Tag Archives: स्‍वास्‍थ

स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर ग्रामीणों को दी जा रही सेहत की समझाइस


मुलतापी समाचार

बैतूल।  भीमपुर ब्लाक में कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा डोर टू डोर जाकर कोरोना वायरस से बचाव संबंधित जानकारी दी जा रही है। खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ पंकज बाथम ने बताया कि कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए पूरे ब्लॉक में 12 टीम बनाई है। टीम में सभी प्रशिक्षित कर्मचारी है। टीम द्वारा दामजीपूरा से लगी महाराष्ट्र बॉर्डर, देसली से लगी खंडवा बॉर्डर और पूरे ब्लॉक में कर्मचारी तैनात कर कार्य कराया जा रहा है। बाहर से आने वाले एवं ब्लाक के पाए जाने वाले मरीजों की तत्काल स्क्रीनिंग कर उपचार किया जा रहा है।सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भीमपुर के सेक्टर आदर्श धनोरा में वरिष्ठ एवं अनुभवी स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्रवण परते द्वारा सेक्टर स्तरीय टीम के साथ ग्राम आदर्श धनोरा, लक्कड़ जाम, हिड़ली, चिखली, माकड़ा, गुराडिया, बक्का, भाडरी में कोरोनावायरस महामारी से बचने के लिए ग्रामीणों को जरूरी समझाइश दी जा रही है। खंड चिकित्सा अधिकारी ने एमपीडब्ल्यू श्रवण परते को उप स्वास्थ्य केंद्र चिखली के साथ-साथ उप स्वास्थ्य केंद्र आदर्श धनोरा में आगामी आदेश तक कार्य करने के लिए निर्देशित किया है। श्री परते ने बताया स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा ग्रामीणों को कोरोनावायरस की जानकारी देते हुए इससे बचने के उपाय बताए जा रहे हैं। इस उपाय को ग्रामीणों के द्वारा अपनाया जा रहा है।

यह है उपाय स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्री परते ने बताया कि ग्रामीणों को बताया जा रहा है कि सभी को अपने घरों में रहना है, एक दूसरे से 1 मीटर की दूरी बना कर रखना है, बार-बार हाथ साबुन से धोना है या सैनिटाइजर का उपयोग करना है, होम मेकर या अच्छे मास्क लगाना है, सर्दी खांसी बुखार आने पर ग्राम आरोग्य केंद्र पर तत्काल जांच करना है आदि उपाय बताए जा रहे हैं। माकिंग कार्य आजाद सिंह राजपूत द्वारा स्वास्थ्य टीम के साथ किया जा रहा है। सेक्टर स्तरीय दल में स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्रवण परते आदर्श धनोरा, श्रीमती पदमा बावसे एलएचवी, श्रीमती शकुन परिहार एएनएम धनोरा, श्रीमती सुखशांति उइके एएनएम, शकुंतला पांसे, मंजू बाला छवलिया, सहयोगी गंगा यादव आशा कार्यकर्ता माया वैश्य शामिल है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मुलताई में प्रवेश द्वारों पर लगाए सेनेटाइजिंग टनल स्‍थापित


कोविड-19 सेम्पल कलेक्शन बूथ भी बनाया

Multapi Samachar

मुलताई। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के दृष्टिगत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मुलताई के चिकित्सालय में प्रवेश के दोनों द्वारों पर सेनिटाइजिंग टनल लगाए गए हैं। मुलताई के समाजसेवी बोहरा समाज एवं डॉ. दीपक वाईकर एवं उनके सहयोगियों ने अस्पताल प्रबंधन से मिलकर इसे प्रारंभ किया है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मुलताई के खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. उदय प्रताप सिंह तोमर ने बताया कि मुलताई चिकित्सालय में कोविड-19 सेम्पल कलेक्शन बूथ का भी निर्माण कर लिया गया है। ओरोफेरिंजीयल व नेजोफेरिंजीयल स्वेब कलेक्शन की व्यवस्था की गई है। अब स्वास्थ्य कर्मी सुरक्षित भी रहेंगे और आसानी से बिना किसी कठिनाई एवं खतरे के संदिग्ध कोरोना सैंपल लिया जा सकेगा।

