Tag Archives: लखनऊ

उत्तर प्रदेश में 2 रोडवेज बसों में भीषण टक्कर, 6 की मौत ,कई गंभीर


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

लखनऊ:उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 2 रोडवेज बसों की आमने सामने भीषण टक्कर हो गई जिसमें 6 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि कई यात्री घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिनमें से कई लोगों की हालत गंभीर है।

जानकारी के अनुसार काकोरी हरदोई रोड के पास बुधवार सुबह करीब 6:30 बजे यह भीषण हादसा हुआ है। एक रोडवेज बस हरदोई से लखनऊ और एक लखनऊ से हरदोई जा रही थी। हादसे के बाद चीख पुकार मच गई।

हादसे में 6 लोगों ने दम तोड़ दिया है, वही मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल यात्रियों को लखनऊ ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया है। मृतकों में नितेश भारती ,लकी सक्सेना, राजेंद्र सक्सेना, सरवाघार, हरिराम व एक महिला शामिल है।

मुलतापी समाचार

उत्तर प्रदेश: पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव अस्पताल में भर्ती


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के संरक्षक एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की तबीयत ठीक न होने के कारण लखनऊ के मेदांता अस्पताल की इमरजेंसी यूनिट में भर्ती किया गया है। अस्पताल में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव व शिवपाल सिंह यादव मौजूद है। गुरुवार दोपहर अखिलेश यादव भी अस्पताल पहुंचे और उनका हालचाल लिया।

डॉक्टरों का कहना है कि मुलायम अब पूरी तरह से ठीक है, रात तक उन्हें डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि मुलायम सिंह बुधवार रात से बीमार है इसलिए उन्हें भर्ती कराया गया है।

मुलतापी समाचार

सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता का निधन


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का आज निधन हो गया! वे करीब 1 महीने से दिल्ली एम्स में भर्ती थे! जानकारी के मुताबिक योगी आदित्यनाथ के पिता 89 वर्षीय आनंद सिंह बिष्ट को किडनी और लीवर की समस्या थी! उन्हें गंभीर हालत में बीते 13 मार्च को एम्स में भर्ती कराया गया था! कुछ दिन पहले से उनकी सेहत में लगातार गिरावट आ रही थी और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था! अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार सुबह करीब 10:40 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली! उनकी पार्थिव देह को पैतृक गांव लाया जा रहा है जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा!

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह उत्तराखंड के यमकेश्वर के पंचूर गांव में रहते हैं! वे उत्तराखंड में फॉरेस्ट रेंजर के पद से 1991 में रिटायर हुए थे! उसके बाद से ही वे अपने गांव में रह रहे थे! वही सीएम योगी आदित्यनाथ ने बचपन में ही अपना परिवार छोड़ दिया था! वे तब गोरखपुर महंत अवैद्यनाथ के पास चले गए थे! बाद में योगी आदित्यनाथ ने महंत के रूप में अवैद्यनाथ की जगह ली!

मुलताई पी समाचार

अयोध्या / रामलला के दर्शन करेंगे कॉमनवेल्थ राज्यों के स्पीकर व सभापतिदेशों का दल फेसले के बाद पहला अंतरराष्ट्रीय दल दर्शन करने आयेगा


After the decision of the Supreme Court, Ayodhya will go to the Parliamentary Committee representatives of the Commonwealth countries; Will visit Ramlala

18 जनवरी को आने वाले इस दल में प्रतिनिधियों के साथ राज्यों के स्पीकर व सभापति भी शामिल 16 से 19 जनवरी को लखनऊ में कॉमनवेल्थ देशों के भारतीय ससंदीय प्रतिनिधियों का सम्मेलन है

Multapi Samachar

लखनऊ. 18 जनवरी को कॉमनवेल्थ देशों के प्रतिनिधियों के साथ विभिन्न राज्यों के स्पीकर व सभापति अयोध्या का भ्रमण करने जाएंगे। वह रामलला के भी दर्शन करेंगे। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद अयोध्या जाने वाला यह पहला अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल होगा। संसदीय सम्मेलन में भाग लेने वाले सभी सदस्यों को अयोध्या भ्रमण का कार्यक्रम पहली बार रखा गया है। भ्रमण के दौरान सदस्यों को अयोध्या की पौराणिकता से रूबरू कराया जाएगा।

लखनऊ में होगा सम्मेलन, ओम बिड़ला करेंगे अध्यक्षता
उप्र में कॉमनवेल्थ देशों के भारतीय ससंदीय प्रतिनिधियों का सम्मेलन 16 से 19 जनवरी के दौरान लखनऊ में प्रस्तावित है। सम्मेलन की अध्यक्षता लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला करेगें। राज्यसभा के उपसभापति भी शामिल होगें। सम्मेलन में भारतीय क्षेत्र के देश सभी राज्यों की विधानसभाओं के प्रतिनिधियों के साथ कॉमनवेल्थ देशों के सभी 7 अन्य क्षेत्रीय समितियों के 2 या 3 संसदीय प्रतिनिधि ‘आब्जर्बर’के रूप में शामिल होगें।

लोकसभा-राज्यसभा की टीम शामिल होगी
इस सम्मेलन में देश के राज्यों के विधानसभाओं के अध्यक्ष व विधान परिषदों के सभापति व सचिव भी शामिल होगें। लोकसभा व राज्यसभा के 25-25 सदस्यों की टीम भी होगी। यह आयोजना देश की लोकसभा द्वारा आयोजित होना है। उप्र विधानसभा के प्रमुख सचिव प्रदीप दुबे इसके सचिव बनाए गए है।

18 जनवरी को है अयोध्या भ्रमण का कार्यक्रम
प्रतिनिधियों के बीच 16 से 19 जनवरी को संसदीय प्रणाली के विभिन्न मुद्दों पर विचार विमर्श कार्यक्रम के साथ 18 जनवरी को अयोध्या भ्रमण का भी कार्यक्रम तय किया गया है। कुल 141 सदस्यों में से 120 ने लखनऊ आने की सहमति दे दी है। इस टीम में कॉमनवेल्थ क्षेत्रीय उपसमिति के लगभग 20 विदेशी प्रतिनिधि भी होगें।

134 साल पुराने मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया था फैसला

अयोध्या में मंदिर-मस्जिद विवाद पर शनिवार को सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया था। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुआई वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने सर्वसम्मति से यह फैसला सुनाया था। इसके तहत अयोध्या की 2.77 एकड़ की पूरी विवादित जमीन राम मंदिर निर्माण के लिए दे दी गई।

तीन महीने में ट्रस्ट बनाने का निर्देश दिया था

शीर्ष अदालत ने कहा कि मंदिर निर्माण के लिए 3 महीने में ट्रस्ट बने और इसकी योजना तैयार की जाए। चीफ जस्टिस ने मस्जिद बनाने के लिए मुस्लिम पक्ष को 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन दिए जाने का फैसला सुनाया, जो कि विवादित जमीन की करीब दोगुना है। चीफ जस्टिस ने कहा कि ढहाया गया ढांचा ही भगवान राम का जन्मस्थान है और हिंदुओं की यह आस्था निर्विवादित है।