Tag Archives: लाॅॅकडॉउन

फल, सब्जी, मोहल्लों की किराना एवं अन्य दुकानों के खुलने की व्यवस्थाओं में परिवर्तन


दुकान खोलने एवं डोर-टू-डोर डिलेवरी के समय में प्रात: 6 बजे से प्रात: 11 बजे तक शिथिलता

Multapi Samachar

#MPFightsCorona

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने लॉक-डाउन के दौरान जिले में सब्जी, फल, मोहल्लों की किराना व अन्य दुकानें खुलने के पूर्व निर्धारित समय एवं आवश्यक सामग्रियों की डोर-टू-डोर सप्लाई के समय में परिवर्तन किया है। कलेक्टर ने बताया कि अब नगरीय क्षेत्रों में जो दुकानें प्रात: 7 बजे से प्रात: 10 बजे तक खुल रही थीं, वे प्रात: 6 बजे से प्रात: 11 बजे तक खोली जा सकेंगी।

नगरीय क्षेत्रों में आवश्यक सामग्रियों की डोर-टू-डोर डिलेवरी का समय पूर्व में प्रात: 7 बजे से प्रात: 10 बजे तक था, अब वह प्रात: 6 बजे से प्रात: 11 बजे तक रहेगा।

बैतूल नगर एवं अन्य नगरीय क्षेत्रों में थोक सब्जी मण्डी खोले जाने का समय सायं 5 बजे से रात्रि 11 बजे तक रहेगा। बैतूल नगरीय क्षेत्र की सब्जी मण्डी कृषि उपज मण्डी बडोरा में संचालित होगी।

अन्य नगरीय क्षेत्रों में सब्जी मण्डी के लिए स्थान संबंधित एसडीएम अथवा कार्यपालिक दण्डाधिकारी द्वारा तय किया जाएगा।इस समय में ही सब्जी एवं जिले में उत्पादित फलों के विक्रेता किसान आदि थोक विक्रेताओं को विक्रय कर सकेंगे एवं इसी समय में थोक विक्रेताओं से फुटकर विक्रेता माल प्राप्त कर सकेंगे।फल एवं सब्जी के फुटकर विक्रेता प्रात: 6 बजे से प्रात: 11 बजे तक चलित साधनों जैसे-हाथ ठेला, चार पहिया छोटा लोडिंग वाहन से नगर पालिका से वार्डवार अनुमति लेकर उन्हीं वार्डों में बिक्री कर सकेंगे।

यह बात ध्यान देने योग्य है कि पूर्व व्यवस्था अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों के फल एवं सब्जी उत्पादक किसान जो दोपहिया वाहन से अपनी सब्जी/फल लाकर बेचते हैं, उन्हें किसी अनुमति की व्यवस्था नहीं होगी। वे अपना विक्रय कार्य प्रात: 6 बजे से प्रात: 11 बजे के बीच कर सकेंगे।जिले के नगरीय क्षेत्रों में छोटे चार पहिया वाहनों से पूर्व से प्रचलित सब्जी, फल विक्रय की अन्य जो भी व्यवस्था है, उसके संबंध में संबंधित नगर पालिका से अनुमति प्राप्त करना आवश्यक होगी।

संबंधित नगरपालिका के समक्ष ऐसे फुटकर विक्रेताओं के आवेदन को क्षेत्रवार इस प्रकार से अनुमति देगी, जिससे किसी विशेष क्षेत्र में अनावश्यक भीड़ न हो एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्णत: पालन हो।कलेक्टर ने बताया कि बैतूल नगर में जिले के बाहर से आने वाले फलों हेतु यह व्यवस्था की जाती है कि कंपनी बाग के पास स्थित थोक विक्रेता, फुटकर विक्रेताओं को सायं 5 बजे से रात्रि 11 बजे तक यह फल सामग्री प्रदाय कर सकेंगे। फुटकर विक्रेताओं को चलित साधनों जैसे-हाथ ठेला, छोटे चार पहिया लोडिंग वाहन से इनकी बिक्री की अनुमति संबंधित नगरपालिका को क्षेत्रवार देना होगी एवं इस प्रकार नियंत्रण रखना होगा कि किसी क्षेत्र में अनावश्यक भीड़ न हो।

नगरीय निकायों को फुटकर फल एवं सब्जी विक्रेताओं के लिए इस प्रकार की अनुमतियां देते हुए सामान्य परामर्श एवं निर्देश संबंधित एसडीएम अथवा कार्यपालन दण्डाधिकारी से प्राप्त करना होंगे। इस संबंध में संबंधित पुलिस अधिकारियों का भी अभिमत लिया जाएगा।फलों एवं सब्जियों की विक्रय व्यवस्था, थोक सप्लाई चैन आदि की नोडल एजेंसी संबंधित नगरीय निकाय रहेंगे।