बैतूल – कोरोना से संघर्ष में जिले के निजी अस्‍पताल एवं डॉक्टर्स प्रशासन के कंधे से कंधा मिलाकर करेंगे सहयोग


निजी अस्पतालों के वेंटीलेटर जिला अस्पताल को उपलब्ध कराए जाएंगे

कलेक्टर ने मकान मालिकों को निजी क्षेत्र के स्वास्थ्यकर्मियों से इस माह किराया नहीं मांगने एवं मकान खाली नहीं कराने के दिए निर्देश

बैतल। बैठक को संबोधित करते कलेक्टर।

मुलतापी समाचार

बैतूल। कोरोना संक्रमण के विरूद्ध लड़ाई लड़ने में जिला प्रशासन के साथ जिले के निजी अस्पताल/नर्सिंग होम संचालक एवं निजी चिकित्सक भी पूरी शिद्दत के साथ आगे आए हैं। मंगलवार को कलेक्टर राकेश सिंह के साथ निजी चिकित्सालय व नर्सिंग होम संचालकों एवं निजी चिकित्सकों की बैठक में सभी ने इस लड़ाई में जिला प्रशासन का कंधे से कंधा मिलाकर साथ देने का आश्वासन दिया। साथ ही निर्णय लिया गया कि जिला चिकित्सालय जो कि कोविड-19 अस्पताल के रूप में घोषित है, उसे पूरी तरह आवश्यक उपकरणों से तैयार रखा जाएगा। बैठक में निर्णय लिया गया कि जिले के निजी अस्पतालों के लगभग 15 वेंटीलेटर उपलब्ध कराए जाकर जिला अस्पताल में एक पृथक ईकाई के रूप में लगाए जाएंगे। बैठक में विधायक डॉ. योगेश पण्डाग्रे, पुलिस अधीक्षक डीएस भदौरिया सहित जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एमएल त्यागी, अपर कलेक्टर जेपी सचान, स्वास्थ्य अधिकारी एवं निजी चिकित्सालय व नर्सिंग होम संचालक व डॉक्टर्स मौजूद थे।

बैठक में तय किया गया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के संबंध में आवश्यकता पडे पर जिले के समस्त निजी चिकित्सक अपनी सेवाएं देंगे। जो चिकित्सक यह सेवाएं देंगे, वे नगर में होटल अधिग्रहित कर ठहराए जाएंगे। बैठक में किसी भी आकस्मिक परिस्थिति में वेंटीलेटर सहित अन्य सभी उपकरण-सहायक उपकरण तथा दवाइयों की उपलब्धता एवं इनके उपार्जन के संबंध में भी चर्चा हुई, साथ ही यह निर्णय लिया गया कि उपरोक्त समस्त जरूरतें आवश्यकता पडे पर उपलब्ध रहेगी। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जीसी चौरसिया ने बताया कि कोरोना पॉजीटिव मरीजों के इलाज के लिए चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा पहने जाने वाली सुरक्षा ड्रेस (पीपीई) अभी जिले में 110 नग से अधिक उपलब्ध है, आवश्यक मटेरियल बुलवाकर आगामी एक सप्ताह में इनको स्थानीय स्तर पर तैयार करवाया जाएगा। यह ड्रेस सभी निजी अस्पतालों को भी प्रदान की जाएगी।

बैठक में कलेक्टर के ध्यान में यह मुद्दा लाया गया कि निजी चिकित्सालयों में कार्य करने वाले नर्सिंग व सहायक स्टाफ जो नगर में विभिन्ना स्थानों पर किराए के मकान में रहते हैं, ऐसे लोगों को कुछ मकान मालिकों द्वारा आवास खाली करने के लिए कहा जा रहा है। इस संबंध में कलेक्टर ने स्पष्ट निर्देश दिए कि आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 व दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के अंतर्गत इस तरह का कृत्य पूर्णतः प्रतिषेध है। ऐसे मकान मालिकों पर आपराधिक कार्रवाई हो सकती है।

