंबेडकर ने विश्व का सबसे बड़ा लिखित और विस्तृत संविधान भारत देश को दिया। उस समय के वे प्रथम कानून मंत्री थे और अपनी विलक्षण बुद्धि के परिचायक। सभी वर्गों के लिए मौलिक अधिकारों को लागू किए जाने की व्यवस्था की गई, स्वतंत्रता समानता लोकतांत्रिक गणराज्य संप्रभुता समरसता राज्य के नीति निदेशक तत्व मौलिक कर्तव्य आदि का समावेश भारतीय संविधान में है अपने आप में विश्व के लिए एक चुनौती है। इस अवसर पर रोटी बैंक के चेयरमैन श्री आर के विजयकर ने भारतीय संविधान दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए बाबासाहेब के सिद्धांतों पर चलकर हम प्रगति की ओर जा सकते हैं , सजाक्स जिलाध्यक्ष बैतूल एस ब्राह्मणे ने अपने उद्बोधन में कहा डॉक्टर भीमराव अंबेडकर तत्कालीन समय के महान विधि के ज्ञाता थे ,इसीलिए स्वतंत्र भारत के प्रथम कानून मंत्री बनने का सौभाग्य उन्हीं को मिला संविधान के दायरे में रहकर हम हमारे देश को आगे प्रगति की ओर ले जा सकते हैं ,इस अवसर पर श्री सतीशजोंधलेकर भूतपूर्व जिला अध्यक्ष अनुसूचित जाति युवा मोर्चा बैतूल श्रीमती माला खातरकर श्री सुरेश गायकवाड श्री देवेंद्र बरथे श्री गजानन पंडाग्रे श्री यादव राव खातरकर एवं अन्य पदाधिकारीगणों ने श्रीमती निशा बांगरे को प्रतीक चिन्ह स्वरूप संविधान की उद्देशिका भेंट की एवं पुष्पगुच्छ से उनका स्वागत वंदन अभिनंदन किया गया कार्यक्रम के अंत में जिला सचिव श्री हेमराज पटेल के द्वारा आभार व्यक्त किया गया।

धूमधाम से निकलेगी माँ ताप्ती की चुनरी यात्रा, सैंकडों जगह होगा स्वागत


ताप्ती मैया के आशीर्वाद ने विधायक के संकल्प को निभाया, धूमधाम से निकलेगी चुनरी यात्रा, सैंकडों जगह स्वागत

बैतूल। सूर्यपुत्री मां ताप्ती के पूजन-अभिषेक का यदि किसी ने संकल्प लिया तो मां स्वयं आगे बढ़कर उसका संकल्प पूर्ण कराती है। कुछ ऐसा ही बैतूल विधायक निलय डागा के मामले में हुआ। एक ओर जब शासन-प्रशासन ने कार्तिक पूर्णिमा के मेले आदि तक पर प्रतिबंध लगा दिया था तब विधायक ने पत्रकार वार्ता में सीना ठोंककर कहा था कि वो हर हाल में मां ताप्ती को चुनरी चढ़ाने जाएंगे चाहे इसके लिए उन्हें जेल क्यों न जाना पड़े। लेकिन मां ताप्ती की कृपा विधायक पर कुछ ऐसी बरसी कि स्वयंमेव शासन ने सभी मेले-ठेले और धार्मिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध हटा दिए।
बुधवार की शाम ऐसे आदेश आते ही बैतूल जिले के धार्मिक संस्थानों और संस्थाओं ने खुशी जताई और मां ताप्ती का इसे चमत्कार ही माना कि ऐतिहासिक चुनरी यात्रा के ठीक पहले उसने शासन को दुरस्त कर दिया। आखिर सबकी नाराजगी इसी बात को लेकर थी कि एक ओर तो प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के लिए लाखों लोग जुटाए जा रहे हैं वहीं धार्मिक मेलों आदि पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है। बैतूल विधायक श्री निलय डागा और जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनील शर्मा गुड्डू ने तो बाकायदा पत्रकार वार्ता लेकर शासन-प्रशासन की इस दोमुंही नीति का विरोध किया था। विरोध का यह दांव वायरल हुआ और मां ताप्ती के आगे शासन को घुटने टेकने पड़े।