एसडीएम/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट के सामान्य नियंत्रण में समस्त कार्रवाई एवं निगरानी सम्पन्न होगी।समस्त थोक एवं फुटकर विक्रय के स्थानों पर पूरी तरह से सोशल डिस्टेंसिंग (6 फीट की दूरी), मास्क लगाना एवं सभी को व्यवस्था में सहयोग करना बंधनकारी होगा। उल्लंघन की दशा में दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी।

आमजन से अपील की गई है कि इस सुविधा के साथ लागू प्रतिबंधों का भी वे पालन करें, अन्यथा उल्लंघनकर्ताओं के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई की जा सकेगी।कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी ने उक्त आदेश दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के अंतर्गत जारी किया है। पूर्व में जारी समस्त आदेश उक्त आदेश से संशोधित रहेंगे, परन्तु शेष विषय वस्तु पूर्वानुसार लागू रहेगी। आदेश एकपक्षीय रूप से प्रभावशील किया गया है।

लॉक-डाउन के दौरान खेती-किसानी, समेत ये सेवाएं-गतिविधियां 20 अप्रैल से होंगी चालू, देखिए पूरी लिस्ट


लॉक-डाउन के दौरान 20 अप्रैल से व्यवस्थाओं में परिवर्तन

Multapi Samachar

Betul News. lock-down. Covid d-19

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के दृष्टिगत जिले में प्रभावी लॉक-डाउन के दौरान जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में लिए गए निर्णय अनुसार 20 अप्रैल 2020 से की जाने वाली व्यवस्थाओं के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने बताया कि जिले में धारा 144 का प्रतिबंधात्मक आदेश 20 अप्रैल 2020 से निरन्तर प्रभावशील रहेगा, जो 03 मई तक लॉक-डाउन अवधि में चलेगा। नवीन व्यवस्था 20 अप्रैल 2020 से लागू होगी, परन्तु नियमों एवं सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन होगा। दो पहिया एवं चार पहिया वाहन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे एवं जो वाहनधारी छूट की श्रेणी में है, उन्हें अपना परिचय पत्र दिखाना होगा। दो पहिया वाहन में एक से अधिक सवारी नहीं हो सकेगी।

उन्होंने बताया कि 20 अप्रैल 2020 से लॉकडाउन के संबंध में कोविड-19 के प्रोटोकॉल के पालन एवं व्यवस्थाओं हेतु आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में लिए गए निर्णयानुसार आवश्यक वस्तुओं के प्रदाय एवं विभिन्न प्रकार की गतिविधियों के संबंध में बैतूल जिले के समस्त नगरीय क्षेत्रों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में (भैंसदेही नगरीय क्षेत्र एवं उससे जुड़ा हुआ कंटेन्मेंट एरिया छोडक़र) विभिन्न व्यवस्थाएं इस प्रकार रहेंगी-

दूध एवं समाचार पत्र की होम डिलेवरी वितरण का समय प्रात: 6 बजे से सुबह 9 बजे तक रहेगा।

किराना की मोहल्ला दुकानें प्रात: 7 बजे से सायं 4 बजे तक खुली रहेगी।
प्रत्येक प्रतिष्ठान स्वामी एवं दुकानदार को सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्यत: पालन करना होगा एवं इस संबंध में संबंधित नगरीय निकाय/ग्राम पंचायत के अधिकारी/कर्मचारी के निर्देशों का पालन भी करना होगा।

किराने की होम डिलेवरी हेतु माल वाहन/लोडिंग ऑटो का समय प्रात: 7 बजे से सायं 4 बजे तक रहेगा। इस कार्य में सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्यत: पालन करना होगा।

पशु आहार एवं अण्डा की होम डिलेवरी प्रात: 7 बजे से सायं 10 बजे तक रहेगा। इस कार्य में पूर्णत: सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

खाद, बीज फसल की दवाई दुकानें, कृषि संयंत्र एवं कृषि अनुशांषिक सामग्री विक्रय करने वाली दुकानें प्रात: 10 बजे से सायं 4 बजे तक पूर्णत: सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए खुली रहेगी।

सब्जी की होम डिलेवरी एवं किसान समृद्धि बाजार के माल वाहनों से बिक्री करने की वर्तमान व्यवस्था से हो रही होम डिलेवरी पूर्णत: सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए प्रात: 7 बजे से सायं 4 बजे तक की अनुमति रहेगी।

कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि 20 अप्रैल 2020 से 03 मई 2020 तक विभिन्न गतिविधियों में सोशल डिस्टेंसिंग एवं अन्य सुरक्षात्मक उपाय के साथ विभिन्न प्रकार की छूट एवं गतिविधियों की अनुमति होगी, जिसके तहत-

सार्वजनिक स्थानों में फेस कवर/फेस मास्क लगाना अनिवार्य है। सभी सार्वजनिक स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा एवं एक-दूसरे से न्यूनतम 6 फुट की दूरी रखनी होगी।

किसी भी स्थान पर एक समय में सामाजिक दूरी के साथ जो 6 फुट है, 5 से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं होंगे।

सार्वजनिक स्थानों पर थूकना दण्डनीय है। किसी भी प्रकार के शराब, गुटखा एवं तम्बाकू व इसके उत्पादों की बिक्री पूर्णत: प्रतिबंधित है।

कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि 20 अप्रैल 2020 से 03 मई 2020 तक वर्तमान में लागू लॉकडाउन समस्त जिले में यथावत प्रभावी रहेगा एवं निम्नलिखित गतिविधियां पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगी-

सार्वजनिक यातायात, प्लेन, ट्रेन का परिचालन पूरी तरह से बंद रहेगा।

सभी तरह के शैक्षिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान पूरी तरह से बंद रहेंगे।

सभी तरह के औद्योगिक एवं वाणिज्यिक गतिविधियां एवं संस्था जिनको विशिष्ट रूप से छूट दी गई है, को छोडक़र पूरी तरह से बंद रहेंगे।
छूट प्राप्त होटल, लॉज को छोडक़र यह प्रतिष्ठान भी पूरी तरह से बंद रहेंगे।

सभी तरह के ऑटो रिक्शा, साइकिल रिक्शा एवं टैक्सी, कैब भी पूरी तरह से बंद रहेंगे।

सभी तरह के सिनेमा हॉल, शॉपिंग काम्पलेक्स, मॉल, जिम, खेलकूद की गतिविधियां, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, ऑडिटोरियम, मैरिज हॉल भी पूर्ण रूप से बंद रहेंगे।

समस्त प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक समागम पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे।

सभी प्रकार के धार्मिक स्थल, पूजा के स्थान आमजनों के लिए बंद रहेंगे एवं किसी भी तरह का धार्मिक समागम या एकत्रीकरण नहीं होगा। किसी भी उल्लंघन पर अत्यंत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मृत्यु की दशा में शव यात्रा में अधिकतम 20 व्यक्तियों की अनुमति होगी।

उपरोक्त के अतिरिक्त सोशल डिस्टेंसिंग एवं कार्य स्थलों, फैक्टरियों, स्थापनाओं में विहित प्रक्रियाओं (जिसकी सूचना देकर पृथक-पृथक अनुमति लेनी होगी एवं जिसके प्रबंध पूर्व से करने होंगे) का पालन करते हुए निम्नलिखित गतिविधियां संचालित रहेगी-

हेल्थ सर्विसेज चालू रहेंगीं

खेती से जुड़ी सभी गतिविधियां चालू रहेंगी। किसानों और कृषि मजदूरों को हार्वेस्टिंग से जुड़े काम करने की छूट रहेगी।

कृषि उपकरणों की दुकानें, उनके मरम्मत और स्पेयर पाटर््स की दुकानें खुली रहेंगी।

खाद, बीज, कीटनाशकों के निर्माण और वितरण की गतिविधियां चालू रहेंगी, इनकी दुकानें चालू रहेंगी।

कटाई से जुड़ी मशीनों (कंबाइन) के एक राज्य से दूसरे राज्य में मूवमेंट पर कोई रोक नहीं रहेगी।

मछली पालन से जुड़ी गतिविधियां, ट्रांसपोर्ट चालू रहेगी।

दूध और दुग्ध उत्पाद के प्लांट और इनकी सप्लाई चालू रहेगी।

मवेशियों के चारा से जुड़े प्लांट, रॉ मटेरियल की सप्लाई चालू रहेगी।

ग्रामीण क्षेत्रों में (जो म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन या म्यूनिसिपलिटी के तहत न हों) काम करने वाले उद्योगो को छूट रहेगी।

दवा, फार्मा, मेडिकल डिवाइसेज समेत जरूरी सामानों के निर्माण और रॉ मटेरियल्स से जुड़ी इकाइयों को छूट रहेगी।

