Tag Archives: सर्प दंश से मौत

सर्प दंश से महिला की मौत


कोबरा सर्प से महिला की मौत

बैतूल। घोड़ाडोंगरी तहसील के सलैया गांव में घर में सो रही एक महिला को सांप ने डस लिया. जिससे महिला की मौत हो गई. महिला को डसने के बाद सांप घर में ही बैठा रहा. सर्प मित्र मोनू जेम्स ने सांप को पकड़ कर जंगल में छोड़ दिया. वहीं घोड़ाडोंगरी अस्पताल में पोस्टमार्टम कराकर महिला का शव परिजनों को सौंप दिया गया.

जानकारी के मुताबिक मृतिका की पहचान सलैया गांव निवासी चंद्रकला देशमुख के रूप में हुई है. महिला घर में सो रही थी. इसी दौरान भोजन की तलाश में सांप घर के अंदर घुस आया और महिला को डस लिया. आनन-फानन में परिजन उसे घोड़ाडोंगरी अस्पताल लेकर पहुंचे. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

सर्प मित्र मोनू जेम्स ने बताया कि सांप कोबरा प्रजाति का था. जो बहुत ही जहरीला होता है. इसलिए महिला को डसने के बाद उसकी मौत हो गई. हालांकि सांप का रेस्क्यू कर जंगल में छोड़ दिया गया.

गुना – सर्प दंश से मौत, अस्पताल में शव पर मंत्र फूंकते रहे झाड़-फूंक करने वाले बाबा


सांप ने काटा, अस्पताल में शव के कान में मंत्र फूंकते रहे झाड़-फूंक वाले
गुना सर्प दंश से मरा व्यक्ति दो घंटे झड़ा फूकी करते रहे बाबा

गुना। जिला अस्पताल में बुधवार की दोपहर अंधविश्‍वास का खुला खेल हुआ। यहां स्ट्रेचर पर लिटाकर मुर्दा को जिंदा करने के लिए दो घंटे तक बाबा झाड़फूंक करते नजर अाए। पुलिस के साथ अस्पताल प्रशासन का स्टाफ इस नजारे को देखता रहा, लेकिन सांप काटने की वजह से मृतक को झाड़फूंक से जिंदा नहीं कर पाए। बाद में जिला अस्पताल प्रशासन ने मृतक का पोस्टमार्टम करने के बाद परिजनों को शव साैंप दिया।

हालांकि, अस्पताल प्रशासन ने पहले ही परिजनों को शव साैंप दिया था, लेकिन परिजनों को उम्मीद थी कि झाड़फूंक कर मृतक को जिंदा घर ले जा सकते हैं। दरअसल, नारायणपुरा गांव में नाथूलाल पुत्र शिवलाल बंजारा बुधवार की सुबह खेत में कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करने के लिए गया था, लेकिन उसी दाैरान सांप ने उसके हाथ में काट लिया।

परिजन एक घंटे के बाद जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन डॉक्टर्स ने नाथूलाल को मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने फोन करके दो झाड़फूंक करने वाले बुलाए। ये लोग दो घंटे तक नीम के झारे के साथ झाड़फूंक अाैर मोबाइल से मंत्र फूकने की क्रिया करते रहे। इस दाैरान मंत्रोच्चारण कर मृतक के चेहरे पर पानी भी डाला गया, लेकिन स्ट्रेचर पर पड़े मृतक के शरीर में कोई हलचल नहीं हुई।

डॉक्टर बोले- परिजन नहीं थे मानने को तैयार

अस्पताल प्रशासन के डॉक्टरों का कहना है कि मृतक के शरीर से सांप का जहर उतारने के लिए झाड़फूंक चलती रही। परिजनों से अस्पताल प्रशासन ने कहा कि मृतक अब जिंदा नहीं हो सकता है। वह मृतक का पीएम करा दें, लेकिन परिजन मानने को तैयार नहीं हुए, जिसकी वजह से अस्पताल परिसर में दो घंटे तक झाड़फूंक चलती रही।