इस संबंध में जब विधायक श्री निलय डागा से बात की गई तो उन्होने कहा कि वे प्रतिवर्ष कार्तिक पूर्णिमा पर मां ताप्ती को चुनरी चढ़ाने जाते हैं। इस साल जब शासन-प्रशासन ने प्रतिबंध की बात की तो लोगों का आक्रोशित होना स्वाभाविक था। जहां तक मेरी बात है तो मां के सम्मान के लिए जेल जाना या कोई प्रताड़ना सहना बड़ी बात नहीं है। हम कभी नियम नहीं तोड़ते लेकिन बेवजह के अत्याचार को सहन करना भी अधर्म है।


आम लोगों के अलावा सभी धर्म व मंदिर संस्थान से जुड़े लोगों ने भी चुनरी यात्रा को अब और धूमधाम से मनाने का निश्चय किया है।

मां ताप्ती चुनरी यात्रा का जगह-जगह होगा स्वागत

विधायक श्री निलय डागा और उनकी धर्मपत्नी श्रीमती दीपाली डागा के नेतृत्व में करीब 24 किमी की यह माँ ताप्ती चुनरी पद यात्रा 19 नवंबर शुक्रवार को प्रातः 7 बजे लल्ली चौक स्थित मंदिर में पूजन के साथ आरंभ होगी। इसके बाद प्रातः 7 बजे लल्ली चौक, 7.15 बजे थाना चौक, 7.30 बजे अखाड़ा चौक टिकारी, 8.00 बजे कारगिल चौक सदर, 8.15 बजे गेंदा चौक, 8.30 बजे डान बास्को, 8.40 कर्बला घाट माचना, 8.45 फोरलेन चौराहा, 9.00 धनोरा,9.30 बजे परसोड़ा,9.45 बजे भडुस,10.30 महदगांव ,11.00 डहरगांव,11.30 खेड़ी,12.00 मौड़ी कनारा, 1.00 लोहा पुल,1.30 ताप्ती घाट पहुंचेगी। यहां चुनरी अर्पण के बाद केरपानी स्थित हनुमान मंदिर के दर्शन पूजन के लिए यात्री जाएंगे और इसके साथ ही यात्रा का समापन होगा।

कोई न छूटे अभियान के तहत जिले में कोविड टीकाकरण


17 नवम्बर को कोविड टीकाकरण महाअभियान

65 हजार से अधिक टीके लगाने का लक्ष्य

पहला डोज कोविड से सुरक्षा के लिए पर्याप्त नहीं, दूसरा लगवाना भी जरूरी- कलेक्टर

बैतूल। जिले में 17 नवंबर को कोरोना टीकाकरण महाअभियान संचालित किया जाएगा। जिसके तहत 386 से अधिक टीकाकरण केन्द्रों के माध्यम से कोविड वैक्सीन लगाया जाएगा। कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस ने जनप्रतिनिधियों, धर्मगुरुओं, कोरोना वालंटियर्स, स्वयंसेवी संस्थाओं, समाजसेवियों एवं विभिन्न संगठनों से कोरोना टीकाकरण महाअभियान में सहयोग देकर इसे पूर्ण रूप से सफल बनाने की अपील की है।

कलेक्टर ने आमजन से अपील की है कि इस अभियान के तहत जिन्होंने दूसरा डोज नहीं लगवाया है, वे अवश्य वैक्सीनेशन करवाएं एवं स्वयं को कोरोना से सुरक्षित करें। उन्होंने कहा है कि कोविड से सुरक्षा के लिए पहला डोज पर्याप्त नहीं है, जिनका दूसरा डोज ड्यू है, वे आवश्यक रूप से इस अभियान में वैक्सीनेशन करवाएं।

