Tag Archives: मरिज

भैैंसदही संक्रमित युवक के 7 परिजनों के सैंपल लिए, कफ्यू जारी


जिले भर में लॉकडाउन को प्रभावी बनाने के लिए प्रशासन ने दिए निर्देश

मुलतापी समाचार

भैंसदेही। कलेक्टर राकेश सिंह एवं पुलिस अधीक्षक डीएस भदौरिया ने भैंसदेही पहुंचकर अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

Betul News

भैंसदेही, बैतूल। महाराष्ट्र के रास्ते बैतूल जिले में कोरोना की दस्तक दिलाने वाले भैंसदेही के संक्रमित युवक के 7 परिजनों के अलावा कुल 20 लोगों के स्वास्थ्य की जांच करने के बाद उन्हें क्वारंटाइन कर दिया गया है, जबकि 8 मरीज आइसोलेशन में भर्ती किए गए हैं। भैंसदेही के युवक को कारोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद देर रात भैंसदेही में कर्फ्यू लगाने के साथ 3 किमी के क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया गया है।

कलेक्टर राकेश सिंह एवं पुलिस अधीक्षक डीएस भदौरिया मंगलवार को भैंसदेही पहुंचे और वहां कर्फ्यू की प्रभावशीलता की स्थिति देखी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि यहां कर्फ्यू पूरा सख्ती के साथ लागू किया जाए। कलेक्टर ने बताया कि यहां पाए गए कोरोना पॉजिटिव मरीज के सम्पर्क में आए सात लोगों के सैंपल ले लिए गए हैं एवं उनको क्वारंटाइन में रखा गया है। संक्रमित युवक के संपर्क में आए अन्य लोगों के भी सैंपल लिए जा रहे हैं। प्रशासन संक्रमित युवक को नागपुर से भैंसदेही लाने भैंसदेही से बैतूल लाने और वापस ले जाने वाले वाहन के चालक के भी सैंपल लेकर प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजने की तैयारी कर रहा है।

परिजनों को क्वारंटाइन सेंटर में रखाः भैंसदेही के कोरोना संक्रमित युवक के 7 परिजनों को बालक छात्रावास में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है। सभी के स्वास्थ्य की जांच करने के बाद सैंपल लेकर प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजे गए हैं। प्रशासन ने संक्रमित युवक के घर से सटे घरों के 45 लोगों को निगरानी में रखा है। संक्रमित युवक को भैंसदेही के स्वास्थ्य केंद्र में आइसोलेट किया है जहां डॉक्टरों की टीम और स्टॉफ द्वारा उसके स्वास्थ्य की सतत निगरानी की जा रही है। भैंसदेही बीएमओ एमएस सेवरिया ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को पूरी तरह से खाली कर दिया है। क्षेत्र के सामान्य मरीज उपचार के लिए आठनेर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जाएंगे,जबकि प्रसूति के लिए भी महिलाओं को आठनेर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा जाएगा।

14 संदिग्धों के लिए सैंपल, 42 की रिपोर्ट आने का इंतजारः सीएमएचओ जीसी चौरसिया ने बताया कि 7 अप्रैल की शाम 7 बजे तक जिले में कुल 14 संदिग्धों के सैंपल लेकर प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजे गए हैं। मंगलवार को एक भी जांच रिपोर्ट प्राप्त नही हुई है। अब तक लिए गए 48 सैंपलों में से 6 की ही रिपोर्ट प्राप्त हुई है जिसमें 5 निगेटिव पाए गए हैं और एक पॉजिटिव पाया गया है। जिले भर में 20 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है, जबकि होम आइसोलेशन में 2025 लोगों को रखा है। जिले में अब तक स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कुल 25268 लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है।

जिले में सभी प्रकार की दुकानें बंद रहेंगीः जिले के भैंसदेही में एक मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के फलस्वरूप कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी राकेश सिंह ने उक्त मरीज की कान्टेक्ट ट्रेसिंग हिस्ट्री को देखते हुए समूचे जिले में आमजन को शारीरिक दूरी का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने नागरिकों से अपेक्षा है कि वे लॉक-डाउन का अच्छी तरह पालन करें तथा एक-दूसरे के संपर्क में न आएं। कलेक्टर ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के दृष्टिगत बुधवार से बैतूल नगर सहित समूचे जिले में सभी तरह की दुकानें बंद रखे जाने के आदेश दिए गए हैं। कर्फ्यू प्रभावित भैंसदेही को छोड़कर अन्य स्थानों पर प्रातः 7 बजे से प्रातः 10 बजे के बीच सिर्फ आवश्यक वस्तुओं की होम डिलेवरी की जा सकेगी। भैंसदेही छोड़कर अन्य स्थानों पर दवा दुकानें खुली रखी जा सकेंगी, परंतु इन दुकानों से शारीरिक दूरी मेंटेन करते हुए सिर्फ चिकित्सक के पर्चे पर ही दवाएं क्रय की जा सकेगी। किसी भी स्थान पर हाथठेलों पर सब्जी-फल इत्यादि के विक्रय की अनुमति नहीं होगी। उक्त व्यवस्था आगामी आदेश तक प्रभावशील रहेगी। उन्होंने कहा है कि भैंसदेही में कर्फ्यू पूरी सख्ती से प्रभावशील रहेगा।

ट्रेवल हिस्ट्री तलाश रहा प्रशासनः भैंसदेही के कोरोना संक्रमित युवक को नागपुर से भैंसदेही लाए जाने के लिए भैंसदेही थाना प्रभारी द्वारा अनुमति दी गई थी, लेकिन थाना प्रभारी तरन्नाुम खान ने कोई अनुमति पास जारी करने से ही इन्कार कर दिया है और इसकी स्वयं जांच करने का हवाला दिया है। नागपुर से संक्रमित युवक जिस चार पहिया वाहन में सवार होकर आया था उसे चलाने वाले ड्राइवर से पूरे रास्ते की जानकारी ली जा रही है। इसके अलावा 4 दिन तक युवक घर के बाहर किन लोगों के संपर्क में आया इसकी भी पड़ताल की जा रही है। संक्रमित युवक को जिला अस्पताल तक लाने और वापस ले जाने वाले वाहन चालक एवं स्वास्थ्यकर्मियों का भी पता लगाया जा रहा है।