सडक़ की मरम्मत और निर्माण को छूट, जहां भीड़ नहीं हो।

बैंक शाखाएं, एटीएम, पोस्टल सर्विसेज चालू रहेंगी।

ऑनलाइन टीचिंग और डिस्टेंस लर्निंग को प्रोत्साहित किया जाएगा।

मनरेगा के काम की इजाजत रहेगी, सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करते हुए।

मनरेगा के कामों को सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करते हुए किया जाएगा।

मनरेगा में सिंचाईं और वाटर कंजर्वेशन से जुड़े कामों को प्राथमिकता दी जाएगी।

तेल और गैस सेक्टर का ऑपरेशन चलता रहेगा, इनसे जुड़ी ट्रांसपोर्टेशन, डिस्ट्रिब्यूशन, स्टोरेज और रिटेल से जुड़ी गतिविधियां चलती रहेंगी।

जरूरी सामानों जैसे पेट्रोलियम और एलपीजी प्रोडक्ट्स, दवाओं, खाद्य सामग्रियों के ट्रांसपोर्टेशन को इजाजत रहेगी।

सभी ट्रकों और गुड्स कैरियर व्हीकल्स को छूट रहेगी, एक ट्रक में दो ड्राइवरों और एक हेल्पर की इजाजत।

इस बार ट्रकों के मरम्मत की दुकानों को भी छूट।

हाईवेज पर ढाबे भी खुले रहेंगे, ताकि ट्रकर्स को दिक्कत न हो। ट्रक, गुड्स कैरियर की सुविधा हेतु कार्यपालिक मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारी चिन्हित ढाबों को खोलने की अनुमति देंगे एवं चिन्हित मैकेनिक की दुकानें खुली रहेगी।

रेल्वे की मालगाडिय़ों को छूट बरकरार।

सभी जरूरी सामानों की सप्लाई चैन की इजाजत।

प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को छूट, डीटीएच और केबल सर्विसेज को भी छूट।

ई-कॉमर्स कंपनियों की गतिविधियों, इनके ऑपरेटरों की गाडिय़ों को छूट, इसके लिए इजाजत लेनी होगी।

सरकारी काम में लगी डेटा और कॉल सेंटर सर्विसेज को इजाजत।

प्राइवेट सिक्योरिटी सर्विसेज को इजाजत।

हॉस्पिटल, नर्सिंग होम, क्लीनिक, डिस्पेंसरी, केमिस्ट शॉप, मेडिकल लैब सेंटर खुले रहेंगे। पैथ लैब, दवाई से जुड़ी कंपनी खुली रहेगी।

बैंक, एटीएम आदि भी खुले रहेंगे। पोस्ट ऑफिस, एलपीजी, पेट्रोल-डीजल सप्लाई जारी रहेगी।

स्कूल, कॉलेज भी बंद रहेंगे। सिनेमा हॉल, मॉल्स, शॉपिंग काम्पलेक्स, जिम, खेल परिसर, स्वीमिंग पुल, बार बंद रहेंगे।

सामाजिक, राजनीतिक, खेल, धार्मिक समारोह, धार्मिक स्थल, प्रार्थना स्थल बंद रहेंगे।

राष्ट्रीय वंचित पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने लॉक डाउन पालन करने कीअपील


राष्ट्रीय वंचित पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने लॉक डाउन पालन करने की अपील करते हुए शासन को सहयोग

मुलतापी समाचार

मध्‍यप्रदेश। राष्ट्रीय वंचित पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशील कुमार यादव जी का कहना है लॉक डाउन के चलते एक बार फिर तीन मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है इसका हम सम्मान करते हैं और हमारे सभी वंचित भी हमारा सभी लोगों से निवेदन है सरकार के आदेशों का पालन करें और पुलिस प्रशासन डॉक्टर सफाई कर्मचारियों का हमें सम्मान करना चाहिए ऐसे कोरोना संक्रमण के चलते हमारे पुलिस प्रशासन डॉक्टर सफाई कर्मचारी अपनी जान को जोखिम में डालकर जनता की सेवा में लगे ऐसे लोगों के लिए हम ईश्वर से लंबी उम्र की कामना करते हैं हमारा राष्ट्रीय वंचित पार्टी का हर कार्यकर्ता दिन और रात वंचितों की सेवा में लगा हुआ है

मैं तो बिना पास के निकल जाता मुझे तो किसी ने नही रोका.. लॉक डाउन की धज्जियां उड़ा रहे