कलेक्टर ने मंगलवार को जिले के संबंधित अधिकारियों की वर्चुअल बैठक लेकर कहा कि 17 नवंबर के इस महाअभियान में पूरे जिले का मैदानी अमला सक्रिय रूप से सहयोग करे एवं टीकाकरण का लक्ष्य पूरा करे। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को ताकीद किया है कि प्रत्येक केन्द्र पर प्रात: 8 बजे से आवश्यक रूप से टीकाकरण प्रारंभ हो जाए।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.के. तिवारी ने बताया कि अभियान को सफल बनाने के लिए जिले के 386 वार्ड/गांवों में टीकाकरण केन्द्रों की स्थापना की जा रही है, इसके लिए 400 टीकाकरण दलों को भी तैनात किया जा रहा है। दस नवंबर के कोविड टीकाकरण महाअभियान में 65 हजार से अधिक टीके लगाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि जिले में पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध है।

पूरे माह चलेगा राजस्व शुद्धिकरण महाअभियान

वर्चुअल बैठक में कलेक्टर ने कहा कि राजस्व अभिलेख शुद्धिकरण अभियान अब पूरे नवंबर माह के दौरान चलाया जाएगा। उन्होंने राजस्व अधिकारियों से कहा कि इस अभियान में बेहतर परिणाम दिखें एवं आमजन को इसका लाभ मिले। उन्होंने कहा कि धारणाधिकार के मामलों में भी प्रकरणों का सकारात्मक निराकरण हो।

वर्चुअल बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिलाष मिश्रा, अपर कलेक्टर श्री श्यामेन्द्र जायसवाल सहित अनुविभागीय राजस्व अधिकारी, तहसीलदारों, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारियों ने भाग लिया।

जिला क्षत्रिय पवार समाज संगठन द्वारा राजा भोज कॉलेज में किया गया दीपावली मिलन समारोह


जिला क्षत्रिय पवार समाज संगठन बैतूल द्वारा दीपावली मिलन समारोह आयोजित

अंतर्राष्ट्रीय महिला कुश्ती रजत पदक विजेता कु. शिवानी पवार को सम्मान निधि भेजने की अपील

कार्तिक पूर्णिमा 19 नवम्बर को मुलताई में समाज भवन निर्माण कार्य प्रारंभ पूजन में उपस्थित होने का अनुरोध

बैतूल। जिला क्षत्रिय पवार समाज संगठन बैतूल के द्वारा भारत भारती के राजा भोज कॉलेज में दीपावली मिलन समारोह का आयोजन क्षत्रिय पवार समाज संगठन के जिलाध्यक्ष श्री बाबूलाल कालभोर और राजा भोज कॉलेज की संचालिका श्रीमति ममता पवार की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ।

जिला संगठन के मिडिया प्रभारी प्रदीप डिगरसे ने बताया कि जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम भारत-भारती में राजा भोज कॉलेज में दीपावली मिलन समारोह का आयोजन किया गया जिसमें सोनाघाटी, कढ़ाई, उड़दन, मलामझिरी, लापाझिरी, झगड़िया, टिगरिया और जामठी ग्राम के पदाधिकारी, ग्राम ईकाई के सदस्यों, महिलाएँ और बच्चे सैकड़ों की संख्या में उपस्थित रहे।

दीपावली मिलन समारोह का शुभारंभ माँ सरस्वती की वंदना और पवार वंशी चक्रवर्ती सम्राट राजाभोज की पूजा अर्चना और माल्यार्पण के साथ हुआ साथ ही राजा भोज कॉलेज के संचालक स्व. श्री राजू एस. पवार चिकाने को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। श्रीमति चिकाने के द्वारा समाज को पूर्ण समर्पित भाव से परिसर और सुविधा उपलब्ध कराई गई और आगे भी समाज का सहयोग करने का आश्वासन दिया। संरक्षक श्री शंकर पवार पत्रकार ने संगठन और पवारों की उत्पत्ति से जुड़ी बातों पर अपने विचार रखे।