मुलतापी समाचार

MP राज्यपाल श्री टंडन ने देशवासियों के साथ एक जुटता दिखाई


अत्यावश्यक सेवाएं देने वालों का घंटी और शंख बजा बढ़ाया हौसला

मुलतापी समाचार । Multapi samachar

बकंधे से कंधा मिलाते हुए कोरोना वायरस के वैश्विक संकट के समय अत्यावश्यक सेवाएं देने वाले लोगों के प्रति धन्यवाद आभार ज्ञापित किया। देशवासियों के साथ एक जुटता का प्रदर्शन किया। उन्होने राजभवन के मुख्य द्वार पर शंख और घंटी बजाकर उनके प्रति आभार ज्ञापन किया। इस अवसर पर राज्यपाल से लेकर राजभवन के सफाई कर्मी सहित विभिन्न कर्मचारियों ने भी शंख, घंटा, झांझ, मंजीरा, घंटी, बिगुल, थाली और ताली बजाकर समवेत ध्वनि का संचार वातावरण में किया।

राज्यपाल श्री लालजी टंडन ने देशवासियों के साथ होसला बढाते हुए धन्‍यावद प्रेषित किया

राज्यपाल श्री टंडन ने पिछले 2 महीनों से अस्पतालों में,एयरपोर्ट्स पर,दिन रात काम में जुटे हुए लाखों लोगों जिनमें डॉक्टर ,नर्स ,हॉस्पिटल का स्टाफ ,सफाई करने वाले भाई-बहन ,एयरलाइंस के कर्मचारी , सरकारी कर्मचारी , पुलिसकर्मी ,मीडिया कर्मी ,रेलवे-बस-ऑटो रिक्शा की सुविधा से जुड़े लोग ,होम डिलिवरी करने वाले लाखों लोग,अपनी परवाह किये बिना, दूसरों की सेवा में लगे हुए हैं। वर्तमान परिस्थितियों यह सेवाएं सामान्य नहीं मानी जा सकती क्योंकि खुद इनके भी संक्रमित होने का पूरा खतरा है। बावजूद इसके ये लोग अपना कर्तव्य निभा रहे हैं, दूसरों की सेवा कर रहे हैं। ये राष्ट्र-रक्षक की तरह कोरोना महामारी और हमारे बीच में खड़े हैं। देश इनका कृतज्ञ है।

राज्यपाल श्री टंडन ने ऐसे सभी लोगों को धन्यवाद अर्पित करने के लिए राजभवन के मुख्य द्वार से पर खड़े होकर , 5 मिनट तक ऐसे लोगों का आभार व्यक्त किया । उनका हौसला बढ़ाया।

कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने लिए ताप्ती ब्रिगेड ने बाटे नि:शुल्‍क माक्‍स


मुलतापी समाचार

कोरोना वायरस के प्रभाव से बचने के लिए ताप्‍ती ब्रिगेेेड के सदस्‍य द्वारा माक्‍स वितरण कर फोटो लेते हुए

Multai News कोरोना वायरस के बचाव हेतु माँ ताप्ती ब्रिगेड एवं पंकज राऊत मुलतापी के सदस्यों द्वारा नगर के प्रमुख मंदिरों , शासकीय कार्यालयों व सार्वजनिक स्‍थलों में निःशुल्क मास्क वितरण किया गया व समस्त अधिकारियों व व्यापारियों से निवेदन किया गया कि सभी अपने परिवारजनों व अपने कर्मचारियों को सुरक्षा हेतु बचाव के निम्न तरीके अपनाए ।

भीडभाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से बचे ।
– कुछ मिनट के पश्चात हाथ धोये ।
– public zone में मास्क पहनकर ही जाए ।
– हाथ मिलाने से बचे ।।

इस अवसर पर ब्रिगेड के पवन पाठेकर , ऋषभ पाटनकर , सौरभ कडवे , गगन बारस्कर, सोनू धनराज , अखिलेश साहू , रोशन बावने उपस्थित थे ।।

मुलतापी समाचार

Corona महामारीः प्रशासन सतर्क, नागरिकों में जागरूकता की कमी


19एचओएस16 होशंगाबाद। स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर पहुंचकर गर्भवती महिलाओं व नवजात का टीकाकरण कर रही हैं।

