Tag Archives: रक्षाबंधन

August 2020: जानिए इसी महीने कौन कौन सेे त्‍याेेेेेहार है …


KRISHNA JANMASHTAMI और GANESH CHATURTHI, नोट कर लीजिए ये तारीखें

August 2020: अगस्त का महीना शुरू हो चुका है। 3 अगस्त को रक्षाबंधन मनाया गया है। उसी दिन सावन समाप्त हो गया। अगस्त के महीने में कई अहम तीज और त्योहार आ रहे हैं। इनमें श्रीकृष्ण जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2020) और गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2020) अहम हैं। गणेश चतुर्थी के बाद ही हरतालिका तीज आएगी। इसके अलावा इसी महीने कजरी तीज, संकष्टी चतुर्थी भी मनाई जा रही है। हालांकि इस बार सभी तीज त्योहारों के उत्साह पर कोरोना संक्रमण की मार पड़ी है। कहीं भी भीड़ जमा नहीं हो सकेगी। लोगों से यही अपील की जा रही है कि वे घरों में रहकर ही उत्सव बनाएं। जानिए इन सभी त्योहारों की तारीख

जन्माष्टमी (12 अगस्त, बुधवार): पूरी दुनिया भगवान श्री कृष्ण का जन्मदिन 12 अगस्त को मनाएगी। जगह-जगह मटकी फोड़ आयोजन होते हैं। मंदिरो में श्री कृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाता है। धर्म ग्रंथों में लिखा है कि भगवान श्री कृष्ण का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को रोहिणी नक्षत्र में मध्यरात्रि के समय हुआ था।

स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त, शनिवार): देश की आजादी का पर्व 15 अगस्त को मनाया जाएगा। कोरोना संक्रमण के कारण इस जश्न पर भी असर पड़ेगा। सरकार गाइडलाइन जारी कर कह चुकी है कि किस तरह नियमों का पालन करते हुए स्वतंत्रता दिवस मनाना है।

हरतालिका तीज (21 अगस्त, शुक्रवार): महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण और कठिन व्रत हरतालिका तीज का त्योहार भाद्रपद मास की तृतीया को मनाया जाएगा। इस बार 21 अगस्त को महिलाएं और लड़कियां पूरे दिन निर्जल रह कर सौभाग्यवती रहने का वरदान मांगती हैं।

गणेश चतुर्थी (22 अगस्त, शनिवार): गणपति बप्पा का जन्मदिन इस साल 22 अगस्त, शनिवार को मनाया जाएगा। शास्त्रों के अनुसार, प्रथमपुज्य गणेश जी का जन्म भादप्रद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को हुआ था। गणेश मंदिरों को तो सजाया ही जाएगा, जगह-जगह गणेश प्रतिमाएं स्थापित की जाएंगी।

Raksha Bandhan रक्षाबंधन में राखियों बांधतेे भाई की आयु में वृद्धि हेतु मंत्र बोले बहनेेंं


Raksha Bandhan 2020 LIVE Updates: रक्षाबंधन में राखियों के रंग और भाई की राशि का है सीधा संबंध, जानिए क्या करें क्या न करें
Raksha Bandhan 2020 LIVE Updates: पंडित विशाल दयानंद शास्‍त्री बता रहे हैं कि किस राशि के अनुसार कौन से रंग की राखियां अपने भाईयों को बांधें।

रक्षाबंधन की अनोखी परंपराएं

– राजस्थान में ननद अपनी भाभी को विशेष प्रकार की राखी बांधती हैं जिसे लुम्बी कहते हैं।

– महाराष्ट्र में यह त्योहार नारियल पूर्णिमा या श्रावणी के नाम से प्रचलित है।

– तमिलनाडु, केरल, महाराष्ट्र और ओडिशा के दक्षिण भारतीय इस पर्व को अवत्तिम कहते हैं।

Multapi Samachar की ओर से सभी देश वासियों को रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकांमनाएं

देशभर में आज भाई बहन का त्योहार यानी रक्षाबंधन मनाया जा रहा है। बहनें शुभ मुहूर्त में अपने भाइयों को राखी बांधेंगी और लंबी उम्र की कामना करेंगी। वहीं भाई बहन की उम्रभर रक्षा करने का वचन देगा।

आज राखी बांधने के शुभ मुहूर्त हैं – सुबह 9 से 10.30 बजे तक शुभ, दोपहर 1.30 से दोपहर 3 बजे तक चंचल, दोपहर 3 से शाम 4.30 बजे तक लाभ, शाम 4.30 से शाम 6 बजे तक अमृत, शाम 7.03 से रात 8.33 बजे तक चंचल। वहीं सुबह 10.50 से 12.30 तक अभिजीत मुहूर्त बताया गया है। भारतीय धर्म ग्रंथों में भी राखी का महत्व बताया गया है।

रक्षाबंधन पर यदि बहनें, अपने भाईयों को उनकी राशि के अनुसार राखियां बांधती हैं, तब इस त्योहार का महत्व और भी ज्यादा बड़ जाता है। पंडित विशाल दयानंद शास्‍त्री बता रहे हैं कि किस राशि के अनुसार कौन से रंग की राखियां अपने भाईयों को बांधें।

राखी बांधते समय बहनें इस मंत्र का उच्चारण करें तो भाई की आयु में वृद्धि होती है

‘येन बद्धो बलि राजा, दानवेन्द्रो महाबल:।

तेन त्वांमनुबध्नामि, रक्षे मा चल मा चल।।

“इन पंक्तियों का अर्थ यही है कि जिस रक्षा सूत्र से महान शक्तिशाली राजा बलि को बांधा गया था उसी सूत्र से मैं आपको बांध रहा हूं। आप अपने वचन से कभी विचलित न होना।