संगठन के जिलाध्यक्ष ने समाज को जोड़कर रखने, ग्रामीण समितियों के गठन, अंतराष्ट्रीय कुस्ती प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल प्राप्त करने वाली और समाज को गौरव दिलाने वाली कु. शिवानी पवार को सम्मान निधि भेजने की अपील और 19 नवम्बर को मुलताई में क्षत्रिय पवार समाज के मंगल भवन निर्माण कार्य को प्रारंभ करने हेतु पूजन कार्यक्रम में उपस्थित होने का अनुरोध किया।

इस अवसर पर श्री बीआर पवार, श्री अशोक बारंगे, श्री अविनाश देशमुख, श्री एमएल डहारे, श्री झनक कड़वे, श्री हरिराम खपरिये, श्री श्यामा बारंगे, श्री किशोरीलाल पिंजारे, ग्राम ईकाई के अध्यक्ष श्री श्यामराव देशमुख, श्री रामरतन खपरिये, श्री जीवतराम खापरे, बिनक कोड़ले, नरेंद्र पवार डोले, शिवराज हजारे, प्रदीप माटे, धनराज बोबडे, मुकुंद हजारे, गोकुल ढोन्डी, सेवाराम कोड़ले, संजू ढोबारे, माधो पवार, प्रमोद बारंगे, हेमराज परिहार, श्यामा बारंगे, कलीराम खपरिये,

श्रीमती रिंकी पवार, पूजा पवार, अनुसुईया पवार, सरोज पवार, लता पवार, सुनिता पवार, रानी माटे, सुमित्रा पवार, पुष्पा पवार, कुन्ती पवार, सुनिता चोपड़े सहित सैंकड़ों लोग उपस्थित रहे।

मीडिया अधिकारी की दोनों बेटियाँ भी कोरोना पॉजिटिव


लगातार मरीज मिलने से बढ़ती जा रही है स्वास्थ्य विभाग और लोगों की चिंताएँ

बैतूल। स्वास्थ्य विभाग की मीडिया अधिकारी के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद अब उनकी दोनों बेटियों के भी कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट आई है। मीडिया अधिकारी की छोटी बेटी कक्षा 9 वीं में तथा बड़ी बेटी कक्षा 10 वीं में है जो जिले आरडी पब्लिक स्कूल में अध्ययनरत हैं। दोनों ही शनिवार 6 नवंबर तक स्कूल और ट्यूशन गईं। रविवार अवकाश होने और सोमवार को मीडिया अधिकारी के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि होने के बाद परिवार को आइसोलेट कर दिया गया। हालांकि एहतियात के तौर पर जिस शिक्षिका के घर बड़ी बेटी ट्यूशन जाती थी।उन्होंने ऑफलाईन क्लासेस बंद कर दी है। इस संबंध में सीएमएचओ डॉ. एके तिवारी ने बताया कि मीडिया ऑफिसर के बाद दोनों बच्चों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई हैं। आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट से इस बात की पुष्टि हुई।

पुलिस विभाग में फिर फेरबदल, कई एसआई और एएसआई इधर से उधर


बैतूल। एसपी सिमाला प्रसाद ने लगभग 1 दर्जन उप निरीक्षक और सहायक उपनिरीक्षकों के तबादले किये हैं। इनकी पदस्थापना नए थानों में की गई है। बैतूलबाजार में पदस्थ उपनिरीक्षक वाहिद खान को लाइन अटैच कर दिया है। जारी सूची के अनुसार उप निरीक्षक वहीद खान को बैतूल बाजार से रक्षित केंद्र, फतेह बहादुर को सारणी से बैतूल बाजार, रवि शाक्य को घोड़ाडोंगरी चौकी से मुलताई, नन्दकिशोर पाल को रानीपुर से शाहपुर, उत्तम मस्तकार को मासोद से पुलिस सहायता केंद्र प्रभात पट्टन, विजय सिंह ठाकुर को मुलताई से चौकी प्रभारी मासोद, सहायक उप निरीक्षक गोपाल पाल को कोतवाली से आठनेर, दिलीप टांडेकर को कोतवाली से झल्लार, युगल किशोर को थाना गंज से आमला, शेरसिंह परते को आमला से शाहपुर, रामस्वरूप रघुवंशी को आमला से थाना गंज, संतोष सिंह नागवे को भैंसदेही से चोपना, अवधेश वर्मा को आठनेर से कोतवाली, राममूरत को झल्लार से आमला, जयपाल सिंह को मोहदा से रक्षित केंद्र बैतूल, विनोद मालवीय को शाहपुर से चोपना, रमेश कुमार धुर्वे को शाहपुर से भैंसदेही, प्रेमलाल परते को बीजादेही से सारणी, गयाप्रसाद बिल्लोरे को सारणी से कोतवाली बैतूल, अर्जुन सिंह को घोड़ाडोंगरी से मोहदा, बृजमोहन पठारिया को चोपना से बीजादेही और विनायक राव कासदेकर को आठनेर से रक्षित केंद्र बैतूल स्थानांतरित किया गया है।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में सरपंच तथा पंच पद के नाम निर्देशन ऑनलाइन प्राप्त नहीं किए जाएंगे