19एचओएस17 होशंगाबाद। सेठानीघाट पर भंडारे में सैनिटाइजर का उपयोग किए बिना भोजन करते हुए लोग।

Multapi Samachar

होशंगाबाद। कोरोना के भय से एक ओर प्रशासन सतर्क हो गया है वहीं नागरिकों में सार्वजनिक कार्यक्रम में भाग लेने के लेकर जागरूकता का अभाव देखा जा रहा है। शासन के निर्देश अनुसार प्रशासन ने जनसुनवाई समेत सरकारी दफ्तरों में लोगों की आवाजाही रोकने के लिए सभी तरह की बैठकें भी निरस्त कर दी है। स्कूलों, कॉलेजों, आंगनवाड़ी केंद्रों, मैरिज गार्डनों को बंद कर दिया गया है। वहीं नागरिकों की ओर से अब भी कई स्थानों पर सार्वजनिक आयोजन कराए जा रहे हैं। प्रशासन के निर्देश पर स्वास्थ्य कार्यकर्ताएं घर पहुंचकर गर्भवती महिलाओं व नवजातों का टीकाकरण कर रही हैं। इधर, नगरिक दुकानों पर खुले में रखी खाद्य सामग्री खाने को मजबूर है। बाजार में कुछ लोगों को छोड़कर न तो दुकानदार मास्क का उपयोग कर रहे और न ही ग्राहक इसके प्रति गंभीर दिख रहे हैं। खुलेआम बाजार में फुलकी, चाट खाते लोग नजर आ रहे हैं।

एमपी में कोरोना की दस्तक, जबलपुर में चार संक्रमित मिले चारों विदेश से लौटे थे


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

जबलपुर: कोरोना के कहर ने मध्य प्रदेश में पहली बार दस्तक दी है! जबलपुर में चार लोग संक्रमित मिले हैं, इनमें से एक जर्मनी से लौटा है और एक ही परिवार के 3 लोग दुबई से लौटे हैं! चारों को मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है! इसकी पुष्टि स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव पल्लवी जैन ने की है! चारों में संक्रमण का पहला स्टेप ही है!

गुरुवार को चारों की जांच की गई थी! जबलपुर मेडिकल कॉलेज की लैब में कोरोना की जांच की व्यवस्था है, इसलिए 24 घंटे में जांच की रिपोर्ट आ गई! प्रशासन अब संक्रमित परिवारों की भी जांच करा रहा है! साथ ही यह भी सूची बनाई जा रही है कि विदेश यात्रा से लौटने के बाद चारों कहां कहां गए और किस-किस से मिले!!

मुलतापी समाचार

घर के साफ कपड़े से थ्री लेयर मास्क तैयार किया जा सकता है


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

इंदौर: कोरोना वायरस की दहशत के बीच बाजारों में मास्क और सेनीटाइजर तय कीमत से 10 गुना अधिक मूल्य पर भी उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं! इसका उपाय इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रवीण जड़िया के अनुसार घर पर साफ कपड़े से भी मास्क तैयार किया जा सकता है ! संक्रमण रहित लोगों के लिए यह घरेलू मास्क सुरक्षित है! कपड़े को तीन बार फोल्ड कर रबर बैंड और पिन की सहायता से यह मास्क बनाया जा सकता है!

डॉ. जड़िया ने बताया कि यह मास्क हवा में मौजूद अन्य बैक्टीरिया से भी बचाव कर सकता है! बाजार के मास्क उन लोगों को ही लगाने चाहिए जो कोरोना वायरस से संक्रमित या सर्दी खांसी से पीड़ित हैं! ताकि यह संक्रमण अन्य लोगों तक न पहुंचे! सामान्य व्यक्ति कपड़े से बने मास्क का उपयोग बचाव के लिए कर सकता है! उन्होंने बताया कि अभी तक इंदौर या मध्य प्रदेश में एक भी पॉजिटिव मरीज नहीं मिला है!