Multapi Samachar

बैतूल – भाईसाहब ये मीडिया वाले ख़ामोखा डर पैदा कर रहे है कि शहर और गावों में नाकेबंदी है पुलिस पिट रही.. पकड़कर चालान बना देंगे.. मैं तो बिना पास के निकल जाता मुझे तो किसी ने रोका.. जी हा ये उस महाशय जुबानी है जो लॉक डाउन की धज्जियां उड़ाकर निकल जाता है इस तरह के और भी कई महाशय है और पुलिस कह रही है सब ठीक है सब तरफ पहरेदारी लगी है।

ये कैसी पहरेदारी है जो पुलिस के पास से बेरिकेट्स लॉग कर निकल जा रहे है। दरअसल कुछ जगह पर पुलिसकर्मियों ने ढील देकर रखी है कौन व्यक्ति पास वाला है कि नही है  ये सब पूछना भी उचित नही समझते है। पुलिस ने  लॉकडाउन के शुरुआत में ऐसी सख्ती दिखाई थी कि जिन्हें आने जाने की पास जारी थी उन लोगों को भी आने जाने के लिए 10 बार सोचना पड़ता था। ऐसा लग रहा है कि लॉक डाउन के बढ़ते दिनों के साथ पुलिस की चुस्ती फुर्ती कम हो गई है। 

MP in कंटेनमेंट एरिया और जिलों की सीमाओं को प्रभावी ढंग से सील करने के निर्देश


मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस ने संभागीय आयुक्तों, कलेक्टरों को दिये निर्देश

मुलतापी समाचार

भोपाल । मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस ने प्रदेश के सभी संभागायुक्त एवं कलेक्टर्स को पत्र भेजकर निर्देशित किया है कि कंटेनमेंट एरिया तथा जिलों की सीमाओं को प्रभावी ढंग से सील किया जाये। प्रभावी जिलों की सीमाओं पर चौकसी बढ़ाई जाये और लोगों के आने-जाने को कड़ाई से प्रतिबंधित किया जाये। कंटेनमेंट एरिया से लोगों की आवाजाही को रोकने के लिये बेरीकेटिंग के साथ कार्डन ऑफ किया जाये।

मुख्य सचिव श्री बैंस ने जिला कलेक्टरों से कहा है कि कंटेनमेंट एरिया को प्रभावी ढंग से सील करें। वहाँ रहने वाले लोगों की जरूरत की आवश्यक सामग्री उनके द्वार तक पहुँचाने की व्यवस्था को प्रभावी बनायें। इस एरिया में आकस्मिक चिकित्सकीय आवश्यकता होने पर लोगों को अस्पताल जाने की छूट होना चाहिये। कंटेनमेंट एरिया के प्रबंधन के संबंध में जारी गाइड-लाइन के अनुसार कार्यवाही करें। जिले की सीमाओं से अन्य जिलों से होने वाले आवागमन पर और अधिक प्रभावी ढंग से नियंत्रण लगाया जाये। श्री बैंस ने कहा कि भोपाल, इंदौर, उज्जैन आदि बड़े जिलों को अपने शहरों की सीमाओं को और अधिक सुरक्षित करने की आवश्यकता है, जिससे जिले के अन्य ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले लोगों को कोरोना के संक्रमण से बचाया जा सके।

लॉकडाउन में भी पीथमपुर से चौथिया गांव पहुंचे 10 लोगों का कराया स्वास्थ्य परीक्षण


मुलतापी समाचार

इंदौर में कोरोना फैलने से दहशत में है क्षेत्र के लोग

मुलताई। इंदौर क्षेत्र में कोरोना फैलने से क्षेत्र के लोग भी दहशत में है, क्योंकि मुलताई क्षेत्र से बड़ी संख्या में लोग पीथमपुर इंदौर में कार्यरत हैं। लॉकडाउन के बाद लगातार उस क्षेत्र से लोगों का मुलताई वापस आना लगा हुआ है। ऐसे में डर है कि यदि एक भी संक्रमित नगर में आ गया तो यहां भी यह गंभीर बीमारी फैलने में देर नहीं लगेगी। नगर के समीपस्थ ग्राम चौथिया से भी कई लोग पीथमपुर में कार्य कर रहे हैं। बुधवार पीथमपुर से ग्राम चौथिया में 10 लोग पहुंचे जिनको पंचायत द्वारा पहले स्वास्थ्य परीक्षण के लिए मुलताई स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया गया। इसके लिए सभी लोगों के पहले पास बनाए गए जिसके बाद स्वास्थ्य परीक्षण हुआ।