Tag Archives: सीएए

देश में सीएए को समर्थन ग्वालियर की रेली में कहा कि कांग्रेस को शरणार्थी और घुसपैठियों में अंतर महसूस नहीं होता : योगी आदित्यनाथ


Image result for योगी आदित्यनाथ ग्वालियर
योगी आदित्‍यानाथ जी की फाइल फोटो

मुलतापी समचार

ग्वालियर। गौरतलब है कि जनजागरण मंच द्वारा नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में सभा एवं रैली का आयोजन किया था। सभा में योगी ने कहा कि कांग्रेस के नेता और सहयोगी दल कहते हैं कि वे अपने राज्यों में नागरिकता संशोधन कानून लागू नहीं होने देंगे। क्या यह देश के संविधान को चुनौती नहीं दी जा रही है। क्या कांग्रेस एक बार फिर देश के संविधान का गला घोंटने का काम नहीं कर रही है? योगी की सभा के बाद शहर में सीएए पर जागरूकता रैली निकाली गई। इसमें करीब दस हजार लोग शामिल हुए।

 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को ग्वालियर में कहा कि कांग्रेस को आज भी शरणार्थी और घुसपैठियों में अंतर महसूस नहीं होता है। देश के अंदर लगातार घुसपैठ से आतंकवाद, अलगाववाद, नक्सलवाद को पनपाने वालों की वकालत कांग्रेस और सहयोगी दल कर रहे हैं। आपातकाल लगाकर जिस कांग्रेस ने संविधान का चीरहरण किया था, जिन लोगों ने खुद संविधान का गला घोंटा था, लोकतंत्र को रौंदकर एक परिवार के हाथ गिरवी रखने का काम किया था। वही आज संविधान बचाने की बात कर रहे हैं।

कांग्रेस समेत विपक्ष फैला रहा है देश में अराजकता

योगी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून की आड़ में कांग्रेस समेत विपक्ष ने देश में आगजनी, तोड़फोड़ और अराजकता का वातावरण पैदा करने का कुत्सित कार्य किया है। इसलिए देश की जनता के प्रति अपने दायित्वों का निर्वहन करने के लिए हम सबको जनता के बीच आकर वस्तुस्थिति से अवगत कराना पड़ा है। नागरिकता कानून, नागरिकता देने के लिए है, किसी की नागरिकता लेने वाला कानून नहीं है। यह भारत के हित में और 1950 में हुए नेहरू-लियाकत समझौते की उस कड़ी को आगे बढ़ाने का परिष्कृत रूप ही है।

दुनिया के लिए नासूर बना है पाकिस्तान

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि लाखों लोगों की हत्या जिस पाकिस्तान के नाम पर की गई, वह आज भी देश-दुनिया के लिए नासूर बना हुआ है। इस नासूर का जनक जिन्ना है। उन्होंने कहा कि लोगों का कहना था कि राम मंदिर पर फैसला आएगा और खून की नदियां बहेंगी। इस पर मैंने कहा था कि एक मच्छर भी नहीं मरेगा।

जेनएयू में झूठ का लिया सहारा

उन्होंने कहा कि जेएनयू में भी झूठ का सहारा लिया। चार दिन पहले वातावरण विषाक्त करने का प्रयास किया था। अब दिल्ली पुलिस की रिपोर्ट में साफ हो गया कि जो लोग खुद पर हमला करना बता रहे थे, वही वामपंथी संगठनों के पदाधिकारी लाठी-डंडे लेकर हमला करते दिखाई दे रहे हैं।