मुलतापी समाचार

Indore गणेश मंदिर खजराना में गजानन को पहनाया मास्क, कोरोना वायरस रूपी विघ्न को हरने की गजानन से की प्रार्थना


मुलतापी समाचार

इंदौर. कोरोना का कहर दुनियाभर में लोगों को डरा रहा है। इसी कड़ी में खजराना गणेश मंदिर पर भी कोरोना से बचाव के लिए भाजपा नेताओं ने मास्क बांटे। मंदिर में पुजारीने खजराना गणेश के समक्ष रखी छाेटी प्रतिमा को भी मास्क पहनाया। साथ ही उनके वाहन मूसक ने भी मास्क पहना। भगवान ने मास्क पहना तो भक्त कैसे अछूते रहते। वहां दर्शनार्थियों को भी मास्क पहनाए गए। 

विघ्नहर्ता गणेश कोरोना वायरस रूपी विघ्न को हर लें, ऐसी प्रार्थना लेकर भाजपा प्रदेश कार्य समिति सदस्य मनीष चौकसे सहित अन्य खजराना गणेश मंदिर पहुंचे थे। यहां पुजारी सतपाल भट्ट की मौजूदगी में पहले गणपति बप्पा को मास्क पहनाया गया। उसके बाद उनके वाहन मूसक को भी भाजपाइयों ने मास्क पहनाया। इसके बाद मंदिर में दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को भी मास्क बांटे गए। पुजारी के साथ भाजपाइयों ने कोरोना से बचने के लिए सभी से मास्क पहनने की अपील की। 

कहीं मास्क को गीले या सूखे कचरे में फेंक तो नही रहे ?


मुलतापी समाचार

कोरोना वायरस के चलतेे स्‍कूल कालेजों में शिक्षकों को भी माक्‍स पहन कर आने को कहा गया खास वे जिन्‍हे सरर्दी खासी है

कोरोना वायरस Corornavirus Disease (COVID-19) से मास्क पहन के बच रहे हैं? मास्क का क्या कर रहे हैं ?

रोजाना लाखों मास्क एकदम से इस्तेमाल में आने लगे हैं और कचरे में जाने भी लगें हैं। लोग इन्हें सामान्य गीले और सूखे कचरों में।मिलाकर फेक रहे हैं जो कि एक बड़ा खतरा है। जानिए विशेषज्ञ से कि कैसे इनका निस्तारण सही विधि से किया जाए।

जानिये ये महत्वपूर्ण बातें की किस तरह से मास्क को डिस्पोज़ या वेस्ट में फेंका जाए।

1) पहली बात ये कि ये न तो गीले कचरे में आते हैं न ही सूखे में , ये बायो मेडिकल वेस्ट में आते हैं इसलिए इन्हें घर या ऑफिस के कचरे में।फेकने की गलती या बोलें तो अपराध न कीजिए क्यूंकि यह प्रदूषण फैलाने के आरोप साथ आपको चालान भी बनवा देगा। और हां यह संक्रमण भी फैलाएगा।

2) मास्क यानी नीला या हरा वाला सर्जिकल मास्क 8 घंटे आए ज्यादा नही चलता । NS95 मास्क भी 2 या 3 दिन बस इन्हें एक पीले कलर की पॉलिथीन में अच्छे से टाइट करके रखिये और जो कचरा गाड़ी हमारे घरों में रोज़ आती है उसमें पिछले हिस्से में बायो मेडिकल वेस्ट का डब्बा होता है जहां डायपर/ सेनेटरी नैपकिन डालते हैं वहां डालिये।

3) यदि आपके शहर में बायो मेडिकल वेस्ट का डब्बा या सुविधा नही तो अपने आस पास के अस्पताल में जाकर उनके बायो मेडिकल कचरे के डब्बे में डालिये।

4) ये मास्क संक्रमण बढ़ाने में सहायक हो सकते हैं यानी रोकने की बजाए आप कोरोना जैसी बीमारी को बढ़ाने में सहयोग कर देंगे यदि उन्हें साइंटिफिक तरीके से प्रोसेसिंग के लिए नही भेजा तो।

5) रोजाना मास्क बदलिए और घर / कॉलोनी के मास्क एक जगह इकट्ठा कर उसे डिस्पोज़ कीजिये।
निवेदन: शारदा राम मनमाेहन शैक्षणि‍क एवंं समाज सेवा समिति मुलताई