Tag Archives: योग

मस्तिष्क काम ना करे तो योग का सहारा ले


मनोज अग्रवाल मुल्तापी समाचार हटा

जीने की राह

प्रकृति के चमत्कार भी बड़े गजब के हैं जैसे विज्ञान मानता है कि समझदार से समझदार घोर प्रतिभाशाली व्यक्ति भी जीवन में अपने मस्तिष्क का आधा हिस्सा ही उपयोग में ले पाता है बाकी आधा भाग जीवन भर अनुपयोगी ही रह जाता है जब तक आधे हिस्से से काम करेंगे कितने ही योग्य हो हम जिंदगी की कुछ घटनाएं पकड़ नहीं पाएंगे श्री राम रावण युद्ध में मेघनाथ माया फैला रहा था ऐसा दृश्य उपस्थित कर दिया था कि दसों दिशाओं में बाढ़ छा गए जहां तुलसीदासजी ने लिखा धरु धरु मारु सुनिए गाना जो मारे दही को न जाना चारों ओर हमारी जिंदगी में भी कई बार ऐसे बन जाते हैं आज जिस प्रकार का पुणे में तो बहुत है अत्याचार दुराचार हो गए हैं लेकिन फिर भी हम पढ़ नहीं पाते कि यह कौन कर रहा है आज पूरी तरह से तो योग का सहारा लीजिए कहते हैं कि जब मनुष्य अपने दोनों के बीच अपना काम करता है तो उसका आधा मस्तिष्क विज्ञान में है उसे मिटा देता है और जैसे ही यह आसपास की वह सारे देखने लग जाएंगे जो हमें की ओर धकेल देते हैं फिर आप सजग होकर स्वयं को भी बचा पाएंगे और दूसरों को भी