भोपाल। उप जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन) से प्राप्त जानकारी के अनुसार त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2021-22 के लिए आयोग द्वारा सरपंच पद तथा पंच पद के नाम-निर्देशन ऑनलाइन प्राप्त नहीं किए जाने का निर्णय लिया गया है तथा नाम निर्देशन की प्रक्रिया जैसे- नाम निर्देशन पत्रों की प्रविष्टि, संवीक्षा, नाम वापसी, क्रम निर्धारण एवं प्रतीक चिन्ह का आवंटन आईईएमएस सॉफ्टवेयर से नहीं किया जाकर पारंपरिक पद्धति (ऑफलाइन) से किया जाएगा।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जनपद एवं जिला पंचायत सदस्यों को ऑनलाइन नाम-निर्देशन भरने की होगी सुविधा


भोपाल। उप जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन) से प्राप्त जानकारी के अनुसार त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2021-22 के लिए आयोग द्वारा जनपद सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्यों के अभ्यर्थियों को ऑनलाइन नाम-निर्देशन एप्लीकेशन के माध्यम से नाम-निर्देशन भरने की अतिरिक्त सुविधा प्रदान की गई है।

ऑनलाइन नाम-निर्देशन पत्र प्राप्त करने के लिए मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा विस्तृत निर्देश जारी किए गए हैं। उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने तहसीलदारों, नायब तहसीलदारों एवं रिटर्निंग अधिकारी (पंचायत) को राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार अभ्यर्थियों को ऑनलाइन सुविधा प्रदान करने के लिए रिटर्निंग अधिकारी कार्यालय में कम से कम दो सुविधा केन्द्र स्थापित किए जाने तथा स्थापित सुविधा केन्द्रों में पर्याप्त स्टाफ, इंटरनेट कनेक्टिविटी एवं कम्प्यूटर, प्रिंटर, स्कैनर आदि की व्यवस्था की जाकर स्थापित केन्द्रों की जानकारी 11 नवंबर 2021 के प्रात: 11 बजे तक कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन) कार्यालय को अनिवार्य रूप से भेजने के निर्देश दिए हैं।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अभ्यर्थी को विद्युत देयताओं का अदेय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा अनिवार्य


भोपाल। त्रि-स्तरीय पंचायत के आम निर्वाचन में अभ्यर्थी के लिए नाम-निर्देशन पत्र के साथ विद्युत देयताओं के संबंध में अदेय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। यदि नाम-निर्देशन प्रस्तुत करने वाले अभ्यर्थी के नाम से विद्युत कनेक्शन नहीं है तो उसे विद्युत वितरण कंपनी के संबंधित वितरण केन्द्र से ‘वितरण केन्द्र के रिकार्ड अनुसार आवेदक का कोई विद्युत कनेक्शन होना नहीं पाया गया है’ ऐसा पत्र जारी किया जाएगा। इस कार्य हेतु प्रत्येक रिटर्निंग अधिकारी के कार्यालय में बिजली कंपनी रिकार्ड के साथ अपना व्यक्ति नामांकन से संवीक्षा की अवधि तक उपलब्ध भी कराएंगे, जिससे सहजता से ऐसा पत्र जारी हो सके।